घाव क्या है?

घाव शरीर के ऊतकों में होने वाली बाहरी या आंतरिक क्षति होती है। लगभग हर व्यक्ति को अपने जीवन में कभी-न-कभी घाव या चोट का अनुभव होता ही है। अधिकतर घाव सामान्य होते हैं और इनका इलाज आसानी से घर पर ही किया जा सकता है।

कहीं पर गिरने, किसी वस्तु या मशीन से कोई दुर्घटना होने और गाड़ी के एक्सीडेंट से घाव होना आम बात है। किसी प्रकार की दुर्घटना होने पर आपको तुरंत चिकित्स्कीय इलाज की आवश्यकता होती है। मुख्यतः 20 मिनट से ज्यादा देर तक खून बहने पर आपको अस्पताल जाना चाहिए। इस लेख में आगे आप जानेंगे घाव के प्रकार, घाव का इलाज और घाव में खुजली होना, मरहम पट्टी, घाव में पस, मवाद या घाव से पानी आना और घाव न भरना आदि के बारे में।  

 (और पढ़ें - चोट की सूजन का इलाज)

  1. घाव के प्रकार - Ghav ke prakar
  2. घाव के इलाज - Ghav ka ilaj
  3. घाव में खुजली होना - Ghav me khujli hona
  4. घाव की देखभाल और मरहम पट्टी - Ghav ki dekhbhal aur marham patti
  5. घाव में पस, मवाद या घाव से पानी आना - Ghav me pus, mavad ya ghav se pani aana
  6. घाव न भरना - Ghav na bharna
  7. घाव के निशान और दाग मिटाने के तरीके
  8. घाव की दवा - Medicines for Open Wound in Hindi
  9. घाव की दवा - OTC Medicines for Open Wound in Hindi
  10. घाव के डॉक्टर

घाव कितने प्रकार है होते है?

घाव मुख्य रूप से चार तरह के होते हैं जो इस प्रकार है:

  1. रगड़ लगना:  
    जब त्वचा में ठोस सतह या किसी अन्य चीज से रगड़ लग जाती है, तब इस तरह का घाव होता है। बाइक चलाते समय किसी चीज से रगड़ लगना आम बात है। इसमें समान्यतः अधिक खून नहीं बहता है। लेकिन, रगड़ वाले घाव को संक्रमण से बचाने के लिए इसे अच्छी तरह से साफ रखने की जरूरत पड़ती है। (और पढ़ें - संक्रमण का इलाज)
     
  2. नुकीली चीज से त्वचा पर होने वाला हल्का घाव:  
    किसी नुकीली चीज, जैसे- कील, सुई या पेन आदि के शरीर में घुसने से ऐसा घाव होता है। कई बार किसी चीज के शरीर में घुसने से बहुत ज्यादा खून बहता है। इस घाव से आंतरिक अंगों को नुकसान पहुंचने की संभावना अधिक होती है। यदि आपको इस तरह का घाव हो, तो इससे होने वाले संक्रमण या अन्य समस्याओं से बचने के लिए आपको समय रहते डॉक्टर के पास जाकर टिटनेस का इंजेक्शन लगवा लेना चाहिए। (और पढ़ें - टिटनेस के लक्षण)
     
  3. नुकीली चीज से होने वाली गहरी चोट:  
    इसमें त्वचा में गहराई तक घाव होता है और त्वचा फट जाती है। चाकू, किसी औजार या मशीन पर काम करते समय इस तरह का घाव होता है। इस तरह के घाव में लगातार खून बहता है।
     
  4. त्वचा का गंभीर रूप से फट जाना: 
    स घाव में त्वचा पूरी तरह से फट जाती है। गंभीर दुर्घटना जैसे कोई एक्सीडेंट, बम धमाका या गोली लगने से शरीर में होने वाली चोट के चलते यह घाव होता है। इसमें शरीर से लगातार और अधिक मात्रा में खून बहता है। इस तरह के घाव के लिए तुरंत चिकित्स्कीय सहायता की आवश्यकता होती है।

(और पढ़ें - मवाद का उपचार)

घाव का इलाज किस तरह से किया जाता है? 

घाव को आप घरेलू और चिकित्स्कीय दोनों ही तरह के इलाज से ठीक कर सकते हैं। 

छोटे घाव को सुखाने/ ठीक करने के लिए निम्न तरह के घरेलू उपाय करें।

छोटे घाव को घर में ही ठीक किया जा सकता है। इसके लिए आपको सबसे पहले घाव को धोना होता हैं, इससे घाव में मौजूद गंदगी हट जाती हैं और घाव में संक्रमण होने की संभावना नहीं रहती है। घाव की रक्तस्त्राव और सूजन को कम करने के लिए आप इस पर किसी साफ कपड़े से दबाव भी डाल सकते हैं। इसके बाद घाव को ढ़कने के लिए साफ पट्टी का इस्तेमाल करें या बैंडेज का प्रयोग करें। कई बार छोटे घाव बिना पट्टी किए भी ठीक हो जाते हैं।

लगातार करीब पांच दिनों तक घाव को साफ कर पट्टी करते रहें। अगर घाव की वजह से रोजाना के कामों में परेशानी हो रही हो तो आराम करें। घाव में निशान और सूजन को कम करने के लिए आप बर्फ से सिकाई कर सकते हैं। घाव पर पपड़ी होने पर उसको निकालने से बचें। यदि आपको काम के चलते बाहर सूर्य की किरणों में ज्यादा समय बिताना पड़ता है, तो एसपीएफ 30 युक्त सनस्क्रीन क्रीम को घाव पर लगाएं। इससे घाव की त्वचा पर सूर्य की हानिकारक किरणों का दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है।

