myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

गर्मियों में तो अधिकतर व्यक्ति ठंडा पानी पीना ही पंसद करते हैं, लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं जो सर्दियों में भी ठंडा पानी पीते हैं। आपको बता दें कि गर्म और ठंडे पानी के अलग-अलग फायदे और नुकसान होते हैं। कुछ लोग गर्म पानी को स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद बताते हैं तो कुछ ठंडे पानी को लाभदायक मानते हैं। लेकिन हर चीज के फायदे और नुकसान दोनों ही होते हैं। इसी तरह ठंडे पानी के भी फायदे और नुकसान दोनों ही प्रभाव देखने को मिलते हैं।

इस लेख में आपको ठंडे पानी के फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार से बताया गया है। साथ ही आपको ठंडे पानी के लाभ, ठंडा पानी पीने के फायदे, ठंडा पानी पीने के नुकसान और ठंडा पानी पीने के लाभ आदि विषयों को भी विस्तार से बताने का प्रयास किया गया है।

(और पढ़ें - पानी कब और कितना पीना चाहिए

  1. ठंडा पानी पीने के फायदे - Thanda pani peene ke fayde
  2. ठंडा पानी पीने के नुकसान - Cold water peene ke nuksan
  3. ठंडे पानी के फायदे - Thande pani ke fayde

ठंडे पानी का गुण है शरीर के तापमान को सही बनाना - Thande pani ka gun hai sharir ke temperature ko normal karna

गर्मियों के दिनों में ठंडा पानी पीने से आप खुद को हाइड्रेट रख सकते हैं। एक्सरसाइज करते समय या उसके बाद भी आपके शरीर का तापमान काफी अधिक रहता है, इस दौरान ठंडा पानी पीने से शरीर के तापमान को सामान्य बनाएं रखने में मदद मिलती है। ठंडा पानी आपके शरीर की गर्मी को अवशोषित कर लेता है, जिससे शरीर सामान्य अवस्था में आ जाता है। ठंडा पानी आपके शरीर में होने वाली पानी की कमी को जल्द दूर करने में भी सहायक होता है, क्योंकि यह गर्म पानी की अपेक्षा तेजी से आपके रक्त में प्रवेश कर पाता है।

(और पढ़ें - पानी की कमी को दूर करने के उपाय​)

ठंडा पानी पीने के लाभ में शामिल है हार्मोन नियंत्रित करना - Thanda pani peene ke labh me samil hai hormones control karna

हार्मोन शरीर में विभिन्न ग्रंथियों द्वारा उत्पादित सबसे महत्वपूर्ण रासायनिक पदार्थ हैं। हाल ही में हुए अध्ययन से इस बात का पता चला है कि ठंडा पानी पीने से विशेष रूप से एस्ट्रोजन और टेस्टोस्टेरोन हार्मोन्स पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। ठंड़ा पानी व्यक्ति की सेक्सुअल लाइफ को बेहतर बनाएं रखने में मददगार होता है। ऐसे में आप अगली बार जब भी सामान्य तापमान वाला पानी पिएं उसमें थोड़ा ठंडा पानी या बर्फ जरूर मिला लें।

(और पढ़ें - टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के उपाय)

शरीर के विषाक्त पदार्थ को बाहर करने के लिए पिएं ठंडा पानी - Sharir ko detoxify karne ke liye thanda pani piye

नींबू पानी पीने से शरीर के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिलती है, इस बात को आप सभी जानते ही होंगे। लेकिन गर्मियों के दिनों में गर्म या सामान्य तामपान वाले पानी से बना नींबू पानी अच्छा नहीं लगता है। इस मौसम में आप ठंडे पानी से नींबू पानी बनाएं। ठंडे पानी से बने नींबू पानी में आप हल्का सा नमक भी मिला सकते हैं। यह ड्रिंक आपके शरीर को डिटॉक्सिफाई करने के साथ पसीने के कारण विटामिन्स और नमक की कमी को भी पूरा करने में मददगार साबित होती है। इसके साथ ही नींबू में मौजूद विटामिन सी और सिट्रीक एसिड आपके शरीर और मस्तिष्क दोनों को ताजगी प्रदान करने का काम करते हैं।

(और पढ़ें - नींबू के रस के फायदे)

फ्रिज का पानी पीने से होती है कब्ज - fridge ka pani pine se hoti hai kabj

सामान्य तापमान का पानी पीने से पाचन क्रिया ठीक बनी रहती है, जबकि ठंडा पानी पीना आपकी कब्ज की समस्या का एक कारण बन सकता है। इसके साथ ही ठंडा पानी पीने से आपका खाना सख्त व कठोर हो जाता है और इसको बाहर आने में परेशानी होती है। ठंडा पानी पीने से आंतों में भी संकुचन होने लगता है, इससे मल को बाहर निकलते समय मुश्किल होती है और आपको कब्ज की समस्या का सामना करना पड़ता है। 

(और पढ़ें - कब्ज दूर करने के उपाय)

ठंडा पानी पीने से पाचन क्रिया होती है बाधित - Thanda pani peene se pachan kirya hoti hai badhit

ठंडा पानी पीने से बचने का मुख्य कारण यह है कि इसका पाचन क्रिया पर गंभीर दुष्प्रभाव पड़ता है। ठंडा पानी और ठंडे पेय पदार्थ पीने से रक्त वाहिकाएं संकुचित होती है और पाचन क्रिया बाधित हो जाती है। ठंडा पानी पीने से पाचन तंत्र के द्वारा पोषक तत्वों के अवशोषण की प्रक्रिया बाधित होती है। ठंडा पानी पीने के बाद आपका शरीर पाचन क्रिया के स्थान पर शरीर के तापमान को सामान्य करना शुरू कर देता है।

(और पढ़ें - पाचन क्रिया बढ़ाने के उपाय)

जब आप किसी ठंडी चीज को खाते या पीते हैं तो तापमान को नियंत्रित व सामान्य करने के लिए शरीर को अतिरिक्त ऊर्जा लगानी पड़ती है। पाचन क्रिया को सही बनाएं रखने और पोषक तत्वों को अवशोषित करने के लिए शरीर को इसी अतिरिक्त ऊर्जा की आवश्यकता होती है, लेकिन इस ऊर्जा के द्वारा तापमान को नियंत्रित करने की वजह से पाचन क्रिया धीमी पड़ जाती है व पोषण तत्वों के अवशोषण में बाधा आनी शुरू हो जाती है। 

(और पढ़ें - पाचन तंत्र के रोग का इलाज)

ठंडे पानी पीने से हानि में शामिल है गला दर्द - Thanda pani pine se hani me shamil hai gala dard

आपने अपने घर के व्यस्कों और बुजुर्गों को ठंडा पानी न पीने के लिए कहते सुना होगा। दरअसल ठंडा पानी पीने से गला दर्दसर्दी जुकाम होने का जोखिम अधिक होता है। विशेष रूप से खाना खाने के बाद ठंडा पानी पीने से श्वसन तंत्र में बलगम बनने लगता है, जो श्वसन तंत्र में सुरक्षात्मक परत की तरह काम करता है। हालांकि बलगम होने के कारण श्वसन तंत्र कई तरह के इंफ्लेमेटरी इन्फेक्शन हो जाते हैं।

(और पढ़ें - गले में दर्द होने पर घरेलू उपाय​)

ठंडा पानी पीने से हृदय दर कमी - Thanda pani peene se heart rate kam hoti hai

हृदय दर का कम होना भी ठंडा पानी न पीने की वजह होती है। कई अध्ययनों से इस बात का पता चलता है कि ठंडा पानी पीने से ना सिर्फ हृदय दर में कमी आती है, बल्कि यह वैगस नर्व (vagus nerve) को भी उत्तेजित करता है। वैगस नर्व शरीर के अनैच्छिक कार्यों (जिन पर नियंत्रण ना हो) को नियंत्रित करती है। यह तंत्रिका (nerve) भी शरीर के तंत्रिका तंत्र में महत्वपूर्ण होती है। ठंडे पानी से वैगस नर्व सीधे प्रभावित होती है, जिससे हृदर दर में कमी आने लगती है।     

(और पढ़ें - हृदय रोग का इलाज)

ज्यादा ठंडा पानी पीने का नुकसान है सिर दर्द - Jyada thanda pani ka nuksan hai sir dard

यदि आप बर्फ और आइसक्रीम खाने के बाद ब्रेन फ्रिज (brain freeze: एक तरह का सिरदर्द) को महसूस करते हैं, तो बर्फ के ठंडे पानी को पीने से भी आपको इसी तरह की समस्या हो सकती है। ठंडा पानी रीढ़ की हड्डी की कई संवेदनशील नसों को ठंडक प्रदान करता है, जिसके परिणामस्वरुप यह नसे तुरंत मस्तिष्क को संदेश भेजती हैं, इसकी वजह से आपको सिरदर्द होने लगता है।

(और पढ़ें - सिर दर्द से छुटकारा पाने के उपाय)     

ठंडा पानी पीने से बढ़ता है वजन - Cold water peene se vajan badta hai

कुछ लोगों का मानना है कि ठंडा पानी पीने से शरीर को अधिक कार्य करने की आवश्यकता पड़ती है। इसकी वजह से शरीर की ज्यादा कैलोरी बर्न होती है, जिससे व्यक्ति को वजन कम करने में मदद मिलती है। लेकिन इस उपाय को सही नहीं माना जा सकता है, क्योंकि खाना खाने के साथ या उसके तुरंत बाद ठंडा पानी पीने से वसा को अवशोषित करने की प्रक्रिया बाधित हो जाती है।

ठंडा पानी खाने में मौजूद वसा (फैट) को सख्त कर देता है, जिसकी वजह से शरीर अनावश्यक वसा को तोड़ या अवशोषित नहीं कर पाता है। हालांकि खाना खाने के करीब आधे घंटे बाद ही आपको सामान्य तापमान वाला पानी पीना चाहिए।

(और पढ़ें - वजन कम करने के लिए कितनी कैलोरी खाएं

ठंडा पानी है त्वचा और बालों के लिए फायदेमंद - Thanda pani hai twacha aur balon ke liye faydemand

गर्म पानी से त्वचा का प्राकृतिक तेल नष्ट हो जाता है, लेकिन ठंडे पानी से त्वचा पर ऐसा प्रभाव नहीं होता है। ठंडे पानी से आपकी त्वचा पर रक्त संचार बढ़ता है, जिसे त्वचा चमकदार बनती है। इस उपाय को अपनाने से ना सिर्फ आपकी त्वचा स्वस्थ होती है, बल्कि इससे बालों में भी प्राकृतिक चमक देखने को मिलती है। ठंडे पानी से बालों की रोम छिद्र बंद होती है और इसके उपयोग से बाल नरम हो जाते हैं।  

(और पढ़ें - चमकदार त्वचा के उपाय)

जलने पर ठंडे पानी का इस्तेमाल - Jalne pr thande pani ka istemaal

अक्सर खाना बनाते समय महिलाओं का हाथ जल जाता है। यदि आपका हाथ हल्का जल गया है तो इसके प्राथमिक उपचार में आप अपने हाथ को ठंडे पानी में डुबोकर रखें या प्रभावित हिस्से को चलते पानी के नीचे रखें। आप जली हुई त्वचा पर करीब 15 से 20 मिनट तक ठंडे पानी का इस्तेमाल करें। इससे आपको जलन में तुरंत राहत मिलेगी। इस दौरान आपको ठंडा पानी इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है, इसकी जगह पर आप बर्फ या बर्फ के पानी का उपयोग ना करें। साथ ही यह भी ध्यान दें कि हल्के जलने की स्थिति में ही आप इस उपाय को अपनाएं।

(और पढ़ें - जलने पर घरेलू उपाय​)

ठंडे पानी से सूखाएं नेल पेंट - Thande pani se sukhaye nail paint

कामकाजी महिलाओं व लड़कियों के पास समय की अक्सर कमी होती है। समय कम होने के कारण नेल पेंट को लगाना लड़कियों व महिलाओं के लिए मुश्किल भरा हो सकता है, क्योंकि नेल पेंट को लगाने के बाद उसको सूखने में थोड़ा समय लगता है। लेकिन ठंडे पानी के इस्तेमाल से नेल पेंट को सुखाने में मदद मिलती है। इस उपाय में आपको बर्फ का ठंडा पानी लेना होगा। इस उपाय को आजमाने के लिए पहली बार नेल पेंट लगाने के बाद हाथों को कुछ मिनट के लिए ठंडे पानी में डुबाएं, दूसरी बार नेल पेंट लगाने के बाद भी आप इसी प्रक्रिया को अपनाएं।  

(और पढ़ें - नाखूनों की देखभाल के लिए टिप्स)

और पढ़ें ...