myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

खांसी एक तरह की सामान्य शारीरिक प्रक्रिया है, जिसमें श्वसन प्रणाली शरीर के रोगाणु, सूक्ष्मजीवों और बलगम को शरीर से बाहर निकालता है। यह एक प्राकृतिक प्रक्रिया है, जो आपके फेफड़ों के लिए सफाई का काम करती है। लेकिन आपको पता होना चाहिए कि खांसी काफी तकलीफदेह भी होता है। इसके अलावा खांसी की वजह से आपके गले में दर्द या जलन भी हो सकती है।

(और पढ़ें - खांसी का इलाज)

खांसी के दौरान बहुत से लोग इस बात से ज्यादा परेशान रहते हैं कि इस समस्या में क्या खाना चाहिए क्या नहीं खाना चाहिए। इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि खांसी में क्या खाएं और क्या न खाएं। इसके अलावा हम आपको इस लेख में खांसी में परहेज के बारे में भी बाताएंगे।

(और पढ़ें - खांसी के घरेलू उपाय)

  1. खांसी में क्या खाना चाहिए - Khansi me kya khana chahiye
  2. खांसी में क्या नहीं खाना चाहिए और परेहज - Khansi me kya nahin khana chahiye aur parhej

खांसी में अधिक से अधिक पानी पीएं - Drink more water in cough in Hindi

खांसी में दिन के दौरान अधिक से अधिक पानी पीएं। इस बात का ध्यान रहे कि हर 2 घंटे में कम से कम 1 से 2 गिलास पानी पीएं।

(और पढ़ें - पानी कितना पीना चाहिए)

अधिक पानी पीने से बलगम पतला होता है एवं गले के माध्यम से आसानी से बाहर निकल जाता है। इसलिए खासी के दौरान भरपूर पानी पीना आपके लिए बहुत अधिक उपयोगी है।

(और पढ़ें - गर्म पानी पीने के फायदे)

खांसी में हड्डी का शोरबा पीएं - Khansi me haddi ka shorba piye

हड्डी का शोरबा (शोरबा एक तरह का सूप होता है) पीने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। इसके साथ ही साथ यह आपके बलगम को पतला बनाता है और शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में भी मदद करता है। खांसी आपको टॉक्सिन (विषाक्त पदार्थ) या केमिकल की वजह से होती है और हड्डी का शोरबा इन विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है। इसलिए हड्डी का शोरबा पीएं।

(और पढ़ें - रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय)

खांसी में कच्चा लहसुन खाएं - Eat raw garlic in cough in Hindi

लहसुन में अलीसिन नामक यौगिक मौजूद होते हैं, जो श्वसन को संक्रमित करने वाले जीवाणुओं को मारने में मदद करते हैं। श्वसन को संक्रमित करने वाले जीवाणु ही खांसी का कारण बनते हैं। इसके अलावा कच्चे लहसुन में रोगाणुरोधी और वायरसरोधी गुण होते हैं, जो खांसी को बढ़ावा देने वाले रोगाणुओं से लड़ने में में मदद करते हैं। इसलिए खांसी में कच्चा लहसुन खाना चाहिए, खांसी के लिए यह एक बहुत ही अच्छा घरेलू उपाय है।

(और पढ़ें - खाली पेट लहसुन खाने के फयदे)

खांसी में अदरक की चाय पीएं - Have ginger tea in cough in Hindi

खांसी में अदरक की चाय पीने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होने से संक्रमण से लड़ने की ताकत बढ़ती है। इसके अलावा अदरक में भी रोगाणुरोधी और वायरसरोधी गुण होते हैं, जो श्वसन प्रणाली को संक्रमित करने वाले रोगाणुओं को मारने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - काढ़ा बनाने की विधि)

खांसी में विटामिन सी युक्त फल और सब्जियां खाएं - Khasi me Vitamin C yukt fal aur sabjiya khaye

विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थों को खांसी के दौरान खाना बहुत अधिक लाभदायक है। विटामिन सी आपके शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को और रक्त वाहिकाओं को मजबूत बनाने में भी मदद करता है। खांसी में विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थों को खाने से, इसे जल्दी ठीक करने में मदद मिलती है। इसलिए विटामिन सी युक्त फल और सब्जियां खाएं, जैसे आंवला, अंगूर, संतरा, चुकंदर, पालक आदि।

(और पढ़ें - सर्दी जुकाम का इलाज)

खांसी में शहद खाएं - Khansi me shahad khaye

एक शोध के अनुसार, शहद में रोगाणुरोधी गुण होते हैं, जो खांसी और सर्दी से राहत दिलाने में मदद करते हैं। शहद खाने से जलन और सूजन कम होती है। इसके अलावा इसमें ऐसे एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो आपके रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाते हैं। इसके अलावा शहद खाने से नींद भी अच्छी आती है। इसलिए खांसी को कम करने के लिए 1 से 2 चम्मच शहद रोज खाएं। इसके साथ ही साथ आप नींबू या कैमोमाइल चाय में शहद मिलाकर पी सकते हैं। इस प्रकार शहद खांसी का एक बहुत अच्छा घरेलू उपाय है।

(और पढ़ें - सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय)

खांसी में दूध न पीएं - Khansi me dudh na piye

खांसी के दौरान दूध पीने से बलगम बढ़ने लगता है। डेयरी उत्पाद और दूध आपके श्वसन नली, फेफड़ों और गले में बलगम की मात्रा को बढ़ा सकते है। इसलिए खांसी के दौरान अपने आहार से डेयरी उत्पाद और दूध को शामिल न करें।

(और पढ़ें - बुखार का इलाज)

खांसी में प्रोसेस्ड फूड न खाएं - Khansi me processed food na khaye

खांसी के दौरान प्रोसेस्ड फूड न खाएं, यह खांसी को और बढ़ा सकते हैं। सफेद ब्रेड, पास्ता, बेक्ड फूड, चिप्स और चीनी युक्त खाद्य पदार्थ न खाएं। इनकी जगह पर आप हरी पत्तेदार सब्जियां और अन्य पोषक तत्व युक्त खाद्य पदार्थों को खाएं।

(और पढ़ें - बुखार के घरेलू उपाय)

खांसी के दौरान गले को सूखने न दें - Khansi ke dauran gale ko sukhne na de

खांसी के दौरान अधिक से अधिक पानी पीएं, जिससे आपका गला सूखने न पाएं। गला सूखने से किसी चीज को निगलने में बहुत परेशानी होती है। इसके अलावा खांसी में अधिक से अधिक तरल खाद्य पदार्थों को खाएं या पीएं। खांसी के दौरान तरल खाद्य पदार्थों को निगलने में आसानी होती है। लेकिन ध्यान रहे चाय, कॉपी और कैफीन युक्त पेय पदार्थों को खांसी की समस्या में न पीएं।

(और पढ़ें - बहती नाक का इलाज)

खांसी में तले हुए खाद्य पदार्थों को न खाएं - Do not eat fried foods in cough in Hindi

तले हुए खाद्य पदार्थों में बहुत अधिक तेल होता है, जो खांसी की समस्या को बढ़ा सकता है। अधिक तले हुए खाद्य पदार्थों में एक्रोलिन नाम यौगिक होते हैं, जो गले में जलन पैदा करते हैं। इसके अलावा तले हुए खाद्य पदार्थों को खाने से आप भारी महसूस करते हैं। इसलिए खांसी की समस्या में तले हुए खाद्य पदार्थों को ना खाना आपके लिए बेहतर होगा। इसके साथ ही साथ यह भी ध्यान रहे कि अधिक तले हुए खाद्य पदार्थों को जब आप स्वास्थ्य हों तब भी न खाएं, यह आपके लिए हर स्थिति में नुकसानदायक होता हैं।

(और पढ़ें - बंद नाक को खोलने के उपाय)

खांसी में सिगरेट न पीएं - Do not smoke in cough in Hindi

कई बार धूम्रपान करना खांसी का कारण बनता है। इसके अलावा धूम्रपान करने से गले में जलन होती है। इसके साथ ही साथ धूम्रपान खांसी ठीक होने में बाधक बनता है और कैंसर के खतरा को भी बढ़ाता है।

(और पढ़ें - धूम्रपान के नुकसान)

यदि आप धूम्रपान नहीं करते हैं और कोई व्यक्ति आपके आस-पास धूम्रपान करता है तो इसका आप पर प्रभाव धूम्रपान करने के बराबर ही पड़ता है।

(और पढ़ें - धूम्रपान छोड़ने के घरेलू उपाय)

खांसी में रात को अधिक भोजन न करें - Khansi me rat ko adhik bhojan na kare

रात में अधिक भोजन करने से एसिड भाटा रोग (Gastroesophageal reflux disease) से ग्रसित लोगों में खांसी की समस्या और भी बढ़ सकती है। इसलिए रात को हल्का भोजन करें। यदि आप सोने से 3 घंटे पहले भोजन करते हैं, तो यह आपके लिए और भी फायदेमंद है। इसके अलावा तरल खाद्य पदार्थों को अधिक से अधिक खाएं, इसे खांसी के दौरान निगलने में और पचाने में आसानी होती है।

(और पढ़ें - बंद नाक का इलाज)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें