myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

पेट में इन्फेक्शन​ (गैस्ट्रोएन्टराइटिस) क्या है?

गैस्ट्रोएन्टराइटिस को आमतौर पर "पेट का फ्लू" या "पेट में इन्फेक्शन​" या "जठरांत्र शोथ" कहा जाता है। यह एक ऐसी स्थिति है, जिसमें पेट और आंतों (जठरांत्र संबंधी मार्ग) में जलन और सूजन हो जाती है।

पेट में इन्फेक्शन​ के सबसे सामान्य लक्षण हैं – दस्त, मतली, उल्टी और पेट में मरोड़ के साथ दर्द। बहुत से लोग इसे "पेट फ्लू" भी कहते हैं। यह नाम कभी-कभी गलतफहमी पैदा कर सकता है, क्योंकि इन्फ्लुएंजा (फ्लू) के लक्षण जठरांत्र शोथ से बिलकुल अलग होते हैं और गैस्ट्रोइंटेस्टिनल ट्रैक्ट (जठरांत्र संबंधी मार्ग) से संबंधित नहीं होते हैं।

"पेट का फ्लू" नाम में "फ्लू" शब्द आने से ऐसा लगता है कि इसके होने का कारण एक वायरल संक्रमण है, जबकि संक्रमण के अन्य कारण  भी हो सकते हैं। हाँ, ऐसा ज़रूर है कि वायरल संक्रमण गैस्ट्रोएन्टराइटिस का सबसे आम कारण है, लेकिन यह बैक्टीरिया, परजीवी और दूषित भोजन से उत्पन्न बीमारियों के कारण भी हो सकता है। कई लोग जिन्हें इस प्रकार के संक्रमण से उल्टी और दस्त हो जाते हैं, वे सोचते हैं कि उन्हें फूड पॉइज़निंग हुई है, जबकि उन्हें वास्तव में दूषित भोजन खाने से होने वाली कोई बीमारी हो सकती है।

(और पढ़ें – फ़ूड पोइज़निंग से बचने के उपाय)

पेट में इन्फेक्शन​ या पेट फ्लू एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है। ऐसा मल त्यागने के बाद ठीक प्रकार से हाथ न धोने के कारण या गंदे डायपर को छूने से हो सकता है। 

वायरस के कारण होने वाला जठरांत्र शोथ एक से दो दिन तक रह सकता है। हालांकि, बैक्टीरिया से उत्पन्न कुछ स्थितियां कई महीनों तक जारी रह सकती हैं। अधिकांश लोग उल्टी और दस्त के एक छोटे से प्रकरण के बाद आसानी से ठीक हो जाते हैं। वे शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए स्वच्छ जल और अन्य तरल पदार्थों का सेवन करते हैं और फिर धीरे-धीरे सामान्य आहार लेना शुरू कर देते हैं। लेकिन विशेष रूप से शिशुओं और बुजुर्गों में गैस्ट्रोएन्टराइटिस के कारण शरीर में तरल की कमी होने से निर्जलीकरण हो सकता है। अगर इस बीमारी का इलाज न किया जाए और शरीर में तरल पदार्थों की पूर्ति न की जाये, तो यह गंभीर हो सकती है।

  1. पेट में इन्फेक्शन के प्रकार - Types of Stomach Infection in Hindi
  2. पेट में इन्फेक्शन के लक्षण - Gastroenteritis Symptoms in Hindi
  3. पेट में इन्फेक्शन के कारण और जोखिम कारक - Stomach Infection Causes & Risk Factors in Hindi
  4. गैस्ट्रोएन्टराइटिस (जठरांत्र शोथ) से बचाव - Prevention of Gastroenteritis in Hindi
  5. गैस्ट्रोएन्टराइटिस (जठरांत्र शोथ) का परीक्षण - Diagnosis of Gastroenteritis in Hindi
  6. पेट में इन्फेक्शन का इलाज - Stomach Infection Treatment in Hindi
  7. गैस्ट्रोएन्टराइटिस (जठरांत्र शोथ) की जटिलताएं - Gastroenteritis Complications in Hindi
  8. गैस्ट्रोएन्टराइटिस (जठरांत्र शोथ) में परहेज़ - What to avoid during Gastroenteritis in Hindi?
  9. गैस्ट्रोएन्टराइटिस (जठरांत्र शोथ) में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Gastroenteritis in Hindi?
  10. पेट में इन्फेक्शन हो तो क्या करें
  11. पेट में इन्फेक्शन (गैस्ट्रोएन्टराइटिस) की दवा - Medicines for Stomach Infection in Hindi
  12. पेट में इन्फेक्शन (गैस्ट्रोएन्टराइटिस) के डॉक्टर

पेट में इन्फेक्शन के प्रकार - Types of Stomach Infection in Hindi

गैस्ट्रोएन्टराइटिस (जठरांत्र शोथ) के प्रकार क्या हैं?

गैस्ट्रोएन्टराइटिस मुख्य रूप से दो प्रकार के हैं –

  1. वायरल गैस्ट्रोएन्टराइटिस – वायरल गैस्ट्रोएन्टराइटिस अनेक प्रकार के वायरस के कारण पेट और आंतों में होने वाली सूजन है। इसे "पेट फ्लू" के रूप में भी जाना जाता है। यह अत्यधिक संक्रामक बीमारी है, जो संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क में आने से या दूषित भोजन अथवा पानी के माध्यम से फैलती है। 
  2. बैक्टीरियल गैस्ट्रोएन्टराइटिस – बैक्टीरिया द्वारा आपकी आंत में होने वाले संक्रमण को बैक्टीरियल गैस्ट्रोएन्टराइटिस कहते हैं। गैस्ट्रोएन्टराइटिस के ज़्यादातर मामले वायरस संक्रमण के कारण होते हैं, लेकिन बैक्टीरियल संक्रमण भी सामान्य होते हैं। इस संक्रमण को लोग अक्सर फूड पोइज़निंग  (Food poisoning) समझ बैठते हैं, लेकिन ये दोनों अलग हैं। बैक्टीरियल गैस्ट्रोएन्टराइटिस उचित स्वच्छता पर ध्यान न देने के परिणामस्वरूप हो सकता है। जानवरों के निकट संपर्क में आने या बैक्टीरिया से दूषित भोजन या पानी का सेवन करने  के कारण भी संक्रमण हो सकता है।

अन्य प्रकार के गैस्ट्रोएन्टराइटिस भी हैं, जो परजीवियों (parasites) के कारण होते हैं, लेकिन वे बहुत आम नहीं हैं।

पेट में इन्फेक्शन के लक्षण - Gastroenteritis Symptoms in Hindi

गैस्ट्रोएन्टराइटिस (जठरांत्र शोथ) के संकेत और लक्षण क्या हैं?

जठरांत्र शोथ में आमतौर पर दस्त और उल्टी दोनों होते हैं। सामान्यतः इन दोनो में से एक लक्षण के साथ यह बहुत कम देखा जाता है। जठरांत्र शोथ में पेट में मरोड़ भी हो सकती है। संकेत और लक्षण आमतौर पर संक्रामक पदार्थ के संपर्क में आने के 12-72 घंटे बाद शुरू होते हैं।

यदि यह वायरल होता है, तो हालत आमतौर पर एक सप्ताह के भीतर ठीक हो जाती है। बुखार, थकान, सिर दर्द और मांसपेशियों में दर्द वायरल संक्रमण के आम लक्षण हैं। अगर मल में खून आता है, तो इसका कारण वायरल की तुलना में बैक्टीरियल होने की संभावना ज़्यादा है। कुछ बैक्टीरियल संक्रमण के कारण गंभीर पेट दर्द हो सकता है और कई सप्ताह तक जारी रह सकता है।

रोटावायरस से संक्रमित बच्चे आमतौर पर तीन से आठ दिनों के भीतर पूरी तरह से स्वस्थ हो जाते हैं। हालांकि, गरीब देशों में गंभीर संक्रमण का उपचार अकसर पहुंच से बाहर होता है और लगातार दस्त होना सामान्य है। निर्जलीकरण दस्त के कारण होने वाली एक सामान्य जटिलता है। शरीर में तरल की अत्यधिक कमी होने से बच्चों में अन्य लक्षण भी हो सकते हैं। आमतौर पर गंदे और अविकसित क्षेत्रों में बार-बार संक्रमण होता है। इसके कारण कुपोषण और शारीरिक व मानसिक विकास में कमी जैसी जटिलतायें हो सकती हैं।

डॉक्टर से सलाह लेना कब अत्यंत आवश्यक है?

यदि आपके लक्षणों में पांच दिनों के भीतर कोई सुधार नहीं होता है (बच्चों के लिए दो दिन) तो डॉक्टर से सम्पर्क करना अत्यंत आवश्यक है। यदि तीन माह से अधिक उम्र के बच्चे को 12 घंटे से लगातार उलटी हो रही है, तो डॉक्टर से परामर्श करें। यदि तीन महीने से कम उम्र के बच्चे को दस्त या उल्टी हो रही हो, तो अपने डॉक्टर से ज़रूर संपर्क करें।

पेट में इन्फेक्शन के कारण और जोखिम कारक - Stomach Infection Causes & Risk Factors in Hindi

पेट में इन्फेक्शन​ क्यों होता है?

वायरस (विशेष रूप से रोटावायरस) और एस्चेरिचिया कोलाई (Escherichia coli) और कैम्पिलोबैक्टर (Campylobacterबैक्टीरिया प्रजातियां जठरांत्र शोथ के मुख्य कारण हैं।  गैर-संक्रामक कारणों के द्वारा भी ये बीमारी हो सकती है, लेकिन वायरल या बैक्टीरियल कारणों की तुलना में इनके होने की संभावना कम होती है। 

वायरल गैस्ट्रोएन्टराइटिस

जब आप दूषित भोजन या पानी का सेवन करते हैं या यदि आप संक्रमित व्यक्तियों के साथ अपने बर्तन, तौलिये या भोजन को साझा करते हैं, तो आपके वायरल गैस्ट्रोएन्टराइटिस से संक्रमित होने की संभावना सबसे अधिक होती है।

गैस्ट्रोएन्टराइटिस के लिए कई प्रकार के वायरस उत्तरदायी होते हैं, जिनमें शामिल हैं –

  • नोरोवायरस (Norovirus) – बच्चे और वयस्क नोरोवायरस से प्रभावित होते हैं, जो खाद्यजनित बीमारी का सबसे आम कारण है। नोरोवायरस संक्रमण अगर एक व्यक्ति को हो जाए, तो उसके  परिवार या समुदाय के बाकी लोगों में भी तेज़ी से फैल सकता है। विशेष रूप से, छोटे घरों या कमरों में रहने वाले लोगों के बीच इस रोग के फैलने की संभावना अधिक होती है। ज्यादातर मामलों में, दूषित भोजन या पानी के माध्यम से वायरस आपके शरीर में प्रवेश करते हैं, हालांकि एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भी इनका फैलना संभव है।
  • रोटावायरस (Rotavirus) – यह दुनिया भर में बच्चों में होने वाले वायरल गैस्ट्रोएन्टराइटिस का सबसे आम कारण है। बच्चे आमतौर पर तब संक्रमित होते हैं, जब वे वायरस द्वारा दूषित अपनी उंगलियों या अन्य वस्तुओं को अपने मुंह में डालते हैं। शिशुओं और छोटे बच्चों में यह संक्रमण सबसे अधिक गंभीर होता है। रोटावायरस से संक्रमित वयस्कों में ऐसा हो सकता है कि कोई लक्षण न दिखें, लेकिन फिर भी वे दूसरों को संक्रमित कर सकते हैं 

बैक्टीरियल गैस्ट्रोएन्टराइटिस

यदि भोजन बैक्टीरिया से दूषित हो जाता है और कई घंटों तक फ्रिज में नहीं रखा जाता है, तो उसमें बैक्टीरिया की संख्या बढ़ जाती है और उस भोजन को खाने वाले व्यक्ति में संक्रमण का जोखिम बढ़ जाता है।

आमतौर पर इन खाद्य पदार्थों की वजह से बीमारी होने की संभावना होती है –

विकासशील देशों में विशेष रूप से उप-सहारा अफ्रीका और एशिया में, हैजा गैस्ट्रोएन्टराइटिस का एक सामान्य कारण है। यह संक्रमण आमतौर पर दूषित पानी या भोजन द्वारा फैलता है। 

पेट में इन्फेक्शन के जोखिम कारक क्या हैं?

जो लोग जठरांत्र शोथ से आसानी से प्रभावित हो सकते हैं, उनमें शामिल हैं –

  • छोटे बच्चे –
    बाल देखभाल केंद्र या प्राथमिक विद्यालयों के बच्चों  को विशेष रूप से इस बीमारी के होने का ख़तरा होता है, क्योंकि बच्चों की प्रतिरक्षा प्रणाली मज़बूत होने में समय लगता है।
     
  • अधेड़ उम्र के लोग – 
    प्रतिरक्षा प्रणाली बढ़ती उम्र के साथ-साथ कमज़ोर हो जाती है। नर्सिंग होम में भर्ती बुज़ुर्ग या बड़ी उम्र के लोग विशेष रूप से इस बीमारी की चपेट में आ सकते हैं। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है और नर्सिंग होम में वे संक्रमित व्यक्तियों के निकट संपर्क में होते हैं। 
     
  • स्कूली बच्चे या छात्रावास में रहने वाले लोग आदि – 
    जो भी लोग ऐसी जगह आते-जाते हैं, जहाँ बहुत लोग छोटी सी जगह में एकत्रित होते हैं, उन्हे उस जगह पर संक्रमित होने का जोखिम होता है।
     
  • कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले व्यक्ति – 
    यदि संक्रमण के प्रति आपकी प्रतिरोधक क्षमता कम है, उदाहरण के लिए यदि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली एचआईवी / एड्स, कीमोथेरेपी या किसी अन्य चिकित्सा स्थिति के कारण कमज़ोर हो गयी  है, तो आपको विशेष रूप से संक्रमण का खतरा हो सकता है।

गैस्ट्रोएन्टराइटिस (जठरांत्र शोथ) से बचाव - Prevention of Gastroenteritis in Hindi

पेट में इन्फेक्शन​ होने से कैसे रोक सकते हैं?

आंत्र संबंधी संक्रमण के प्रसार को रोकने का सबसे अच्छा तरीका निम्न सावधानियों का पालन करना है –

  • बच्चे को टीका लगवाएं –
    रोटावायरस के कारण होने वाले गैस्ट्रोएन्टराइटिस से बचाव करने वाला एक टीका भारत में उपलब्ध है। एक साल की उम्र में बच्चे को यह टीका लगाया जाता है, जो इस बीमारी के गंभीर लक्षणों को रोकने में प्रभावी होता है।
     
  • हाथों को अच्छी तरह से धोएं –
    आप अपने हाथों को अच्छी तरह से धोएं और सुनिश्चित करें कि आपके बच्चे भी ऐसा करते हैं। यदि आपके बच्चे बड़े हैं, तो उन्हें शौचालय जाने के बाद हाथों को धोना सिखाएं। गुनगुने पानी और साबुन से कम से कम 20 सेकंड तक हाथ मलने चाहिये। हाथों को आगे और पीछे से तथा नाखूनों के नीचे से साफ़ करें। उसके बाद अच्छी तरह से धो लें। (और पढ़ें - बच्चों को सिखाएं अच्छी सेहत के लिए अच्छी आदतें)
     
  • घर में निजी वस्तुओं का उपयोग करें – 
    खाने के बर्तन, गिलास और प्लेटों को साझा करने से बचें। बाथरूम में अलग तौलिये का उपयोग करें।
     