(और पढ़ें - सूजन कम करने के घरेलू उपाय)

घाव का चिकित्स्कीय इलाज: 

घाव को भरने के लिए डॉक्टर कई तरह की तकनीकों को अपनाते हैं। घाव को साफ करने के बाद उस जगह को सुन्न करने लिए डॉक्टर दवा का प्रयोग करते हैं। इसके बाद घाव को भरने के लिए डॉक्टर त्वचा को सुखाने वाली दवा लगाते हैं। इसके अलावा घाव बड़ा होने पर डॉक्टर टांके लगाकर भी त्वचा को जोड़ने का प्रयास करते हैं। अगर किसी नुकीली चीज से घाव हो गया हो, तो व्यक्ति को टिटनेस का इंजेक्शन दिया जाता है। शरीर में घाव की स्थिति और संक्रमण होने की संभावना के आधार पर आपके डॉक्टर इसके इलाज की प्रक्रिया को चुनते हैं।

इसके अलावा अन्य विकल्पों में घाव के दर्द को कम करने के लिए दवा दी जाती है। इस प्रक्रिया में संक्रमण का खतरा अधिक होने पर डॉक्टर एंटीबॉयोटिक दवा खाने की सलाह देते हैं, जबकि कुछ मामलों में सर्जरी भी की जाती है। यदि घाव गंभीर हो तो आपको अस्पताल जाना चाहिए, इतना ही नहीं अस्पताल जाते समय घाव को साफ सूती कपड़े से ढ़ककर रखें और बर्फ से सिकाई करते रहें।

डॉक्टरी इलाज में घाव पर पट्टी होने के बाद आपको भी अपने हाथों को साफ से धोना चाहिए। हर प्रकार के संक्रमण से दूर रहने के लिए घाव की पट्टी को नियमित रूप से बदलवाते रहें और पट्टी को बदलवाने से पहले घाव को सुखा लें। पट्टी को बदलते समय घाव से निकाली हुई पुरानी पट्टी को कूड़े में डालना न भूलें।  

(और पढ़ें - घाव भरने के घरेलू नुस्खे)

घाव में खुजली क्यों होती है?

त्वचा में तंत्रिका फाइबर होते हैं, जो त्वचा में होने वाली परेशानियों का पता लगाते हैं। इन तंत्रिका फाइबर के द्वारा त्वचा में होने वाली किसी सनसनी या खुजली का संकेत रीढ़ की हड्डी पर भेजा जाता हैं। इन संकेतों के बाद ही खुजली करने की इच्छा जागृत होती है। यह तंत्रिका कई तरीकों से सक्रिय होती हैं। उदाहरण के तौर पर किसी कीड़े के त्वचा पर चलने से यह तंत्रिका फाइबर आपका ध्यान शरीर के उस भाग की ओर खिंचते हैं और आपको संभावित खतरे के प्रति आगाह करते हैं।

(और पढ़ें - स्लिप डिस्क ट्रीटमेंट)

घाव भरते समय त्वचा पर तनाव आता है, जिससे खुजली होती है। घाव भरते समय चोट के आसपास की कोशिकाओं की संख्या बढ़ने लगती है, यह घाव के भरने का संकेत होता है। इसमें कोशिकाएं नीचे से ऊपर की ओर बढ़ती है। कोशिकाएं नीचे से बढ़ती हुए घाव के दोनों छोरों को पाटने का काम करती है। इस प्रक्रिया में त्वचा पर एक प्रकार का तनाव उत्पन्न होता है, जिसकी वजह से तंत्रिका फाइबर रीढ़ की हड्डी को खुजली के संकेत भेजते हैं और घाव में खुजली होने लगती है। इसके अलावा रसायनों के स्त्रावित होने से भी तंत्रिका फाइबर सक्रिय होते हैं, जो घाव के उपचार में खुजली का कारण बनते हैं।

घाव में खुजली ऊतकों के निर्माण की वजह से भी होती है। घाव ठीक होने के दौरान शरीर के प्रभावित हिस्से में ऊतक बनने लगते हैं। ज्यादा ऊतकों के बनने से घाव के ऊपर मोटी परत बन जाती है, जबकि नरम ऊतकों के निर्माण से त्वचा में जलन उत्पन्न होने लगती है। घाव पर निशान न पड़े इसलिए जरूरी होता है कि उसको किसी कपड़े से ढ़ककर रखें। खुले घाव पर कपड़े की बार-बार रगड़ से भी खुजली महसूस हो सकती है।

(और पढ़ें - स्किन एलर्जी का इलाज)

घाव पर खुजली न करें - 

घाव के सही होते समय पुराने ऊतकों की जगह पर नए ऊतक बनना शुरू हो जाते हैं। ऐसे में घाव पर खुजली करने से इसके ठीक होने का समय बढ़ जाता है और संक्रमण लंबे समय तक बना रह सकता है। इसके अलावा घाव पर निशान होने की संभावना भी बढ़ जाती है। इतना ही नहीं घाव पर खुजली करने से आपके हाथों के हानिकारक कीटाणु घाव पर पहुंच सकते हैं। जिससे आपको संक्रमण होने का खतरा होता है।

