myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

पिछले कुछ वर्षों में एप्‍पल सिडर विनेगर काफी लोकप्रिय हुआ है। घर के कई कामों और खाना पकाने में इसका इस्‍तेमाल किया जाता है। आजकल बाजार में कई तरह के विनेगर मौजूद हैं लेकिन इनमें एप्‍पल सिडर विनेगर सबसे ज्‍यादा पसंद किया जाता है। ये पोषक तत्‍वों से भरपूर है और इससे सेहत को अनेक फायदे भी मिलते हैं।

सेब के जूस को खमीरीकृत कर के तैयार हुए सिरके को एप्‍पल सिडर विनेगर कहा जाता है। पहले सेब का रस निकाला जाता है और फिर उसमें यीस्‍ट डालकर फ्रूट शुगर को एल्‍कोहल में बदला जाता है। इस प्रक्रिया को खमीरीकरण कहा जाता है। इसके बाद एल्‍कोहल में बैक्‍टीरिया डाला जाता है जो इसे एसिटिक एसिड में बदल देता है। एसिटिक एसिड और मैलिक एसिड से सिरके को खट्टा स्‍वाद और अनोखी महक मिलती है। इसका रंग हल्‍के पीले से लेकर नारंगी होता है। चटनी, मैरिनेड, सलाद के ऊपर डालने और डिब्‍बाबंद खाद्य पदार्थों आदि में इसका इस्‍तेमाल किया जाता है।

मार्केट में उपलब्‍ध अधिकतर एप्‍पल सिडर विनेगर को फिल्‍टर और पॉश्‍चराइज किया जाता है एवं इसमें से बैक्‍टीरिया को नष्‍ट किया जाता है। इससे एप्‍पल सिडर विनेगर लंबे समय तक चलता है। इस प्रक्रिया से बनाया गया सिरका असली नहीं होता है। मदर (सिरके के लिए इस्‍तेमाल होने वाला असली बैक्‍टीरियल कल्‍चर) के साथ वाला सिरका असली होता है। पोषक तत्‍वों और बैक्‍टीरिया से मदर कल्‍चर बनता है।

जिस बोतल में सेब के सिरके को संग्रहित कर के रखा गया हो उसके निचले भाग में आप इसे देख सकते हैं। इस जैविक और पॉश्‍चरीकरण से रहित एप्‍पल सिडर विनेगर के कई औषधीय उपयोग होते हैं। दुनियाभर में स्‍वस्‍थ रहने के लिए लोग एप्‍पल सिडर विनेगर का इस्‍तेमाल करते हैं। इससे ब्‍लड प्रेशर कम करने और कैंसर का खतरा कम एवं वजन घटाने में मदद मिलती है।

(और पढ़ें - वजन कम करने के उपाय )

  1. सेब के सिरके का सेवन कैसे करें - Seb ke Sirke ka sevan kese kre in Hindi
  2. सेब के सिरके का सेवन कब करें - Seb ke Sirke ka sevan kab kre in Hindi
  3. सेब के सिरके की तासीर - Seb ke Sirke ki taseer in Hindi
  4. सेब के सिरके के फायदे - Seb ke Sirke ke Fayde in Hindi
  5. सेब का सिरका बनाने की विधि - seb ka sirka banane ki vidhi
  6. सेब के सिरके का उपयोग - Seb ke sirke ka upyog
  7. सेब के सिरके के नुकसान - Seb ke Sirke ke Nuksan in Hindi
  8. विशेषज्ञ की चेतावनी न करें सेब के सिरके का सीधा सेवन

सेब के सिरके की कम मात्रा को पानी के साथ मिलाएं और इनका एक मिश्रण बनाएं और सेवन करें यदि आप चाहें तो शहद मिलाकर भी इसका सेवन कर सकते हैं। ऐसे कई फलों के रस के साथ भी सेब के सिरके को मिलाकर इसका उपयोग कर सकते हैं। 