  • संक्रमित व्यक्ति से दूर रहें – 
    यदि संभव हो तो वायरस संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क से बचें, ताकि उनसे आप संक्रमित न हो जायें। ठोस सतह को कीटाणुरहित रखें। यदि आपके घर में किसी को वायरल गैस्ट्रोएन्टराइटिस है, तो मेज़ व टेबल जैसी सतहों वाली चीज़ों, नल और दरवाज़ों के हैंडल को दो कप ब्लीच में चार लीटर पानी मिलाकर बने मिश्रण से साफ़ करें।
     
  • अपने बच्चे के देखभाल केंद्र का निरीक्षण करें – 
    सुनिश्चित करें कि केंद्र में डायपर बदलने और भोजन बनाने या परोसने के लिए अलग-अलग कमरे हैं या नहीं। कमरे में डायपर बदलने वाली मेज के साथ एक सिंक (हौदी) होना चाहिए और डायपर को कचरे के डिब्बे में डालें।

यात्रा करते समय ये सावधानियाँ बरतें​

दूसरे इलाकों में यात्रा करने के दौरान आप दूषित भोजन या पानी के कारण बीमार हो सकते हैं। आप इन युक्तियों का पालन करके संक्रमण का जोखिम कम कर सकते हैं –

  • केवल अच्छी तरह से सीलबंद बोतल का पानी पीएं।
  • बर्फ के सेवन से बचें, क्योंकि उसे बनाने में उपयोग किया गया पानी दूषित हो सकता है।
  • ब्रश करने के लिए बोतलबंद पानी का उपयोग करें।
  • बिना पका भोजन खाने से बचें। कटे हुए फल, कच्ची सब्जियां और सलाद, जो संभवतः गंदे हाथों से छुए गए हों।
  • अधपका मांस और मछली खाने से बचें।

गैस्ट्रोएन्टराइटिस (जठरांत्र शोथ) का परीक्षण - Diagnosis of Gastroenteritis in Hindi

पेट में इन्फेक्शन​ का निदान कैसे किया जाता है?

पेट में इन्फेक्शन अक्सर जल्द ठीक होता है और इसके इलाज का उद्देश्य लक्षणों और इस बीमारी से होने  वाले निर्जलीकरण को नियंत्रित करना होता है। ऐसा हो सकता है कि परीक्षणों की आवश्यकता न पड़े। डॉक्टर अक्सर लक्षणों के इतिहास और शारीरिक परीक्षण के आधार पर निदान करते हैं।

यदि लक्षण लंबे समय तक जारी रहते हैं, तो उल्टी और दस्त का कारण निर्धारित करने के लिए रक्त और मल परीक्षण किये जा सकते हैं।

पेट में इन्फेक्शन का इलाज - Stomach Infection Treatment in Hindi

पेट में इन्फेक्शन​ का उपचार कैसे किया जाता है?

उपचार का मुख्य लक्ष्य तरल पदार्थो के सेवन द्वारा निर्जलीकरण को रोकना है। गंभीर मामलों में, अस्पताल में भर्ती कराना और अन्तःशिरा (इन्ट्रावेनस) तरल पदार्थ आवश्यक हो सकते हैं।

ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन (ओआरएस; ORS) पेट ठीक करने के लिए पिलाया जाता है और यह विशेष रूप से बच्चों के पेट पर भारी नहीं होता। इसमें पानी और नमक का संतुलित मिश्रण होता है, जो आवश्यक तरल पदार्थों और इलेक्ट्रोलाइट्स की पूर्ति करता है। ये घोल आपके किसी भी निकटतम केमिस्ट पर उपलब्ध हैं और इनके लिए डॉक्टर के पर्चे की आवश्यकता नहीं होती है। हालांकि, निर्देशों का सावधानीपूर्वक पालन किया जाना चाहिए।

पेट फ्लू (गैस्ट्रोएन्टराइटिस) के लिए चिकित्सकीय उपचार

  • यदि मरीज उल्टी के कारण मुंह से तरल पदार्थ नहीं ले पा रहा है, तो डॉक्टर आईवी (IV; सीधा नस में नली लगाकर) द्वारा शरीर में तरल की पूर्ति (रिहाइड्रेशन) कर सकते हैँ।
  • शिशुओं को निर्जलीकरण के स्तर के आधार पर पहले मौखिक रिहाइड्रेशन थेरेपी देने का प्रयास करना चाहिए। यदि इससे कोई लाभ नहीं होता है, तो बाद में आईवी (IV) से तरल दिया जा सकता है। एक बार में कम से कम 5 मिलीमीटर घोल बच्चे को थोड़ी-थोड़ी देर बाद पिलाएं। इससे बच्चे के शरीर में पानी की कमी को दूर किया जा सकता है।

पेट फ्लू (गैस्ट्रोएन्टराइटिस) की दवाएं 

संक्रमण के कारण के रूप में जब तक बैक्टीरिया या परजीवी की पहचान नहीं हो जाती, तब तक एंटीबायोटिक दवा नहीं दी जाती हैं। कुछ बैक्टीरिया, विशेष रूप से कैम्पिलोबैक्टर (Campylobacter), शिगेला (Shigella) और विब्रियो कॉलेरी (Vibrio Cholerae) के लिए एंटीबायोटिक दवाइयां दी जा सकती हैं, अगर प्रयोगशाला परीक्षणों के द्वारा इनकी पहचान संक्रमण के कारण के रूप में की जा चुकी है। इसके अतिरिक्त किसी भी एंटीबायोटिक या गलत एंटीबायोटिक का प्रयोग करने से कुछ संक्रमण गंभीर हो सकते हैं या लम्बे समय तक बने रह सकते हैं।

वायरल संक्रमण का इलाज करने के लिए एंटीबायोटिक दवाओं का इस्तेमाल नहीं किया जाता है।

एंटीबायोटिक वायरस पर कोई प्रभाव नहीं डालते है और इसलिए वायरल गैस्ट्रोएन्टराइटिस के लिए इनका सुझाव नहीं दिया जाता है। किसी भी ओवर-द-काउंटर दवा को लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें। 

कुछ उपाय जो आप स्वयं कर सकते हैं –

यदि आपको जठरांत्र शोथ है, तो आप कुछ स्व-देखभाल उपाय अपना सकते हैं –

  • भोजन के साथ और बीच में अतिरिक्त तरल पदार्थ पीयें। यदि आपको पीने में कठिनाई हो रही है, तो बहुत कम मात्रा में पानी पीने की कोशिश करें या बर्फ के छोटे-छोटे टुकड़े चूसें (लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि बर्फ साफ़ पानी से बानी हो)।
  • फलों के जूस का सेवन न करें, क्योंकि ये शरीर में खनिजों की पूर्ति नहीं करते हैं और दस्त को बढ़ा सकते हैं।
  • शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स की मात्रा बढ़ाने के लिए बच्चे और वयस्क स्पोर्ट्स ड्रिंक्स (जैसे पानी में मिला ग्लुकोन डी) का उपयोग कर सकते हैं। बच्चों के लिए निर्मित उत्पादों, जैसे – ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन (ओआरएस) को बच्चों और शिशुओं को पिलाना चाहिए। 
  • कम मात्रा में भोजन खाएं और अपने पेट को आराम दें।
  • अगर आप थकान या कमज़ोरी महसूस कर रहे हैं, तो खूब आराम करें। 
  • दवाएं लेने या अपने बच्चों को देने से पहले चिकित्सक से परामर्श करें। कभी भी वायरल बीमारी से  ग्रसित बच्चों या किशोरों को एस्पिरिन न दें। इससे रेये सिंड्रोम (Reye's syndrome) हो सकता है, जो आपके लिए गंभीर स्थिति उत्पन्न कर सकता है।

गैस्ट्रोएन्टराइटिस (जठरांत्र शोथ) की जटिलताएं - Gastroenteritis Complications in Hindi

पेट में इन्फेक्शन​ की जटिलताएं क्या हैं?

