myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

27 अध्ययनों की एक नई समीक्षा से पता चला है कि शराब नींद की गुणवत्ता में सुधार नहीं लाती है। इन अध्ययनों के निष्कर्षों के अनुसार, शराब से स्वस्थ लोगों को जल्दी और गहरी नींद आती है लेकिन इससे रैपिड आई मूवमेंट स्लीप (इस दौरान आंखें तेजी से चारों ओर घूमती हैं) में कमी आती है। इसके अलावा आप सोने से पहले जितना शराब का सेवन करेंगे, उतना अधिक इसका प्रभाव आपकी नींद पर पड़ेगा। सोने के बाद लगभग 90 मिनट तक रैपिड आई मूवमेंट स्लीप रहती है।

पीएचडी, स्कॉट्सडेल, एरिज में स्लीप स्पेशलिस्ट माइकल ब्रेस कहते हैं कि "रैपिड आई मूवमेंट स्लीप मानसिक रूप से ज्यादा आराम देने वाली नींद होती है। शराब अच्छी और गहरी नींद लाने में मदद नहीं करती है। यदि आप अच्छी नींद के लिए शराब पर निर्भर रहते हैं, तो इसकी वजह से नींद में चलने, नींद में बोलने और याददाश्त से संबंधित समस्याएं होने का अधिक खतरा रहता है।"

जर्नल स्लीप में प्रकाशित नए शोध से पता चला है कि रात में अच्छी नींद लेने के लिए, आपको निकोटीन या अल्कोहल के सेवन में कमी करनी चाहिए और सोने से 4 घंटे पहले कैफीन लेने की जरूरत नहीं है। शोध में कहा गया है कि इससे लंबी और गहरी नींद आने में मदद मिलती है। 

(और पढ़ें - गहरी नींद आने के घरेलू उपाय)

शोधकर्ताओं का कहना है कि उनके द्वारा एकत्र किए गए आंकड़ों से पता चला है कि जिन लोगों ने सोने से चार घंटे पहले निकोटीन और अल्कोहल का इस्तेमाल किया था, उनकी स्लीप साइकिल पर इसका गहरा प्रभाव पड़ा था। अनिद्रा से ग्रस्त लोगों पर निकोटीन का और भी बुरा प्रभाव पड़ा था। रात में निकोटीन का उपयोग करने वाले लोगों ने 40 मिनट कम नींद ली। अध्ययन करने वाले लेखकों ने इस बात पर गौर किया कि रात में नींद न आने की समस्या से ग्रस्त लोगों में निकोटीन सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला पदार्थ था।

यूके स्थित द लंदन स्लीप सेंटर में मेडिकल डायरेक्टर और शोधकर्ता इरशाद इब्राहिम कहते हैं कि "अल्कोहल नींद लाने में मदद करता है इसलिए यह मुमकिन है कि इसके सेवन के बाद नींद आ जाए लेकिन ज्यादातर मामलों में इसकी वजह से नींद खराब ही होती है खासकर रात के दूसरे पहर में। उनके अनुसार अल्कोहल सांस लेने में दिक्कत पैदा कर सकती है और व्यक्ति को स्लीप एपनिया हो सकता है।"

यदि आपको सोने में दिक्कत आ रही है, तो आपको इसके बारे में डॉक्टर से बात करनी चाहिए। डॉक्टर आपको बता सकते हैं कि आपको नींद से संबंधित किस विकार (जैसे कि स्लीप एपनिया) की वजह से ये समस्या हो रही है।

(और पढ़ें - गर्म पानी से दूर हो सकती है नींद न आने की परेशानी)

अच्छी और गहरी नींद पाने के लिए निम्न आदतों को अपनाएं:

  • नियमित व्यायाम करें, लेकिन ध्यान रहे कि सोने से कुछ घंटे पहले व्यायाम न करें।
  • शाम के समय में कैफीन, शराब या निकोटीन का सेवन न करें।
  • अपने कमरे के तापमान को ठंडा (गर्म न हो) रखें।
  • सोने का और उठने का समय निर्धारित करें।
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें