myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

सैंकड़ों वर्षों से आंवला, रीठा और शिकाकाई ये तीनों हर्बल फल बालों की देखभाल के लिए उपयोग किये जा रहे हैं। बाजार में मिलने वाले केमिकल युक्त उत्पादों के बजाय आज भी ये फल बालों के लिए किसी औषधि से कम नहीं हैं। इस लेख में हम आपको इन तीनों के बालों के लिए फायदे और अलग अलग प्रकार की बालों की समस्या में किस तरह से उपयोग करना चाहिए, वो सभी तरीके बताने जा रहे हैं। 

इन तीनों को तीन रूपों में प्रयोग करना चाहिए:

  1. आंवला, रीठा और शिकाकाई तेल
  2. आंवला, रीठा और शिकाकाई शैम्पू
  3. आंवला, रीठा और शिकाकाई पाउडर हेयर पैक या मास्क

(और पढ़ें - हेयर केयर टिप्स)

  1. आंवला रीठा शिकाकाई को बालों में लगाने के फायदे - Benefits of Amla Reetha Shikakai for Hair in Hindi
  2. आंवला रीठा शिकाकाई हेयर आयल - Amla reetha shikakai hair oil in Hindi
  3. आंवला रीठा शिकाकाई शैम्पू - Amla reetha shikakai shampoo for hair in Hindi
  4. आंवला रीठा शिकाकाई पाउडर हेयर पैक - Amla reetha shikakai hair masks in Hindi

आंवला, रीठा और शिकाकाई के बालों के लिए अपने अलग ही फायदे हैं, जो इस प्रकार हैं:

1) आंवला:

यद्यपि आंवला को बालों में उपयोग करने के कई फायदे हैं लेकिन सबसे महत्वपूर्ण लाभ ये है कि आंवला में एंटीऑक्सिडेंट अत्यधिक मात्रा में पाए जाते हैं। 

एंटीऑक्सिडेंट, आपके क्षतिग्रस्त (Damaged) बालों की कोशिकाओं में नयी जान डालते हैं और आगे और नुकसान होने से बालों की कोशिकाओं की रक्षा करते हैं। बालों की कोशिकाओं की देखभाल करना महत्वपूर्ण होता है क्योंकि बालों के बढ़ने से लेकर उनके सफ़ेद होने तक सब कुछ बालों की कोशिकाओं पर निर्भर करता है। इसलिए उन कोशिकाओं को स्वस्थ और सुरक्षित रखना बेहद महत्वपूर्ण है।

यहां तक कि स्टेम सेल थेरेपी द्वारा बालों के झड़ने और गंजेपन का उपचार करने में, क्षतिग्रस्त कोशिकाओं की संख्या बढ़ाने के लिए, स्टेम सेल (Stem cells) को सिर में इंजेक्ट किया जाता है। लेकिन ऐसे उपचारों पर इतना पैसा खर्च करने की क्या ज़रूरत है जब आप प्राकृतिक तरीकों से अपने बालों की कोशिकाओं में वृद्धि कर सकती हैं। 

(और पढ़ें - गंजापन दूर करने के घरेलू उपाय)

2) रीठा:

रीठा, आयरन से भरपूर गुणों की वजह से प्रसिद्द है। एंटीऑक्सिडेंट तीन रूपों में पाए जाते हैं:

  • एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम
  • एंटीऑक्सिडेंट पोषक तत्व
  • एंटीऑक्सिडेंट फाइटोकेमिकल्स

रीठा, में एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम पाए जाते हैं और उन एंजाइमों के प्रभाव को उत्प्रेरित (catalyse) करने में आयरन महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

3) शिकाकाई:

रीठा से आयरन के अवशोषण के लिए आपको विटामिन सी की आवश्यकता होगी। विटामिन सी भी एक एंटीऑक्सिडेंट पोषक तत्व है। जो बालों के लिए लाभदायक शिकाकाई में बड़ी मात्रा में पाया जाता है।

अब अगर एंटीऑक्सिडेंट फाइटोकेमिकल्स की बात करें तो ये इन तीनों हर्बल फलों में मौजूद होते हैं। इससे पता चलता है कि हम किसी भी ढंग से आंवला, रीठा और शिकाकाई को एक साथ नहीं मिला सकते हैं, इसलिए हम आपको इन्हें मिलाने की मात्रा और विधियां दोनों बता रहे हैं।

बालों के लिए आंवला, रीठा और शिकाकाई का उपयोग -

बालों की देखभाल के तीन महत्वपूर्ण चरण होते हैं -

  1. तेल लगाना
  2. शैम्पू करना 
  3. कंडीशनिंग करना

इन तीनों चरणों के लिए आंवला रीठा शिकाकाई का इस्तेमाल करना यहाँ बताया गया है - 

  1. तेल लगाना - आंवला रीठा शिकाकाई हेयर आयल बनाना सिखाया गया है 
  2. शैम्पू करना - आंवला रीठा शिकाकाई शैम्पू बनाना सिखाया गया है 
  3. कंडीशनिंग करना - बालों के अनुसार (ड्राई, ऑयली आदि) कई तरह के आंवला रीठा शिकाकाई हेयर मास्क बनाने सिखाये गए हैं 

नीचे बताई विधि को समझने के लिए गाइड -

मान लीजिये आपको सामग्री और उनका अनुपात (ratio) इस तरह बताया गया है -

  • सामग्रियां: आंवला रस + रीठा पाउडर + शिकाकाई पाउडर + कपूर पाउडर + गुलाब जल
  • अनुपात- 1: 1: 1: ½: 2

तो इस अनुपात का मतलब है कि एक कटोरे में 1 बड़ा चम्मच आंवले का रस, 1 बड़ा चम्मच रीठा पाउडर और 1 बड़ा चम्मच शिकाकाई पाउडर में आधा चम्मच कपूर पाउडर और 2 बड़े चम्मच गुलाब जल मिलाएं और तब तक मिलाएं जब तक ये एक गाढ़ा पेस्ट न बन जाये। बालों की लंबाई के अनुसार आप इनकी मात्रा में अनुपातिक वृद्धि कर सकती हैं।

आवश्यक सामग्री: बिना बीजों वाला सूखा आंवला + सूखा रीठा + सूखा शिकाकाई फल + नारियल तेल (और पढ़ें - नारियल तेल के फायदे)

अनुपात- 1: 1: 1: 2

विधि:

  1. एक बड़ा सॉस पैन लें और आधा पानी से भर लें। मध्यम आंच पर इसे गर्म कर लें।
  2. फिर एक छोटे सॉस पैन में नारियल तेल लें।
  3. इसमें आंवला, रीठा और शिकाकाई के सूखे फल डाल दें। अब बड़े पैन के अंदर छोटे सॉस पैन को ध्यान से रख दें।
  4. अब कम लौ में तेल और अन्य अवयवों को गर्म करें।
  5. नियमित अंतराल पर मिश्रण को हिलाती रहें। 10-15 मिनट तक मिश्रण को गर्म करें जब तक तेल में बुलबुले न बनने लगें।
  6. उसके बाद गैस बंद कर दें और इस मिश्रण को अगले 24 घंटों के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  7. अगले दिन इसे छान लें और एक गिलास में लंबे समय तक ताज़ा रखने के लिए एकत्रित कर लें।
  8. शैम्पू करने से पहले वाली रात को, इस तैलीय मिश्रण से अपने सिर और बालों की मालिश करें। यहां तक ​​कि अगर आपको शैम्पू नहीं करना है तो भी आप अपने बालों पर थोड़ा सा तेल लगा सकती हैं। 

(और पढ़ें - बालों के लिए किस हेयर आयल का इस्तेमाल करें और कैसे)