वायरल गैस्ट्रोएन्टराइटिस की मुख्य जटिलता निर्जलीकरण है – शरीर से आवश्यक पानी और खनिज-लवण का गंभीर रूप से ह्रास होना। यदि आप स्वस्थ हैं और उल्टी व दस्त के कारण होने वाली पानी की कमी को पूरा करने के लिए पर्याप्त तरल पीते हैं, तो निर्जलीकरण एक समस्या नहीं होनी चाहिए।

शिशु, वृद्ध और कमज़ोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोग गंभीर रूप से निर्जलीकरण का शिकार बन सकते हैं, जब वे उतने अधिक तरल का सेवन नहीं करते हैं, जितना शरीर से बाहर निकल रहा है। अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता हो सकती है, ताकि शरीर में होने वाली पानी की कमी को नस के माध्यम से तरल पदार्थ देकर पूरा किया जा सके। निर्जलीकरण बहुत कम मामलों में घातक हो सकता है।

गैस्ट्रोएन्टराइटिस (जठरांत्र शोथ) में परहेज़ - What to avoid during Gastroenteritis in Hindi?

पेट में इन्फेक्शन​ में क्या परहेज करना चाहिए?

आपके लक्षणों को बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों से बचें, जिनमें निम्न शामिल हैं –

  • डेयरी उत्पाद – यदि आपको गैस्ट्रोएन्टराइटिस है, तो आप कुछ समय तक दूध, पनीर और अन्य डेयरी उत्पादों का सेवन न करें, क्योंकि इन उत्पादों में लैक्टोज होता है, जिसे पचाने में आपको कठिनाई हो सकती है।
  • वसायुक्त खाद्य पदार्थ – चिकनाई वाला और वसायुक्त भोजन पेट के लिए नुकसानदायक होता है। फैटी मांस, वसायुक्त खाद्य पदार्थ और मेवे भी पाचन तंत्र को उत्तेजित कर सकते हैं, जिसके परिणामस्वरूप आपको दस्त हो सकते हैं।
  • मसालेदार भोजन – भोजन में अत्यधिक मिर्च, गर्म मसालों और लहसुन का प्रयोग आपके लक्षणों को बढ़ा सकता हैं और आपके पेट को खराब कर सकता है। (और पढ़ें - मसालेदार भोजन के नुकसान)
  • कैफीन – कैफीन युक्त पदार्थ, जैसे – कोल्ड ड्रिंक, चाय, कॉफ़ी आदि न पीएं। कैफीन एक मूत्रवर्धक के रूप में कार्य करता है, जिसके कारण आपको बार-बार शौचालय जाना पड़ सकता है और आप निर्जलीकरण की चपेट में आ सकते हैं। कैफीन के कारण दस्त भी हो सकते हैं। 
  • फाइबर – फाइबर युक्त फलों और सब्ज़ियों को खाने से बचें। ये आपको होने वाले दस्त का कारण बन सकते हैं। सेबनाशपाती, ब्रोकली, ओट्स, तिल के बीज, मक्का, मटर आदि फाइबर के कुछ मुख्य स्रोत हैं।       
  • शराब – शराब से दूर रहे। यह पेट की अंदरूनी सतह (जठरांत्र) और पाचन तंत्र में जलन और सूजन पैदा कर सकती है और गैस्ट्रिक एसिड के उत्पादन को बढ़ा सकती है। (और पढ़ें - शराब की लत से छुटकारा पाने के तरीके)
  • चीनी – शर्करा युक्त खाद्य पदार्थ या पेय पदार्थों का सेवन करने से रक्त शर्करा के स्तर में वृद्धि हो सकती है। कुछ लोगों में यह मतली पैदा कर सकते हैं। 
  • साइट्रस फल – खट्टे फल, जैसे – नारंगी, अंगूर आदि, अनानास और टमाटर से बने उत्पादों में अत्यधिक मात्रा में एसिड होता है, जिससे पेट में गैस और जलन हो सकती है।  
  • प्रसंस्कृत (processed) खाद्य पदार्थ – डिब्बाबंद और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों में उच्च मात्रा में वसा, शर्करा, परिरक्षक (preservatives) और कृत्रिम रंग होते हैं। इनका सेवन करने से स्थिति और ख़राब हो सकती है तथा गंभीर रूप से दस्त हो सकते हैं।
  • ग्लूटेन – यह गेहूं और अन्य अनाज, जैसे – जौ, राई और ओट्स में पाया जाने वाला प्रोटीन है। यह दस्त, पेट में दर्द और सूजन पैदा कर सकता है। ग्लूटेन युक्त पदार्थॉं से दूर रहकर लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है।

गैस्ट्रोएन्टराइटिस (जठरांत्र शोथ) में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Gastroenteritis in Hindi?

गैस्ट्रोएन्टराइटिस (जठरांत्र शोथ) के दौरान ये खाएं

  • सादा भोजन खाएं, जिसे आप आसानी से पचा सकें। यदि आपको उल्टी हो रही है, तो ब्रेड को सेककर खाएं जिससे वो आसानी से पच जाए।
  • दस्त से होने वाले निर्जलीकरण को दूर करने के लिए सब्ज़ियों का सूप बहुत अच्छा विकल्प है। यह पौष्टिक होता है और पाचन तंत्र को स्वस्थ रखता है। 
  • दूध और पनीर की जगह छाछ पीना फायदेमंद होता है। छाछ पाचन तंत्र को शांत करती है और निर्जलीकरण को रोकती है।
  • गैस्ट्रोएन्टराइटिस में उबला हुआ भोजन खाना चाहिए, क्योंकि यह हल्का होता है और आसानी से पच जाता है। आप उबले हुए आलू, बीन्स, गाजर और अजमोद खा सकते हैं। 
  • केले पेट के लिए बहुत अच्छे माने जाते हैं। गैस्ट्रोएन्टराइटिस में कच्चे केले खाएं। सेब, नाशपाती और मौसमी का जूस पेट के फ्लू के लिए फायदेमंद होता है।
  • अत्यधिक मात्रा में पानी पीएं। दस्त के कारण शरीर से पानी का बहुत ह्रास हो जाता है, इसलिए तरल के स्तर को बढ़ाने और पेट को राहत देने के लिए तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए।
Dr. Mahesh Kumar Gupta

Dr. Mahesh Kumar Gupta

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी

Dr. Raajeev Hingorani

Dr. Raajeev Hingorani

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी

Dr. Vineet Mishra

Dr. Vineet Mishra

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी

पेट में इन्फेक्शन (गैस्ट्रोएन्टराइटिस) की जांच का लैब टेस्ट करवाएं

STOOL ROUTINE EXAMINATION

25% छूट + 5% कैशबैक

पेट में इन्फेक्शन (गैस्ट्रोएन्टराइटिस) की दवा - Medicines for Stomach Infection in Hindi