(और पढ़ें - घाव के निशान मिटाने के उपाय)

घाव पर खुजली कम करने के टिप्स

घाव पर खुजली ज्यादा हो और खुजली के बाद उसमें से गाढ़ा या हल्का पीला तरल बहने लगे, तो आपको तुरंत डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। घाव पर लगातार खुजली होने पर आपको नीचे बताए गए टिप्स अपनाना चाहिए, हालांकि इन्हें अपनाने से पहले किसी विशेषज्ञ से सलाह जरूर ले लें: 

  • घाव की मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए साबुन या पानी से घाव की जगह को अच्छी तरह से धो कर साफ करें। इससे घाव की त्वचा में जलन या खुजली नहीं होती है।  
  • घाव को किसी कपड़े से ढ़ककर रखें। इससे घाव पर आपके कपड़ों से रगड़ नहीं लगेगी।
  • बर्फ से घाव की सिकाई करें। इससे कुछ समय के लिए घाव पर खुजली की समस्या कम हो जाएगी। (और पढ़ें - बर्फ के फायदे)
  • खुजली कम करने वाली क्रीम का उपयोग करें। इसका उपयोग करने से पहले डॉक्टर से पूछ लेना बेहद जरूरी है।

(और पढ़ें - खुजली दूर करने के उपाय)

घाव की देखभाल कैसे करनी चाहिए? 

किसी को भी हल्की चोट से घाव हो सकता है। अधिकतर घाव घर पर ही ठीक हो जाते हैं। कोई भी छोटा घाव अपने आप ही ठीक हो जाता है। इस प्रक्रिया में कुछ समय जरूर लगता है, इस समय घाव को ठीक करने के लिए नियमित मरहम पट्टी और उचित देखभाल की आवश्यकता होती है।

जैसे जैसे चोट ठीक होती है त्वचा पर चोट का निशान नजर आने लगता है, यह निशान इस बात का प्रतिक है कि अब चोट ठीक हो रही है। यह निशान कैसे और कितना नजर आएगा यह पूरी तरह से चोट की प्रकृति पर आधारित है। जोड़ों एवं घुटनों और कोहनी पर लगे चोट के निशान जहां आसानी से आ जाते है वहीं छोटे मोटे कट के निशान घाव भरने के दौरान नजर आने बंद हो जाते है।

(और पढ़ें - कटने पर क्या करें)

ऐसे में कुछ विशेष उपाय अपना कर आप गहरे घावों और छिली हुई त्वचा पर पड़े निशानों से मुक्ति पा सकते है। इन उपायों के साथ घाव की देखभाल और मरहम पट्टी के लिए जरूरी तरीकों को नीचे समझाया जा रहा है।

  • घाव की देखभाल में सबसे पहले आपको घाव को अच्छी तरह से साफ करना चाहिए। इसके लिए आप साबुन या पानी से घाव को धो सकते हैं। इससे घाव में मौजूद कीटाणु साफ हो जाते हैं।
  • घाव को साफ करते समय ध्यान दें कि चोट लगते समय इसमें लगी धूल मिट्टी भी साफ हो जाएं। यदि घाव में धूल मिट्टी लगी रह जाएगी तो इससे संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • घाव को साफ करने के बाद आप जख्म में नमी बनाए रखने के लिए कोई क्रीम या पेट्रोलियम जेली लगाएं। इससे घाव में पपड़ी नहीं बनेगी, पपड़ी बनने से घाव के ठीक होने में ज्यादा समय लगता है। जैली या क्रीम लगाने से घाव बहुत गहरा और खुजलीदार भी नहीं बनता। अगर घाव को रोज धोया जाएं तो एंटी बैक्टीरियल दवाई लगाने की भी आवश्यकता नहीं पड़ती। (और पढ़ें - वैसलीन के फायदे)
  • घाव को साफ सुथरा रखने के लिए नियमित रूप से अपनी पट्टियों को बदलते रहे। अगर आपको आम तरह की पट्टी से एलर्जी है तो सिलिकॉन जेल या हाइड्रोलिक शीट का प्रयोग करें। इनका प्रयोग करने के लिए इनके पैकेट पर लिखे निर्देश पढ़ लें।
  • घाव ज्यादा बड़ा है, तो आपको नियमित रूप से डॉक्टर के पास जाकर पट्टी को बदलवाना चाहिए। यदि घाव छोटा हो तो भी इसको बाहरी बैक्टीरिया से बचाने के लिए किसी कपड़े से ढककर रखें।
  • घर पर ही घाव को ठीक करने के लिए, आप बाजार में मिलने वाली दवा युक्त पट्टी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे घाव तेजी से ठीक होता है। (और पढ़ें - खून बहना बंद कैसे करें)
  • किसी जोड़ पर होने वाले घाव को ठीक होने में थोड़ा ज्यादा समय लगता है। इस समय घाव को जल्दी ठीक करने के लिए जोड़ पर ज्यादा दबाव न डालें।
  • अगर आप चाहते हैं कि घाव पर निशान न बने, तो आपको घाव की त्वचा को सूर्य के संपर्क में लाने से बचाना चाहिए।
  • इसके अलावा आप घाव के ठीक होने पर सनस्क्रीन क्रीम को लगा सकते हैं। घाव पर निशान न हो, इसलिए आपको अपने डॉक्टर से भी सुझाव लेना चाहिए। (और पढ़ें - अच्छी सनस्क्रीन क्रीम कैसे चुने)

