धुंधला दिखना - Blurred Vision in Hindi

Dr. Ajay Mohan (AIIMS)MBBS

July 30, 2018

March 06, 2020

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
धुंधला दिखना
सुनिए कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

धुंधला दिखना क्या होता है?

धुंधला व साफ न दिखना एक बहुत आम समस्या है और आमतौर पर इसमें चिंता करने की कोई बात नहीं होती है। धुंधला दिखने का मतलब यह हो सकता है कि आपको अपना चश्मा या कांटेक्ट लेंस बदलवाने की आवश्यकता है। हालांकि, थोड़े-थोड़े समय में धुंधला दिखना किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है और कुछ बीमारियों के कारण भी आपको अचानक से धुंधला दिखने लग सकता है। यह समस्या कुछ समय के लिए भी रह सकती है या लम्बे समय तक भी आपको प्रभावित कर सकती है व समय के साथ और भी बिगड़ सकती है।

ज़्यादातर मामलों में धुंधली दृष्टि किसी सामान्य कारण की वजह से होती है और इसका इलाज संभव होता है। लेकिन कुछ मामलों में यह किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है।

धुंधला दिखने के साथ आपको कुछ अन्य लक्षण भी हो सकते हैं, जैसे आंखों में दर्द, आंखों में सूखापन और आँखों के साइड में न देख पाना।

(और पढ़ें - आंखों में दर्द का घरेलू इलाज)

धुंधला दिखने का इलाज इसके कारण पर निर्भर करता है। निकट दृष्टि दोष (मायोपिया), दूर दृष्टि दोष (हाइपरमेट्रोपिया) और एस्टिग्मेटिज़्म जैसे विकारों के लिए चश्मे और लेंस का उपयोग किया जाता है।

अगर आपको धुंधला दिख रहा है और आप इसके लिए कोई उपचार नहीं लेते, तो स्थिति बिगड़ सकती है और आपकी आँखों की रौशनी हमेशा के लिए जा सकती है।

धुंधला दिखने के लक्षण - Blurred Vision Symptoms in Hindi

धुंधला दिखने के लक्षण क्या होते हैं?

कुछ मामलों में, धुंधला दिखने के साथ-साथ एक या दोनों आंखों में कुछ अन्य लक्षण भी हो सकते हैं जिसका कोई न कोई कारण होता है। यह लक्षण निम्नलिखित हैं -

  • आंखों में दर्द होना (और पढ़ें - आँखों में दर्द का घरेलू इलाज)
  • आंखों से रिसाव होना
  • आंखों के साइड से न देख पाना
  • सीधा न देख पाना
  • रात में ठीक से न देख पाना (और पढ़ें - रतौंधी
  • आंख अधिक लाल होना
  • आंखों का सूखना (और पढ़ें - आंखों के सूखेपन के घरेलू उपाय)
  • आंखों में खुजली होना
  • अधिक आंसू निकलना
  • आंखों से खून निकलना
  • पास की नज़र कमजोर होना
  • प्रकाश के प्रति संवेदनशीलता (Photophobia)
  • आंखों के सामने धब्बे या तैरती हुई चीज़ें दिखना (Floaters or spots)

डॉक्टर को कब दिखाएं?

अगर आपको अचानक धुंधला दिखने लगता है और और निम्नलिखित लक्षण होते हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर के पास जाएं -

यह लक्षण स्ट्रोक के जैसे होते हैं।

धुंधला दिखने के कारण और जोखिम कारक - Blurred Vision Causes & Risk Factors in Hindi

धुंधला क्यों दिखता है?

धुंधला दिखने की वजह मामूली या किसी गंभीर समस्या का संकेत भी हो सकती है। इसके कुछ मुख्य कारण निम्नलिखित हैं -

  • आंखों में सूखापन - "ड्राई आई सिंड्रोम" (आंखों में सूखापन) में आपकी ऑंखें पर्याप्त आंसू नहीं बनाती हैं, जिससे आपको धुंधला दिखने लगता है।
  • आंखों पर दबाव - कभी-कभी नींद पूरी न होने या ज़्यादा देर धूप में रहने से आंखों पर बहुत अधिक दबाव बनता है, जिससे कुछ समय के लिए धुंधला दिखने लगता है। यह आराम करने से ठीक हो जाता है।
  • नज़र कमजोर होना - दूर या पास की चीज़ें देखने में समस्या होने से धुंधला दिख सकता है।
  • एस्टिग्मेटिज़्म (Astigmatism) -  "एस्टिग्मेटिज़्म" में "कॉर्निया" (Cornea) की गोलाई सामान्य नहीं होती, जिससे दूर की चीज़ें धुंधली दिखने लगती हैं।
  • प्रेगनेंसी - प्रेगनेंसी के दौरान हॉर्मोन के कारण आँखों की आकृति बदलती है, जिससे धुंधला दिख सकता है।
  • माइग्रेन - माइग्रेन में सिरदर्द होने से नज़र पर भी असर पड़ता है, जिससे धुंधला दिख सकता है। (और पढ़ें - सिरदर्द के घरेलू उपाय)
  • दवाएं और सर्जरी - कुछ खाने वाली व आंख में डालने वाली दवाओं से धुंधला दिख सकता है। यह समस्या नज़र के लिए की जाने वाली "लेसिक" (LASIK) सर्जरी के कारण भी हो सकती है।
  • फ्लोटर्स (Floaters) - आँखों के सामने तैरती हुई चीज़ें दिखने से धुंधला दिख सकता है। यह समस्या ज़्यादातर उम्र के साथ होती है लेकिन अचानक से फ्लोटर्स दिखने पर अपने डॉक्टर के पास जाएं।
  • लेंस या चश्मा - गलत नंबर के लेंस या चश्मे पहनने से या अधिक समय तक लेंस लगा कर रखने से धुंधला दिखने की समस्या हो सकती है। (और पढ़ें - चश्मा हटाने के उपाय)

धुंधला दिखने के कुछ अन्य गंभीर कारण निम्नलिखित हैं -

धुंधला दिखने के जोखिम कारक क्या होते हैं?

धुंधला दिखने से बचाव - Prevention of Blurred Vision in Hindi

धुंधला दिखने से कैसे बचा जा सकता है?

धुंधली दृष्टि के कुछ कारणों से बचने का कोई तरीका नहीं है, लेकिन अपनी आंखों की देखभाल करने से जीवनशैली के कारण होने वाला दृष्टि का धुंधलापन रोका जा सकता है।

स्वस्थ नज़र बनाए रखने के लिए निम्नलिखित उपाय करें -

  • बहुत अधिक या कम रौशनी में काम करने से आंखों पर दबाव पड़ता है। ऐसी रौशनी में काम करें जिसमें आपकी ऑंखें पूरी तरह से खुल पाए और उनपर कोई दबाव न बने।
  • धूप में बाहर जाते समय आँखों पर धूप का चश्मा पहनें।
  • एंटीऑक्सीडेंटओमेगा 3 फैटी एसिड और विटामिन ए से भरपूर आहार लें।
  • सिगरेट न पिएं।
  • अपनी आंखों की नियमित जाँच कराएं। खासकर अगर आपके परिवार में किसी को कोई आंखों से सम्बंधित समस्या है या थी।
  • संक्रमण से बचने के लिए लेंस लगाते और उतारते समय अपने हाथ धोएं।
  • घर में पेंट व रिपेयर जैसे काम करते समय और भरी मशीन चलाते समय आँखों पर चश्मा पहनें।
  • अगर आप कंप्यूटर पर लगातार काम करते हैं या किताब पढ़ते हैं, तो हर 15 मिनट में अपनी आंखें उनसे हटाकर कहीं और देखें, जिससे आंखों को आराम मिलेगा। (और पढ़ें - किताब पढ़ने के फायदे)
  • नींद पूरी न होने से धुंधला दिख सकता है, इसीलिए पर्याप्त नींद लें। (और पढ़ें - कम सोने के नुकसान )
  • अगर चिंता के कारण आपको धुंधला दिखता है, तो चिंता कम करने के लिए मनोचिकित्सक से बात करें, व्यायाम करें और डॉक्टर से बात पूछ कर दवाएं लें। (और पढ़ें - व्यायाम के फायदे)
  • मैडिटेशन करें।

धुंधला दिखने का परीक्षण - Diagnosis of Blurred Vision in Hindi

धुंधला दिखने के क्या परीक्षण होते हैं?

धुंधला दिखना अपने आप में कोई बीमारी नहीं है, यह किसी समस्या का लक्षण होता है।

इस समस्या का पता लगाने के लिए आपके डॉक्टर सबसे पहले आपके लक्षणों की जांच करेंगे और आपकी व आपके परिवार के सदस्यों की आंखों से सम्बंधित समस्याओं की भी पूछताछ करेंगे।

धुंधली दृष्टि की वजह का पता लगाने के लिए आपके डॉक्टर निम्नलिखित परीक्षण कर सकते हैं -

  • ब्लड टेस्ट (Blood test)
    ब्लड टेस्ट से यह पता चलता है कि खून में कोई बैक्टीरिया मौजूद है या नहीं। आपके डॉक्टर ब्लड टेस्ट से सफ़ेद रक्त कोशिकाओं की गिनती का भी पता लगा सकते हैं, जिससे संक्रमण का पता चलता है। (और पढ़ें - सफ़ेद रक्त कोशिकाएं बढ़ाने के उपाय)
     
  • रेफ्रेक्शन टेस्ट (Refraction test)
    इस टेस्ट से लेंस और चश्मे के लिए आपकी आँखों के नंबर का पता चलता है। इसमें आपको एक चार्ट पढ़ने के लिए कहा जाता है जिससे यह पता चलता है कि आपको चश्मे की ज़रूरत है या नहीं।
     
  • टोनोमेट्री (Tonometry)
    इस परीक्षण में आपको पूरी ऑंखें खोलकर सामान्य तरह से साँस लेने के लिए कहा जाता है। डॉक्टर एक उपकरण के प्रयोग से एक-एक कर के आपकी दोनों आंखों के दबाव को देखते हैं।
     
  • स्लिट-लैंप टेस्ट (Slit-lamp test)
    इस परीक्षण में आपके डॉक्टर एक मशीन की मदद से आंख के आगे और पीछे की बनावट को देखेंगे। इस परीक्षण से उन्हें यह पता चलता है कि आंख ठीक से काम कर रही है या नहीं।

धुंधला दिखने का इलाज - Blurred Vision Treatment in Hindi

धुंधला दिखने का उपचार कैसे होता है?

