myUpchar प्लस+ के साथ पुरे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

सर्दी जुकाम एक बहुत ही आम समस्या है जिसके लिए आमतौर पर डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता नहीं होती है। कई प्रकार के वायरस के कारण जुकाम हो सकता है और वायरस के प्रकार के आधार पर सर्दी जुकाम के लक्षण भी अलग-अलग होते हैं। ये एक ऊपरी श्वसन तंत्र संक्रमण होता है।

(और पढ़ें - वायरल इन्फेक्शन के लक्षण)

सर्दी जुकाम हवा में मौजूद संक्रमित सूक्ष्म बूंदों को सांस के द्वारा अंदर लेने के कारण होता है। इन बूंदों में मौजूद वायरस हमारे शरीर में चले जाते हैं और हमें जुकाम हो जाता है। सर्दी जुकाम में खांसी, बुखार, गला खराब, सिरदर्द, छींक आना और नाक बहना जैसी समस्याएं होने लगती हैं जो गंभीर नहीं होतीं, लेकिन इनसे रोजाना के सामान्य काम करने में दिक्कत होने लगती है।

(और पढ़ें - गला खराब होने पर क्या करें)

कई लोग सर्दी जुकाम के लिए एंटीबायोटिक लेते हैं, हालांकि ये वायरस के कारण होता है, इसीलिए एंटीबायोटिक दवाएं लेने से सर्दी जुकाम में कोई विशेष आराम नहीं मिलता। एंटीबायोटिक दवाएं बैक्टीरियल इन्फेक्शन के लिए लाभकारी होती हैं। सर्दी जुकाम के लिए घरेलू उपाय और प्राथमिक उपचार ही पर्याप्त होता है।

(और पढ़ें - बैक्टीरिया क्या है)

इस लेख में सर्दी जुकाम के लिए क्या करें और इसके लिए डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए के बारे में बताया गया है।

  1. सर्दी जुकाम हो तो क्या करना चाहिए - Sardi jukam me kya kare
  2. सर्दी जुकाम के लिए डॉक्टर के पास कब जाएं - Sardi jukam ke liye doctor ke pas kab jana chahiye

सर्दी जुकाम के लिए कुछ आसान से उपाय करना ही पर्याप्त होता है क्योंकि ये समस्या कुछ दिनों में अपने आप ठीक हो जाती है। हालांकि, इसके कारण होने वाली समस्याएं व लक्षण परेशान करने वाले होते हैं और आपके रोजमर्रा के काम में बाधा बनते हैं। इन लक्षणों से राहत पाने के लिए निम्नलिखित उपाय किए जा सकते हैं -

