myUpchar सुरक्षा+ के साथ पुरे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

साइटोमेगालो वायरस क्या है?

साइटोमेगालोवायरस (सीएमवी) एक ऐसा वायरस है जो गर्भावस्था के दौरान मां से बच्चे में फैल जाता है। सीएमवी आमतौर पर एक हानिरहित संक्रमण है और इससे स्वास्थ्य समस्याएं बेहद कम होती हैं।

साइटोमेगालो वायरस के लक्षण क्या हैं? 

कई लोग जो स्वस्थ होते हैं, जन्म के बाद सीएमवी होने पर उनमें सिर्फ कुछ ही लक्षण देखने को मिलते हैं और साथ ही लंबे समय तक स्वास्थ्य समस्याएं भी नहीं होती। लेकिन जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है जैसे जिन लोगों में एचआईवी काफी बढ़ गया है या कोई व्यक्ति बहुत बीमार है तो उनमें साइटोमेगालो वायरस बढ़ता चला जाता है। इसके लक्षण कम तीव्र और अन्य बीमारियों के समान हो सकते हैं जैसे थकान, बुखार, ग्रंथि में सूजन आदि। 

(और पढ़ें - फंगल इन्फेक्शन का इलाज)

साइटोमेगालो वायरस क्यों होता है?

सीएमवी वायरस से संबंधित होता है जिसके कारण चिकन पॉक्स, हर्पीस सिम्पलेक्स और मोनोन्यूक्लिओसिस (Mononucleosis) होता है। जब सीएमवी वायरस आपके शरीर में मौजूद होते हैं तो ये एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में पहुंच सकता है। यह संक्रमण छूने या हवा के द्वारा नहीं फैल सकता है। संक्रमण शरीर के तरल पदार्थ के जरिये फैलता है जैसे खून, मूत्र, लार, स्तनपान, आंसू, सीमेन और योनि द्रव। साइटोमेगालोवायरस से बचने के लिए अपने हाथों को समय-समय पर धोते रहें। जब आप किसी बच्चे को किस (kiss) करें तो उसके आंसू और लार के सम्पर्क में न आएं। जो व्यक्ति इस संक्रमण से पीड़ित है उसका खाना और पानी पीने का ग्लास अलग रखें। सेक्स करने से पहले सावधनी बरतें आदि।  

(और पढ़ें - बैक्टीरियल संक्रमण के लक्षण)

साइटोमेगालो वायरस का इलाज कैसे होता है? 

डॉक्टर इस संक्रमण की जांच करने के लिए ब्लड टेस्ट और यूरिन टेस्ट करेंगे। उदहारण के तौर पर, सेरोलॉजिकल टेस्ट आपकी एंटीबॉडी की जांच करता है, इससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता का पता चलेगा कि वो सही तरह से इस सक्रमण से लड़ रही हैं या नहीं। डॉक्टर बायोप्सी भी कर सकते हैं। इसके अलावा अन्य कई टेस्ट से भी इस इन्फेक्शन की जांच हो सकती है। अगर आपको साइटोमेगालोवायरस के कारण रेटिनाइटिस (Retinitis) है तो आपके डॉक्टर आपको कुछ हफ्ते तक इंट्रावीनस दवाएं (Intravenous - नसों में दी जाने वाली दवाएं) देंगे, इस प्रक्रिया को इंडक्शन थेरेपी बोलते हैं। कुछ दिनों बाद डॉक्टर आपको खाने की दवाइयां भी दे सकते हैं। 

(और पढ़ें - पेट में इन्फेक्शन के इलाज)

  1. साइटोमेगालो वायरस (सीएमवी) की दवा - Medicines for Cytomegalovirus Infection (CMV) in Hindi

साइटोमेगालो वायरस (सीएमवी) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
ValsteadValstead 450 Mg Tablet780.95
CmveeCmvee 450 Mg Tablet849.37
CymgalCymgal 450 Mg Tablet4190.47
VagacyteVagacyte 450 Mg Tablet956.47
ValceptValcept 450 Mg Tablet942.31
ValchekValchek Tablet980.0
ValgacelValgacel 450 Mg Tablet865.3
ValganValgan 450 Mg Tablet1185.5
CymeveneCymevene 500 Mg Injection1687.5
NatclovirNatclovir 250 Mg Capsule1215.0
CytoganCytogan 250 Mg Capsule1212.5
GanguardGanguard 500 Mg Capsule2650.5
GavirGavir 500 Mg Injection1752.81
ClyganClygan 1.5 Mg Gel78.0
GancigelGancigel 1.5 Mg Eye Ointment78.0
SimplovirSimplovir 1.5 Mg Gel55.0
VirsonVirson 1.5 Mg Gel92.75

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...