आवश्यक सामग्री: बिना बीजों वाला सूखा आंवला फल + सूखा रीठा + सूखा शिकाकाई फल

अनुपात- 1: 1: 1

विधि:

  1. रात में पानी में सूखा आंवला, रीठा और शिकाकाई भिगो दें।
  2. हल्के होने की वजह से ये पानी पर तैर सकते हैं। आप इन्हें पानी में पूरी तरह से डुबा दें।
  3. कम से कम 8 घंटे के लिए इन्हें भीगने दें।
  4. सुबह इन्हें 20 मिनट के लिए गर्म कर लें।
  5. अब इस पूरे मिश्रण को ब्लेंडर इसकी न्यूनतम गति पर पीस लें।
  6. हमें एक गूदेदार मिश्रण की जरूरत है, इसलिए इसे अधिक देर तक न चलाएं।
  7. अब इस मिश्रण को छन्नी पर रखकर गूदे को दबाकर इसका रस निकाल लें।
  8. फिर इससे अपने बालों को धोएं।
  9. हर बार बाल धोने के लिए आप इस विधि का उपयोग कर सकती हैं।

हेयर मास्क हमेशा शैम्पू के बाद लगाने चाहिए। यहां अलग-अलग प्रकार के बालों और बालों की समस्याओं के लिए विभिन्न प्रकार के आंवला रीठा शिकाकाई हेयर मास्क बताये गए हैं:

आंवला, रीठा और शिकाकाई पाउडर को पानी, गुलाब जल या दूध आदि के साथ मिलाकर एक पेस्ट बना लें। आपको इन तीनों का सही तरह से लाभ मिल सके इसके लिए हम आपको बताएंगे कि किस प्रकार के बालों के लिए, उपर्युक्त में से किस तरल पदार्थ या तेल की कितनी मात्रा मिलाएं। इसे लगाने के लिए, आप बाल रंगने वाले ब्रश का उपयोग कर सकती हैं। 

(और पढ़ें - गुलाब जल के फायदे बालों के लिए)

1) झड़ते बालों के लिए आंवला रीठा शिकाकाई पाउडर हेयर पैक

आवश्यक सामग्री: आंवला पाउडर + रीठा पाउडर + शिकाकाई पाउडर + कपूर पाउडर + गुलाब जल
अनुपात- 1 : 1 : 1 : ½ : 2
विधि:

  1. ओखली और मूसली का प्रयोग करके आप कपूर की गोलियों को पीसकर पाउडर बना लें।
  2. सभी सामग्रियों को सही अनुपात में मिलाएं।
  3. मिलाने के बाद इस पेस्ट को पहले अपने सिर पर और फिर अपने बालों पर लगाएं।
  4. आधे घंटे के लिए इसे लगा रहने दें। फिर इसे पानी से धो लें। अन्यथा, कपूर की तेज़ गंध आपके बालों से दूर नहीं होगी।
  5. हफ्ते में दो बार इस विधि का उपयोग करें। 

(और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के लिए हेयर मास्क)

2) बालों में मजबूती लाने के लिए आंवला रीठा शिकाकाई पाउडर हेयर पैक

आवश्यक सामग्री: आंवला जूस + रीठा पाउडर + शिकाकाई पाउडर + ब्राह्मी पाउडर + जैतून का तेल
अनुपात- 1 : 1 : 1 : 1 : 2
विधि:

  1. आंवले के रस की जगह आप आंवला पाउडर का भी उपयोग कर सकती हैं, हमने आंवले का रस इसलिए कहा क्योंकि पानी की तुलना में ये बेहतर विकल्प होगा।
  2. सबसे पहले, आंवले के रस और जैतून के तेल को मिलाकर कम लौ पर, पैन में 10 मिनट तक गर्म करें।
  3. अब उसमें रीठा, शिकाकाई और ब्राह्मी पाउडर मिलाएं। 5 मिनट के लिए मिश्रण को गर्म करते हुए हिलाती रहें।
  4. अब इसे ठंडा होने दें और फिर अपने सिर पर लगाएं। 30 मिनट के लिए इस मिश्रण को बालों में लगा रहने दें, उसके बाद पानी से धो लें।
  5. इस विधि को एक हफ्ते में तीन बार उपयोग करें। 

(और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय)

3) रूसी से मुक्ति के लिए आंवला रीठा शिकाकाई पाउडर हेयर पैक

आवश्यक सामग्री: आंवला पाउडर + रीठा पाउडर + शिकाकाई पाउडर + मेथी पाउडर + घी
अनुपात- 1: 1: 1: 1: 2
विधि:

  1. वनस्पति घी के बजाय देसी घी का उपयोग करें। (और पढ़ें - देसी घी और वनस्पति घी में से सेहत के लिए क्या है अधिक फायदेमंद?)
  2. उपर्युक्त चीज़ों को सही अनुपात में मिला लें।
  3. उसके बाद सिर की मालिश करते हुए पेस्ट को बालों में लगाएं।
  4. इसे अपने सिर पर 40-50 मिनट तक लगा रहने दें।
  5. फिर अपने सिर को सादे पानी से धो लें।
  6. इस उपयोग को सप्ताह में दो बार करें। 

(और पढ़ें - बालों से रूसी हटाने के घरेलू उपाय)

4) दोमुंहे बालों के लिए आंवला रीठा शिकाकाई पाउडर हेयर पैक

आवश्यक सामग्री: आंवला पाउडर + रीठा पाउडर + शिकाकाई पाउडर + नारियल तेल + दूध
अनुपात- 1: 1: 1: 2: 1
विधि:

  1. हो सके तो बिना उबले हुए दूध का उपयोग करें क्योंकि क्योंकि उसमें दूध की वसा होती है, जो बालों को मॉइस्चराइज करती है।
  2. सभी सामग्री को एक कटोरी में अच्छी तरह से मिलाएं।
  3. अपने सिर और बालों पर,खासतौर से अपने बालों के छोरों पर पेस्ट लगाएं।
  4. इस पेस्ट को 30 मिनट तक लगा रहने दें, फिर इसे पानी से धो लें।
  5. इस विधि का सप्ताह में दो बार उपयोग करें। 

(और पढ़ें - दोमुंहे बालों के घरेलू उपाय)

5) सफ़ेद बालों के लिए आंवला रीठा शिकाकाई पाउडर हेयर पैक

आवश्यक सामग्री: आंवला पाउडर + रीठा पाउडर + शिकाकाई पाउडर + हिना पाउडर + गुड़हल के फूल का पाउडर
अनुपात- 1: 1: 1: 1: 1
विधि:

  1. जब हिना पाउडर, गुड़हल के फूल का पाउडर और आंवला रीठा शिकाकाई का उपयोग सफेद बालों के लिए करें तो ध्यान रखें कि मिश्रण थोड़ा गाढ़ा हो।
  2. पहली बार उपयोग करते समय ये सावधानी बरतें कि 1 चम्मच के बजाय ½ चम्मच हिना का प्रयोग करें।
  3. यदि आपको पास की दुकानों में कहीं भी गुड़हल के फूल का पाउडर नहीं मिल रहा है तो आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकती हैं। (और पढ़ें - गुड़हल के फायदे)
  4. 60-90 मिनट के लिए बालों पर मिश्रण लगाएं।
  5. उसके बाद पानी से धो लें।
  6. सप्ताह में एक बार ही ये उपयोग करना पर्याप्त होगा। 

(और पढ़ें - सफेद बालों से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय)

6) बेजान और रूखे बालों के लिए आंवला रीठा शिकाकाई पाउडर हेयर पैक

आवश्यक सामग्री: आंवला पाउडर + रीठा पाउडर + शिकाकाई पाउडर + कोको पाउडर + एलोवेरा जूस
अनुपात- 1 : 1 : 1 : 1 : 2
विधि:

