myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

क्या कभी आपने सोचा है कि दिन भर में आदतन आप कई ऐसे काम करते हैं जिससे जोड़ों में दर्द हो सकता है या फिर अगर आपको पहले से ही जोड़ों में दर्द है तो वह भी आपकी कुछ गलत आदतों की वजह से भयंकर रूप ले सकता है। हालांकि, ज्यादातर लोगों को इस बारे में पता नहीं होता है कि वो क्या आदतें हैं जो उनके जोड़ों को खराब कर रही हैं। इसलिए आपको चाहिए कि आप उन आदतों के बारे में जान लें जो आपके जोड़ों को नुकसान पहुंचा सकती हैं ताकि इस समस्या से बचा जा सके या फिर समय पर उसका निदान किया जा सके।

(और पढ़ें - जोड़ों में दर्द के घरेलू उपाय)

लगातार मैसेज करना

आज की तारीख में शायद ही कोई ऐसा शख्स है जो मोबाइल का इस्तेमाल नहीं करता है। फेसबुक, मैसेज करने, मेल चैक करने तक के लिए लोग मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं। यहां तक कि सफर के दौरान काम करना हो तो उसके लिए भी मोबाइल का बहुत ज्यादा उपयोग किया जाता है। इससे आपकी कामकाजी जिंदगी में तो रफ्तार आ गई है, लेकिन इसका सबसे ज्यादा असर अंगूठे पर ही पड़ा है।

इसके बाद मोबाइल को देखने और उसे चलाने के दौरान कंधे और गर्दन पर पर भी इसका दबाव पड़ता है। साथ ही सिर भी झुका रहता है, यह पोजीशन सही नहीं है। मोबाइल की वजह से आपके कंधे में दर्द, अंगूठे में दर्द हो सकता है। यह सच है कि मोबाइल से दूर रहना संभव नहीं है लेकिन मोबाइल का इस्तेमाल कम करके आप अंगूठे, गर्दन में दर्द और कंधे के दर्द से बच सकते हैं।

(और पढ़ें - अंगूठे में मोच के लक्षण)

गलत जूते पहनना

गलत साइज के जूते पहनने से न सिर्फ पैरों में बल्कि घुटने, कूल्हे और पीठ में दर्द हो सकता है। इसलिए हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि हर काम के लिए अलग-अलग जूते आते हैं। आपको अपनी जरूरत के अनुसार जूतों का चयन करना चाहिए। इन दिनों ज्यादतर लोग स्नीकर्स का इस्तेमाल कर रहे हैं लेकिन स्नीकर्स भी आपके पैरों में सही तरह से फिट होने चाहिए तभी आप जोड़ों के दर्द से बच सकते हैं।

(और पढ़ें - पीठ सीधी करने के उपाय)

उंगली चटकाना

उंगली चटकाना ज्यादातर लोगों को अच्छा लगता है। इससे लोगों को आराम मिलता है लेकिन आपने बड़े-बुजुर्गों को यह कहते सुना होगा कि उंगलियां चटकाना सही नहीं है। दरअसल, उंगलियां चटकाने से सूजन या हाथों की पकड़ कमजोर हो सकती है। लेकिन इस धारणा का कोई प्रमाण नहीं है।

(और पढ़ें - उंगली में चोट के लक्षण)

भारी बैग उठाना

आजकल अकसर लोग मेट्रो या बस में कंधे पर बैग टांग कर सफर करते हैं जिसकी वजह से कंधे और गर्दन में दर्द हो सकता है। कंधे पर भारी सामान उठाने की वजह से चलने के दौरान संतुलन बिगड़ सकता है। यदि आप एक कंधे पर सामान टांगते हैं तो इससे आपकी मांसपेशियां में खिंचाव हो सकता है और जोड़ों में दर्द भी हो सकता है। रोजाना ऐसा करने से दर्द ज्यादा बढ़ सकता है। कंधे के दर्द से बचने के लिए बेहतर है कि कंधे पर भारी बैग न टांगें खासकर एक कंधे पर बैग टांगने से बचें।

(और  पढ़ें - कंधे के दर्द के घरेलू उपाय)

गलत पोस्चर में रहना

गलत पोस्चर पर बैठने, चलने या खड़े होने की वजह से पीठ में दर्द हो सकता है। इसलिए अकसर आपसे कहा जाता है कि सीधे खड़ें हों या फिर बैठते वक्त अपनी पीठ सीधी रखें। गलत पोस्चर की वजह से स्पाइन की संरचना में खराबी आ सकती है और मांसपेशियों एवं जोड़ों पर ज्यादा दबाव पड़ता है।

(और पढ़ें - कमर सीधी करने के लिए करें ये एक्सरसाइज)

सही पोस्चर के लिए अपनी पीठ, कंधे और सिर को सीधा रखें। साथ ही पेट की मांसपेशियों को खींच कर रखें, मतलब शरीर को ढीला न छोड़ें। अगर आप ऑफिस डेस्क पर काम करते हैं तो अपने पोस्चर का खास ध्यान रखें और एडजस्टेबल चेयर का इस्तेमाल करें।

और पढ़ें ...