पेट में इन्फेक्शन (गैस्ट्रोएन्टराइटिस) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
RoscillinRoscillin 100 Mg Drop31.0
CinestaCinesta 1 Mg Tablet63.0
CinitideCinitide Sr 3 Mg Tablet190.0
CintafluxCintaflux 1 Mg Tablet38.0
Cintapro OdCintapro Od 3 Mg Tablet Sr174.0
CintaproCintapro 1 Mg Tablet81.0
KinprideKinpride 1 Mg Tablet78.0
ProgitProgit 10 Mg Tablet60.0
SeptigardSeptigard 1%/5% Ointment66.56
AmpilinAmpilin 1 Gm Injection20.0
AmpiwokAmpiwok 250 Mg Capsule37.0
AristocillinAristocillin 100 Mg Drops16.0
BacipenBacipen 500 Mg Injection15.0
BiocilinBiocilin 500 Mg Capsule65.0
BroadicilinBroadicilin 1 Gm Injection14.0
CampicillinCampicillin 250 Mg Capsule28.0
OrcillinOrcillin 250 Mg Capsule44.0
ZycillinZycillin 250 Mg Capsule16.0
AfdillinAfdillin 500 Mg Injection8.0
AmpianAmpian 250 Mg Capsule29.0
AmpicadAmpicad 500 Mg Injection7.0
AmpikemAmpikem 250 Mg Capsule17.0
AmpipenAmpipen 500 Mg Capsule468.0
AmpurinAmpurin 125 Mg Dry Syrup20.0
BinocloxBinoclox 500 Mg Injection7.0
DynacilDynacil 500 Mg Injection8.0
GercillinGercillin 250 Mg Capsule13.0
LupillinLupillin 250 Mg Capsule30.0
MagnacillinMagnacillin 125 Mg/125 Mg Injection11.11
MahacillinMahacillin 250 Mg Capsule19.0
MegasynMegasyn 250 Mg Capsule104.0
NatcocillinNatcocillin 250 Mg Tablet31.0
NeocillinNeocillin 1 Gm Injection11.0
NepocilNepocil 500 Mg Capsule52.0
PiracillinPiracillin 250 Mg Capsule15.0
Sam AtSam At 2.5 Mg Tablet70.0
SterpenSterpen 500 Mg Injection25.0
Synthocal MzSynthocal Mz Tablet29.0
SynthocilinSynthocilin 1 Gm Injection11.0
SynthocillinSynthocillin 250 Mg Capsule11.0
VersatillinVersatillin 125 Mg Syrup13.0
IntacillinIntacillin 250 Mg Capsule18.0
LabcillinLabcillin 500 Mg Injection7.0
LabicillinLabicillin 500 Mg Injection7.0
EnfloxEnflox 400 Mg Tablet23.0
FloxFlox 100 Mg Suspension17.0
Nogit MNogit M 100 Mg Syrup26.0
NorflotNorflot 0.3% Eye Drops8.0
NorfloxNorflox 0.3%W/V Eye/Ear Drops9.0
Norflox LbNorflox Lb 200 Mg Tablet26.0
Norflox (New)Norflox 100 Mg Tablet Dt17.0
NoriletNorilet 400 Mg Tablet13.0
NormaxNormax 400 Mg Tablet49.0
OrofloxOroflox 400 Mg Tablet95.0
AlfloxAlflox 100 Mg Tablet Dt3.0
EmfloxEmflox 200 Mg Tablet60.0
EnoxEnox 0.3 Mg Drop9.0
EnterofloxEnteroflox 400 Mg Tablet7.0
EntofloxEntoflox 0.3% Drops18.0
EntrofloxEntroflox Tablet15.0
EyefloxEyeflox 0.3% Drops17.0
KlibKlib 200 Mg Tablet24.0
LometLomet 100 Mg Syrup26.0
MerifloxMeriflox 400 Mg Tablet24.0
Nflox BNflox B 400 Mg Tablet44.0
NogitNogit 400 Mg Tablet18.0
NorNor 400 Mg Suspension10.0
NorbactinNorbactin 400 Mg Tablet45.0
NorbidNorbid 400 Mg Tablet10.0
Norflox EyeNorflox Eye 0.30% Ointment8.0
NorgaNorga 400 Mg Tablet6.0
NorgatinNorgatin 400 Mg Tablet17.0
NornijNornij 100 Mg Tablet Dt3.0
NorspanNorspan 100 Mg Tablet18.0
Nor UNor U 400 Mg Tablet11.0
NoxinNoxin 100 Mg Suspension20.0
Oroflox (Norwest)Oroflox 200 Mg Tablet51.0
QuinoloxQuinolox 400 Mg Tablet22.0
RenorRenor 400 Mg Tablet22.0
TamfloxTamflox 400 Mg Tablet22.0
UrobacidUrobacid 100 Mg Syrup23.0
UrozapUrozap 400 Mg Tablet22.0
BacigylBacigyl 250 Mg Suspension9.0
BiofloxinBiofloxin 400 Mg Tablet10.0
Cin TzCin Tz 500 Mg Tablet87.0
EmbenorEmbenor 400 Mg Tablet10.0
Emflox OzEmflox Oz Tablet74.0
Flox (Ahlcon Parenterals)Flox Eye Drops19.0
NitdinNitdin 400 Mg Tablet19.0
NoreldNoreld 400 Mg Tablet51.0
NorfloNorflo 400 Mg Tablet20.0
Norfloxacin 400 Mg TabletNorfloxacin 400 Mg Tablet31.0
Norkem (Alkem)Norkem 100 Mg Tablet9.0
Norlox MNorlox M Kid Tablet25.0
NorlupNorlup Drops12.0
NorstarNorstar 400 Mg Tablet12.0
NorteeNortee 400 Mg Tablet16.0
Norzee T ZNorzee T Z Tablet31.0
Quinolox (Elfin Pharma)Quinolox 500 Mg Tablet80.0
RidodioRidodio Tablet37.0
UrofloxUroflox 400 Mg Tablet22.0
WorfloxWorflox 400 Mg Tablet115.0
AristogylAristogyl 200 Mg Tablet4.24
FlagylFlagyl 200 Mg Suspension15.75
MetgylMetgyl 200 Mg Tablet43.75
MetrisMetris 500 Mg Infusion11.9
Metro (Baxter)Metro Infusion13.65
MetrogisMetrogis Infusion14.7
Metro (Glass)Metro 500 Mg Infusion11.25
Metrogyl IvMetrogyl Iv 500 Mg/5 Ml Infusion15.32
MetrokemMetrokem Iv 100 Mg Infusion11.25
MetronMetron 100 Mg Suspension15.2
AcrogylAcrogyl 200 Mg Dry Syrup30.68
AldezolAldezol 200 Mg Tablet14.93
AlemetroAlemetro 500 Mg Infusion13.4
BalgylBalgyl 400 Mg Tablet139.43
Emnac TabletEmnac 400 Mg Tablet40.0
EmnacEmnac Tablet40.0
Lupigyl IvLupigyl Iv 0.50% Infusion16.74
Met (Metoprolol)Met 400 Mg Tablet10.53
MetMet 500 Mg Tablet Sr18.04
Met B3 OdMet B3 Od Capsule137.31
Metro (Makers)Metro 200 Mg Tablet35.0
MetroMetro 400 Mg Tablet63.75
MetrocareMetrocare 500 Mg Infusion12.75
MetrocipMetrocip 500 Mg Infusion10.93
MetrodacMetrodac 500 Mg Infusion10.62
MetrogylMetrogyl 2% Gel52.2
Metronidazole 200 Mg TabletMetronidazole 200 Mg Tablet7.77
Metronidazole 400 Mg TabletMetronidazole 400 Mg Tablet15.51
MetropenMetropen 400 Mg Tablet7.4
NirmetNirmet 500 Mg Infusion11.55
Sprot PSprot P 100 Mg Suspension9.7
UnimegylUnimegyl 200 Mg Tablet5.0
WometroWometro 500 Mg Infusion12.47
DygylDygyl Iv Infusion16.74
MeterkemMeterkem 500 Mg Injection12.48
MetrinadzoleMetrinadzole Infusion16.9