धुंधला दिखने का उपचार इसकी वजह से पर निर्भर करता है।

  • फ्लोटर्स (Floaters)
    आँखों के सामने तैरती हुई वस्तुएं दिखना अक्सर अपने आप ठीक हो जाता है, लेकिन ठीक न होने पर इसके लिए लेज़र सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है। इस सर्जरी में लेज़र की किरणों का उपयोग कर के फ्लोटर्स को ठीक किया जाता है जिससे या तो वह गायब हो जाते हैं या फिर उनसे होने वाली परेशानी कम हो जाती है।
     
  • मायोपिया (Myopia)/ हाइपरमेट्रोपिया (Hypermetropia)/ एस्टिग्मेटिज़्म (Astigmatism)/ प्रेस्बायोपिया (Presbyopia)
    इन समस्याओं के कारण दृष्टि में होने वाले धुंधलेपन को आमतौर पर चश्मे या लेंस से ठीक किया जाता है। इनके इलाज के लिए सर्जरी का भी उपयोग किया जा सकता है, जिससे चश्मा या लेंस लगाने की आवश्यकता नहीं रहती।
     
  • ड्राई आई सिंड्रोम (Dry eye syndrome)
    आँखों के सूखने पर आर्टिफीशीयल (Artificial) आंसुओं के उपयोग से आँखों में नमी बढ़ाई जा सकती है, लेकिन कुछ गंभीर मामलों में दवाओं की और ऐसे उपकरणों की आवश्यकता होती है जो आंसू बाहर निकालने वाली नली को बंद करते हैं और आँख की नमी बढ़ाते हैं।
     
  • थकान
    पूरी नींद लें और कोशिश करें कि आपकी ऑंखें सूखे नहीं व थकान न हो। अगर आवश्यकता है तो अपने डॉक्टर से पूछ कर आंखों में नमी बनाने वाली दवाओं का प्रयोग करें। (और पढ़ें - थकान दूर करने के घरेलू उपाय)
     
  • शुगर
    अगर आपको शुगर के कारण अचानक धुंधला दिखने लगा है, तो आपको दवाओं या अन्य उपायों से शुगर को नियंत्रित करने की आवश्यकता होती है।

​अचानक धुंधला दिखना एक सामान्य समस्या हो सकती है जो अपने आप ठीक हो जाती है। हालांकि, दोहरा दिखना या एक सीध के अलावा साइड में कुछ न देख पाने का मतलब एक गंभीर समस्या हो सकती है जिसका तुरंत इलाज होना चाहिए।

धुंधला दिखने की जटिलताएं - Blurred Vision Risks & Complications in Hindi

धुंधला दिखने की क्या जटिलताएं होती हैं?

अगर आपको किसी नज़र की समस्या के कारण धुंधला दिख रहा है, तो यह आसानी से ठीक किया जा सकता है। हालांकि, अगर आपको शुगर, ग्लूकोमा या मोतियाबिंद के कारण धुंधला दिख रहा है और आप इसके लिए कोई इलाज नहीं ले रहे हैं, तो इससे गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं और आपकी आंखों की रौशनी भी जा सकती है।

(और पढ़ें - आंखों की रोशनी बढ़ाने के घरेलू उपाय)



संदर्भ

  1. Canadian Association of Optometrists [Internet]. Ottawa (ON) Canada. Sudden Blurred Vision
  2. Health direct [internet]: Department of Health: Australian government; Blurred vision
  3. American Academy of Ophthalmology [internet]. California (U.S.A). Blurriness
  4. National Institute of Diabetes and Digestive and Kidney Diseases [internet]: US Department of Health and Human Services; Diabetic Eye Disease
  5. National Eye Institute [Internet]. Bethesda (MD). National Institute of Health: U.S. Department of Health and Human Services; Pink Eye
  6. Department of health: New York State. Types of Vision Problems

धुंधला दिखना के डॉक्टर

Dr. Meenakshi Pande Dr. Meenakshi Pande ऑपथैल्मोलॉजी
22 वर्षों का अनुभव
Dr. Upasna Dr. Upasna ऑपथैल्मोलॉजी
7 वर्षों का अनुभव
Dr. Akshay Bhatiwal Dr. Akshay Bhatiwal ऑपथैल्मोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव
Dr. Surbhi Thakare Dr. Surbhi Thakare ऑपथैल्मोलॉजी
2 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

धुंधला दिखना की दवा - Medicines for Blurred Vision in Hindi

धुंधला दिखना के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

धुंधला दिखना की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Blurred Vision in Hindi

धुंधला दिखना के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।