सीसा विषाक्तता क्या है?

सीसा विषाक्तता तब होती है जब सीसा (Lead) की मात्रा शरीर में बढ़ने लगती है और इसके लक्षण व्यक्ति के शरीर में कुछ महीने या सालों में उभरने लगते हैं। इतना ही नहीं शरीर में सीसा की कम मात्रा भी स्वास्थ्य समस्या का कारण होती हैं। बच्चे जो छः साल से छोटे होते हैं, उन्हें खासकर सीसा विषाक्तता की समस्या हो सकती है, जोकि उनके मानसिक विकास और शारीरिक विकास को प्रभावित कर सकती है। शरीर में अधिक मात्रा में सीसा होने से यह आपके स्वास्थ्य के लिए घातक हो सकता है। 

(और पढ़ें - मानसिक रोग का इलाज​)

सीसा विषाक्तता के लक्षण क्या हैं?

कभी-कभी सीसा विषाक्तता को पहचान पाना मुश्किल होता है - बल्कि जो लोग स्वस्थ दिखते हैं उनके खून में भी सीसा का स्तर अधिक मात्रा में हो सकता है। आमतौर पर इस समस्या के लक्षण  तब तक दिखाई नहीं देते, जब तक सीसा शरीर में बड़ी मात्रा में इकट्ठा न हो जाए। 

  • बच्चों में सीसा विषाक्तता के कई लक्षण होते हैं, जैसे - विकास में देरी, कुछ भी सीखने में कठिनाइयां आना, भूख न लगना आदि। 
  • शिशु को जन्म से पहले भी सीसा विषाक्तता की समस्या हो सकती है, माना जाता है समय से पहले बच्चे का जन्म होना, जन्म के समय वजन कम होना, धीरे-धीरे विकास होना आदि से इसकी संभावना बढ़ जाती है। (और पढ़ें - वजन बढ़ाने के उपाय
  • व्यस्क में सीसा विषाक्तता के लक्षण में कई समस्या को शामिल किया जाता है, जैसे - हाई ब्लड प्रेशर, जोड़ों में दर्द और मांसपेशियों में दर्द, याद रखने या कुछ सीखने में मुश्किल होना, सिरदर्द आदि।  

(और पढ़ें - मानसिक रोग दूर करने के उपाय)

सीसा विषाक्तता क्यों होता है?

सीसा विषाक्तता की समस्या तब होती है जब आप इसे अधिक मात्रा में लेने लगते हैं। सीसा युक्त धूल-मिट्टी में सांस लेने से भी सीसा विषाक्तता हो सकती है। सीसा बेहद ही सूक्ष्म होता है आप इसे न तो देख सकते हैं और ना ही इसका स्वाद या गंध महसूस कर सकते हैं। सीसा आमतौर पर पेंट में होता है। यह आम स्रोत हैं जिनकी वजह से बच्चों में सीसा विषाक्तता की समस्या हो सकती है। अन्य स्रोत जैसे हवा, पानी और मिट्टी हैं। इसके अलावा व्यस्क जो बैटरी बनाने का काम करते हैं, घर बनाते हैं या गाड़ी संभालने वाली दुकान में काम करते हैं, उनको भी सीसा विषाक्तता की परेशानी हो सकती है।

(और पढ़ें - डिप्रेशन का इलाज​)

सीसा विषाक्तता का इलाज कैसे होता है?

सीसा विषाक्तता के इलाज में सबसे पहले इसके कारणों को जाना जाता है। बच्चों को उन स्रोतों से दूर रखें, जिनसे सीसा होता है। कई गंभीर मामलों में, चेलाशन थेरेपी (chelation therapy) का भी इस्तेमाल किया जाता है। यह इलाज शरीर में सीसा को बढ़ने नहीं देता। सीसा मूत्र के जरिए आपके शरीर से निकलता है। अन्य ट्रीटमेंट से भी सीसा विषाक्तता की समस्या कम हो सकती है। 

(और पढ़ें - मतिभ्रम का उपचार​)   

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...