myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

उल्टी आम तौर पर गंभीर स्वास्थ्य समस्या नहीं है। अक्सर यह अस्थायी समस्या से जुडी आपके शरीर की प्रतिक्रिया होती है। उल्टी से जुड़े कुछ आम कारण हैं जैसे ज़्यादा खा लेना, बहुत अधिक शराब पी लेना, पेट में फ्लू, तनाव, गर्भावस्था आदि शामिल हैं।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में पेट दर्द करना)

मतली और उल्टी की समस्या को दूर करने के लिए आज हम आपको कुछ घरेलू उपाय के बारे में बताएंगे जिनके इस्तेमाल से आपको उल्टी और मतली की समस्या नहीं होगी।

  1. उल्टी रोकने का उपाय है अदरक - Ginger hai vomiting rokne ka tarika
  2. जी मिचलाने पर करें चावल के पानी का उपयोग - Rice water hai ulti rokne ka gharelu upay
  3. उल्टी को रोकने का उपाय है दालचीनी - Vomiting rokne ke upay ke liye kare Cinnamon ka sewan
  4. उल्टी से बचने के उपाय में करें पुदीना का उपयोग - Ulti rokne ke upay me kare pudine ka upyog
  5. जी मिचलाने के उपाय है सेब का सिरका - Apple cider vinegar hai ulti ko rokne ka gharelu upay
  6. उल्टी रोकने के उपाय में करें लौंग का उपयोग - Clove ka upyog kare ji michlana ke upay me
  7. उल्टी के उपाय के लिए करें सौफ का उपयोग - Fennel hai vomiting ko rokne ke upay
  8. जीरा है मतली का उपाय - Ulti se bache cumin seeds ke upyog se
  9. उल्टी रोकने का घरेलू उपाय है प्याज का जूस - Onion juice hai ulti se bachne ka tarika
  10. उल्टी का घरेलू नुस्खा है नमकीन और बिस्कुट - Crackers hai gharelu nuskhe for vomiting
  11. उल्टी से जुड़े कुछ ज़रूरी सुझाव - Tips for vomiting in Hindi

अदरक आपके पाचन तंत्र के लिए बहुत फायदेमंद होता है और और उल्टी को रोकने के लिए एक प्राकृतिक दवा के रूप में काम करता है।

अदरक का कैसे करें इस्तेमाल –

  1. एक चम्मच अदरक का जूस और एक चम्मच नींबू का जूस मिला लें। अब इस मिश्रण को पूरे दिन में कई बार पीने की कोशिश करें।
  2. इसके अलावा अदरक से बनी चाय में थोड़ा शहद डालें और मिलाकर पी लें। अब अदरक के छोटे छोटे टुकड़ों को शहद के साथ या बिना खा सकते हैं। (और पढ़ें - अदरक के फायदे और नुकसान)

चावल का पानी उल्टी को कम करने में मदद करता है खासकर तब जब पेट में सूजन (gastritis) होती है। चावलों का पानी तैयार करने के लिए ब्राउन चावलों की बजाए सफ़ेद चावल चुने क्योंकि यह स्टार्च से समृद्ध होते हैं और पचाने में भी आसान होते हैं।

चावलों के पानी का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. एक से आधा कप पानी में चावलों का एक कप उबालें।
  2. उबालने के बाद इसे छान लें।
  3. अब चावलों के पानी को पी लें। (और पढ़ें - कांजी पानी यानि चावल के पानी के फायदे)

सिनेमन को दालचीनी भी कहा जाता है। जिसकी मदद से पेट शांत रहता है साथ ही मतली और उल्टी का भी इलाज होता है।

दालचीनी का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. एक कप गर्म पानी में एक या आधा चम्मच दालचीनी पाउडर डालें। अगर आपके पास पाउडर नहीं है तो बस दालचीनी की लकड़ी का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  2. अब इस पानी को कुछ मिनट तक उबलते रहने दें। फिर इस मिश्रण को छान लें।
  3. आप इसमें एक चम्मच शहद भी मिला सकते हैं।
  4. अब इस मिश्रण को आराम आराम से पियें। (और पढ़ें - दालचीनी के फायदे और नुकसान)