MetronilMetronil 5 Mg/Ml Injection13.12
Nirmet PlusNirmet Plus Infusion25.0
Pd Zole DPd Zole D Infusion24.76
WinodylWinodyl Syrup12.26
TopmetroTopmetro Gel85.0
Ace(Swiss Pharma)Ace 500 Mg/500 Mg Injection12.5
AciloxAcilox 125 Mg/125 Mg Injection41.5
AdcAdc Eye Drops9.75
AllcloxAllclox 125 Mg/125 Mg Capsule46.87
AmclofAmclof Capsule28.31
Ampicloxin DsAmpicloxin Ds 125 Mg/125 Mg Capsule30.0
Ampicloxin KidAmpicloxin Kid 125 Mg/125 Mg Tablet26.75
AmpiloxAmpilox 100 Mg/25 Mg Injection19.36
Ampilox CAmpilox C 100 Mg/50 Mg Drop29.7
Bactimox PlusBactimox Plus Capsule43.66
BaxinBaxin 125 Mg/125 Mg Injection8.18
Bluclox PBluclox P 125 Mg/125 Mg Tablet14.95
CilcloxCilclox 250 Mg/250 Mg Injection60.81
Clamp KtClamp Kt 125 Mg/125 Mg Tablet94.31
CombiloxCombilox 125 Mg/125 Mg Capsule28.01
Combilox KidCombilox Kid 125 Mg/125 Mg Tablet11.0
Dc 1 DoseDc 1 Dose 250 Mg/250 Mg Injection29.85
Dc TusDc Tus Syrup59.05
MegapenMegapen 1 Gm Injection21.65
MixMix 250 Mg/250 Mg Injection8.45
Monaclox PlusMonaclox Plus 250 Mg/250 Mg Capsule92.62
Monocillin PlusMonocillin Plus 500 Mg/500 Mg Injection21.13
NamcloNamclo Capsule53.27
NepocloxNepoclox 250 Mg/250 Mg Injection13.71
PloxPlox 250 Mg/250 Mg Injection8.12
RoxipenRoxipen 250 Mg/250 Mg Injection10.65
SynerpenSynerpen 250 Mg/250 Mg Capsule37.13
WilcloxWilclox Capsule230.0
ZycloxZyclox 250 Mg/250 Mg Capsule57.54
Ace Plus SpAce Plus Sp Tablet16.66
AmpicloxAmpiclox 250 Mg/250 Mg Tablet32.32
Ampilox C DsAmpilox C Ds 500 Mg/500 Mg Injection22.1
Ampilox C PaedAmpilox C Paed 125 Mg/125 Mg Injection14.8
Ampoxin KidAmpoxin Kid 125 Mg/125 Mg Tablet19.9
AmpoxinAmpoxin 125 Mg/125 Mg Capsule29.3
Ampurin CAmpurin C 250 Mg/250 Mg Injection14.2
Baciclox KidBaciclox Kid 125 Mg/125 Mg Tablet28.35
Baciclox PlusBaciclox Plus 250 Mg/250 Mg Capsule38.75
BacicloxBaciclox 125 Mg/125 Mg Capsule33.0
Bactimox LbBactimox Lb 250 Mg/250 Mg Tablet79.84
BlucloxBluclox 250 Mg/250 Mg Capsule19.3
BroadicloxBroadiclox 250 Mg/250 Mg Capsule11.76
CampiloxCampilox 250 Mg/250 Mg Injection13.81
CaroloxCarolox Tablet47.15
Clompic KidClompic Kid 125 Mg/125 Mg Tablet11.2
Clompic NeonateClompic Neonate Injection7.2
ClompicClompic 125 Mg/125 Mg Capsule25.6
CloxaidCloxaid 250 Mg/250 Mg Capsule25.84
CloxapeneCloxapene 250 Mg/250 Mg Capsule36.71
Dc WhiteDc White Cream95.0
Duoclox KidDuoclox Kid 250 Mg/250 Mg Capsule16.27
DuocloxDuoclox 125 Mg/125 Mg Capsule14.82
ElcloxElclox Injection9.3
Gerciclox KidGerciclox Kid Tablet13.37
GercicloxGerciclox Capsule22.4
LampykloxLampyklox Capsule35.0
LupicloxLupiclox 250 Mg/250 Mg Injection7.18
MagaloxMagalox 125 Mg/125 Mg Capsule26.56
MegabactMegabact 250 Mg/250 Mg Capsule66.0
M LoxM Lox Capsule78.75
Ozoclox LbOzoclox Lb Capsule65.4
Penclox APenclox A Injection13.22
Penclox PPenclox P Injection9.71
RosciloxRoscilox 250 Mg/250 Mg Injection15.07
SyncloxSynclox 250 Mg/250 Mg Capsule23.57
Synclox KidSynclox Kid 250 Mg/250 Mg Tablet15.06
SyncocinSyncocin 125 Mg/125 Mg Injection7.88
XtracillinXtracillin Capsule35.45
ZycloZyclo 250 Mg/250 Mg Ointment75.97
TropenorTropenor 125 Mg/100 Mg Suspension30.47
Agroflox MAgroflox M 50 Mg/100 Mg Syrup10.37
Bestoflox MBestoflox M 50 Mg/100 Mg Suspension42.21
Boxer MBoxer M 50 Mg/100 Mg Suspension21.63
Dioflox MDioflox M 50 Mg/100 Mg Syrup22.75
KidogylKidogyl 50 Mg/100 Mg Syrup24.5
Kidogyl DsKidogyl Ds Syrup34.0
Macgyl OMacgyl O 50 Mg/120 Mg Syrup15.0
MetofMetof 50 Mg/100 Mg Suspension43.0
Oa MOa M 50 Mg/100 Mg Syrup19.25
O Cebran MO Cebran M 50 Mg/100 Mg Suspension21.64
Oflo MOflo M 100 Mg/200 Mg Suspension23.23
Opec MOpec M 50 Mg/100 Mg Suspension18.65
O Q MO Q M 50 Mg/100 Mg Suspension12.18
Oxflo MnOxflo Mn Suspension11.62
Pegtoline OPegtoline O Suspension53.0
Truflox MTruflox M 50 Mg/100 Mg Syrup31.87
Xintof MXintof M Syrup52.5
Alfox MAlfox M 50 Mg/100 Mg Syrup12.5
Cadi O MCadi O M 50 Mg/100 Mg Suspension36.0
DiofDiof 200 Mg/600 Mg Tablet50.51
Hanuflox MHanuflox M 50 Mg/100 Mg Suspension17.26
Largyl OLargyl O Tablet51.63
New Okaflox MNew Okaflox M Syrup31.5
Noragyl ONoragyl O 200 Mg/600 Mg Tablet57.2
Oflact MOflact M 50 Mg/100 Mg Suspension100.0
Oflomac MOflomac M Suspension18.0
Oflomac M ForteOflomac M Forte Syrup23.0
Ofpil MOfpil M 50 Mg/120 Mg Suspension16.62
Owin MOwin M 50 Mg/125 Mg Syrup24.61
Vox MVox M 50 Mg/100 Mg Syrup21.45
Agyl FAgyl F 100 Mg/300 Mg Tablet5.87
Aristogyl FAristogyl F 100 Mg/400 Mg Tablet12.4
Deemet FDeemet F 25 Mg/75 Mg Suspension56.7
Dependal MDependal M 100 Mg/300 Mg Tablet5.17
Dezole Mf (Alde)Dezole Mf 100 Mg/300 Mg Tablet4.81
Dyril PlusDyril Plus 100 Mg/300 Mg Tablet32.87
Entrofuran MEntrofuran M 30 Mg/100 Mg Suspension16.38
Furaktin MFuraktin M 100 Mg/300 Mg Tablet50.0
Genogyl FGenogyl F 30 Mg/100 Mg Syrup11.12
Idometrin FIdometrin F 30 Mg/100 Mg Suspension9.3
Kaltin MfKaltin Mf 30 Mg/100 Mg Syrup21.81
Metroquin FMetroquin F Syrup11.23
Ronifur SRonifur S 75 Mg/200 Mg Suspension65.75
Entromax FEntromax F Suspension15.93
EntromaxEntromax 100 Mg/200 Mg Sachet20.35
FurametFuramet 100 Mg/300 Mg Syrup12.06
Furatec MFuratec M 35 Mg/64 Mg Syrup340.0
