myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

सर्दी जुकाम एक मौसमी बीमारी है, यह संक्रमण की वजह से होता है। साल भर में एक से दो बार सर्दी जुकाम होने से आपके फेफड़े की सफाई हो जाती है।  इसलिए इस बीमारी से बहुत ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है। यह एक से 2 सप्ताह के भीतर अपने आप सही हो जाता है। हालांकि, इस बीमारी के दौरान स्वस्थ भोजन खाना आपके लिए फायदेमंद साबित होता है।

इसलिए आपको यह पता होना चाहिए कि सर्दी जुकाम में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए। संतुलित और पोषक तत्व युक्त आहार सर्दी जुकाम को जल्दी ठीक करनें में मदद करते हैं। इसके अलावा आपको सर्दी जुकाम में परहेज के बारे में भी पता होना चाहिए। तो आइए जानते हैं सर्दी जुकाम में क्या खाएं और क्या न खाएं, क्या करें और क्या न करें।

(और पढ़ें - सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय)

  1. सर्दी जुकाम में डाइट का महत्व - Sardi jukam me diet ka mahatva
  2. सर्दी जुकाम में क्या खाना चाहिए - Sardi jukam me kya khana chahiye
  3. सर्दी जुकाम में परहेज, क्या न खाएं और क्या न करें - Sardi jukam me parhej, kya na khaye aur kya na kare

सामान्य तौर पर सर्दी-जुकाम सक्रमंण की वजह से होते हैं और बिना इलाज के ही एक से दो सप्ताह के भीतर अपने आप सही भी हो जाते हैं। हालांकि, आपको सर्दी जुकाम के लक्षण महसूस होने पर स्वस्थ आहार खाना चाहिए, यह सर्दी जुकाम को जल्दी ठीक करने में मदद करता है। कुछ खाद्य और पेय पदार्थ सर्दी जुकाम के लक्षणों को कम करते हैं और इससे राहत भी दिलाते हैं। भूख न लगने की समस्या सर्दी जुकाम में सामान्य है, इसलिए इस बात से परेशान न हों। लेकिन, जब आपको ठीक से भूख नहीं लगती है ऐसे में पोषक तत्व से भरपूर आहार खाना आपके लिए मुश्किल भरा हो सकता है। इसलिए सर्दी जुकाम में किन खाद्य पदार्थों को खाना चाहिए और किन खाद्य पदार्थों को नहीं खाना चाहिए इस बारे में आपको अच्छी तरह से जानकारी होनी चाहिए। इसके अलावा सर्दी जुकाम के दौरान अधिक से अधिक तरल पेय पदार्थ आपके लिए बहुत अधिक लाभदायक साबित होता है।

सर्दी जुकाम के दौरान नाक बहने और बुखार आने जैसी समस्या होती है, जिसकी वजह से आपके शरीर में पानी की कमी हो सकती है। इसलिए सर्दी जुकाम में अधिक से अधिक तरल पेय पदार्थ पीएं। इसके अलावा भरपूर मात्रा में तरल पदार्थ पीने से सर्दी जुकाम को जल्दी ठीक करने में मदद मिलती है। तरल पेय पदार्थ आपके बलगम को पतला बनाते हैं और बंद नाक से भी राहत दिलाते हैं। शरीर में पानी की मात्रा बराबर बने रहने से आपका शरीर सही तरीके से काम करता है। सर्दी जुकाम के दौरान पूरे दिन में कम से कम 2 लीटर पानी पीना चाहिए। यदि एक साल के बच्चे को सर्जी जुकाम है, तो उसे प्रति घंटे 90 से 120 mL पानी पिलाएं। वहीं अगर 1 साल की बच्ची को सर्दी जुकाम है तो प्रति घंटे 30 से 60 mL पानी पिलाएं। इसके अलावा गर्भवती महिलाओं को सर्दी जुकाम में पूरे दिन में कम से कम 2 से 3 लीटर पानी पीना चाहिए।

(और पढ़ें - बंद नाक खोलने के उपाय)

सर्दी जुकाम में चिकन सूप पीएं - Sardi jukam me chicken soup piye

चिकन सूप को सर्दी जुकाम का एक बहुत अच्छा घरेलू उपाय माना जाता है और इसका इस्तेमाल सर्दी जुकाम को ठीक करने के लिए सालों से किया जा रहा है। सर्दी जुकाम के दौरान चिकन सूप को पीना लाभदायक होता है। इसमें विटामिन, खनिज, प्रोटीन और कैलोरी की भरपूर मात्रा पाई जाती है। जब आप बीमार होते हैं तो आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है।

(और पढ़ें - चिकन खाने के फायदे)

