स्कैल्प से अतिरिक्त ऑयल निकलने पर बाल ऑयली नजर आते हैं. इसकी वजह से आपके बालों में डैंड्रफ, खुजली और कई अन्य तरह की परेशानी हो सकती है. ऐसे में कई लोगों को हर दूसरे दिन अपने बालों में शैंपू करना पड़ता है.

अगर आप भी इस तरह की परेशानी से जूझ रहे हैं, तो शैंपू के बजाय ऑयली बालों की परेशानी को दूर करने के लिए हेयर सीरम लगाएं. ऑयली बालों के लिए कई अच्छे सीरम मार्केट में उपलब्ध हैं. इन हेयर सीरम के इस्तेमाल से आपको ऑयल बालों की परेशानी से छुटकारा मिल सकता है.

(और पढ़ें - बालों से रूसी हटाने के घरेलू उपाय)

आज हम इस लेख में ऑयली बालों के लिए हेयर सीरम के बारे में विस्तार से जानेंगे-

  1. ऑयली बालों के लिए हेयर सीरम
  2. सारांश
ऑयली बालों के लिए 5 सबसे अच्छे हेयर सीरम के डॉक्टर

सीरम बनाने वाली कंपनियों का दावा है कि इन्हें बनाने में प्राकृतिक तत्वों का इस्तेमाल किया जाता है, जो बालों को प्राकृतिक रूप से ऑयल फ्री रखते हैं. साथ ही प्राकृतिक पोषण प्रदान करते हैं. आइए विस्तार से जानते हैं इन हेयर सीरम के बारे में-

ब्रीओजियो स्कैल्प रिवाइवल चारकोल और टी ट्री स्कैल्प ट्रीटमेंट

ऑयली बालों की परेशानी को दूर करने के लिए आप अपने बालों में ब्रीओजियो के इस हेयर सीरम का इस्तेमाल कर सकते हैं. यह सीरम आपके बालों के स्कैल्प को हाइड्रेट, बैलेंस और डिटॉक्स करता है. इस सीरम में मौजूद चारकोल बालों की अशुद्धियों को बाहर करता है. इतना ही नहीं, इस सीरम में पुदीने और टी ट्री ऑयल का मिश्रण होता है, जो आपके बालों की कई तरह की परेशानी को दूर करने में असरदार हो सकता है.

सीरम बनाने वाली कंपनी का दावा है कि इसमें मौजूद विच हेजल स्कैल्प के अतिरिक्त तेल उत्पादन को संतुलित करने में मददगार होता है. ऐसे में ऑयली बालों पर आप इस सीरम का इस्तेमाल कर सकते हैं.

(और पढ़ें - डैंड्रफ खत्म करने के लिए तेल)

बायोलॉजिक रेकेर्चे हेयर लोशन P50

ऑयली बालों की समस्याओं को दूर करने में बायोलॉजिक का यह सीरम असरदार हो सकता है. नियमित रूप से इस सीरम को बालों में लगाने से आपके बालों की मजबूती बढ़ती है. साथ ही यह बालों की चमक और पीएच लेवल को संतुलित रखता है. ऑयली बालों की परेशानी को दूर करने के लिए आप इस सीरम का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसमें मौजूद नींबू, सेज, विच हेजल और पॉली-अल्फा-बीटा हाइड्रॉक्सी कॉम्प्लेक्स जैसे तत्व बालों के अतिरिक्त ऑयल को हटाने में असरदार हो सकते हैं.

(और पढ़ें - रूसी का होम्योपैथिक इलाज)

मोरक्कोनोइल ऑयली स्कैल्प ट्रीटमेंट

बालों को सुरक्षित और ऑयल फ्री रखने के लिए आप मोरक्कोनोइल ऑयली स्कैल्प ट्रीटमेंट सीरम का इस्तेमाल कर सकते हैं. यह सीरम स्कैल्प को ऑयल फ्री करके चिपचिपे बालों की परेशानी से छुटकारा दिला सकता है. इस तेल में मौजूद आर्गन तेल, अदरक, लैवेंडर और बायोटिन पेप्टाइड्स बालों को सुरक्षा प्रदान करते हैं.

इन सभी नैचुरल चीजों से बालों को नुकसान होने का खतरा भी कम रहता है. शैंपू से बालों को धोने के बाद आप नियमित रूप से इस हेयर सीरम का इस्तेमाल कर सकते हैं. इससे आपके बाल हेल्दी और खूबसूरत नजर आ सकते हैं.

(और पढ़ें - नीम के उपयोग से रूसी हटाने का तरीका)

रेनप्योर टी ट्री लेमन सेज रिफ्रेशिंग मॉइस्चर स्कैल्प सीरम

ऑयली बालों की समस्याओं को दूर करने के लिए आप ये सीरम भी आजमा सकते हैं. यह सीरम प्राकृतिक गुणों से भरपूर होता है. इसमें मौजूद टी ट्री ऑयल, पेपरमिंट अर्क, यूकेलिप्टस और नारियल तेल आपके बालों को पोषण प्रदान करता है. कंपनी का दावा है कि इस सीरम में किसी भी तरह के केमिकल का इस्तेमाल नहीं किया गया है, ताकि आपके बालों को किसी भी तरह का नुकसान न हो.

(और पढ़ें - रूसी के लिए शैम्पू)

जॉन मास्टर्स ऑर्गेनिक्स डीप स्कैल्प प्यूरीफाइंग सीरम

ऑयली बालों में डैंड्रफ की परेशानी काफी ज्यादा होती है, ऐसे में यह सीरम आपके लिए लाभकारी हो सकता है. इस सीरम के इस्तेमाल से ऑयली बालों में होने वाली डैंड्रफ की समस्या दूर हो सकती है. इसमें पुदीने का अर्क होता है, जो आपको बालों को पुनर्जीवित करता है. साथ ही यह डैंड्रफ और झड़ते बालों की परेशानी को दूर करने में लाभकारी साबित हो सकता है.

(और पढ़ें - डैंड्रफ खत्म करने के लिए तेल)

इन सीरम के इस्तेमाल से ऑयली बालों में होने वाली परेशानियां दूर हो सकती है. बस ध्यान रखें कि अगर आपके बालों की परेशानी ज्यादा बढ़ रही है, तो डॉक्टर या फिर हेयर एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें. इससे समय रहते बालों से जुड़ी परेशानियों से छुटकारा मिल सकता है.

(और पढ़ें - डैंड्रफ हटाने के लिए शहनाज़ हुसैन के टिप्स)

Dr. Merwin Polycarp

Dr. Merwin Polycarp

डर्माटोलॉजी
15 वर्षों का अनुभव

Dr. Raju Singh

Dr. Raju Singh

डर्माटोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Afroz Alam

Dr. Afroz Alam

डर्माटोलॉजी
4 वर्षों का अनुभव

Dr. Pranjal Praveen

Dr. Pranjal Praveen

डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें