myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

बालों की समस्या तो हर मौसम में बनी रहती है लेकिन खासकर बरसात के बाद बालों की समस्या बढ़ जाती है। बाल धोने पर झड़ते हैं और तेल लगाने पर टूटने लगते हैं। इससे आप ये मतलब निकाल सकते हैं कि मौसम बदलते ही बालों की समस्या शुरू हो जाती है।

सुन्दर दिखने के लिए मेकअप, गहनों, सौंदर्य प्रसाधनों के अलावा बालों की देखभाल भी जरूरी मानी जाती है। सुन्दर और घने बालों के लिए महिलाएं तेल मालिश, महंगे शैम्पू, स्पा ट्रीटमेंट जैसे कितने ही जतन करती रहती हैं।

बालों को शैम्‍पू करने का सही तरीका

अधिकतर महिलाएं शैम्पू करने के सही तरीके की उलझन में रहती हैं। बालों को शैम्पू करने से पहले अच्छी तरह गीला करना चाहिए। सूखे बालों में शैम्पू लगाने से फायदे की बजाय नुकसान हो सकता है। कई बार शैम्पू करने के बाद भी बाल उलझे रहते हैं तो ऐसे में आप को शैम्पू या कंडीशनर बदलने पर विचार करना चाहिए। बालों में शैम्पू लगाने के बाद दो तीन मिनट तक बालों की मसाज करें तथा उसके बाद ही ताजे ठन्डे पानी से धोएं। शैम्पू का प्रयोग खोपड़ी पर आहिस्ता-आहिस्ता मालिश करके करना चाहिए। शैम्पू करने से एक घण्टा पहले बालों में तेल मालिश करें।

(और पढ़ें - रूखे बालों के लिए शैम्पू)

बालों को शैम्‍पू करने के टिप्‍स

सिर में तेल मालिश से खोपड़ी में रक्त का संचार होगा जिससे आपके बालों को मजबूती मिलेगी। बालों को गर्म पानी से कतई न धोएं। इससे आप के बाल रूखे हो जायेंगे। हमेशा सही मात्रा में ही शैम्पू का प्रयोग करें क्योंकि शैम्पू का ज्यादा इस्तेमाल भी बालों को खराब कर देगा।

इसके लिए जरूरी है कि शैंपू करने से एक घंटा पहले बालों में मालिश करें ताकि बालों को पोषण मिल सके। शैम्पू को थोड़े से पानी में घोलकर लगाने से बेहतर परिणाम मिलेंगे।

(और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के शैम्पू)

आपके ऑयली बाल हों या ड्राई। हमेशा से इस बात का ख्याल रखें कि मार्केट में आपको कई ऐसे शैम्पू मिल जाएंगे जो केमिकल्स से बने हों, ये शैम्पू आपके बालों के नैचुरल ऑयल को नुकसान पहुंचाते हैं। इससे आपके स्कैल्प के एसिड एल्कलाइन का सन्तुलन बिगड़ता है और नतीजा होता है टूटते और डैमेज्ड बाल। ऑयली हेयर के लिए हिना और ड्राई के लिए आंवला वाले शैम्पू चुनें।

हफ्ते में कितनी बार करें शैम्पू

ये सवाल हर किसी के मन में उठता है। किसी ने आपको हफ्ते में दो बार तो किसी ने तीन बार इसे धोने की सलाह दी होगी पर अलग-अलग हेयर टाइप की जरूरत अलग होती है। जहां ऑयली हेयर को हफ्ते में तीन बार और वहीं ड्राई हेयर को दो बार धोने की ज़रूरत होती है। लेकिन उमस भरे मौसम में आपका चाहे जो भी हेयर टाइप हो इसे तीन बार धोएं। ऐसे मौसम में पसीने की वजह से धूल-गंदगी आपके स्कैल्प में चिपक कर बालों को काफी गंदा करते हैं।

(और पढ़ें - रूसी के लिए शैम्पू)

शैम्पू करने के बाद

इसके बाद पूरे बालों को तौलिए में अच्छी तरह लपेटें। इससे एक्सेस वॉटर निकल जाएगा। बालों को सुखाने के लिए इन्हें रगड़ने की गलती ना करें। जब बाल सूख जाएं या बिल्कुल हल्के गीले रहें तो इन्हें सुलझाने के लिए चौड़े दांतों वाली कंघी से अच्छी तरह सुलझाएं। इन्हें सुलझाने के लिए पतले दांतों वाली कंघी का इस्तेमाल कभी भी ना करें। इससे ये टूट कर झड़ने लगते हैं। इन्हें खुद ही सूखने दें। सुखाने के लिए हमेशा हेयर ड्रायर का इस्तेमाल ना करें। साथ ही अगर इसे इस्तेमाल करें तो हमेशा 10 इंच की दूरी पर रखें।

(और पढ़ें - बालों के लिए सबसे अच्छा शैम्पू)

और पढ़ें ...