Furazole MFurazole M Tablet10.35
Lomostop MfLomostop Mf 100 Mg/400 Mg Tablet7.43
Metrogyl FMetrogyl F Suspension19.56
AmcloxAmclox 250 Mg/250 Mg Capsule69.02
Ampilox DsAmpilox Ds 500 Mg/500 Mg Injection20.12
Ampilox KidAmpilox Kid 125 Mg/125 Mg Tablet27.0
Ampilox NeonatalAmpilox Neonatal 50 Mg/25 Mg Injection13.0
Ampilox PaediatricAmpilox Paediatric 250 Mg/250 Mg Injection13.46
AmpoxidAmpoxid 250 Mg/250 Mg Capsule27.47
Baxin DBaxin D 250 Mg/250 Mg Capsule59.5
Biclox DBiclox D Capsule57.3
Broadiclox NovoBroadiclox Novo 250 Mg/250 Mg Capsule51.0
Cloxaid DCloxaid D Capsule66.0
MahacloxinMahacloxin 250 Mg/250 Mg Capsule70.0
Megatin DcMegatin Dc Capsule35.75
TopcloxTopclox 250 Mg/250 Mg Capsule31.25
Versatillin DcVersatillin Dc 250 Mg/250 Mg Capsule36.25
AmpirokAmpirok 1000 Mg/500 Mg Injection126.0
AstreakAstreak 1000 Mg/500 Mg Injection44.76
Pre OpPre Op 1000 Mg/500 Mg Injection72.13
SaltumSaltum 1000 Mg/500 Mg Injection105.0
SulbactSulbact 1000 Mg/500 Mg Injection54.85
SulboxaSulboxa Tablet424.52
AmpitumAmpitum 1000 Mg/500 Mg Injection96.0
Pressilin PPressilin P Tablet20.66
SulbacinSulbacin Injection125.9
Anglonor MAnglonor M 100 Mg/100 Mg Suspension12.5
BinorgylBinorgyl 100 Mg/100 Mg Suspension0.0
Biogyl MBiogyl M 100 Mg/100 Mg Syrup0.0
Boxer NmBoxer Nm 100 Mg/100 Mg Suspension0.0
Dakson MDakson M 100 Mg/100 Mg Syrup10.7
DiarolDiarol 100 Mg/100 Mg Capsule0.0
DonagylDonagyl 100 Mg/100 Mg Tablet59.68
DonnagylDonnagyl 100 Mg/100 Mg Syrup29.55
Flomet OFlomet O 100 Mg/100 Mg Suspension0.0
FloxagylFloxagyl 200 Mg/500 Mg Tablet0.0
Gastrogyl MGastrogyl M 100 Mg/100 Mg Suspension0.0
GastrometGastromet 100 Mg/100 Mg Syrup25.0
GeneraGenera 100 Mg/100 Mg Syrup0.0
GramogylGramogyl 100 Mg/100 Mg Suspension0.0
KlassakKlassak 100 Mg/100 Mg Suspension22.5
Lamizol PlusLamizol Plus 400 Mg/600 Mg Suspension0.0
Largyl NLargyl N 100 Mg/100 Mg Suspension0.0
MenorMenor 100 Mg/100 Mg Suspension0.0
MetnoxMetnox 100 Mg/100 Mg Suspension0.0
MetroxaMetroxa 100 Mg/100 Mg Suspension0.0
NmsdNmsd 100 Mg/100 Mg Suspension0.0
NorgylNorgyl 100 Mg/100 Mg Suspension0.0
Normec MNormec M 100 Mg/100 Mg Syrup18.87
Nor MetrogylNor Metrogyl 100 Mg/100 Mg/5 Ml Suspension0.0
Norspan MNorspan M 100 Mg/100 Mg Suspension25.72
Pegtoline PlusPegtoline Plus 100 Mg/100 Mg Syrup0.0
Powergyl OzPowergyl Oz 100 Mg/100 Mg Tablet0.0
Power StopPower Stop 100 Mg/200 Mg Syrup0.0
RemetRemet 100 Mg/100 Mg Cream56.16
Sprot NSprot N 100 Mg/100 Mg Suspension0.0
TrustogylTrustogyl 100 Mg/100 Mg Syrup0.0
AmefurAmefur 100 Mg/100 Mg Syrup32.18
Bacigyl NBacigyl N Suspension24.08
Biogyl M ForteBiogyl M Forte 125 Mg/120 Mg Syrup33.0
Combizol FCombizol F 100 Mg/100 Mg Syrup47.5
Combizol TCombizol T 200 Mg/300 Mg Tablet53.0
ComebaComeba 100 Mg/100 Mg Suspension10.0
Diaba MDiaba M 100 Mg/100 Mg Suspension26.2
EntrogylEntrogyl 100 Mg/100 Mg Syrup33.0
Front MFront M 100 Mg/100 Mg Syrup20.9
MangogylMangogyl 100 Mg/100 Mg Syrup29.27
MarkdrylMarkdryl 100 Mg/100 Mg Syrup10.0
M Cid CM Cid C 100 Mg/100 Mg Dry Syrup43.1
M Cid NtM Cid Nt 100 Mg/100 Mg Syrup30.3
M Cid PlusM Cid Plus 100 Mg/100 Mg Syrup49.0
MetnalMetnal 100 Mg/100 Mg Suspension40.4
M NorM Nor 100 Mg/100 Mg Syrup47.57
NagylNagyl Syrup30.5
NorbitNorbit Injection31.25
NorfagylNorfagyl 100 Mg/100 Mg Suspension29.23
Norosol MNorosol M Syrup25.66
Notty Susp.Notty Susp. 100 Mg/100 Mg Suspension26.4
NozoNozo 400 Mg/600 Mg Tablet49.91
NtdNtd 100 Mg/100 Mg Suspension25.03
PowergylPowergyl 100 Mg/100 Mg Suspension60.5
ProtobactProtobact 100 Mg/200 Mg Tablet66.66
Quinobid MQuinobid M 100 Mg/100 Mg Suspension26.25
RokogylRokogyl 100 Mg/100 Mg Suspension40.0
SupergylSupergyl 100 Mg/100 Mg Suspension11.5
Anglonor TzAnglonor Tz 400 Mg/600 Mg Tablet20.0
CinzoleCinzole 400 Mg/600 Mg Tablet52.57
DaksonDakson 400 Mg/600 Mg Tablet15.85
Dakson OrlDakson Orl Oral Solution40.42
DazonorDazonor 400 Mg/600 Mg Tablet60.0
FulstopFulstop 400 Mg/600 Mg Suspension38.0
Loxitin PLoxitin P 100 Mg/75 Mg Suspension30.55
MeganegMeganeg 400 Mg/600 Mg Tablet41.3
Nogit TzNogit Tz 400 Mg/600 Mg Tablet24.87
Nore TNore T 400 Mg/600 Mg Tablet15.93
Norgull TzNorgull Tz 400 Mg/600 Mg Tablet60.0
NortwinNortwin 400 Mg/600 Mg Tablet16.98
Nor TzNor Tz 400 Mg/600 Mg Tablet57.73
NoxigylNoxigyl 100 Mg/100 Mg Suspension23.5
Noxitef TzNoxitef Tz 400 Mg/600 Mg Tablet36.25
Ntini SpasNtini Spas 400 Mg/600 Mg Tablet65.0
ProtobacProtobac 400 Mg/600 Mg Tablet71.25
TindifloxTindiflox 200 Mg/150 Mg Syrup9.2
TizfloxTizflox 400 Mg/600 Mg Tablet61.36
Bioflox TzBioflox Tz 400 Mg/600 Mg Tablet9.22
DiabaDiaba 400 Mg/600 Mg Tablet44.58
Embenor TzEmbenor Tz 400 Mg/600 Mg Tablet14.49
EnterobactEnterobact 400 Mg/600 Mg Tablet23.75
Enterotal LbEnterotal Lb 400 Mg/600 Mg Tablet20.0
EnterotalEnterotal 400 Mg/600 Mg Tablet60.0
FlontinFlontin 400 Mg/600 Mg Tablet32.87
FloxidFloxid 100 Mg/100 Mg Suspension39.0
Front DsFront Ds 400 Mg/600 Mg Tablet47.5
FrontFront 400 Mg/600 Mg Tablet50.27
Gramoneg TnGramoneg Tn 400 Mg/600 Mg Tablet58.0
LocLoc 100 Mg/100 Mg Syrup28.65