सेब के सिरके का सेवन करना आपकी दिनचर्या पर निर्भर करता है। दिन में एक बार भी इसका सेवन किया जा सकता है। पर कुछ लोग सेब के सिरके का उपयोग दिन में 3 बार- सुबह, शाम और रात को करते हैं। आप इसका सेवन दिन में 3 बार भी कर सकते है पर ध्यान रखें की अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से आपको समस्या हो सकती है। 

सेब के सिरके की तासीर ना ही ठंडी होती है और ना ही गरम होती है। इसकी तासीर सामन्य होती है। इसलिए सेब के सिरके का उपयोग किसी भी मौसम में किया जा सकता है। पर इसे कम मात्रा में ही इस्तेमाल करें, अधिक मात्रा में इसका उपयोग करने से इसके कुछ साइड इफ़ेक्ट भी हो सकते हैं। 

  1. सेब के सिरके के फायदे बालों के लिए - Apple Cider Vinegar for Hair in Hindi
  2. सेब के सिरके के लाभ रक्त शर्करा को कम करें - Seb ke sirke ke fayde sugar kam karne ke liye in Hindi
  3. एप्पल साइडर विनेगर वेट लॉस के लिए - Apple Cider Vinegar for Weight Loss in Hindi
  4. सेब के सिरके का फायदा खराब कोलेस्ट्रॉल के लिए - Seb ke sirka ke fayde kharab Cholesterol ke liye in Hindi
  5. सेब का सिरका बेनिफिट्स सूजन में उपयोगी - Apple Cider Vinegar for Swelling in Hindi
  6. सेब के सिरके के लाभ बढ़ाए नाखूनों की चमक - Seb ke sirke ke labh Manicure ke liye in Hindi
  7. एप्पल साइडर विनेगर के फायदे शेविंग के लिए - Seb ke sirke ka istemal after shave ki tarah
  8. सेब का सिरका के लाभ सेल्यूलाइट को कम करें - Apple Cider Vinegar for Cellulite in Hindi
  9. सेब के सिरके के फायदे यीस्ट संक्रमण में लाभदायक - Apple Cider Vinegar for Yeast Infection in Hindi
  10. एप्पल साइडर विनेगर बेनिफिट्स मुहाँसें को दूर करें - Seb ke sirka ka fayda Muhaso ke liye in Hindi
  11. सेब के सिरके के लाभ दिलाएँ जोड़ो में दर्द से राहत - Sev ka sirka ke fayde jodo ke dard ke liye
  12. सेब के सिरके के अन्य लाभ - Seb ke sirke ke any labh

सेब के सिरके के फायदे बालों के लिए - Apple Cider Vinegar for Hair in Hindi

सेब के सिरके से बाल धोने से बालों की सारी गंदगी निकल जाती है। इससे बालों की बहुत अच्छी सफाई हो जाती है। यदि आपके बालों में रूसी की समस्या है तो सेब के सिरके और पानी को बराबर मात्रा में मिलाएँ और तब तक इसका इस्तेमाल करें जब तक कि रूसी ख़त्म ना हो जाए।

(और पढ़ें – सफेद बालों को काला करने के उपाय)

झड़ते बालों के लिए 3 कप सेब के सिरके में, 3 कप पानी और 3 से 4 बूँद रोज़मेरी तेल को मिलाकर उसे बोतल में रखें और जब भी आपको सिर धोना हो तब उसे थोड़ी देर पहले जड़ो में अच्छी तरह लगा लें। उसके कुछ देर बाद बालों को कंडीशनर से धो लें। इससे आपके बालों की झड़ने की समस्या भी ख़त्म हो जाएगी और आपके बाल मजबूत, लंबे तथा चमकदार बनेंगे।

सेब के सिरके के लाभ रक्त शर्करा को कम करें - Seb ke sirke ke fayde sugar kam karne ke liye in Hindi

सेब के सरीके की कुछ बूंदें आपके ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करती हैं। कई अध्ययनों द्वारा यह पता चला है की सेब के सिरके का उपयोग ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए किया जा सकता है। सेब के सिरके में एसीटिक एसिड होने की वजह से यह मंद पाचन में सहायक होता है। जिससे रक्त नलिकाओं में शुगर का स्तर कम होता है। एसीटिक एसिड का उपयोग मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत अच्छा होता है। परन्तु इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से ज़रूर संपर्क करें। 

