myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

नोट - गंभीर और क्रोनिक (लंबे समय से हो रहा) कंधे के दर्द के लिए अपने डॉक्टर से पूरी जांच और इलाज करवाएं; सिर्फ घरेलू नुस्खों पर न निर्भर करें। 

कंधे का दर्द किसी भी मांसपेशी, लिगामेंट या टेंडन्स और कंधे के आसपास में हो सकता है। जब एक बार आपका कंधा दर्द करने लगता है तो किसी भी दूसरे काम में ध्यान लगाना मुश्किल हो जाता है। कंधे में दर्द सभी उम्र के लोगों को होता है। हालाँकि जो लोग लैपटॉप, टेबलेट्स और स्मार्टफोन्स ज़्यादा समय तक के लिए इस्तेमाल करते हैं उन्हें ये समस्या बेहद ज़्यादा रहती है।  कई कारण और स्थिति कंधे के दर्द का कारण बनती हैं। सबसे आम कारण जैसे नरम ऊतकों या मांसपेशियों, टेंडन्स और लिगामेंट्स में चोट लगना। ये समस्या ज़्यादा वही कंधा इस्तेमाल करने से या वही बार बार चोट लगने से होती है।

तो आइये आपको बताते हैं कंधे के दर्द से छुटकारा पाने के कुछ घरेलू उपाय -

  1. कंधे के दर्द से राहत पाने के लिए करें मसाज - Benefits of massage for shoulder pain in Hindi
  2. कंधे में दर्द को दूर करने के लिए हल्दी का करें इस्तेमाल - Turmeric relieve shoulder pain in Hindi
  3. सेब के सिरका के लाभ से करें कंधे के दर्द को दूर - Apple Cider Vinegar reduce shoulder pain in Hindi
  4. अदरक का उपयोग है कंधे के दर्द के लिए लाभदायक - Ginger good for shoulder pain in Hindi
  5. कंधे में दर्द के लिए लैवेंडर के तेल का करें प्रयोग - Lavender essential oil for shoulder pain in Hindi
  6. कंधे के दर्द को करें अल्फाल्फा से ठीक – Alfalfa helps to get rid of shoulder pain in Hindi
  7. कंधे में दर्द से संबंधित अन्य जानकारियां - Tips for shoulder pain in Hindi
  8. कंधे के दर्द का घरेलू उपाय है कोल्ड कंप्रेस - Cold compress for shoulder pain in Hindi
  9. कंधे के दर्द का उपाय है हौट कंप्रेस - Hot compress cure shoulder pain in Hindi
  10. कंधे के दर्द के लिए कम्प्रेशन पहनने से पहुंचेगा लाभ - Compression wear for shoulder pain in Hindi
  11. कंधे में दर्द का घरेलू नुस्खा है सेंधा नमक - Epsom Salt Bath treat shoulder pain in Hindi

मसाज कंधे के दर्द को दूर करने के लिए बेहद प्रभावी उपाय है। हल्की हल्की मसाज आपके कंधे की मांसपेशियों में तनाव और खिचाव को ठीक करने में मदद करती है। इसके साथ ही ये रक्त परिसंचरण को सुधारती है और सूजन और अकड़न को भी दूर करती है। मसाज आप किसी प्रोफेशनल से या उनसे करवाएं जो मसाज करना जानते हो। मसाज के लिए जैतून, नारियल, तिल या सरसो का तेल इस्तेमाल कर सकते हैं।

मसाज का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबस पहले तेल को हल्का गर्म कर लें और फिर उसे कंधे पर लगाएं।
  2. धीरे से कंधे की मांसपेशियों को दबाएं और मसाज करते हुए एक प्रेशर बनाये जिससे दर्द से आपको राहत मिले और रक्त परिसंचरण बढे।
  3. दस मिनट तक ऐसे ही मसाज करें और अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रभावित क्षेत्र पर गर्म तौलिया डाल दें।
  4. जब तक दर्द चला नहीं जाता तब तक मसाज थेरेपी पूरे दिन में दो या तीन बार ज़रूर करें।

नोट - अगर प्रभावित क्षेत्र पर मसाज करते समय दर्द महसूस होता है तो मसाज न करें।

हल्दी कंधे के दर्द से राहत दिलाने के लिए बेहद अच्छा घरेलू उपाय है। हल्दी में करक्यूमिन मौजूद होता है जिसमे एंटीऑक्सीडेंट और सूजनरोधी गुण शामिल होते हैं। इससे दर्द और सूजन को दूर करने में मदद मिलती है।

हल्दी का इस्तेमाल तीन तरीको से करें

पहला तरीका -

  1. सबसे पहले दो चम्मच हल्दी पाउडर को एक चम्मच नारियल के तेल में मिला दें।
  2. अब इस पेस्ट को अच्छे से चलाने के बाद इसे कंधे की माँसपेशियों पर लगाकर रगड़ें और फिर सूखने तक का इंतज़ार करें।
  3. अब उस क्षेत्र को गर्म पानी से धो लें।
  4. जब तक दर्द नहीं चला जाता तब तक इसे पूरे दिन में दो बार ज़रूर लगाएं।

