myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

अक्सर आप सुनते होंगे कि दोस्त, रिश्तेदार या परिवार में कोई सदस्य नींद न आने के बारे में बातें करते हैं। आम बोल चाल की भाषा में इसे अनिद्रा के नाम से जाना जाता है। इसे कई वर्गों में बांटा जा सकता है जैसे किसी को 2 से 4 बजे के बीच नींद आना या फिर पूरी रात नींद न आना। वैसे तो इसके पीछे कारण व उपाय भिन्न हो सकते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि गर्म पानी से आपकी ये परेशानी दूर हो सकती है। तो देर किस बात की, आइए जानते हैं इस आसान से नुस्खे के बारे में।

(और पढ़ें - कितने घंटे सोना चाहिए एक दिन में)

तापमान और समय पर करता है निर्भर 

सोने से पहले हॉट बाथ लेने से अच्छी नींद आने में मदद मिल सकती है खासतौर पर अगर पानी का तापमान और स्नान का समय दोनों सही हों। शोधकर्ताओं की एक टीम ने नहाने, पानी के तापमान और नींद की गुणवत्ता के बिच संबंध जानने के लिए कुछ आंकड़ों को इकट्ठा किया था। शोधकर्ताओं ने 5,322 शोधों का मूल्यांकन किया।

(और पढ़ें - नींद की कमी के कारण)

रिसर्च का परिणाम 

ये रिपोर्ट "स्लीप मेडिसिन रिव्यू' में प्रकाशित हो चुकी है।  इसके मुताबिक सोने से पहले 104 से 109° फारेनहाइट (40 से 43 डिग्री सेल्सियस) के बीच यदि एक से दो घंटे या आदर्श रूप से 90 मिनट पहले स्नान करने से अच्छी नींद आ सकती है। ऐसा करने से आप सामान्य से 10 मिनट जल्दी सो सकते हैं। रिपोर्ट में ये बात भी सामने आई है कि कैसे शरीर की गर्मी नींद आने की क्षमता को प्रभावित करती है। 

(और पढ़ें - नहाने का सही तरीका)

सर्कैडियन क्लॉक व नींद को समझना है जरूरी  

एक चिकित्सा शोध में यह साबित हो चुका है कि नींद और हमारे शरीर के मुख्य तापमान को एक सर्कैडियन क्लॉक (बॉडी क्लॉक: जिससे हमारे शरीर की जैविक क्रियाओं का पता चलता है) द्वारा नियंत्रित किया जाता है। आपके शरीर का तापमान दोपहर के अंत या शाम से थोड़ा पहले लगभग दो से तीन डिग्री अधिक होता है और नींद के दौरान, यह न्यूनतम स्तर पर चला जाता है। 

(और पढ़ें - शरीर का तापमान कितना होना चाहिए)

ईईजी स्तर में परिवर्तन 

एक अध्ययन में 22 से 24 साल की छह स्वस्थ महिलाओं को शामिल किया गया था जो शारीरिक रूप से अनफिट थीं। उन्हें 2.30 बजे से 5.30 बजे के बीच अलग-अलग समय पर करीब 90 मिनट के लिए गर्म या ठंडे पानी से नहाने के लिए कहा गया। गर्म पानी से नहाने पर पहले की तुलना में रेक्टल तापमान में 1.8 डिग्री की बढ़त हुई जबकि ठंडे पानी से नहाने पर कोई बदलाव नहीं आया। 

गर्म और ठंडे पानी से नहाने के बाद रात भर ईईजी (एक परीक्षण है, जो आपके दिमाग में विद्युत गतिविधि का पता लगाता है) की निगरानी की गई और फिर इस बात का खुलासा हुआ कि ठंडे पानी से स्नान के बाद किसी भी स्लीप पैरामीटर में कोई महत्वपूर्ण परिवर्तन नहीं आए हैं जबकि गर्म पानी से नहाने के बाद गहरी नींद आई और आधी रात को नींद आने की परेशानी भी कम हुई।

(और पढ़ें - अच्छी नींद आने के घरेलू उपाय)

इससे पता चलता है कि गर्म पानी से नहाने के बाद नींद अच्छी आती है। अगर आप भी अनिद्रा या नींद से संबंधित समस्याओं से परेशान हैं तो ये तरीका जरूर अपनाएं।

और पढ़ें ...