(और पढ़ें - sugar me kya khana chahiye)

एप्पल साइडर विनेगर वेट लॉस के लिए - Apple Cider Vinegar for Weight Loss in Hindi

सेब का सिरका चर्बी को कम करने में भी सहायक होता है। इसमें रक्त शर्करा को नियंत्रित करने की क्षमता होती है जिससे वजन कम होता है और इसमें मौजूद एसीटिक एसिड भी भूख को कम करने में मदद करता है। यदि आप मोटापे से परेशान हैं, तो रोज रात को 2 चम्मच सिरका गुनगुने पानी के साथ मिलाकर पिएं या आप इस मिश्रण में शहद को मिलाकर भी पि सकते हैं। इससे आपका मोटापा कम हो जाएगा।

(और पढ़ें – वजन कम करने के लिए नाश्ते में क्या खाएं)

सेब के सिरके का फायदा खराब कोलेस्ट्रॉल के लिए - Seb ke sirka ke fayde kharab Cholesterol ke liye in Hindi

सेब के सिरके में पेक्टिन मौजूद होता है जो शरीर के अंदर खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है। कई लोगों को पेक्टिन से एलर्जी भी होती है। यदि आपको सेब के सिरके से एलर्जी है,तो आप इसका सेवन ना करें। 

(और पढ़ें – cholesterol kam karne ke upay)

सेब का सिरका बेनिफिट्स सूजन में उपयोगी - Apple Cider Vinegar for Swelling in Hindi

यदि आपकी त्वचा पर धूप से जलने के कारण सूजन हो रही है, तो सेब के सिरके को पानी में मिलाएं और उस पानी से नहाएं , इससे सूजन कम हो सकती है। अगर आपकी आहर नली में सूजन है तो आप इसका सलाद या पानी के साथ सेवन करें, इससे सूजन ख़त्म हो जाती है। सेब का सिरका पैर और टखने की सूजन को ठीक करने में भी मदद करता है। एक तौलिये को गरम पानी और सेब के सिरके के मिश्रण में भिगों दें और थोड़ी देर तक इस तौलिये को प्रभावित हिस्से पर लपेट कर रखें, ऐसा करने से सूजन कम होती है।

 

(और पढ़ें – sujan kam karne ke liye kya kare)

सेब के सिरके के लाभ बढ़ाए नाखूनों की चमक - Seb ke sirke ke labh Manicure ke liye in Hindi

मैनीक्योर करवाने के लिए हमें पार्लर जाना पड़ता है, परन्तु मैनीक्योर करवाने के लिए इतना टाइम पार्लर में देने के बाद भी नाखूनों में सिर्फ़ एक या दो दिन तक ही चमक रहती है। उसके बाद वो चमक खो जाती है। सेब के सरीके का इस्तेमाल मैनीक्योर करने के लिए किया जा सकता है। लंबे समय तक नाखूनों की चमक को रखने के लिए मैनीक्योर करने से पहले सेब के सिरके को अपने नाखूनों पर लगा कर सूखने दें। इस प्रक्रिया से नाखूनों में मौजूद तेल आसानी से निकलता है जिससे पोलिश नाखूनों पर लंबे समय तक रहती है।

(और पढ़ें - nakhun ki dekhbhal kaise kare)

एप्पल साइडर विनेगर के फायदे शेविंग के लिए - Seb ke sirke ka istemal after shave ki tarah

शेविंग करने के बाद चेहरे की त्वचा रेज़र के कारण कट या छिल सकती है। इस कटी हुई त्वचा को राहत देने के लिए आफ्टर शेव लोशन का इस्तेमाल किया जाता है। इस लोशन के बजाए आप सेब के सिरके का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। इसमें मौजूद एंटीसेप्टिक गुणों के कारण यह कटी हुई त्वचा को ठीक करता है। साथ ही यह त्वचा को नमी देता है तथा बंद रोम छिद्रों को खोलता है। एक बोतल में सेब के सिरके और पानी का मिश्रण मिलाकर रख लें और आसानी से इसका प्रयोग करें।

