myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

उंगलियों में संक्रमण क्या है?

उंगलियों में चोट या संक्रमण एक आम समस्या है। यह संक्रमण मध्यम से लेकर गंभीर हो सकता है। यह अक्सर संक्रामक बैक्टीरिया व अन्य कीटाणुओं के संपर्क में आने से होता है। अक्सर, ये संक्रमण ज्यादा गंभीर नहीं होते हैं और इनका इलाज आसान होता है। हालांकि अगर इसका ठीक तरह से इलाज न किया जाए, तो इसकी वजह से प्रभावित उंगली काम करना बंद कर सकती है या उसे निकलवाना पड़ सकता है। 

उंगलियों में संक्रमण के लक्षण

उंगलियों में संक्रमण होने पर अधिकतर लक्षण के रूप में प्रभावित हिस्सा गुलाबी या लाल रंग दिखाई देने लगता है। जब उंगली पर लगी छोटी-सी चोट संक्रमित हो जाती है, तो निम्न लक्षण सामने आने लगते हैं:

इसके अलावा निम्न रोगों के कारण भी उंगलियों में संक्रमण हो जाता है: 

  • फेलन: फेलन में उंगलियों में दर्द और सूजन रहती है। त्वचा के अंदर मवाद बन सकती है।
  • पेरोनिसिया: पेरोनिसिया के लक्षणों में नाखून के आसपास वाली त्वचा पर लालिमा और सूजन शामिल है। इस हिस्से को छूने पर तेज दर्द होता है। इस स्थिति में नाखून या इसकी त्वचा के अंदर मवाद बन सकती है, जो घाव से बाहर निकलने लगती है, इसका रंग सफेद-पीला होता है।
  • हर्पेटिक वाइट्लो: इसके लक्षण फेलन के लक्षणों से मिलते-जुलते होते हैं और इसमें प्रभावित हिस्से पर तुरंत जलन या खुजली भी हो सकती है। फेलन की तुलना में इसमें कम सूजन होने की संभावना रहती है। वाइट्लो के कारण प्रभावित हिस्से में एक या एक से अधिक घाव बन सकते हैं।

उंगलियों में संक्रमण के कारण

यदि उंगलियों में संक्रमण होने पर शुरुआत में ही लक्षणों को पहचान कर उचित उपचार शुरू कर दिया जाए, तो ज्यादातर मामलों को गंभीर होने से बचाया जा सकता है। उंगलियों में संक्रमण निम्नलिखित रोगों के कारण हो सकता है:

  • फेलन: यह आमतौर पर बैक्टीरियल संक्रमण के कारण होता है, जोकि स्टेफिलोकोकस ऑरियस बैक्टीरिया के बढ़ने से होता है। 
  • पेरोनिसिया: पेरोनिसिया नाखूनों के सिरे के उत्तकों में होने वाला इंफेक्शन है। यह अक्सर दांत से नाखून या आसपास की त्वचा को काटने से होता है। यह हाथों की उंगलियों में होने वाला सबसे आम बैक्टीरियल संक्रमण है।
  • हर्पेटिक वाइट्लो: यह वायरस के कारण होने वाला संक्रमण है, जोकि उंगलियों या अंगूठे के आगे के हिस्से को प्रभावित करता है। इस संक्रमण को अक्सर पेरोनिसिया या फेलन समझ लिया जाता है।

उंगलियों में संक्रमण का इलाज

उंगली में संक्रमण कई बार गंभीर रूप ले सकता है, इसलिए घरेलू नुस्खों से इसका इलाज करना मुश्किल है। हालांकि, मामूली पेरोनिसिया का इलाज घर पर किया जा सकता है बशर्ते आपको डायबिटीज जैसी कोई अन्य गंभीर बीमारी न हो। अन्य सभी संक्रमणों में डॉक्टर द्वारा उपचार की आवश्यकता होती है। चूंकि, इलाज में देरी करने से उंगली काम करना बंद कर सकती है या उंगली को निकलवाने की जरूरत पड़ सकती है, इसलिए मेडिकल हेल्प लेने में संकोच नहीं करना चाहिए।

  • पेरोनिसिया: इस स्थिति में जब नाखून के पास त्वचा में मवाद बन जाती है तो आमतौर पर डॉक्टर प्रभावित हिस्से पर स्केलपेल ब्लेड के जरिए चीरा या कट लगाकर मवाद को निकाल सकते हैं। यदि संक्रमण गंभीर है, तो नाखून का एक हिस्सा हटाया भी जा सकता है।
  • फेलन: इस स्थिति में अक्सर चीरा लगाने की आवश्यकता होती है। आमतौर पर, चीरा उंगली के एक या दोनों तरफ लगाया जाता है। इसके बाद डॉक्टर घाव में एक विशेष उपकरण के जरिए मवाद निकालने की कोशिश करते हैं।
  • हर्पेटिक वाइट्लो: एंटी-वायरल दवाइयां जैसे कि एसाइक्लोविर (जोविराक्स) के जरिए इस संक्रमण को जल्द नियंत्रित किया जा सकता है।
 
  1. उंगली में संक्रमण के डॉक्टर
Dr. Neha Gupta

Dr. Neha Gupta

संक्रामक रोग

Dr. Jogya Bori

Dr. Jogya Bori

संक्रामक रोग

Dr. Lalit Shishara

Dr. Lalit Shishara

संक्रामक रोग

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...