मेनियर रोग - Meniere's Disease in Hindi

Dr. Ayush PandeyMBBS

June 28, 2017

November 06, 2020

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
मेनियर रोग
कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

मेनेयर का रोग क्या है?

मेनेयर रोग, कानों के आंतरिक हिस्से को क्षति पहुंचाने वाली बीमारी है। सुनने और शारीरिक संतुलन को बनाने में कान का यही हिस्सा महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस रोग की स्थिति में चक्कर आने और सुनने में समस्या के अलावा कानों के बजने यानी टिनियस रोग हो सकता है। कई मामलों में मेनेयर रोग केवल एक ही कान को प्रभावित करता है। अन्य आयु वर्गों कि तुलना में 40 से 50 आयु वाले लोगों में इस बीमारी के होने का खतरा अधिक रहता है। मेनेयर रोग को क्रोनिक माना जाता है। इसके इलाज में रोग के लक्षण और जीवन पर पड़ने वाले प्रभावों कम करने पर विशेष ध्यान दिया जाता है।

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑन डीफनेस एंड अदर कम्युनिकेशन डिसऑर्डर (एनआईडीसीडी) का अनुमान है कि अमेरिका में 6 लाख से अधिक लोगों को यह बीमारी है। इसके अलावा हर साल लगभग 45,500 लोगों का निदान किया जाता है।

इस लेख में हम मेनेयर रोग के लक्षण, कारण और इलाज के बारे में जानेंगे।

मेनियर रोग के लक्षण - Meniere's Disease symptoms in hindi

मेनेयर रोग की स्थिति प्रगतिशील है, जिसका अर्थ है कि इसके लक्षण समय के साथ खराब होते जाते हैं। शुरुआत में लोगों को कम सुनाई देने की समस्या होती है, जबकि बीमारी के बढ़ने के साथ ही बहरेपन जैसी समस्या हो जाती है। विशेषज्ञों का कहना है कि यदि आपको चक्कर आ रहा है तो तुरंत बैठें या लेटे जाएं। इस दौरान कोई भी गतिविधि न करें, जिससे परेशानी और बढ़ जाए।

इन प्रमुख लक्षणों के अलावा कुछ लोगों में निम्न प्रकार की शिकायतें भी हो सकती हैं।

मेनेयर रोग का अटैक अलग-अलग लोगों में 20 मिनट से लेकर 24 घंटे तक रह सकता है। कुछ लोगों में एक सप्ताह में कई बार जबकि कुछ लोगों में महीनों या साल में मेनेयर रोग के लक्षण देखने को मिल सकते हैं। जैसे-जैसे मेनेयर रोग बढ़ता जाता है, उसी आधार पर इसके लक्षणों में भी बदलाव देखने को मिलता है। सुनाई न देने और टिनिटस रोग की स्थिति आपको हमेशा के लिए हो सकती है।

मेनियर रोग का कारण - Meniere's Disease causes in hindi

मेनेयर रोग क्यों होता है, इसका कारण स्पष्ट नहीं है। विशेषज्ञों का मानना है कि कान के आंतरिक हिस्से में असामान्य मात्रा में द्रव (एंडोलिम्फ) एकत्रित हो जाने के कारण इसके लक्षण विकसित होने का खतरा रहता है। हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि द्रव के एकत्रित होने का प्रमुख कारण क्या है?

विशेषज्ञों का मानना है ​कि निम्नलिखित कारकों के चलते कान में द्रव इकट्ठा होने लगता है, जिससे मेनेयर रोग का खतरा बढ़ जाता है।

  • कान से तरल पदार्थ निकल न पाना, संभवत: यह स्थिति ब्लॉकेज या फिर किसी प्रकार की विषमता के कारण हो सकती है
  • प्रतिरक्षा प्रणाली की असामान्य प्रतिक्रिया
  • वायरस संक्रमण
  • आनुवंशिक स्थितियां

चूंकि, अब तक इस रोग के लिए किसी एक स्थिति को स्पष्ट कारण नहीं माना जा सकता है, ऐसे में विशेषज्ञों का मानना है कि तमाम स्थितियों के संयोजन के कारण यह दिक्कत हो सकती है।