चिकन सूप एक तरल पेय पदार्थ है, जिसमें इलेक्ट्रोलाइट्स की मात्रा होती है, जो आपके शरीर में पानी की मात्रा को संतुलित बनाए रखता है। बुखार के दौरान आपके शरीर को अधिक पानी की आवश्कता होती है। एक अध्ययन के अनुसार, चिकन सूप आपके बंद नाक को खोलने और आपके बलगम को बाहर निकालने में मदद करता है। इसलिए सर्दी जुकाम में चिकन सूप पीएं।

(और पढ़ें - बुखार के घरेलू उपाय)

सर्दी जुकाम में शोरबा पीना चाहिए - Sardi jukam me shorba pina chahiye

शोरबा चिकन सूप की तरह ही होता है, जो आपको बीमारी के दौरान हाइड्रेट रखने में मदद करता है। शोरबा में क्लोरीन, विटामिन और मैग्नीशियम, कैल्शियम, फोलेट व फॉस्फोरस जैसे खनिज मौजूद होते हैं। गर्म शोरबा को पीने से सर्दी जुकाम के दौरान आपके गले को राहत महसूस होती है और यह बंद नाक को खोलने में भी मदद करता है। 

इसके अलावा सर्दी जुकाम के दौरान ठोस खाद्य पदार्थों को पचाना आपके लिए मुश्किल होता है, ऐसे में शोरबा आपके पेट के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन, इस बात का ध्यान रखें की यदि आप कम नमक खाते हैं तो बाजार से कम सोडियम युक्त शोरबा खरीदें, क्योंकि सामान्य तौर पर शोरबा में अधिक नमक होता है। कई लोगों का मानना है कि शोरबा में हड्डी की बीमारी को ठीक करने के गुण होते हैं। हालांकि, इस पर कोई शोध नहीं हुआ है।

(और पढ़ें - हड्डी मजबूत करने के उपाय)

सर्दी जुकाम में लहसुन खाएं - Sardi jukam me lahsun khaye

लहसुन के कई स्वास्थ्य लाभ हैं। लहसुन में जीवाणुरोधी, एंटीफगल और एंटीवायरल गुण होते हैं और इन्हीं गुणों की वजह से सदियों से इसका इस्तेमाल जड़ी-बूटीयों के रूप में किया जा रहा है। एक अध्ययन के अनुसार, जो लोग लहुसन खाते हैं वो लोग कम बीमार पड़ते हैं। इसके अलावा एक अन्य अध्ययन में सर्दी जुकाम पर लहसुन के प्रभाव का पता लगाया गया, जिसमें आशा अनुरूप परिणाम मिलें। इसलिए सर्दी जुकाम में लहुसन खाएं। लहसुन को आप चिकन सूप या शोरबा में मिलाकर इसे और प्रभावशाली बना सकते हैं, जो सर्दी जुकाम के लक्षणों को कम करता है।

(और पढ़ें - खाली पेट लहसुन खाने के फायदे)

सर्दी जुकाम में नारियल पानी पीएं - Sardi jukam me nariyal pani piye

बामारी के दौरान अपने आप को हाइड्रेट रखना बहुत महत्वपूर्ण होता है। सर्दी जुकाम में बुखार सामान्य बात है। बुखार की वजह से आपके शरीर में पानी की कमी होती है। इसलिए सर्दी जुकाम में नारियल पानी पीना आपके लिए बहुत अधिक लाभदायक है और यह आपके शरीर में पानी की मात्रा को बराबर बनाए रखता है। नारियल पानी में ग्लूकोज और इलेक्ट्रोलाइट मौजूद होते हैं, जो आपके शरीर को हाइड्रेट रखने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - बुखार में क्या खाये)

एक अध्ययन के अनुसार, दस्त में भी नारियल पानी पीना चाहिए, इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होती है।

(और पढ़ें - दस्त रोकने का उपाय)

 

सर्दी जुकाम में शहद खाना चाहिए - Sardi jukam shahad khana chahiye

शहद में जीवाणुरोधी गुण होते हैं। शहद का उपयोग घाव को ठीक करने में भी किया जाता है। इसके अलावा इस बात की भी पुष्टी हो गई है कि शहद आपके प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है। सर्दी जुकाम के दौरान शहद खाना आपके लिए बहुत अधिक लाभदायक है। खासकर संक्रमण की वजह से जब आपके गले में दर्द हो तो शहद खाएं। ऐसे कई अध्ययन है जो इस बात की पुष्टि करते हैं कि शहद बच्चों में खासी को ठीक करने में मदद करता है, लेकिन इस बात का ध्यान रहे कि 12 महीने से कम उम्र के बच्चे को शहद न खिलाएं। 

(और पढ़ें - बच्चों की सर्दी खांसी का इलाज

सर्दी जुकाम में अदरक खाएं - Sardi jukam me adrak khaye

मतली की समस्या में अदरक बहुत अधिक लाभदायक है। इसके अलावा यह कैंसर और गर्भावस्था में भी जी मिचलाने के दौरान दवा का काम करता है। अदरक में एंटीऑक्सिडेंट और रोगाणुरोधी गुण मौजूद होते हैं, जो सर्दी जुकाम को ठीक करने में मदद करते हैं। इसके अलावा आप सर्दी जुकाम में अदरक की चाय भी पी सकते हैं। इसके साथ ही साथ अदरक के कई अन्य स्वास्थ्य लाभ भी हैं।

(और पढ़ें - खांसी के लिए घरेलू उपाय)

सर्दी जुकाम में मसालेदार भोजन करें - Sardi jukam me masaledar bhojan kare

सर्दी जुकाम में मसालेदार खाद्य पदार्थ लाभदायक होते हैं। मिर्च में कैप्साइसिन नामक यौगिक मौजूद होता है, जो सर्दी जुकाम के दौरान आपको गर्म रखता है। कैप्साइसिन नामक यौगिक का इस्तेमाल दर्द निवारक दवाईयों में किया जाता है। बहुत से लोगों का मानना है कि मसालेदार भोजन से बंद नाक को खोलने और बलगम को निकालने में मदद मिलती है। कुछ अध्ययनों में कैप्साइसिन के प्रभाव का परीक्षण किया गया, जिसमें देखा गया कि यह बलगम को पतला बनाता है और इसे बाहर निकालने में मदद करता है। नेजल कैप्साइसिन स्प्रे बंद नाक को खोलता है और जलन को कम करता है।

(और पढ़ें - बलगम का इलाज)

सर्दी जुकाम में ओट्स खाएं - Sardi jukam me oats khaye

सर्दी जुकाम में ओट्स खाना आसान होता है। ओट्स खाने से आपको पर्याप्त मात्रा में विटामिन, खनिज और कैलोरी प्राप्त होती  है। इसके अलावा इसमें प्रोटीन भी मौजूद होते हैं। इसलिए सर्दी जुकाम में ओट्स खाएं। सर्दी जुकाम के अलावा यह आपके रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता है और ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित करता है।

(और पढ़ें - रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाएं)

सर्दी जुकाम में दही खाना चाहिए - Sardi jukam me dahi khana chahiye

सर्दी जुकाम के दौरान दही खाना बहुत अधिक लाभदायक है, क्योंकि इससे आपको पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन प्राप्त होता है। 1 कप दही में 8 ग्राम प्रोटीन और 150 कैलोरी होती है। दही ठंडा होता है, जो आपके गले के लिए लाभदायक होता है।

(और पढ़ें - दही खाने के फायदे)

इसके अलावा दही में बहुत अधिक मात्रा में कैल्शियम और अन्य विटामिन व खजिन भी पाए जाते हैं। इसके साथ ही साथ दही में प्रोबायोटिक्स भी होता है, जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत अधिक फायदेमंद होता है। इस बात की पुष्टि भी की जा चुकी है कि दही बच्चों और वयस्कों दोनों में सर्दी जुकाम को ठीक करने में मदद करता।

(और पढ़ें - रात को दही खाना चाहिए या नहीं)

सर्दी जुकाम में हरी सब्जियां खाएं - Sardi jukam me hari sabjiya khaye

बीमारी के दौरान आपको भरपूर मात्रा में विटामिन और खनिज की आवश्यकता होती है। इसलिए आप जब बीमार हो तब भी हरी सब्जियां खाना न भूलें। पालाक, पत्ता गोभी जैसे हरी पत्तेदार सब्जियों में पर्याप्त मात्रा में विटामिन और खनिज मौजूद होते हैं। इसके अलावा हरी पत्तेदार सब्जियों में विटामिन ए, विटामिन के, विटामिन सी और फोलेट मौजूद होते हैं। इसके साथ ही साथ हरी सब्जियों में एंटीऑक्सिडेंट मौजूद होते हैं, जो आपके मांसपेशियों को क्षतिग्रस्त होने से बचाते हैं और सूजन को भी कम करते हैं।

(और पढ़ें - सूजन कम करने के तरीके)

सर्दी जुकाम में शराब न पीएं - Sardi jukam me sharab na piye

शराब पीने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है। इसके साथ ही साथ शराब पीने से आपके शरीर में पानी की कमी भी होती है। इन दोनों वजहों से सर्दी जुकाम की स्थिति गंभीर हो सकती है। इसलिए सर्दी जुकाम के दौरान शराब न पीएं। वैसे अधिक शराब स्वस्थ व्यक्ति के लिए भी हानिकारक साबित होता है। इसलिए शराब नहीं पीना चाहिए।

(और पढ़ें - शराब छुड़ाने के घरेलू उपाय)