ध्यान दें कि घाव को साफ रखना जरूरी है क्योंकि अगर यह गंदा हुआ तो खुले घाव से इसी की गंदगी अंदर उतर जाएगी। ऐसे में घाव को कवर रखें और बैंडेज में पेट्रोलियम जैली लगाएं ताकि घाव के आस पास नमी बनी रहें। इसके चलते घाव बहुत गहरा नहीं होगा। अपने घाव को हमेशा कवर रखें और इसका बैंडेज नियमित रूप से बदलते रहें। 

घर पर घाव के लिए एक फर्स्ट एड किट जरूर रखें। 

(और पढ़ें - चोट लगने पर क्या करें)

घाव में पस आना सामान्य प्रक्रिया होती है। घाव की गहराई के अनुसार इसको सही होने में समय लगता है। घाव के सही होते समय इसके चारों ओर ललिमा और हल्की सूजन आ जाती है। जब घाव के ऊपर पपड़ी आ जाती है, तब उसमें से सफेद रंग का तरल बहता है। घाव से सफेद रंग का पानी आना घाव ठीक होने का ही चरण होता है। दरअसल यह पस या मवाद सफेद रक्त कोशिका युक्त प्रोटीन होता है। यह संक्रमण को कम करने की प्रक्रिया के तहत बनता है। पस के बाहर निकलने से घाव की मृत कोशिकाएं बाहर आ जाती हैं, इससे घाव साफ होना शुरू हो जाता है। ऐसा होने से ऊतकों के बनने में सहायता होती है।

(और पढ़ें - इंफ्लेमेटरी डिजीज का इलाज)

यदि घाव में सफेद रंग के तरल की जगह पीला या ग्रे रंग का गाढ़ा तरल हो जाए, तो यह समस्या का कारण हो सकता है। इस तरह का तरल घाव में संक्रमण होने की ओर इशारा करता है। घाव से पस आना निम्न स्थिति में समस्या का संकेत होता है -

  • पस में रक्त आना
  • बुखार और अन्य फ्लू जैसे लक्षण (और पढ़ें - बुखार के घरेलू उपाय)
  • घाव की जगह पर गंभीर दर्द
  • चोट के बाद भी घाव की जगह अत्यधिक संवेदनशीलता
  • घाव का रंग गहरा लाल होना
  • घाव से गंध आना

(और पढ़ें - त्वचा जीवाणु संक्रमण का इलाज)

घाव से पस आने पर क्या करें -

घाव से लगातार पस या मवाद आना समस्या का कारण होता है। यदि आपको घाव से पस आते समय ऊपर बताए गए लक्षण दिखाई दें तो जल्द ही डॉक्टर से मिल कर घाव का इलाज कराएं। इस तरह के अधिकतर मामलों में डॉक्टर एंटीबायोटिक की मदद से संक्रमण को कम करने का प्रयास करते हैं। इस अवस्था में खुद किसी भी तरह की दवा लेने से बचें।

(और पढ़ें - मांस फटने पर क्या करे)

घाव कब नहीं भर पाते?

घाव न भरने के मुख्यतः तीन कारण होते हैं, इन तीनों ही कारणों को आगे बताया जा रहा है। साथ ही इन कारणों को दूर करने के सुझाव भी बताए जा रहें हैं।

  1. रक्त संचार ठीक न होना – किसी भी घाव को भरने में रक्त काफी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। चोट लगने पर रक्त ही घाव की जगह पर उन कोशिकाओं को पहुंचाता है, जो तंत्रिकाओं और ऊतकों के बनने में सहायक होती हैं। रक्त संचार ठीक तरह से न हो पाने से रक्त कोशिकाएं घाव तक मुश्किल से पहुंच पाती हैं। इससे घाव भरने में ज्यादा समय लगता है। (और पढ़ें - मोच लगने पर क्या लगाना चाहिए)
    क्या करें – नियमित एक्सरसाइज रक्त संचार को सही करने का आसान तरीका है। इससे रक्त संचार सही होगा और घाव जल्द ही ठीक हो जाएगा। (और पढ़ें – व्यायाम करने का सही समय)
     
  2. घाव में मवाद होना – तंत्रिकाओं से तरल निकलने से घाव में मवाद भर जाता है। इससे घाव की जगह पर सूजन भी आ जाती है। इस स्थिति में संक्रमण होने की संभावना बढ़ जाती है और ऐसे में तेज दर्द भी होता है। (और पढ़ें - नील पड़ने पर क्या करें)
    क्या करें – घाव में मवाद आना यदि समस्या का कारण बन गया है, तो आपको अपने डॉक्टर से मिलकर इसके लिए उचित इलाज करना होगा।
     
  3. संक्रमण होना – संक्रमण के कारण घाव में दर्द होने लगता है। घाव में संक्रमण होने की वजह से इसके ठीक होने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है। अधिकतर संक्रमण घाव में नए ऊतकों को नहीं बनने देते हैं। (और पढ़ें - फंगल इन्फेक्शन का उपचार)
    क्या करें – संक्रमण होने पर आप किसी भी तरह की दवा खुद से न लें। संक्रमण किस तरह का है और इसके लिए कौन सी दवा उपयोगी होगी, यह डॉक्टर ही बता सकते हैं। इसलिए आपको संक्रमण दूर करने के लिए अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए।

(और पढ़ें - मोच के लक्षण)

Dr. Kapil Sharma

Dr. Kapil Sharma

सामान्य चिकित्सा

Dr. Mayank Yadav

Dr. Mayank Yadav

सामान्य चिकित्सा

Dr. Nilesh shirsath

Dr. Nilesh shirsath

सामान्य चिकित्सा

घाव के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
AltacefAltacef 1.5 Gm Injection327.0
CefakindCefakind 125 Mg Syrup105.0
Ceftum TabletCeftum 125 Mg Tablet91.0
OratilOratil 250 Mg Tablet142.0
PulmocefPulmocef 250 Mg Tablet157.0
StafcureStafcure 1.5 Gm Injection205.0
SupacefSupacef 1.5 Gm Injection260.0
ZefuZefu 125 Mg Syrup129.0
ZocefZocef 125 Mg Syrup165.0
AksicefAksicef 500 Mg Tablet330.0
AllsefAllsef 1.5 Mg Injection200.0
AlphacinAlphacin 500 Mg Tablet285.0
Ancef OfAncef Of 125 Mg Tablet138.0
AtomAtom 250 Mg Tablet194.0
AuceeAucee 250 Mg Tablet79.0
AxacefAxacef 125 Mg Dry Syrup165.0
AxifurAxifur 1.5 Gm Injection242.0
AxtlAxtl 125 Mg Tablet57.0
Barcef SBarcef S 1.5 Gm Injection110.0
BarocefBarocef 500 Mg Tablet158.0
BidBid 125 Mg Syrup48.0
BigcefBigcef 125 Mg Tablet114.0
BioximBioxim 200 Mg Tablet188.0
Cdef AxCdef Ax 125 Mg Syrup195.0
CefaCefa 250 Mg Tablet27.0
CefaceCeface 1.5 Gm Injection182.0
CefaheadCefahead 500 Mg Tablet500.0
CefaprimCefaprim 250 Mg Tablet121.0
Cefaxil (Lark)Cefaxil 125 Mg Syrup139.0
CefbetCefbet 1.5 Gm Injection204.0
CefimunCefimun 125 Mg Syrup80.0
CefkingCefking 1.5 Gm Injection168.0
CefogenCefogen 250 Mg Injection45.0
CefoprimCefoprim 1.5 Gm Injection230.0
CefopritCefoprit 1.5 Gm Injection230.0
Ceforange ACeforange A Tablet132.0
CefoximCefoxim 1.5 Gm Injection199.0
CefpilCefpil 125 Mg Dry Syrup35.0
CefroxCefrox 125 Mg Tablet103.0
Cefrox (Marc)Cefrox 1.5 Gm Injection104.0
CeftilCeftil 125 Mg Syrup129.0
CefulinCefulin 250 Mg Tablet95.0
CefumexCefumex 250 Mg Tablet350.0
CefuricaCefurica 1.5 Gm Injection228.0
CefurinCefurin 500 Mg Tablet487.0
Cefutab OCefutab O 125 Mg Syrup124.0
Cef VepanCef Vepan 125 Mg Dry Syrup112.0
CefzimCefzim 1.5 Gm Injection195.0
Cefzime (Zee Lab)Cefzime 15 Gm Dry Syrup250.0
CelfeeCelfee Dry Syrup128.0
Cemax TCemax T 500 Mg Tablet352.0
Centra (Bsp)Centra 100 Mg Injection26.0
CeroCero 500 Mg Tablet280.0
CeromCerom 125 Mg Dry Syrup110.0
CeroximCeroxim 250 Mg Tablet152.0
CetilCetil 1.5 Gm Injection226.0
ClaventiacefClaventiacef 1.5 Gm Injection229.0
ColescefColescef 500 Mg Tablet492.0
CovatilCovatil 1500 Mg Injection205.0
Engel (Bluecross)Engel 1.5 Gm Injection75.0
ExeptionExeption 1.5 Gm Injection185.0
ExlExl 250 Mg Tablet131.0
FectiboonFectiboon 125 Mg Dry Syrup119.0
FervayFervay 1500 Mg Injection190.0
ForcefForcef 1.5 Gm Injection191.0
FortaranFortaran 1000 Mg Injection325.0
ForuForu 125 Mg Syrup131.0
ForumForum 250 Mg Tablet61.0
FurobidFurobid 125 Mg Tablet58.0
FurotilFurotil 250 Mg Tablet146.0
FuroxFurox 125 Mg Tablet51.0
Futum (Albatross)Futum 250 Mg Tablet26.0
GoodgenGoodgen Tablet300.0
GramfuGramfu 250 Mg Tablet280.0
HappycefHappycef 250 Mg Tablet249.0
IviroximeIviroxime 1.5 Gm Injection180.0
JectocefJectocef 1000 Mg Injection28.0
JosparJospar 1.5 Gm Injection248.0
JoxcyJoxcy 250 Mg Tablet250.0
KeroxineKeroxine 1.5 Gm Injection204.0
LibacefLibacef 125 Mg Oral Suspension140.0
Maxcef(Akumentis)Maxcef 1.5 Gm Injection275.0
MedoxilMedoxil 250 Mg Tablet58.0
Mic SefMic Sef 500 Mg Tablet399.0
MilcefMilcef 1.5 Gm Injection178.0
MovacefMovacef 500 Mg Tablet761.0
NaximNaxim 250 Mg Tablet298.0
NovacefNovacef 1.5 Mg Injection220.0
OcefOcef 125 Mg Dry Syrup99.0
Oftum (Omega Pharmaceuticals)Oftum 250 Mg Tablet80.0
RestumRestum 250 Mg Tablet198.0
RoyalcefRoyalcef 250 Mg Injection123.0
SafeuroxSafeurox 500 Mg Tablet160.0
SalcefSalcef 250 Mg Tablet138.0
SalkefSalkef 250 Mg Tablet138.0
ScorcefScorcef 250 Mg Tablet118.0
Seforex (Exotic Lab)Seforex 250 Mg Tablet279.0
SefureSefure 250 Mg Tablet86.0
SpectraximeSpectraxime 1.5 Gm Injection192.0
SpizefSpizef 1.5 Gm Injection255.0
SvcefSvcef 500 Mg Tablet468.0
SyfurSyfur 500 Tablet495.0
TravexelTravexel 1.5 Gm Injection137.0
TuftilTuftil 250 Mg Tablet117.0
UraxeUraxe 250 Mg Tablet219.0
ViltacefViltacef 250 Mg Tablet242.0
WidcefWidcef 1.5 Gm Injection196.0
XoxeXoxe 250 Mg Tablet249.0
ZenoximZenoxim 125 Mg Tablet67.0
ZymocefZymocef 1.5 Gm Injection215.0
ZytumZytum 500 Mg Tablet300.0
AaximAaxim 250 Mg Tablet571.0
AbactumAbactum 250 Mg Tablet165.0
ActapodActapod 100 Mg Tablet Dt110.0
AdeximAdexim 250 Mg Tablet246.0
AkucefAkucef 500 Mg Tablet559.0
AnbidAnbid 250 Mg Tablet350.0
AquacefAquacef 250 Mg Tablet250.0
ArkagenArkagen 500 Mg Tablet825.0
Athxim OAthxim O 250 Mg Tablet213.0
AxilentAxilent 250 Mg Tablet227.0
AxtumAxtum 500 Mg Tablet480.0
Bacticef OBacticef O 100 Mg Tablet104.0
Bacticef (Prayas)Bacticef 1000 Mg Injection65.0
Bacticef SBacticef S 1.5 Gm Injection111.0
BacticinBacticin 500 Mg Ointment61.0
BactilemBactilem 1500 Mg Injection266.0
BactumBactum 250 Mg Tablet161.0
BencefBencef 250 Mg Tablet111.0
Cat XpCat Xp 250 Mg Tablet85.0
CefactinCefactin 250 Mg Tablet31.0
Cefadur CaCefadur Ca 250 Mg Infusion51.0
Cef (Alkem)Cef 250 Mg Capsule86.0
CefasomCefasom 500 Mg Tablet220.0
CefasynCefasyn 250 Mg Tablet84.0
CefentaCefenta 500 Mg Tablet143.0
CefnextCefnext Tablet332.0
CeforimCeforim 250 Mg Tablet99.0
CefotilCefotil 100 Mg Tablet125.0
Cefoxim LaCefoxim La 250 Mg Tablet67.0
CefrotuxCefrotux 250 Mg Tablet46.0
CefsafeCefsafe 250 Mg Tablet94.0
Ceftalin OCeftalin O 250 Mg Tablet79.0
CefticaCeftica 250 Mg Tablet102.0
Ceftil (Stallion)Ceftil 125 Mg Tablet25.0
CefunusCefunus 250 Mg Tablet100.0
CefurockCefurock 500 Mg Tablet545.0
Cefuroxime Axetil 250 Mg TabletCefuroxime Axetil 250 Mg Tablet90.0
CefuzaxCefuzax 250 Mg Tablet199.0
Ceroxim ICeroxim I 1.5 Gm Injection287.0
CeroxitumCeroxitum 250 Mg Tablet176.0
Cetil (Alu)Cetil 250 Mg Tablet240.0
Cetil OdCetil Od 500 Mg Tablet67.0
ClasitilClasitil 1.5 Gm Injection238.0
CorflmCorflm 1000 Mg Tablet15.0
CrestumCrestum 500 Mg Tablet407.0
C Tri TC Tri T 250 Mg Tablet286.0
CuremeCureme 250 Mg Tablet283.0
CuximeCuxime 500 Mg Tablet616.0
DawcefDawcef O 250 Mg Tablet275.0
EnduroxEndurox 500 Mg Tablet650.0
EvercefEvercef 250 Mg Tablet60.0
FuromarkFuromark 250 Mg Tablet197.0
FuroFuro 250 Mg Tablet419.0
FutumFutum 250 Mg Tablet321.0
FxmFxm 250 Mg Tablet279.0
GericefGericef 250 Mg Tablet120.0
GramGram 250 Mg Tablet331.0
InhicefInhicef 250 Mg Tablet142.0
InicInic 500 Mg Tablet550.0
JuscefaxeeJuscefaxee 500 Mg Tablet739.0
KefoxKefox 250 Mg Tablet183.0
KefstarKefstar 500 Mg Tablet369.0
ManoximeManoxime 250 Mg Tablet103.0
MavximeMavxime 500 Tablet292.0
MaximMaxim 250 Mg Tablet300.0
M CefuroM Cefuro 750 Mg Injection126.0
Neroxim (Nitin)Neroxim 250 Mg Tablet247.0
NovaroximNovaroxim 250 Mg Tablet247.0
OafuroOafuro 500 Mg Tablet640.0
OltumOltum Dry 125 Mg Powder84.0
OmniximOmnixim 500 Mg Tablet123.0
PeroxPerox 500 Mg Tablet384.0
RoboximRoboxim 125 Mg Tablet125.0
