myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

वैसे तो मौसम में बदलाव के साथ इंसान के जीवन में भी बड़ा बदलाव होता है। मसलन हम कब उठते हैं, क्या खाते हैं, क्या पीते हैं और क्या करते हैं? सब कुछ... लेकिन सर्दियां आने पर काफी हद तक हमारी जीवनशैली प्रभावित होती है।

ठंड के मौसम से पहले ही हम कुछ तैयारियों में जुट जाते हैं। जिसमें गरम कपड़ों की खरीदारी, हीटर और बाकी अन्य सामान शामिल हैं। इन सब तैयारियों के बीच हम इस दौरान होने वाली बीमारियों के बचाव के लिए की तैयारी करना ही भूल जाते हैं। यही वजह है कि अक्सर लोग सर्दियों में कई बीमारियों से घिर जाते हैं। इसमें जुकाम, खांसी, बुखार आमतौर पर पाई जाती है। हालांकि, कुछ चीजों का उपयोग किया जाए तो इन बीमारियों से बचा जा सकता है। कैसे, आईये आपको बताते हैं-

(और पढ़ें- सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय)

कमरे में ह्यूमिडिफायर का उपयोग करें
ठंड के मौसम में हवा में नमी कम हो जाती है, जिसके चलते कोई भी वायरस बड़ी आसानी से आपको बीमार कर सकता है। यही वजह भी है कि इस मौसम में सर्दी जुकाम का जोखिम सबसे अधिक होता है, लेकिन घर के अंदर नमी के स्तर को बढ़ाने के लिए कमरे में ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल करना चाहिए। ह्यूमिडिफायर को 30 प्रतिशत से 50 फीसदी के बीच चलाने पर हवा में कुछ कीटाणुओं से छुटकारा मिल सकता है। इसके अलावा, हवा की नमी बढ़ने से आपको सर्दी से संबंधित कई समस्याओं से राहत मिल सकती है।

गर्म पानी से नहाना
गर्म पानी से नहाने के कई फायदे होते हैं और सर्दियों में गर्म पानी से नहाना आपको कई बीमारियों से छुटकारा दे सकता है। इसके अलावा आपके शरीर को भी काफी आराम मिलता है।

गर्म चाय पीएं
सर्दियों के मौसम में गर्म खाद्य पदार्थ का सेवन करने से आपको आराम महसूस होता है और बात अगर चाय की हो तो फिर बात ही क्या। गर्मा-गर्म चाय पीने से गले की खराश में आराम मिलता है। साथ ही ठंड में होने वाली नमी की समस्या से भी निजात मिलती है। इसलिए सर्दी के मौसम में ब्लैक टी (काली चाय) या फिर अदरक और शहद के साथ बनी ग्रीन टी जरूर पीएं। एक अध्ययन से पता चला है कि जो बच्चे सोने से पहले शहद का सेवन करते हैं, वे दवा लेकर सोने वाले बच्चों से अच्छी नींद लेते हैं।

घर में दवाई जरूर रखें
घर में दवाइयां (पैरासिटामोल) रखना सही है, जो कि हल्के बुखार और ठंड में दर्द से जूझने में कारगर है। इससे शरीर को रिकवरी करने और दर्द निवारक प्रक्रिया में सहायता मिलती है।

बिटाडिन और नमक के पानी के गरारे करें
गले की सफाई के लिए गरारे करना काफी सही माना जाता है। हल्के गर्म पानी में नमक मिलाकर गरारे करना गले में खराश की समस्या में छुटकारा दिलाता है। इसके अलावा अगर इस पानी में दो-चार बूंदे बिटाडिन की डाली जाएं तो इस मिश्रण से खांसी की परेशानी से भी निजात मिलती है।

(और पढ़ें- सर्दियों में त्वचा की देखभाल कैसे करें)

सर्दी खांसी की दवा और एंटीहिस्टामाइन स्प्रे
घर में ऐसे दवाई जरूर रखें जो सर्दी और खांसी की परेशानी में इस्तेमाल हो सकती हो। जैसे- सलाइन नोज़ स्प्रे (नाक बंद होने पर लेने वाली दवा) या फिर कफ ड्रॉप की गोलियां, जो कि आपको सर्दी लगने की स्थिति और गला खराब होने के समय में राहत दिलाएंगी। इसके अलावा इस समस्या में आप अदरक और शहद के मिश्रण को गर्म पानी के साथ ले सकते हैं। इसके सेवन से आपका गला ठीक हो जाएगा।

एयर प्यूरीफायर का इस्तेमाल करें
घर में एयर प्यूरीफायर का इस्तेमाल ठीक माना जाता है। इसके उपयोग से दूषित हवा और धूल खत्म होती है। साथ ही दुर्भाग्य से जब भी आपको सर्दी जुकाम होता है, तो बीमार होने की स्थिति में एयर प्यूरीफायर आपको रात को सोने में मदद करता है। स्वच्छ हवा होने से सर्दी के बाकी के लक्षणों की संख्या कम होगी। इससे आपके शरीर को कई तरह के संक्रमित रोगों से लड़ने की मदद मिलेगी।

विटामिन सी सप्लीमेंट्स लें
रिसर्च बताती है कि सर्दी खांसी में विटामिन सी लेना ज्यादा असरदार नहीं है। अगर उसे पहले लिया जाए तो ये फायदेमंद है। मतलब आप लोगों के संपर्क में ज्यादा रहते हैं तो आपके लिए विटामिन सी सप्लीमेंट और ड्रिंक्स लेना एक अच्छा विकल्प हो सकता है। अगर आप काम पर या फिर स्कूल जाते हैं तो इस दौरान संक्रमित लोगों के संपर्क में आ सकते हैं। विटामिन सी ऐसे इंफेक्शन से आपकी रक्षा करेगा।

(और पढ़ें - खांसी में क्या खाएं और क्या ना खाएं)

खैर ये वो जरूरी चीजें हैं, जिनका ध्यान सर्दी के मौसम में हर किसी को रखना चाहिए। हालांकि, ये आपका बचाव कर सकते हैं, लेकिन यह आपको रातोंरात ठीक नहीं कर सकते। इसलिए भरपूर आराम करें, सही से सोएं और हाइड्रेटेड रहें। यही सर्दी के मौसम में बीमारियों से बचने का बेहतर तरीका है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें