myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

क्या आपको भी अपने बाल एक या दो दिन धोने के बाद चिपचिपे लगने लगते हैं? अगर हाँ तो आपके बाल तेलिये हैं। जड़ों के प्राकृतिक तेल का स्राव आपके बालों को स्वस्थ रखने में मदद करता है। लेकिन अगर आपके बालों में तेल का उत्पादन ज़्यादा हो रहा है तो इसे ऑइली हेयर कहा जाता है। ये सब कई कारणों से होता है जैसे अनुवांशिक, हार्मोनल असंतुलन, अधिक तनाव, ज़्यादा तेलिये खाना खाने से और बालों की देखभाल न करने से। तेलिए बाल को संभालना मुश्किल होता है जिसकी वजह से वो इकट्ठे होने लगते हैं। तेलिए बालों की वजह से डैंड्रफ और खुजली भी होना आम है।

(और पढ़ें - तैलीय बालों के लिए शैम्पू)

बाल इस तरह आपके बिना धुले, बेजान और गंदे दिखने लगते हैं, इसलिए ज़रूरी है कि आप अपने बालों के तेल को नियंत्रित रखें। ऑयली हेयर को दूर करने के लिए जड़ों को साफ़ करना बेहद ज़रूरी है। हालाँकि रोज़ बालों को धोना भी सही तरीका नहीं है। शैम्पू में मौजूद केमिकल आपकी इस समस्या को और भी ज़्यादा बढ़ा देते हैं। तो इन केमिकल का इस्तेमाल न करते हुए आप कुछ घरेलू उपायों का इस्तेमाल करें। 

तो आइये आपको बताते हैं तेलिए बालों के लिए कुछ घरेलू उपाय –  

  1. ऑयली हेयर के लिए सेब के सिरके का करें इस्तेमाल - Apple cider vinegar for oily hair in Hindi
  2. ऑयली हेयर का उपाय है नींबू का जूस - Lemon juice good for oily hair in Hindi
  3. ऑयली हेयर केयर के लिए ब्लैक टी है उपयोगी - Black tea treat oily hair in Hindi
  4. ऑयली बालों के लिए एलो वेरा जेल का करें प्रयोग - Use for aloe vera for oily hair in Hindi
  5. ऑयली बालों को दूर करने के लिए बेकिंग सोडा है फायदेमंद - Baking soda helps to get rid of oily hair in Hindi
  6. ऑयली बालों का उपाय है मुल्तानी मिट्टी - Fuller's earth for oily hair in Hindi
  7. अंडे का मास्क है तेलिए बालों के लिए लाभदायक - Benefits of egg mask for oily hair in Hindi
  8. तेलिए बालों से छुटकारा पाने के लिए टमाटर - Tomatoes cure oily hair in Hindi
  9. ऑयली बालों का नुस्खा है वोदका - Vodka reduce oily hair in Hindi
  10. ऑयली हेयर के लिए उपाय है केला - Banana for oily hair in Hindi
  11. ऑयली हेयर के लिए नुस्खा है ओटमील - Oatmeal good for greasy hair in Hindi
  12. ऑयली हेयर को कम करने के लिए रोज़मेरी तेल - Rosemary essential oil for oily hair in Hindi
  13. ऑयली बालो को दूर करना है तो लगाएं पाउडर - Powder removes excess oil from hair in Hindi
  14. हिना है ऑयली बालों का उपाय - Henna treatment for oily hair in Hindi
  15. पुदीने की पत्तियां करेंगी ऑयली हेयर को दूर - Mint leaves for oily hair in Hindi

सेब का सिरका ऑयली हेयर के लिए काफी प्रभावी है। इसमें मौजूद एसिटिक एसिड जड़ों का PH स्तर संतुलित करता है जिसकी मदद से अधिक तेल को रोकने में मदद मिलती है साथ ही ये बालों में बनने वाले तेल को भी दूर करता है। इसके साथ ही सेब का सिरका हेयर टॉनिक की तरह भी काम करता है जिससे आप अपने बालों को चमकदार और मुलायम बना सकते हैं।

सेब के सिरके का कैसे करें इस्तेमाल

  1. सबसे पहले दो या तीन चम्मच सेब के सिरके को एक कप पानी में मिला दें।
  2. जब आप एक बार अपने बालों को शैम्पू से धो लें फिर उसके बाद इस मिश्रण से भी अपने बालों को धोएं।
  3. कुछ मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें और फिर ठंडे पानी से बालों को धो लें।
  4. इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो या तीन बार ज़रूर दोहराएं।