RocefRocef 500 Mg Tablet81.0
Safex (Vintage)Safex 250 Mg Tablet179.0
SeazoxSeazox 250 Mg Tablet88.0
SeftaSefta 250 Mg Tablet132.0
ThicoThico 250 Mg Tablet248.0
TorfurTorfur 250 Mg Tablet145.0
VeceffVeceff 250 Mg Tablet123.0
WilcefWilcef 250 Mg Tablet238.0
XeXe 500 Mg Tablet563.0
XimeXime 100 Mg Tablet Dt50.0
Xim (Parasol)Xim 250 Mg Tablet246.0
XorimaxXorimax 250 Mg Tablet150.0
XtilXtil 250 Mg Tablet233.0
ZirockZirock 500 Mg Tablet714.0
BalvidineBalvidine 10% Ointment71.0
BetadineBetadine 10% Ointment99.0
BetakindBetakind 2% W/V Gargle64.0
CipladineCipladine 2% Solution43.0
HealolHealol 5% Dusting Powder32.0
Metrokind PvMetrokind Pv Ointment28.0
OvidineOvidine 5% Ointment13.0
SoludineSoludine 1% Solution39.0
WokadineWokadine 10% Solution102.0
Zylo PZylo P 5% Ointment28.0
AlphadineAlphadine 5% W/W Ointment30.0
ApidineApidine Eye Drops23.0
BectodineBectodine 5% Ointment16.0
BectoseptBectosept 5% Ointment139.0
Betaseptic (Modi Mundi)Betaseptic 2% W/V Gargle Mint61.0
DontecDontec Ointment11.0
DrezDrez 1%/5% Ointment67.0
Heal FastHeal Fast 10% Solution529.0
HealinHealin Ointment25.0
IntadineIntadine 5% Dusting Powder12.0
IoprepIoprep 1% Solution375.0
LupidineLupidine Dusting Powder11.0
MegadineMegadine 5% Cream60.0
Megatrum PMegatrum P Ointment18.0
MercidineMercidine Ointment65.0
Microshield PvpMicroshield Pvp 10% Solution93.0
MortazMortaz 5% Ointment50.0
NicodineNicodine 5% W/W Ointment14.0
Ovidine JarOvidine Jar 5% W/W Ointment87.0
PilodinePilodine Solution27.0
PividinePividine 5% Liquid112.0
PodinePodine Ointment29.0
Povi 10Povi 10 7.5% Scrub428.0
PovicidalPovicidal 5% Gel90.0
PovidermPoviderm 5% Ointment13.0
PovidezPovidez Ointment25.0
PovidinePovidine 5% Ointment9.0
PovidPovid Ointment27.0
Povidone 5% Dusting PowderPovidone 5% Dusting Powder28.0
Povidone Iodine(Wock)Povidone Iodine 0.50% Solution281.0
Povidone Iodine 10% SolutionPovidone Iodine 10% Solution164.0
Povidone Iodine 5%W/W OintmentPovidone Iodine 5%W/W Ointment96.0
PovikemPovikem 5% Solution83.0
PovimacPovimac Ointment24.0
PovinePovine Ointment26.0
Septidine(Snw)Septidine 5% W/V Solution21.0
SeptigardSeptigard 1%/5% Ointment66.56
Tobest FTobest F Eye Drops67.0
TopiceptTopicept Ointment48.0
ViodineViodine 5% Ointment27.0
WockadineWockadine 5% Liquid104.0
Wokadine GgWokadine Gg 2% Solution125.0
ZypovidZypovid 0.5% Solution75.0
Aedit EpAedit Ep Soap81.0
Aldine OintmentAldine 5% Ointment15.0
Alphadin RfAlphadin Rf 5% Cream27.0
BiodineBiodine 5% Ointment8.0
Collosol IodineCollosol Iodine 8 Mg/5 Ml Liquid41.0
EradineEradine Ointment28.0
ExpovideExpovide Ointment45.0
G DineG Dine 5% Cream66.0
HealzHealz Spray66.0
IodineIodine Oral Suspension41.0
MicrodineMicrodine 5% Solution51.0
PiodinPiodin 5% Ointment16.0
Povidone Iodine 5% SolutionPovidone Iodine 5% Solution25.0
Povidone Iodine 7.5% SolutionPovidone Iodine 7.5% Solution136.0
PovilinPovilin Solution99.0
PovinovamPovinovam Ointment10.0
PovipenPovipen Cream15.0
PovipilPovipil Ointment50.0
PovizenPovizen 5% Ointment11.0
Puridine (Micro)Puridine 5% Ointment15.0
PvpiPvpi 5% Solution437.0
TopovidTopovid Ointment113.0
Topovid MTopovid M Ointment65.0
Trogyl PTrogyl P 5% Ointment53.0
UnidineUnidine Lotion40.0
VinodineVinodine Spray210.0
WindinWindin Ointment18.0
WinodineWinodine Solution17.0
ZoviZovi 10% Solution101.0
SepgardSepgard 1% Gel50.82
SicastatSicastat Solution168.26
SuprahealSupraheal Gel256.82
Supraheal TulleSupraheal Tulle Ointment28.0
UnihealUniheal Gel39.5
Burnosaf PlusBurnosaf Plus 1%W/W Cream1519.0
DisilvaDisilva Cream40.38
Silver Sulfadiazine CreamSilver Sulfadiazine Cream201.0
Silver Sulphadiazine (Abbott)Silver Sulphadiazine Cream276.53
HemolokHemolok 1% Injection33.35
Burnheal Burnheal 1%/0.5% Dusting Powder15.62
AugxetilAugxetil Cv 250 Mg Tablet285.0
Bigcef CvBigcef Cv 250 Mg/125 Mg Tablet139.0
Ceface CvCeface Cv 250 Mg/125 Mg Tablet126.0
Cefbet CvCefbet Cv Tablet184.2
Cefudif CvCefudif Cv 250 Mg/125 Mg Tablet165.0
Cfuro CvCfuro Cv 125 Mg/31.25 Mg Dry Syrup108.0
ClavuroxClavurox Tablet325.0
Maxcef CvMaxcef Cv 125 Mg/31.25 Mg Dry Syrup140.0
MaxcefMaxcef Cv 500 Mg/125 Mg Tablet294.0
Milcef CvMilcef Cv 250 Mg/125 Mg Tablet132.0
Ocef CvOcef Cv 250 Mg/62.5 Mg Tablet131.45
Oratil CvOratil Cv 250 Mg/125 Mg Syrup57.16
RaxclavRaxclav 625 Tablet291.42
Xoxe CvXoxe Cv 250 Mg/125 Mg Tablet192.0
Zocef CvZocef Cv 250 Mg/125 Mg Tablet218.5
Altacef CvAltacef Cv 250 Mg Tablet286.5
Cefoxim CvCefoxim Cv 375 Mg Tablet125.0
Cefrox CvCefrox Cv 500 Mg Tablet450.0
Cefu CvCefu Cv 250 Mg/125 Mg Tablet170.47
Ceroxim XpCeroxim Xp 250 Mg/125 Mg Tablet268.0
Covatil CvCovatil Cv 250 Mg/125 Mg Tablet310.5
FastclavFastclav 125 Mg/31.25 Mg Dry Syrup146.0
Forcef CvForcef Cv 250 Mg/125 Mg Tablet178.45
Pulmocef CvPulmocef Cv 250 Mg/125 Mg Tablet110.0
Stafcure CvStafcure Cv 125 Mg/250 Mg Tablet310.5
Tuftil CvTuftil Cv 250 Mg/125 Mg Tablet216.0
UmoximUmoxim Cv 325 Mg Tablet299.0
Zefu CvZefu Cv 250 Mg/62.5 Mg Tablet143.0
Cefudif SCefudif S 750 Mg/375 Mg Injection225.0
Cfuro SbCfuro Sb Injection239.0
FastgardFastgard 2000 Mg/250 Mg Injection247.5
Stafcure SbStafcure Sb 1500 Mg/750 Mg Injection269.5
EcosepticEcoseptic 1%/5% Cream132.37
Metrogyl PMetrogyl P Ointment86.51
Metro PvMetro Pv Ointment36.0
Metrozen PMetrozen P Ointment56.58
PovicleanPoviclean 1%/5% Ointment31.2
Poviken MPoviken M Ointment36.96
PovimetPovimet 1%/5% Cream69.23
PovizolPovizol Ointment11.6
Wokadine MWokadine M 1%/5% Cream28.38
ArmerArmer 1%/5% Ointment34.3
Cipladine MCipladine M Ointment15.0
MdineMdine Ointment44.0
MegatrumMegatrum 1%/5% Ointment55.0
MetrosifpMetrosifp Ointment46.67
Nestoine MNestoine M Ointment27.2
Odivine MOdivine M Ointment42.0
PimetPimet Ointment100.43
PlusPlus Ointment15.53
Podine MPodine M Ointment33.31
Povirex PlusPovirex Plus Ointment48.0
Puradine MPuradine M Ointment15.3
Pvdine MPvdine M Ointment13.12
Soludine MSoludine M Ointment49.9
Ecoseptic OzEcoseptic Oz Ointment60.0
Healol PlusHealol Plus Ointment79.95
Septigard AnSeptigard An Cream69.89
Sufrate TpSufrate Tp Lotion140.0
KartelKartel 500 Mg/600 Mg Tablet525.0
LinecaLineca 500 Mg/600 Mg Tablet499.0
Oratil LzOratil Lz 500 Mg/600 Mg Tablet499.0
Cefoxim LCefoxim L 500 Mg/600 Mg Tablet550.0
Covatil LzCovatil Lz 500 Mg/600 Mg Tablet499.0
Linid XtLinid Xt 500 Mg/600 Mg Tablet550.0
Stafcure LzStafcure Lz Tablet499.0
Xoxe LzXoxe Lz Tablet330.0
OrnidineOrnidine Ointment60.0
PetromPetrom 1%/5% Cream11.62
Sufrate SsdSufrate Ssd Cream280.0
BurnosafBurnosaf Cream440.0
WounsolWounsol 15 Gm Ointment57.0

घाव के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

OTC Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Himalaya Styplon TabletsHimalaya Styplon Tablets80.0

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...