  1. जूस के बजाय, आप एलोवेरा जेल का उपयोग भी कर सकती हैं।
  2. ऊपर लिखी सभी सामग्रियां मिलाने के बाद, इसका थोड़ा गाढ़ा मिश्रण तैयार कर लें।
  3. अपने सिर और बालों पर इसे लगाएं।
  4. फिर 60 मिनट के बाद, सिर पानी से धो लें।
  5. इस विधि को सप्ताह में दो बार आज़माएं। 

(और पढ़ें - रूखे और बेजान बालों का घरेलू इलाज)

7) चिपचिपे ऑयली बालों के लिए आंवला रीठा शिकाकाई पाउडर हेयर पैक

आवश्यक सामग्री: आंवला पाउडर + रीठा पाउडर + शिकाकाई पाउडर + मुल्तानी मिट्टी + दही
अनुपात- 1: 1: 1: 1: 1
विधि:

  1. दही के साथ आंवला रीठा शिकाकाई पाउडर मिलाएं। मुल्तानी मिट्टी को अच्छे अवशोषक के रूप में जाना जाता है, इसीलिए इसका इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।
  2. इन्हें अच्छी तरह से मिलकर गाढ़ा मिश्रण तैयार कर लें।
  3. इस मिश्रण से सिर की मालिश करें। 40 मिनट के लिए इसे लगा रहने दें।
  4. फिर सिर को पानी से अच्छी तरह धो लें।
  5. सप्ताह में तीन बार इस विधि का उपयोग करें। 

8) चमकदार बालों के लिए आंवला रीठा शिकाकाई पाउडर हेयर पैक

आवश्यक सामग्री: आंवला पाउडर + रीठा पाउडर + शिकाकाई पाउडर + संतरे के छिलके का पाउडर + ग्लिसरीन + गुलाब जल
अनुपात- 1: 1: 1: 1: ½: 1
विधि:

  1. गर्मियों में, जब आप संतरा खाते हैं तो उसके छिलके को सुखाकर उसे पीसकर उसका पाउडर बना सकते हैं।
  2. एक कटोरे में सभी चीज़ों को बताए गए अनुपात में मिला लें।
  3. हेयर पैक जितना गाढ़ा हो उतना अच्छा है इसलिए अधिक गुलाब जल न मिलाएं।
  4. इसे अपनी खोपड़ी और बालों पर लगाएं और 30 मिनट के लिए लगा रहने दें।
  5. निर्धारित समय के पूरा होने के बाद, बालों को पानी से धो लें।
  6. इस विधि को सप्ताह में तीन बार उपयोग करें। 

(और पढ़ें - सिर्फ 10 मिनट में पाएं रेशमी और चमकदार बाल)

9) मोटे बालों के लिए आंवला रीठा शिकाकाई पाउडर हेयर पैक

आवश्यक सामग्री: आंवला पाउडर + रीठा पाउडर + शिकाकाई पाउडर + एलोवेरा रस + तिल का तेल
अनुपात- 1: 1: 1: 1: 2
विधि:

  1. तिल के तेल के बजाय आप नारियल तेल का उपयोग भी कर सकते हैं।
  2. सभी चीज़ों को मिलकर एक पेस्ट बनाएं।
  3. शैम्पू के बाद इसे अपने सिर पर लगाएं।
  4. इसे 40-50 मिनट के लिए लगा रहने दें।
  5. फिर इसे पानी से धो लें।
  6. इस विधि को सप्ताह में दो बार उपयोग करें। 

(और पढ़ें - तिल के तेल के फायदे)

10) मुलायम और सिल्की बालों के लिए आंवला रीठा शिकाकाई पाउडर हेयर पैक

आवश्यक सामग्री: आंवला पाउडर + रीठा पाउडर + शिकाकाई पाउडर + शहद + एग व्हाइट
अनुपात- 1 : 1 : 1 : ½ : 1
विधि:

