एडिसन रोग - Addison Disease in Hindi

Dr. Ayush PandeyMBBS

March 26, 2018

March 26, 2021

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
एडिसन रोग
कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

एडिसन रोग क्या है?

किडनी के शीर्ष पर स्थित एड्रेनल ग्रंथियां शरीर के लिए आवश्यक हार्मोन का निर्माण करती हैं। एड्रेनल ग्रंथियों की बाहरी परत (कोर्टेक्स) तीन प्रकार के स्टेरॉयड हार्मोन का निर्माण करती है। एड्रेनल इंसफीसियंसी (एआई) की स्थिति में, कोर्टेक्स पर्याप्त मात्रा में स्टेरॉयड हार्मोन का उत्पादन करना बंद कर देती है। यह हार्मोन शरीर के तमाम कार्यों के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। शरीर में इनकी अपर्याप्तता के कारण कई प्रकार की समस्याएं हो सकती हैं। वहीं यदि इनकी मात्रा बहुत कम हो जाए तो यह स्थिति जानलेवा भी हो सकती है। एड्रेनल इंसफीसियंसी को एडिसन रोग के नाम से भी जाना जाता है।

एडिसन रोग के दौरान एड्रेनल ग्रंथियों से जिन दो हार्मोनों का उत्पादन प्रभावित होता है वह हैं—कोर्टिसोल और एल्डोस्टेरोन। कोर्टिसोल तनावपूर्ण स्थितियों में शरीर की प्रतिक्रिया को नियंत्रित करता है। जबकि एल्डोस्टेरोन, सोडियम और पोटेशियम के विनियमन में मदद करता है। एड्रेनल कोर्टेक्स, सेक्स हार्मोन (एंड्रोजन) का भी उत्पादन करती हैं।

इस लेख में हम एड्रेनल इंसफीसियंसी यानी एडिसन रोग के लक्षण, कारण और इसके उपचार की विधियों के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

एड्रेनल इंसफीसियंसी के लक्षण - Addison Disease symptoms in Hindi

एडिसन रोग से ग्रसित लोगों को निम्न प्रकार के लक्षणों का अनुभव हो सकता है।

एडिसन रोग से ग्रसित लोगों को न्यूरोसाइकिएट्रिक लक्षणों का भी अनुभव हो सकता है।

  • चिड़चिड़ापन या अवसाद
  • ताकत न लगना
  • नींद से संबंधित समस्याएं

यदि एडिसन रोग का बहुत लंबे समय तक निदान या उपचार न किया जाए तो इस वजह से एडीसंस क्राइसेस नाम की समस्या हो सकती है। कुछ लोगों में यह स्थिति जानलेवा भी हो जाती है। इस दौरान रोगी को निम्न प्रकार के लक्षणोंं का अनुभव हो सकता है।

  • व्याकुलता
  • मानसिक स्थिति में परिवर्तन, जैसे भ्रम, भय या बेचैनी
  • बेहोशी
  • तेज बुखार
  • पीठ के निचले हिस्से, पेट या पैरों में अचानक दर्द होना

एडिसन रोग का कारण - Addison Disease causes in Hindi

एडिसन रोग मुख्य रूप से एड्रेनल ग्रंथियों को होने वाली क्षति के कारण होता है, इस स्थिति में ग्रंथियों से कोर्टिसोल और एल्डोस्टेरोन नामक हार्मोन का उत्पादन पर्याप्त मात्रा में नहीं हो पाता है।एड्रेनल ग्रंथियां, अंतःस्रावी तंत्र का हिस्सा होती हैं। ये ऐसे हार्मोनों का उत्पादन करती हैं जो शरीर के लगभग हर अंग और ऊतकों को निर्देशित करती हैं।

एड्रेनल ग्रंथियां मुख्य रूप से दो वर्गों से बंटी होती हैं। इसका आंतरिक हिस्स (मेड्यूला) एड्रेनालाईन जैसे हार्मोन जबकि इसकी बाहरी परत (कोर्टेक्स), हार्मोन के एक समूह का निर्माण करती है जिसे कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स कहा जाता है। कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स हार्मोन निम्न होते हैं।

ग्लूकोकॉर्टिकोइड्स : ये भोजन को ऊर्जा में बदलने की क्षमता को प्रभावित करते हैं। इसके साथ ही यह शरीर को तनाव के प्रति प्रतिक्रियाएं देने में सहायक होती हैं।

मिनिरलोकॉर्टिकोइड्स : ये हार्मोन शरीर के रक्तचाप को सामान्य रखने के लिए सोडियम और पोटेशियम के संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है।

एण्ड्रोजन : इसे सेक्स हार्मोन के नाम से भी जाना जाता है। पुरुषों में कामेच्छा को बढ़ाने में यह महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

एडिसन रोग के मुख्य दो चरण होते हैं।

प्राइमरी

प्राइमरी एड्रेनल इंसफीसियंसी तब होती है जब एड्रेनल ग्रंथियां इतनी गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हो जाती हैं कि वे हार्मोन का उत्पादन नहीं कर सकती हैं। प्रतिरक्षा प्रणाली द्वारा एड्रेनल ग्रंथियों पर अटैक कर देने की स्थिति में यह समस्या होती है। यह एक प्रकार का ऑटोइम्यून विकार है। प्राइमरी एड्रेनल इंसफीसियंसी के अन्य कारण निम्नलिखित भी हो सकते हैं।