मेनेयर डिजीज का निदान - Diagnosis of Meniere's Disease in hindi

मेनेयर डिजीज के निदान के लिए डॉक्टर मेडिकल हिस्ट्री के साथ कुछ शारीरिक परीक्षणों की सलाह देते हैं। जिसके आधार पर रोग का निदान किया जाता है। सुनने की क्षमता का पता लगाने के लिए हियरिंग टेस्ट कराने की आवश्यकता होती है।

मेनेयर डिजीज के लिए निम्नलिखित परीक्षणों की आवश्यकता होती है

  • वीडिओनिस्टागमोग्राफी (वीएनजी)
  • रोटरी चेयर टेस्ट
  • पोस्ट्रोग्राफी
  • वीडियो हेड इंपल्स टेस्ट
  • इलेक्ट्रोकोलोग्राफी

इन परीक्षणों के अलावा ब्लड टेस्ट और एमआरआई जैसे इमेजिंग टेस्ट भी कराने की आवश्यकता पड़ सकती है। इसके आधार पर बीमारी का पता लगाकर इलाज किया जाता है।

मेनेयर डिजीज का इलाज - Treatment of Meniere's Disease in hindi

मेनेयर डिजीज एक क्रोनिक स्थिति है, इसका अब तक कोई भी इलाज उपलब्ध नहीं है। हालांकि, डॉक्टर इसके लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए कुछ इलाज के माध्यमों को प्रयोग में ला सकते हैं। इसके गंभीर मामलों में दवाइयों और आवश्यकता होने पर सर्जरी करानी पड़ सकती है।

दवाइयों का प्रयोग

मेनेयर डिजीज के लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए कुछ दवाइयां दी जा सकती हैं। यदि रोगी को उल्टी और दस्त की शिकायत हो तो उसे एंटी बायोटिक और एंटी नोजिया दवाइयां दी जा सकती हैं। कान में द्रव के एकत्रित होने के कारण मेनेयर डिजीज की शिकायत हो सकती है। ऐसे में डॉक्टर कुछ दवाइयां दे सकते हैं जो द्रव को कम करने में मदद करें।

श्रवण यंत्र

रोगी को सुनने की शिकायत हो तो डॉक्टर उसे कुछ ऐसे उपकरण भी दे सकते हैं जो उसे सुनने में मदद करें।

सर्जरी

मेनेयर डिजीज के ज्यादातर मामलों में सर्जरी की आवश्यकता नहीं होती है। जिन लोगों में अन्य इलाज के माध्यमों से कोई लाभ नहीं होता है उनको सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है। कान में जमे द्रव को कम करने और द्रव निकासी के लिए एंडोलिम्पैथि​क प्रक्रिया तरल पदार्थ के उत्पादन को कम करने और आंतरिक कान में द्रव जल निकासी को बढ़ावा देने में मदद करने के लिए की जाती है।

इस माध्यमों के अलावा डॉक्टर आपको फिजिकल थेरपी की भी सलाह दे सकते हैं। इसके माध्यम से रोगों के लक्षण को नियंत्रित करने में आसानी होती है।



संदर्भ

  1. Healthdirect Australia. Meniere’s disease. Australian government: Department of Health
  2. National Health Service [Internet]. UK; Ménière's disease.
  3. National Institute on Deafness and Other Communication Disorders [Internet] Bethesda, MD; Ménière's disease. National Institutes of Health; Bethesda, Maryland, United States
  4. National Institutes of Health; [Internet]. U.S. National Library of Medicine. Ménière disease.
  5. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Meniere's Disease.

मेनियर रोग की दवा - Medicines for Meniere's Disease in Hindi

मेनियर रोग के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹232.23

20% छूट + 5% कैशबैक


₹135.24

20% छूट + 5% कैशबैक


₹74.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹123.03

20% छूट + 5% कैशबैक


₹152.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹104.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹135.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹121.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹129.47

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 10 of 89 entries
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