नोट - यह उपाय गर्भवती महिलाओं के लिए उपयुक्त नहीं है।

पुदीना उल्टी में राहत प्रदान करता है। खासकर तब जब आपका पेट ख़राब हो।

पुदीना का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. एक चम्मच सूखी पुदीने की पत्तियां लें और फिर उसे एक कप गर्म पानी में डाल दें। अब इस मिश्रण को 5 से 10 मिनट के लिए उबलते रहने दें। 5 से 10 मिनट के बाद इस मिश्रण को छानकर पी लें।
  2. अगर ताज़ा पुदीने की पत्तियां आपके पास उपलब्ध हैं तो आप उन्हें धोकर चबा भी सकते हैं।
  3. इसके अलावा एक चम्मच पुदीने का जूस, एक चम्मच नींबू का जूस और एक चम्मच शहद को एक साथ मिलाकर मिश्रण तैयार कर लें।
  4. अब इस मिश्रण को पूरे दिन में तीन बार ज़रूर पियें। (और पढ़ें - पुदीने के फायदे और नुकसान)

सेब का सिरका उल्टी के एहसास को कम करने में मदद करता है। यह पेट को शांत करता है और और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। इसके रोगाणुरोधी गुणों की वजह से फ़ूड पोइसिनिंग का भी इलाज होता है। (और पढ़ें - फूड पाइज़निंग से बचने के उपाय)

सेब का सिरका का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. एक ग्लास पानी में एक चम्मच सेब का सिरका और एक चम्मच शहद को मिला लें। अब इस मिश्रण को पी लें। जब भी आपको इस तरह की समस्या हो इस मिश्रण का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  2. उल्टी की गंध कभी-कभी अधिक उल्टी की समस्या पैदा कर सकती है। सांस को ताज़ा रखने के लिए और उल्टी को रोकने के लिए एक चम्मच सिरके को एक या आधा कप पानी में मिलाकर कुल्ला कर सकते हैं। (और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे और नुकसान)

लौंग पाचन को सुधारती है और उल्टी की समस्या को ठीक रखने में मदद करती है। पेट की समस्या के कारण होने वाली उल्टी और मतली के लिए लौंग बेहद प्रभावी है।

लौंग का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. उल्टी का इलाज करने के लिए कुछ लौंग को चबा लें और कुछ लौंग का उपयोग चाय बनाने के लिए इस्तेमाल करें।
  2. इसके अलावा सबसे पहले आप लौंग को भून लें और फिर उसे शहद के साथ मिक्स करके चबाकर निगल जाएँ। (और पढ़ें - लौंग के फायदे और नुकसान)

सौफ के बीज पाचन और मतली का इलाज करते हैं। इसमें रोगाणुरोधी गुण होते हैं जो पेट के फ्लू को रोकने और उसका इलाज करने में मदद करते हैं।

सौफ का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. एक कप गर्म पानी में एक चम्मच क्रश सौफ के बीज डालें और 10 मिनट के लिए उबलने को रख दें। उबलने के बाद इस मिश्रण को छान लें और पूरे दिन में एक या दो बार इसका इस्तेमाल ज़रूर करें।
  2. इसके अलावा आप सौफ के बीज को भी चबा सकते हैं इससे आपकी पाचन से सम्बंधित समस्याएं खत्म होंगी। (और पढ़ें - सौंफ के फायदे और नुकसान)

जीरा उल्टी के लिए सबसे अच्छा और सबसे आसान घरेलू उपाय है। यह पैंक्रीआटिक एंजाइमों के स्राव को उत्तेजित करता है। पाचन सम्बन्धी समस्याओं के लिए जीरा बेहद उपयोगी होता है।

जीरा का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. एक या आधा चम्मच जीरे के बीज को गर्म पानी में मिलाये और मिलाने के बाद मिश्रण को छानकर पी जाएँ। (और पढ़ें - जीरे के पानी के फायदे और नुकसान)
  2. इसके अलावा आप एक चम्मच जीरे के बीज और जायफल की एक चुटकी को गर्म पानी में डाल दें। कुछ मिनट के लिए इस मिश्रण को उबलने के लिए रख दें। कुछ मिनट के बाद मिश्रण को छानकर पी जाएँ।
  3. आप एक और विकल्प चुन सकते हैं। सबसे पहले एक चम्मच जीरे का पाउडर और एक चम्मच इलाइची पाउडर के साथ एक चम्मच शहद को मिलाकर इस मिश्रण का सेवन कर लें। (और पढ़ें - जीरे के फायदे और नुकसान)