दूसरा तरीका -

  1. एक कप दूध में एक चम्मच हल्दी पाउडर मिलाएं और उसे फिर गर्म होने के लिए रख दें।
  2. अब इसे मीठा करने के लिए शहद भी डाल सकते हैं।
  3. पूरे दिन में इसका सेवन दो बार करें।

तीसरा तरीका -

  1. इसके अलावा आप हल्दी से बने 250 से 500 मिलीग्राम कैप्सूल्स पूरे दिन में तीन बार ले सकते हैं। लेकिन सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से बात ज़रूर करें।

(और पढ़ें - हल्दी के फायदे और नुकसान)

नोट - अगर आप ब्लड थिन्निंग की दवाइयां खा रहें हैं तो हल्दी का इस्तेमाल न करें।

जब कंधे के दर्द का इलाज करने की बात आती है तो अन्य प्रभावी घरेलू सामग्री है सेब का सिरका। इसमें सूजनरोधी और एल्कलाइज़िंग गुण भी मौजूद होते है जो दर्द और सूजन को दूर करने में मदद करते हैं।

सेब के सिरके का इस्तेमाल दो तरीकों से करने -

पहला तरीका -

  1. सबसे पहले दो कप सेब के सिरके को एक गर्म पानी के बाथटब या बाल्टी में डाल दें।
  2. अब बाथ टब में 20 से 30 मिनट तक बैठ जाएँ या उस पानी को अच्छे से चलाने के बाद अपने कंधे पर डालें।
  3. कुछ दिनों तक इस पानी का मज़ा पूरे दिन में एक बार ज़रूर लें।

दूसरा तरीका -

  1. इसके अलावा आप एक ग्लास गर्म पानी में एक चम्मच सेब के सिरके को मिलाकर भी पी सकते हैं।
  2. अगर चाहे तो शहद भी मिला सकते हैं।
  3. कुछ हफ्ते के लिए इस मिश्रण को पूरे दिन में दो बार ज़रूर पियें।

(और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे और नुकसान

अदरक में एंटीऑक्सीडेंट और सूजनरोधी गुण होते हैं जो किसी भी तरह के दर्द और सूजन को दूर करने में मदद करते हैं। इसके साथ ही ये रक्त परिसंचरण को सुधारता है जिससे कंधे के दर्द का इलाज तेज़ी से होता है।

अदरक का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. दो से तीन कप अदरक की चाय रोज़ाना पियें। चाय बनाने के लिए, एक चम्मच अदरक के टुकड़े और एक या डेड कप पानी में अदरक को 10 मिनट तक उबलने के लिए रख दें।
  2. अब मिश्रण को छान लें और उसमे शहद मिलाकर पी जाएँ।
  3. इसके अलावा आप अदरक के सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं। लेकिन सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से बात ज़रूर करें।

(और पढ़ें - अदरक के फायदे और नुकसान)

 

लैवेंडर का तेल थकी हुई मांसपेशियों के लिए बेहद प्रभावी आवश्यक तेल है। ये दर्द और सूजन को भी दूर करता है।

लैवेंडर के तेल का इस्तेमाल दो तरीको से करें -

पहला तरीका -

  1. सबसे पहले गर्म पानी के बाथ टब या बाल्टी में कुछ बूँदें लैवेंडर के तेल की डाल दें।
  2. अब उसमे आधे घंटे के लिए बैठ जाएँ या उस पानी को अपने कंधे पर डालें।
  3. इस प्रक्रिया को रोज़ाना एक बार ज़रूर दोहराएं।

दूसरा तरीका -

  1. इसके अलावा कुछ बूँदें लैवेंडर के तेल की एक या दो चम्मच जैतून के तेल में मिलाएं।
  2. अब इस तेल से दस मिनट तक कंधे पर मसाज करें।
  3. आप इस तेल का इस्तेमाल पूरे दिन दो बार कुछ दिनों तक ज़रूर करें।

(और पढ़ें - लैवेंडर के तेल के फायदे और नुकसान

अल्फाल्फा एक अन्य प्राकृतिक उपाय है जो दर्द और सूजन के लिए बेहद फायदेमंद है। ये पूरे शरीर का रक्त परिसंचरण ठीक करता है जिसकी मदद से सूजन कम होती है।

अल्फाल्फा का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. कंधे के दर्द को ठीक करने के लिए एक या दो कप अल्फाल्फा चाय कुछ दिनों तक ज़रूर पियें। चाय बनाने के लिए, एक चम्मच सूखे अल्फाल्फा की पत्तियां लें और फिर उसे गर्म पानी में डाल दें।
  2. पांच मिनट तक उबलते रहने दें। अब उसे छानकर पी जाएँ।
  3. आप इसके अलावा अल्फाल्फा के सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं लेकिन सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से बात ज़रूर करें।