Loxone TzLoxone Tz 400 Mg/600 Mg Tablet70.0
Marflox TzMarflox Tz 400 Mg/600 Mg Tablet21.56
MatrixMatrix 400 Mg/600 Mg Tablet105.0
Nirnorf TzNirnorf Tz 400 Mg/600 Mg Tablet18.75
NorazolNorazol 400 Mg/600 Mg Tablet65.61
Norbactin ZNorbactin Z 400 Mg/600 Mg Tablet67.26
Norbid TNorbid T 400 Mg/600 Mg Tablet14.12
Norcip TzNorcip Tz 400 Mg/600 Mg Tablet7.41
NordysNordys 400 Mg/600 Mg Tablet293.0
Norfen TzNorfen Tz Syrup26.5
Norfled TzNorfled Tz 400 Mg/500 Mg Tablet15.81
Norflokem TzNorflokem Tz Tablet30.0
Norflowok TzNorflowok Tz 400 Mg/600 Mg Tablet28.75
Norflox Tz TabletNorflox Tz Lb 400 Mg/600 Mg Tablet63.57
NorkemtzNorkemtz 400 Mg/600 Mg Tablet60.0
Norlox TzNorlox Tz 400 Mg/600 Mg Tablet31.25
Norpen TzNorpen Tz 400 Mg/600 Mg Tablet24.37
Norspan TnNorspan Tn 400 Mg/600 Mg Tablet42.0
Norstar TzNorstar Tz 400 Mg/600 Mg Tablet22.25
NortiniNortini 100 Mg/100 Mg Suspension31.0
Nortum TzNortum Tz 400 Mg/600 Mg Tablet45.0
Nox TzNox Tz Tablet46.0
Pd Nor TzPd Nor Tz 400 Mg/600 Mg Tablet8.81
SigmadysSigmadys 400 Mg/600 Mg Tablet58.5
Tiniba NTiniba N Tablet16.97
TinicinTinicin 600 Mg/400 Mg Capsule42.37
Tini NfTini Nf 400 Mg/600 Mg Tablet41.04
Tininor SfTininor Sf 400 Mg/600 Mg Tablet36.0
Tinvista NfTinvista Nf Tablet23.12
Tn DdTn Dd Tablet33.0
Todaz NTodaz N Tablet61.81
Urozap TzUrozap Tz 400 Mg/600 Mg Tablet36.4
ApcApc Tablet89.0
Ampilong DsAmpilong Ds 500 Mg/500 Mg Tablet71.82
AmpilongAmpilong 250 Mg/250 Mg Tablet37.22
LongactLongact Tablet50.27
BactometBactomet 300 Mg/200 Mg Suspension0.0
Genogyl NGenogyl N 100 Mg/100 Mg Suspension0.0
NalidysNalidys 100 Mg/150 Mg Suspension0.0
Negadix MNegadix M 300 Mg/200 Mg Tablet0.0
Ad(Veritaz)Ad Suspension10.9
AldiagramAldiagram 100 Mg/150 Mg Suspension29.9
BescoBesco Tablet77.0
Entrodix MEntrodix M Suspension13.73
Gramoneg MGramoneg M 150 Mg/100 Mg Suspension24.38
GramonexGramonex Injection43.55
Matrix MnMatrix Mn 150 Mg/100 Mg Suspension11.84
MaxogylMaxogyl Syrup21.57
CintodacCintodac 3 Mg/40 Mg Capsule232.8
Pantoza CtPantoza Ct 3 Mg/40 Mg Tablet191.0
Safepraz PlusSafepraz Plus Capsule200.0
Nupenta CpNupenta Cp 3 Mg/40 Mg Capsule190.0
Combilox LbCombilox Lb 250 Mg/250 Mg/60 Ms Capsule30.2
Molox LbMolox Lb Capsule36.0
Amplus CapsuleAmplus Capsule79.0
Baxin D LbBaxin D Lb 250 Mg/250 Mg/60 M Capsule65.0
Baxin LbBaxin Lb 250 Mg/250 Mg/60 M Capsule65.0
Broadiclox Lb KidBroadiclox Lb Kid Tablet11.27
Broadiclox LbBroadiclox Lb 250 Mg/250 Mg/60 Mg Capsule44.87
Campilox LbCampilox Lb 250 Mg/250 Mg/60 M Capsule19.37
ClaxClax 250 Mg/250 Mg/60 Mc Capsule17.5
Combilox Lb KidCombilox Lb Kid Tablet14.3
Elclox PlusElclox Plus 250 Mg/250 Mg/60 Ms Capsule55.26
Gerciclox LbGerciclox Lb Capsule20.16
Mediclox PlusMediclox Plus Capsule41.9
Neclox L SNeclox L S Capsule18.73
Diafur PlusDiafur Plus Tablet20.0
Dim KidDim Kid 100 Mg/400 Mg/20 Mg Tablet10.95
Lomostop DLomostop D 50 Mg/200 Mg/10 Mg Tablet6.02
Lomostop PlusLomostop Plus 100 Mg/400 Mg/20 Mg Tablet10.0
EcosepticEcoseptic 1%/5% Cream132.37
Metrogyl PMetrogyl P Ointment86.51
Metro PvMetro Pv Ointment36.0
Metrozen PMetrozen P Ointment56.58
PovicleanPoviclean 1%/5% Ointment31.2
Poviken MPoviken M Ointment36.96
PovimetPovimet 1%/5% Cream69.23
PovizolPovizol Ointment11.6
Wokadine MWokadine M 1%/5% Cream28.38
ArmerArmer 1%/5% Ointment34.3
Cipladine MCipladine M Ointment15.0
MdineMdine Ointment44.0
MegatrumMegatrum 1%/5% Ointment55.0
MetrosifpMetrosifp Ointment46.67
Nestoine MNestoine M Ointment27.2
Odivine MOdivine M Ointment42.0
PimetPimet Ointment100.43
PlusPlus Ointment15.53
Podine MPodine M Ointment33.31
Povirex PlusPovirex Plus Ointment48.0
Puradine MPuradine M Ointment15.3
Pvdine MPvdine M Ointment13.12
Soludine MSoludine M Ointment49.9
Entakon MEntakon M 400 Mg/333 Mg Capsule0.0
EntakonEntakon Tablet0.0
LancetLancet 400 Mg/333 Mg Tablet0.0
MeklinMeklin 400 Mg/333 Mg Capsule0.0
MetroclineMetrocline Capsule32.9
Fb FreshoraFb Freshora Gel8.3
HyginaHygina Gel40.2
MetrohexMetrohex Gel5.7
Nitra MetNitra Met 0.25%W/V/10 Mg Gel8.25
Orahex MOrahex M 0.25%/.01% Gel33.0
Orex M 1%W/W/0.25%W/W GelOrex M 1%W/W/0.25%W/W Gel19.18
DentasepDentasep Gel27.0
FogumFogum Gel6.85
MetzineMetzine 0.25%/1% Gel18.08
Metzine CMetzine C Gel19.0
Lekgat MLekgat M 200 Mg/500 Mg Tablet52.0
Mlevo MMlevo M Suspension46.18
NordexNordex Eye Drops44.88
Norflox TzNorflox Tz Tablet66.75
Gramogyl PlusGramogyl Plus Tablet66.5
Nortex TzNortex Tz Tablet55.56
Nortini LbNortini Lb Tablet22.96
NorstrepNorstrep 200 Mg/2 Mg Capsule19.37
Softee(Leo)Softee Laxative Syrup94.9
SprotSprot 200 Mg/250 Mg Syrup19.21
Dimet PlusDimet Plus Tablet30.47
Dyrade MDyrade M 200 Mg/250 Mg Tablet6.82
FremogylFremogyl 200 Mg/250 Mg Tablet7.4
Metron DfMetron Df Tablet19.43
Sprot PlusSprot Plus 100 Mg/125 Mg/50 Mg Suspension28.96
Aristogyl PlusAristogyl Plus Tablet12.21
Sufrate LaSufrate La Cream75.0
Sufrate MSufrate M Cream40.58
CiprogylCiprogyl 100 Mg/125 Mg Suspension26.46
Vagi ClVagi Cl Tablet69.3
Clingen PlusClingen Plus Suppository85.01

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

सम्बंधित लेख

और पढ़ें ...