सर्दी जुकाम में डेरी उत्पाद नहीं खाना चाहिए - Sardi jukam me dairy utpad nahi khana chahiye

सर्दी जुकाम में डेरी प्रोडक्ट खाना आपके लिए बहुत अधिक नुकसानदायक है क्योंकि यह आपके बलगम को गाढ़ा करता है और इसे बढ़ाता भी है। सर्दी जुकाम के दौरान डेरी उत्पाद खाने से इसे ठीक होने में अधिक समय लग सकता है, इसलिए सर्दी जुकाम में डेरी उत्पाद न खाएं।

(और पढ़ें - बलगम निकालने के उपाय)

सर्दी जुकाम में तले हुए खाद्य पदार्थ न खाएं - Sardi jukam me tale huye khadya padarth na khaye

तले हुए खाद्य पदार्थों में बहुत अधिक वसा होती है, जो सर्दी जुकाम को बढ़ा सकती है। इसलिए तले हुए खाद्य पदार्थों को न खाएं। इसके अलावा तले हुए खाद्य पदार्थ आपके सूजन को भी बढ़ाते हैं, सूजन बढ़ने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है। इसके साथ ही साथ तले हुए खाद्य पदार्थ पाचन तंत्र को भी प्रभावित करते हैं।

(और पढ़ें - पाचन शक्ति कैसे बढाये)

सर्दी जुकाम में प्रोसेस्ड फूड नहीं खाना चाहिए - Sardi jukam me processed food nahi kahana chahiye

प्रोसेस्ड फूड में किसी भी प्रकार के पोषक तत्व नहीं होते हैं। इसलिए सर्दी जुकाम में प्रोसेस्ड या फास्ट फूड नहीं खाना चाहिए। इसके अलावा यह आपके स्वास्थ्य के लिए भी नुकसानदायक होते हैं। इन खाद्य पदार्थों में बहुत अधिक मात्रा में फ्रुक्टोज कार्न सिरप, सोडियम जैसी चीजें मिली होती हैं, जो आपके लिए हानिकारक साबित होते हैं।

(और पढ़ें - घर में कफ सिरप बनाने का नुस्खा)

सर्दी जुकाम में भरपूर नींद लें - Sardi jukam me bharpur need le

भरपूर नीद लेने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है, जिससे संक्रमण से लड़ने में मदद मिलती है। एक शोध के अनुसार, 7 घंटे से कम की नींद से सर्दी जुकाम होने का खतरा तीन गुना बढ़ जाता है। यदि आपको सर्दी जुकाम के लक्षण महसूस हो रहे हैं तो रात को जल्दी सो जाएं और दिन के दौरान नैप या झपकी लें। सर्दी जुकाम के दौरान आपको अधिक आराम की आवश्यकता होती है।

(और पढ़ें - अच्छी नींद के उपाय)

सर्दी जुकाम में धूम्रपान न करें - Sardi jukam me dhumrapan na kare

सिगरेट पीना आपके फेफड़ों के लिए बहुत अधिक नुकसानदायक है। हालांकि, जो लोग धूम्रपान नहीं करते हैं, उनकी तुलना में धू्म्रपान करने वालों को सर्दी जुकाम जल्दी प्रभावित करता है। सिगरेट पीने से आपके फेफड़ों की कोशिकाएं क्षतिग्रस्त होती है, जो सर्दी जुकाम की स्थिति को और गंभीर बना देते हैं। इसलिए सर्दी जुकाम के दौरान सिगरेट न पीएं। इसके अलावा अगर आपके आस-पास कोई धूम्रपान कर रहा है तो उससे भी दूर रहें।

(और पढ़ें - धूम्रपान छोड़ने के घरेलू उपाय)

सर्दी जुकाम में एंटीबायोटिक्स न लें - Sardi jukam me antibiotics na le

एंटीबायोटिक्स बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं, लेकिन यह सर्दी जुकाम के वायरस को मारने में किसी तरह से मदद नहीं कर पाते हैं। इसलिए सर्दी जुकाम में किसी तरह के एंटीबायोटिक्स न लें। ध्यान रहे कि एंटीबायोटिक्स सर्दी जुकाम को ठीक करने में किसी भी तरह मदद नहीं करते हैं।

(और पढ़ें - दवाओं की जानकारी)

सर्दी जुकाम में बच्चों को अपने मन से दवा न दें - Sardi jukam me baccho ko apne man se dawa na de

बच्चों को सर्दी जुकाम होने पर अपने मन से दवाईयां न दें, इसके कई दुष्प्रभाव हो सकते हैं। इसलिए किसी प्रकार की दवा देने से पहले बच्चों के डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

(और पढ़ें - काढ़ा बनाने की विधि)

और पढ़ें ...