(और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे

नींबू सब तरह की जड़ों और बालों की समस्या के लिए लाभदायक है। नींबू में कई तरह के विटामिन और खनिज होते हैं जो आपके बालों को स्वस्थ बनाने में मदद करते हैं। नींबू में एसिडिक गुण होते हैं जड़ों के PH स्तर को संतुलित करते हैं और अधिक तेल को नियंत्रित करते हैं।  

नींबू के जूस का इस्तेमाल कैसे करें

  1. सबसे पहले दो चम्मच जूस को दो कप पानी में मिला दें। आप इसमें वैकल्पिक रूप से शहद भी मिला सकते हैं।
  2. अब इस मिश्रण को अपने बालों में लगाएं और कुछ मिनट तक मसाज करें।
  3. मसाज करने के बाद इसे कुछ मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें और फिर अपने बालों को गुगुने पानी से धो लें।
  4. अच्छा परिणाम पाने के लिए आप इस प्रक्रिया को हफ्ते में तीन बार ज़रूर दोहराएं।

(और पढ़ें - नींबू के फायदे और नुकसान

काली चाय में एस्ट्रिजेंट होते हैं जिन्हे टैनिक एसिड कहा जाता है जिसकी मदद से जड़ों के छिद्र टाइट हो जाते हैं और अधिक तेल रुक जाता है।

काली चाय का इस्तेमाल कैसे करें

  1. सबसे पहले एक कप में एक या दो चम्मच काली चाय की पत्तियां मिलाएं।
  2. फिर दस मिनट के लिए इसे ऐसे ही उबलता रहने दें।
  3. अब चाय की पत्तियों को छान लें और फिर मिश्रण को ठंडा होने के लिए रख दें। 
  4. फिर इस गुनगुने मिश्रण को अपनी जड़ों और बालों में लगाएं।
  5. अब इस मिश्रण को बालों में पांच मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें और अपने बालों को फिर शैम्पू से धो लें।
  6. ऑयली बालों से छुटकारा पाने के लिए हफ्ते में दो या तीन बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

(और पढ़ें - काली चाय के फायदे और नुकसान

एलो वेरा में मौजूद विटामिन, मिनरल और एंजाइम ऑयली बालों से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। एलो वेरा जड़ों की अशुद्धियों को डिटॉक्सीफाई करता है और अधिक तेल के स्राव को नियंत्रित करता है। साथ ही इसकी मदद से आपके बालों को पोषण भी मिलता है। इसके अलावा एलो वेरा के प्राकृतिक प्रभाव से आपके बाल हमेशा स्वस्थ बने रहते हैं।

एलो वेरा का इस्तेमाल कैसे करें

  1. सबसे पहले एक कप शैम्पू में एक चम्मच एलो वेरा जेल और एक चम्मच नींबू मिलाएं।
  2. अब इस शैम्पू से अपने बालों को धोये और फिर कुछ मिनट तक अपने बालों में इस शैम्पू को रहने दें।
  3. जब भी अपने बालों को शैम्पू करें इस प्रक्रिया को ज़रूर दोहराएं।
  4. इसके अलावा आप घरेलू शैम्पू को बनाकर एक हफ्ते तक फ्रिज में रख सकते हैं।

(और पढ़ें - एलोवेरा के फायदे

बेकिंग सोडा में तेल को अवशोषित करने के गुण होते हैं और इसलिए इसे तेलिए बालों के लिए सबसे बेहतरीन उपायों में से एक माना जाता है। इसके साथ ही बेकिंग सोडा में मौजूद एल्कलाइन जड़ों का PH स्तर संतुलित करता है और गंध को भी दूर करता है।

बेकिंग सोडा का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

  1. एक चम्मच बेकिंग सोडा को तीन चौथाई पानी में मिलाएं जिससे कि एक पेस्ट तैयार हो सके।
  2. अब इस मिश्रण को गीले बालों में लगाएं और कुछ मिनट तक इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें और फिर अपने बालों को गर्म पानी से धो लें।
  3. इस मिश्रण को हफ्ते में एक या दो बार ज़रूर लगाएं।

दूसरा तरीका -

  1. इसके साथ ही अगर आपके पास बालों को धोने का समय नहीं है तो आप बेकिंग सोडा का ड्राई शैम्पू इस्तेमाल कर सकते हैं।
  2. अपने हाथों में थोड़ा बेकिंग सोडा लें और फिर इसे अपने बालों में लगाएं।
  3. फिर सही क्वालिटी के ब्रश से अपने बालों को ब्रश करें।
  4. इसकी मदद से आपके बालों की ग्रीस पूरी तरह से साफ़ हो जाएगी।

(और पढ़ें - बेकिंग सोडा के फायदे

मुल्तानी मिटटी प्राकृतिक उपाय है ये त्वचा के लिए ही नहीं बालों के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ ही इसके खनिज गुण जड़ों के PH स्तर को संतुलित करने में मदद करते हैं और रक्त परिसंचरण को भी सुधारते हैं।

मुल्तानी मिटटी का इस्तेमाल कैसे करें

  1. सबसे पहले कुछ मात्रा पानी में तीन चम्मच मुल्तानी मिटटी मिलाएं जिससे कि एक पेस्ट तैयार हो सके (आप अपने बालों के अनुसार मुल्तानी मिटटी मिला सकते हैं)।
  2. अब इस पेस्ट को अपनी जड़ों और बालों में लगाएं।
  3. फिर 15-20 के लिए इसे ऐसे लगा हुआ छोड़ दें और फिर बालों को गुनगुने पानी से धो लें।
  4. इस प्रक्रिया को हफ्ते में बार कुछ महीने के लिए लगाते रहें।

(और पढ़ें - मुल्तानी मिट्टी के फायदे

अंडा आपके बालों को कंडीशनिंग करने का एक और बेहतरीन उपाय है। इसके साथ ही सफ़ेद अंडा ऑयली हेयर से लड़ता है और अंडे की ज़र्दी प्रोटीन से समृद्ध होती है जो बालों को मजबूत बनाने में मदद करती है।

अंडे का इस्तेमाल दो तरीको से करें -

पहला तरीका -

  1. सबसे पहले एक या आधा कप अंडा मिला हुआ अपने गीले बालों में लगाएं और 15-20 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  2. अंत में बालों में शैम्पू से धो लें।
  3. इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो बार ज़रूर दोहराएं।

दूसरा तरीका -

  1. सबसे पहले दो अंडों को दो चम्मच नींबू के जूस में मिलाएं।
  2. अब इस मिश्रण को गीले बालों में लगा लें।
  3. पांच मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें और फिर अपने बालों को शैम्पू से धो लें।
  4. इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो या तीन बार ज़रूर दोहराएं।  

(और पढ़ें - अंडे के फायदे

टमाटर के प्राकृतिक एसिडिक गुणों से जड़ों के PH स्तर को संतुलित करने में मदद मिलती है जिससे तेल का स्राव कम होता है। इसके साथ ही टमाटर बालों की गंध को भी दूर करता है।

टमाटर का इस्तेमाल कैसे करें

  1. सबसे पहले एक टमाटर के जूस को एक चम्मच मुल्तानी मिटटी में मिला दें।
  2. अब इस मिश्रण को जड़ों और बालों में लगाएं।
  3. फिर अपने सिर को शावर कैप से ढक दें और आधे घंटे के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. फिर अपने बालों को ठंडे पानी से धो दें।
  5. इस प्रक्रिया को हफ्ते में एक या दो बार ज़रूर दोहराएं।

(और पढ़ें - टमाटर के फायदे

वोदका को एक हेयर टॉनिक की तरह भी देखा जाता है जो जड़ों के PH स्तर को संतुलित करने में मदद करता है साथ ही छिद्रों को भी बंद करता है जिनकी वजह से तेल का स्राव होता है।

वोदका का इस्तेमाल कैसे करें

  1. सबसे पहले एक कप वोदका को दो कप पानी में मिला दें।
  2. अब अपने बालों को शैम्पू से धो लें और फिर बालों को इस मिश्रण से भी धोएं।
  3. बालों को पानी से धोने से पहले इस मिश्रण को बालों में दस मिनट तक ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. इस प्रक्रिया को हफ्ते में एक बार ज़रूर दोहराएं।

अगर आप कठोर शैम्पू या बेकार कंडीशनर का इस्तेमाल करते हैं तो बाल ग्रीसी होने लगते हैं। इस समस्या का हल करने के लिए घर में ही केला और शहद से बना कंडीशनर का इस्तेमाल करें इससे आपके बाल पोषित रहेंगे और तेलिए रहित रहेंगे।