  1. यदि आपको अंडे की गंध पसंद नहीं है, तो आप से बनी मेयोनीज़ का उपयोग कर सकती हैं।
  2. सभी चीजों को एक साथ मिलाएं।
  3. इस पेस्ट को अपने बालों और खोपड़ी पर लगाएं।
  4. इसे 60 मिनट के लिए लगा रहने दें।
  5. यदि आप नहीं चाहती कि अंडे की गंध आपके बालों से आये तो पानी से भरे मग में एक नींबू निचोड़ें। इससे अपने बालों को धोएं फिर सादे पानी का उपयोग करें।
  6. इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार अपनाएं। 

(और पढ़ें - हमेशा के लिए पार्लर जैसी चमक अपने बालों को दीजिए इस असरदार तरीके से)

और पढ़ें ...

References

  1. Emily L. Guo and Rajani Katta. Diet and hair loss: effects of nutrient deficiency and supplement use. 2017 Jan; 7(1): 1–10. PMID: 28243487
  2. Kumar N, Rungseevijitprapa W, Narkkhong NA, Suttajit M, Chaiyasut C.5α-reductase inhibition and hair growth promotion of some Thai plants traditionally used for hair treatment. 2012 Feb 15;139(3):765-71. PMID: 22178180
  3. Packirisamy RM, Bobby Z, Panneerselvam S, Koshy SM, Jacob SE. Metabolomic Analysis and Antioxidant Effect of Amla (Emblica officinalis) Extract in Preventing Oxidative Stress-Induced Red Cell Damage and Plasma Protein Alterations: An In Vitro Study. 2018 Jan;21(1):81-89. PMID: 29064307
  4. Fernández E, Martínez-Teipel B, Armengol R, Barba C, Coderch L. Efficacy of antioxidants in human hair. 2012 Dec 5;117:146-56. PMID: 23123594
  5. Magro CM, Rossi A, Poe J, Manhas-Bhutani S, Sadick N. The role of inflammation and immunity in the pathogenesis of androgenetic alopecia. 2011 Dec;10(12):1404-11.PMID: 22134564
  6. Schwartz JR, Messenger AG, Tosti A, Todd G, Hordinsky M, Hay RJ, Wang X, Zachariae C, Kerr KM, Henry JP, Rust RC, Robinson MK. A comprehensive pathophysiology of dandruff and seborrheic dermatitis - towards a more precise definition of scalp health. 2013 Mar 27;93(2):131-7.PMID: 22875203
  7. Schwartz JR, Messenger AG, Tosti A, Todd G, Hordinsky M, Hay RJ, Wang X, Zachariae C, Kerr KM, Henry JP, Rust RC, Robinson MK. A comprehensive pathophysiology of dandruff and seborrheic dermatitis - towards a more precise definition of scalp health. 2013 Mar 27;93(2):131-7.PMID: 22875203
  8. Sachin Dubey, Neelesh Nema and S. Nayak. Preparation and Evaluation of Herbal Shampoo Powder . Vol : XXVI (1) July, August, September – 2004 3DJHV
  9. Shah M, Parveen Z, Khan MR. Evaluation of antioxidant, anti-inflammatory, analgesic and antipyretic activities of the stem bark of Sapindus mukorossi. 2017 Dec 8;17(1):526.PMID: 29221478
  10. Rao TP, Okamoto T, Akita N, Hayashi T, Kato-Yasuda N, Suzuki K. Amla (Emblica officinalis Gaertn.) extract inhibits lipopolysaccharide-induced procoagulant and pro-inflammatory factors in cultured vascular endothelial cells. 2013 Dec;110(12):2201-6. PMID: 23742702
  11. Garg AP, Müller J. Inhibition of growth of dermatophytes by Indian hair oils. 1992 Nov-Dec;35(11-12):363-9. PMID: 1302812
ऐप पर पढ़ें