(और पढ़ें - कटने पर क्या करे)

सेब का सिरका के लाभ सेल्यूलाइट को कम करें - Apple Cider Vinegar for Cellulite in Hindi

सेब के सिरके में खनिज, पोटेशियम, मैग्नीशियम और कैल्शियम जैसे घटक मौजूद होते हैं जो सेल्युलाईट से छुटकारा पाने में मदद करते हैं। ये सभी तत्व जांघों और पेट के आस-पास के विषैले तत्व को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। पानी और सेब के सिरके को साथ में मिलाएं यदि आप चाहें, तो इस मिश्रण में थोड़ा सा शहद भी मिला सकते हैं। शरीर के प्रभावित हिस्सों पर इसे लगाएं और 30 मिनट तक छोड़ दें, फिर इसे गर्म पानी से धोलें। इस प्रक्रिया को दिन में 2 बार करें। 

(और पढ़ें - सेल्‍युलाइट से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपचार)

सेब के सिरके के फायदे यीस्ट संक्रमण में लाभदायक - Apple Cider Vinegar for Yeast Infection in Hindi

सेब के सिरके का इस्तेमाल यीस्ट संक्रमण को ठीक करने के लिए भी किया जाता है। सेब के सिरके का प्रतिदिन 2 चम्मच सेवन करने से महिलाओं को यीस्ट संक्रमण रोग से मुक्ति मिलती है। यह उपाए हर व्यक्ति के लिए फ़ायदेमं हों ऐसा ज़रूरी नही है इसलिए यदि इसका उपयोग करने के बाद आपको कोई समस्या हो रही है तो डॉक्टर से संपर्क करें। 

(और पढ़ें – योनि में इन्फेक्शन और खुजली के उपाय)

एप्पल साइडर विनेगर बेनिफिट्स मुहाँसें को दूर करें - Seb ke sirka ka fayda Muhaso ke liye in Hindi

सेब के सरीके को चेहरे पर लगाने से मुहांसे कम हो जाते हैं। यदि आपके चेहरे पर मुहाँसें हो गये हैं तो, रूई पर सेब के सिरके की कुछ बूँदें डालकर उसे चेहरे पर लगाएं। इससे आपके चेहरे की सारी अशुद्धियां हट जाएँगी और चेहरे से सभी दाग धब्बों ​​के निशान भी हट जाएँगे। 

(और पढ़ें – मुंहासों से छुटकारा पाने के उपाय)

सेब के सिरके के लाभ दिलाएँ जोड़ो में दर्द से राहत - Sev ka sirka ke fayde jodo ke dard ke liye

यदि आपके जोड़ो में दर्द है तो सेब के सिरके को कम मात्रा में लेकर दर्द वाली जगह पर लगाएं। ऐसा करने से आपको दर्द में राहत मिलेगी। अगर आप 2 चम्मच सेब का सिरका, 1 चम्मच नारियल तेल को मिलाकर इससे रोजाना मालिश करेंगे, तो कुछ ही दिनों में आपको दर्द से राहत मिल सकती है।

यदि आपकी गर्दन में दर्द है तो, सेब के सिरके को 6 कप गुनगुने पानी में मिलाएँ, एक कपड़े को उसमें भिगो लें और उसे गर्दन पर लगाएं, ऐसा करने के कुछ ही समय बाद आपको दर्द से राहत मिल सकती है।

(और पढ़ें – jodo me dard ka upay)

सेब के सिरके के अन्य लाभ - Seb ke sirke ke any labh

सेब के सिरके के अन्य फायदे -

  • सेब के सिरके का सेवन, कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है। (और पढ़ें – कैंसर के कारण)
  • इसमे एंटीबैक्टीरियल तत्व होते हैं जो त्वचा से रेड स्पॉट को हटाते हैं।
  • रोजाना एक छोटी चम्मच सेब के सिरके का सेवन करने से मुँह की बदबू ख़तम हो सकती है।
  • अगर आप इसका सेवन रोज करते हैं तो कैंसर होने की संभावना कम हो जाती है।
  • यह आपकी त्वचा पर टोनर की तरह कम करता है, जिससे मुहाँसे कम हो जाते हैं।
  • सेब के सिरके से रोज सुबह गार्गल करने पर दाँतों से पीलापन हट जाता है और दाँत सफेद होते हैं।