केले का इस्तेमाल कैसे करें

  1. सबसे पहले एक केले को मिक्सर में मिक्स करके रख दें।
  2. अब एक चम्मच शहद को चार चम्मच केले के साथ मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  3. अब इस पेस्ट को अपने बालों से छोर तक लगाएं।
  4. फिर 20 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  5. अब पेस्ट को बालों से हटाने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल करें।
  6. इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो बार ज़रूर इस्तेमाल करें।

(और पढ़ें - केले के फायदे

ओटमील एक अन्य ऑयली बालों की समस्या का इलाज है। इसकी परत मोटे होने की वजह से ये जड़ों का तेल खींच लेता है और खुजली को भी दूर करने में मदद करता है।

ओटमील का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले ओटमील तैयार करें।
  2. फिर इस मिश्रण को अपने बालों और जड़ों में लगाएं।
  3. लगाने के बाद इसे 15 मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. फिर अपने बालों को हमेशा की तरह शैम्पू से धोलें।

(और पढ़ें - ओट्स के फायदे

रोज़मेरी बालों के अधिक तेल को कम करता है और खुजली या डैंड्रफ जैसी समस्या को भी दूर करता है।

रोज़मेरी का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले एक कटोरा लें, अब उसमे दो चम्मच सूखे रोज़मेरी डालें और फिर इसमें एक कप पानी भी मिलाएं।
  2. अब इस बर्तन को ढककर रख दें और 20 मिनट क लिए इसे ऐसे ही उबलते रहने दें। फिर मिश्रण को छान लें और ठंडा होने के लिए रख दें।
  3. अब इस मिश्रण को एक प्लास्टिक की बोतल में मिलाएं।
  4. आप इस मिश्रण का इस्तेमाल शैम्पू करने के बाद इस्तेमाल करें।
  5. इसका इस्तेमाल आप जब जब बाल धोएं तभी करें।

(और पढ़ें - रोजमेरी के फायदे

अगर आप जल्दी में हैं और इन उपायों का इस्तेमाल अंतिम वक़्त में करना मुश्किल है तो आप बेबी पाउडर या कोई भी पाउडर का इस्तेमाल अपने बालों और जड़ों में कर सकते हैं। पाउडर आपकी तेलिए जड़ों को फिर से ताज़ा कर देता है और गंध को भी दूर कर देता है।

पाउडर का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. थोड़ा पाउडर लें और फिर उसे अपनी जड़ों में लगाएं।
  2. जहां आपको अपने बाल तेलिए लग रहे हैं वहां वहां पाउडर का इस्तेमाल करें।
  3. फिर बालों को कंघी से काड लें।
  4. इससे आपके बालों में पाउडर अच्छे से पहुंच जाएगा।

अपने बालों को हिना से कंडीशनिंग करें। हिना में बालों को रूखा बनाने का प्रभाव होता है जो कि तेलिए जड़ों के लिए बेहद लाभदायक है।

हिना का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले हिना में एक चम्मच दही मिलाएं।
  2. फिर सूखने तक का इंतज़ार करें।
  3. सूखने के बाद बालों को धो लें।
  4. इस प्रक्रिया को दो हफ्ते तक एक बार ज़रूर लगाएं।

(और पढ़ें - हिना के फायदे

पुदीने की पत्तियों को भी ऑयली बालों के लिए एक प्रभावी उपाय माना जाता है। पुदीने की पत्तियां जड़ों को ताज़ा करेंगी और छिद्रों को बंद करने में मदद करेंगी जिनसे तेल स्राव होता है।

पुदीने का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले मुट्ठीभर पत्तियों को दो ग्लास पानी में डाल दें और 15 मिनट के लिए इसे ऐसे ही उबलता हुआ छोड़ दें।
  2. अब इस मिश्रण को शैम्पू में मिला दें और फिर इसे अपने बालों में शैम्पू की तरह इस्तेमाल करें।

(और पढ़ें - पुदीने के फायदे

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
979 भारत
1पुडुचेरी
1मणिपुर
3हिमाचल प्रदेश
1मिजोरम
3गोवा
6छत्तीसगढ़
55उत्तर प्रदेश
54राजस्थान
38पंजाब
3ओडिशा
30मध्य प्रदेश
13लद्दाख
33हरियाणा
39दिल्ली
9बिहार
14आंध्र प्रदेश
8चंडीगढ़
76कर्नाटक
6उत्तराखंड
182केरल
17पश्चिम बंगाल
66तेलंगाना
42तमिलनाडु
186महाराष्ट्र
31जम्मू-कश्मीर
53गुजरात
9अंडमान निकोबार

मैप देखें