(और पढ़ें - अल्फाल्फा के फायदे और नुकसान

  1. प्रभावित क्षेत्र को जितना हो कुछ दिनों तक आराम दें।
  2. कुछ तकियों की मदद से अपने कंधे को उनपर रखकर सोएं इससे सूजन और दर्द दूर होंगे।
  3. कंधे के दर्द को जल्दी ठीक करने के लिए एक सही अवस्था बनाये रखें।
  4. आप कुछ आसान गर्दन से संबंधित व्यायाम भी कर सकते हैं।
  5. सोते समय मोटे तकियों का उपयोग करें जिससे आपकी गर्दन और कंधे को एक सहारा मिले।
  6. जल्दी ठीक होने के लिए एक्सूप्रेशर या एक्यूपंचर की मदद लें।
  7. उस क्षेत्र को ठीक करने के लिए कुछ स्ट्रेचिंग व्यायाम करें।
  8. आप कई स्ट्रेचिंग मेथड्स का इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन करने से पहले अपने डॉक्टर से बात ज़रूर करें।
  9. रोज़ाना एक ग्लास नींबू मिला गुनगुना पानी पियें जिससे आपके कंधे और शरीर का दर्द दूर हो।
  10. कंधे के दर्द को दूर करने के लिए आप कैप्साइसिन से बना जेल भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  11. धूम्रपान या तम्बाकू का सेवन न करें।

कोल्ड कंप्रेस कंधे के दर्द को दूर करने के लिए बेहद प्रभावी है। ठंडा तापमान उस क्षेत्र को सुन्न करने में मदद करता है। इससे सूजन और दर्द दोनों गायब हो जाते हैं।

कोल्ड कंप्रेस का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले बर्फ को प्लास्टिक बैग में डालें और उसे फिर एक तौलिये से लपेट लें। अगर आपके पास प्लास्टिक बैग नहीं है तो आप कपडे का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  2. अब उसे प्रभावित क्षेत्रों पर 10 से 15 मिनट तक लगाकर रखें।
  3. इस प्रक्रिया को कुछ दिनों के पूरे दिन में दो स तीन बार ज़रूर करें।

नोट - सीधे तौर पर बर्फ को अपने कंधे पर न लगाएं इससे फ्रॉस्टबाइट हो सकता है।

कोल्ड कंप्रेस की तरह ही हौट कंप्रेस भी कंधे के दर्द का इलाज करता है। इसके इस्तेमाल से सूजन और दर्द से राहत मिलती है। दर्द शुरू होने के 48 घंटे बाद हौट कंप्रेस का इस्तेमाल करें। हौट कंप्रेस का इस्तेमाल मांसपेशियों में खिचाव आने की समस्या में भी बेहद लाभदायक है।

हौट कंप्रेस का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

  1. गर्म बोतल को सबसे पहले गर्म पानी से भर लें और फिर उसे अपने कंधे के दर्द वाले क्षेत्र पर 10 से 15 के लिए लगाकर रखें।
  2. इस प्रक्रिया को दोहराते रहें तब तक जब तक आपको आराम नहीं मिल जाता।

दूसरा तरीका -

  1. इसके अलावा आप शावर के गर्म पानी से भी नहा सकते हैं।
  2. अगर आप शावर इस्तेमाल नहीं करते तो बाल्टी में गर्म पानी लेकर नहा सकते हैं।
  3. इससे आपके कंधे को बेहद आराम मिलेगा।

कम्प्रेशन का मतलब होता है उस दर्द वाले क्षेत्र पर प्रेशर डालना जिससे सूजन को दूर करने में मदद मिले। कम्प्रेशन बांधने से आपके कंधे को एक सहारा मिलेगा साथ ही आप आरामदायक महसूस करेंगे। आप प्रभावित क्षेत्र को कंप्रेस किसी लचीले बैंडेज या वार्म रैप से कर सकते हैं। ये दोनों आपको दुकानों या ऑनलाइन उपलब्ध हो जाएंगे। जब तक दर्द और सूजन चली नहीं जाती तब तक कुछ दिनों तक प्रभावित क्षेत्र को बाधें रखें। इसके अलावा अपने कंधे के पास तकिये को रखें और उसपर अपने प्रभावित कंधे को रख दें इससे आपका इलाज जल्दी होगा।

नोट - ज़्यादा कसकर न बांधें इससे परिसंचरण धीरे हो सकता है और स्थिति और भी बिगड़ सकती है।

सेंधा नमक मैग्नीशियम सल्फेट से बना होता है जो कंधे के दर्द को दूर करने में मदद करता है। इससे रक्त परिसंचरण सुधरता है और कंधे की मांसपेशियों को आराम मिलता है। ये शरीर की थकान को दूर करता है।

सेंधा नमक का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले अपने बाथ टब या बाल्टी को गर्म पानी से भर लें। अब उसमे दो कप सेंधा नमक मिलाकर अच्छे से चला लें।
  2. अब बाथ टब में 20 से 25 मिनट के लिए बैठ जाएँ या उस पानी को अपने प्रभावित क्षेत्र पर डाल भी सकते हैं।
  3. इस प्रक्रिया को हफ्ते में तीन बार ज़रूर करें।

(और पढ़ें - सेंधा नमक के फायदे और नुकसान

और पढ़ें ...