प्याज के जूस में प्राकृतिक एंटीबायोटिक गुण होते हैं जो मतली और उल्टी जैसी समस्याओं को कम करने में मदद करते हैं।

प्याज के जूस का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. एक चम्मच प्याज के जूस के साथ एक चम्मच पिसा हुआ अदरक मिलाएं। उल्टी का इलाज करने के लिए नियमित अंतराल पर इस मिश्रण का प्रयोग करते रहें।
  2. इसके अलावा दो चम्मच शहद को एक या आधा चम्मच प्याज के जूस के साथ मिलायें।
  3. इस मिश्रण का एक चम्मच जब ज़रूरत हो तब आप पी सकते हैं। (और पढ़ें - प्याज के फायदे और नुकसान)

मतली और उल्टी के लिए यह बहुत ही आम और प्रभावी उपाय है। मतली और उल्टी के समय आप स्वादिष्ट नमकीन बिस्कुट खा सकते हैं। अच्छी स्थिति में आने के लिए ये आपको पोषण और ऊर्जा प्रदान करेंगे। कुछ नमकीन क्रैकर्स या ड्राई टोस्ट आप खा सकते हैं।

उल्टी से जुड़े कुछ ज़रूरी सुझाव इस प्रकार हैं -

  1. जब भी आपको उल्टी का एहसास हो तो पानी के कुछ घूँट पी लें जिससे आपका पेट खाली न रहे।
  2. एक हल्का, नरम भोजन लें और धीरे-धीरे खाएं।
  3. तला हुआ भोजन खाने से बचें।
  4. स्वच्छ तरल पदार्थ पियें।
  5. अच्छे से आराम करें।
  6. खाना बनाने की खुशबू और परफ्यूम की सुगंध से बचें।
  7. खाना खाने के तुरंत बाद थोड़ा आराम कर लें। लेकिन खाना खाने के तुरंत बाद गहरी नींद लेने से बचें।
  8. खाने के ठीक बाद अपने दांतों को ब्रश न करें क्योंकि इससे आपको उल्टी हो सकती है।

ये प्राकृतिक उपचार आपको बेहतर महसूस कराने में मदद करेंगे। अगर आपकी स्थिति में सुधार नहीं होता है तो अपने डॉक्टर से इस बारे में सलाह लें।

और पढ़ें ...

References

  1. healthdirect Australia. Nausea. Australian government: Department of Health
  2. National Institute of Diabetes and Digestive and Kidney Diseases [internet]: US Department of Health and Human Services; Symptoms & Causes of Cyclic Vomiting Syndrome.
  3. Iñaki Lete, José Allué. The Effectiveness of Ginger in the Prevention of Nausea and Vomiting during Pregnancy and Chemotherapy . Integr Med Insights. 2016; 11: 11–17. PMID: 27053918
  4. Giti Ozgoli, Marzieh Saei Ghare Naz. Effects of Complementary Medicine on Nausea and Vomiting in Pregnancy: A Systematic Review . Int J Prev Med. 2018; 9: 75. PMID: 30319738
  5. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Spearmint
  6. Narges Joulaeerad et al. Effect of Aromatherapy with Peppermint Oil on the Severity of Nausea and Vomiting in Pregnancy: A Single-blind, Randomized, Placebo-controlled trial . J Reprod Infertil. 2018 Jan-Mar; 19(1): 32–38. PMID: 29850445
  7. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Clove
  8. Molouk Jaafarpour, Masoud Hatefi, Fatemeh Najafi, Javaher Khajavikhan, Ali Khani. The Effect of Cinnamon on Menstrual Bleeding and Systemic Symptoms With Primary Dysmenorrhea . Iran Red Crescent Med J. 2015 Apr; 17(4): e27032. PMID: 26023350
  9. Giti Ozgoli, Marzieh Saei Ghare Naz. Effects of Complementary Medicine on Nausea and Vomiting in Pregnancy: A Systematic Review . Int J Prev Med. 2018; 9: 75. PMID: 30319738
  10. Parisa Yavari kia. The Effect of Lemon Inhalation Aromatherapy on Nausea and Vomiting of Pregnancy: A Double-Blinded, Randomized, Controlled Clinical Trial . Iran Red Crescent Med J. 2014 Mar; 16(3): e14360. PMID: 24829772
  11. Queensland Health. Nausea and Vomiting. State of Queensland: Queensland Government
  12. healthdirect Australia. Morning sickness. Australian government: Department of Health
  13. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Nausea and Vomiting