  • सर्दी जुकाम होने पर आराम करना बहुत महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि इस स्थिति में शरीर को कीटाणुओं से लड़ने के लिए ताकत चाहिए होती है और कोई भी काम करते समय हम अपनी ताकत का प्रयोग उस काम में करने लगते हैं, इसीलिए सर्दी जुकाम होने पर जितना हो सके उतना आराम करें, ताकि आप जल्दी सही हो पाएं। (और पढ़ें - रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ायें)
  • नाक बंद होने पर आप मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली नाक खोलने की दवाओं का प्रयोग कर सकते हैं। बाजार में नाक के लिए स्प्रे भी उपलब्ध होते हैं, जिनका प्रयोग निर्देशानुसार किया जा सकता है। (और पढ़ें - बंद नाक खोलने के उपाय)
  • जुकाम होने पर नाक छिंनकना महत्पूर्ण होता है ताकि बलगम बाहर निकल सके। हालांकि, बहुत प्रेशर से नाक छिंनकने के कारण आपको कान में दर्द हो सकता है। सही तरीके से नाक छिंनकने के लिए अपनी नाक के एक छेद को उंगली से बंद कर लें और दूसरे छेद से नाक बाहर निकालें। याद रहे कि नाक छिंनकने पहले अपने हाथ अच्छी तरह से धो लें। (और पढ़ें - बलगम निकालने के उपाय)
  • खांसी होने पर मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली खांसी की दवाएं, कफ सिरप और स्प्रे लिए जा सकते हैं। हालांकि, कोई भी दवा लेने से पहले आपको उसके पैकेट पर दिए गए निर्देशों को पढ़ना चाहिए और डॉक्टर से सलाह अवश्य लेनी चाहिए। (और पढ़ें - खांसी आने पर क्या करें)
  • गरारे करने से गला तर होता है और कुछ समय के लिए आराम मिलता है। इसके लिए एक गिलास पानी को गर्म कर लें और उसमें एक चम्मच नमक मिला दें। इसके बाद पानी को थोड़ा ठंडा होने दें और फिर उससे गरारे करें। सर्दी जुकाम के लिए आपको दिन में तीन से चार बार गरारे करने चाहिए। याद रहे कि गरारे करने से पहले नमक को पानी में अच्छे तरीके से मिला लें, नहीं तो इसके दाने आपके गले को और नुक्सान पहुंचा सकते हैं। आप पानी में शहद मिलाकर भी गरारे कर सकते हैं, लेकिन नवजात शिशुओं को शहद बिलकुल न दें। (और पढ़ें - नमक के पानी के फायदे)
  • अगर आप सर्दी जुकाम के लिए दवाएं ले रहे हैं, तो इस बात का भी ध्यान रखें कि इन दवाओं के दुष्प्रभाव भी होते हैं, इसीलिए कोई भी दवा लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात कर लें। (और पढ़ें - सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय)
  • सर्दी जुकाम होने पर कोशिश करें कि सोते समय अपने सिर को थोड़ा उपर उठा कर रखें। इसके लिए अपने सिर और गर्दन के नीचे तकिये रख लें। ऐसा करने से गले का बलगम नाक में नहीं आएगा और सोते समय आपकी नाक बंद नहीं होगी। (और पढ़ें - बलगम की जांच क्या है)
  • शरीर में पानी की कमी से बचने के लिए जितना हो सके उतना पानी पिएं। सर्दी जुकाम के लक्षणों से आराम के लिए गर्म तरल पदार्थ पीने की सलाह दी जाती है। (और पढ़ें - सर्दी जुकाम में क्या खाएं)
  • अगर आप गर्भवती हैं, तो सर्दी जुकाम के लिए कोई भी दवा या उपाय करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। (और पढ़ें - गर्भावस्था में सर्दी जुकाम का इलाज)
  • अपनी नाक या गले पर गर्म या ठंडी सिकाई करने से भी आपको आराम मिल सकता है। गर्म सिकाई करने का सबसे आसान तरीका है एक गीले कपडे को गर्म करके सिकाई करना और ठंडी सिकाई के लिए जमे हुए मटर के पैकेट का इस्तेमाल किया जा सकता है। ध्यान रखें कि आप जिस वस्तु से सिकाई कर रहे हों, वह बहुत ज्यादा गर्म या ठंडी न हो। (और पढ़ें - गर्म पानी पीने के फायदे )
  • अगर आपको चक्कर महसूस हो रहे हैं और बलगम भी है, तो आप गर्म पानी से नहा सकते हैं, लेकिन नहाते समय बैठ जाएं ताकि आप गिर न सकें। (और पढ़ें - चक्कर आने पर क्या करें)

(और पढ़ें - गले में दर्द होने पर क्या करे)

वैसे तो सर्दी जुकाम आसानी से घरेलू उपाय से ठीक किया जा सकता है, अपने डॉक्टर के पास अवश्य जाएं अगर -

नोट: प्राथमिक चिकित्सा या फर्स्ट ऐड देने से पहले आपको इसकी ट्रेनिंग लेनी चाहिए। अगर आपको या आपके आस-पास किसी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की आपातकालीन स्वास्थ्य समस्या है, तो डॉक्टर या अस्पताल​ से तुरंत संपर्क करें। यह लेख केवल जानकारी के लिए है।

और पढ़ें ...