सेकेंडरी

सेकेंडरी एड्रेनल इंसफीसियंसी तब होती है जब पिट्यूटरी ग्रंथि,एड्रेनोकोर्टिकोट्रोपिक हार्मोन (एसीटीएच) का उत्पादन नहीं कर पाती है। एसीटीएच हार्मोन, एड्रेनल ग्रंथियों को बताता है कि हार्मोन कब रिलीज करना है।

एडिसन रोग का निदान - Diagnosis of Addison Disease in Hindi

एडिसन रोग के निदान के लिए डॉक्टर सबसे पहले आपसे मेडिकल हिस्ट्री और उन लक्षणों के बारे में पूछते हैं जिनका आप अनुभव कर रहे हैं। इसके बाद एक शारीरिक परीक्षण के साथ पोटेशियम और सोडियम के स्तर की जांच करने के कुछ टेस्ट कराने की सलाह दे सकते हैं। इसके अलावा कई अन्य परीक्षणों को कराने की आवश्यकता हो सकती है।

खून की जांच

रक्त में सोडियम, पोटेशियम, कोर्टिसोल और एड्रेनोकोर्टिकोट्रोपिक हार्मोन की मात्रा को नापने के लिए खून की जांच कराई जा सकती है।

एसीटीएस स्टूमलेटिंग टेस्ट

एसीटीएस, कोर्टिसोल का उत्पादन करने के लिए एड्रेनल ग्रंथियों को संकेत देता है। सिंथेटिक एसीटीएच के इंजेक्शन से पहले और बाद में रक्त में कोर्टिसोल के स्तर को मापने के लिए यह टेस्ट किया जाता है।

इंसुलिन इंडक्टेड हाइपोग्लाइसीमिया टेस्ट

पिट्यूटरी रोगों के कारण यदि किसी व्यक्ति को एड्रेनल इंसफीसियंसी की समस्या है तो डॉक्टर इस टेस्ट की सलाह देते हैं। इस परीक्षण में इंसुलिन के इंजेक्शन के बाद ब्लड शुगर और कोर्टिसोल के स्तर की जांच की जाती है।

इमेजिंग टेस्ट

एड्रेनल ग्रंथियों के आकार और अन्य असामान्यताओं की जांच करने के लिए एमआरआई टेस्ट की जाती हैं। यदि आपमें सेकेंड्री एड्रेनल इंसफीसियंसी की समस्या का संदेह हो तो डॉक्टर पिट्यूटरी ग्रंथि के एमआरआई स्कैन कराने की सलाह दे सकते हैं।

एडिसन रोग का इलाज - Treatment of Addison Disease in Hindi

एडिसन रोग के कारणों के आधार पर इसका इलाज किया जाता है। सामान्य स्थिति में एड्रेनल ग्लैंड को ठीक से संचालित करने के​ लिए डॉक्टर कुछ दवाएं लिख सकते हैं। ध्यान रहे ​यदि लंबे समय तक एडिसन रोग का इलाज नहीं होता है तो यह स्थिति जानलेवा भी हो सकती है। इलाज के लिए मुख्यरूप से इन उपायों को प्रयोग में लाया जाता है।

दवाइयां

स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए ग्लूकोकार्टोइकोड्स दवाएं दी जा सकती हैं। इन दवाओं को आजीवन लेने की आवश्यकता होती है, इसकी एक भी खुराक छोड़ी नहीं जानी चाहिए। यदि एड्रेनल ग्लैंड से पर्याप्त मात्रा में हार्मोन का उत्पादन नहीं हो पा रहा है तो हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरपी को प्रयोग में लाया जा सकता है।

वैकल्पिक उपचार

एडिसन रोग में तनाव को कम रखना बहुत महत्वपूर्ण है। तनाव को नियंत्रित करने के वैकल्पिक तरीकों, जैसे योग और मेडिटेशन को प्रयोग में लाया जा सकता है।



संदर्भ

  1. Cleveland Clinic. [Internet]. Cleveland, Ohio. Addison's Disease
  2. Paolo WF Jr, Nosanchuk JD. Adrenal infections. Int J Infect Dis. 2006 Sep;10(5):343-53. Epub 2006 Feb 17. PMID: 16483815
  3. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Adrenal Gland Disorders
  4. Healthdirect Australia. Adrenal fatigue. Australian government: Department of Health
  5. National Institute of Diabetes and Digestive and Kidney Diseases [internet]: US Department of Health and Human Services; Adrenal Insufficiency & Addison’s Disease

एडिसन रोग के डॉक्टर

Dr. Tanmay Bharani Dr. Tanmay Bharani एंडोक्राइन ग्रंथियों और होर्मोनेस सम्बन्धी विज्ञान
15 वर्षों का अनुभव
Dr. Sunil Kumar Mishra Dr. Sunil Kumar Mishra एंडोक्राइन ग्रंथियों और होर्मोनेस सम्बन्धी विज्ञान
23 वर्षों का अनुभव
Dr. Parjeet Kaur Dr. Parjeet Kaur एंडोक्राइन ग्रंथियों और होर्मोनेस सम्बन्धी विज्ञान
19 वर्षों का अनुभव
Dr. M Shafi Kuchay Dr. M Shafi Kuchay एंडोक्राइन ग्रंथियों और होर्मोनेस सम्बन्धी विज्ञान
13 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

एडिसन रोग की दवा - Medicines for Addison Disease in Hindi

एडिसन रोग के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹143.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹0.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹153.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹138.89

20% छूट + 5% कैशबैक


₹105.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹65.24

20% छूट + 5% कैशबैक


₹415.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹805.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹68.39

20% छूट + 5% कैशबैक


₹87.0

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 10 of 89 entries
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