अगर आप इनमें से किसी भी प्रकार के रोग से पीड़ित है तो बताएं गये उपचारों को अपनाएं और स्वस्थ शरीर बनाएं रखें।

घर में सेब का सिरका बनाने के कुछ आसान चरण–

पहला चरण –

सबसे पहले 10 सेब लें और उन्हें अच्छे से धो लें।

दूसरा चरण -

अब एक चाक़ू लें और सेब को तीन हिस्सों में काटतें।

तीसरा चरण -

अब कटे हुए सेब को कमरे के तापमान में रखें। इन्हे तब तक ऐसे ही रहने दें जब तक वो भूरे रंग के न दिखने लगें।

चौथा चरण -

कटे हुए सेब को किसी बड़े जग में डाल दें।

पांचवा चरण -

जग में पानी मिलाएं जिससे सेब अच्छे से पानी से ढक जाएँ।

छठा चरण -

अब जग को किसी जालीदार कपड़े से ढककर रख दें। लेकिन ध्यान रखें कपड़ा ज़्यादा टाइट न लगा हो। जिससे मिश्रण को हवा अच्छे से मिलती रेहनी चाहिए।

सातवां चरण -

अब जग को किसी गर्माहट और अँधेरे वाली जगह पर रख दें।

आठवां चरण -

जग को छः महीने तक इसी तरह ढका हुआ छोड़ दें। हफ्ते में एक बार उसे चमच से अच्छी तरह से मिलाएं। 

नौवा चरण -

छः महीने के बाद कपड़े को हटा लें। आप देखेंगे कि मिश्रण के ऊपर झाग बन गए हैं। यह आम बैक्टीरिया की वजह से होता है और मिश्रण सिरके में बदलने लगता है।

दसवां चरण -

अब एक और जग लें उसके ऊपर जालीदार कपड़ा ढकें। फिर इस सिरके वाले जग को नए जग में डालें। तब तक इसे डालें जब तक इस जग का मिश्रण पूरी तरह से नए जग में न चला जाये।

ग्यारहवां चरण -

फिर वही जालीदार कपड़े से नए जग को ढक दें।

बारहवां चरण -

अब इस नए जग को गर्माहट और अँधेरे वाली जगह पर पांच से छः हफ्तों के लिए रख दें।

तेरहवां चरण -

अब अगर आप चाहते हैं तो सेब के सिरके को किसी छोटे कंटेनर में रख दें। वरना इसे ऐसे ही रहने दें। अब उसे ढककर फ्रिज में रख दें। इस तरह सेब का सिरका लम्बे समय तक ताज़ा रहेगा।

सेब के सिरके को खुद से तैयार करने से पहले एक बात ध्यान में रखें कि पूरी प्रक्रिया में इस्तेमाल होने वाले कंटेनर, जग या बर्तन एकदम साफ़ होने चाहिए। अगर वो साफ़ नहीं होंगे तो आपके सेब के सिरके में बेकार बैक्टीरिया चले जाएंगे, जिससे ये और भी ज़्यादा उसमे बढ़ सकते हैं।

इस्तेमाल करने से पहले सभी बर्तन को गर्म और अच्छी साबुन से साफ़ करें। सबसे ज़रूरी बात, प्रक्रिया शुरू करने से पहले अपने हाथ और नाखूनों को भी अच्छे से साफ़ कर लें।

एप्पल साइडर विनेगर से अपने घर को साफ़ करें - Seb ke sirke se apne ghar ko saaf kare

अगर आपने अभी तक सेब के सिरके को घर को साफ़ करने के लिए इस्तेमाल नहीं किया है तो अभी से इसका इस्तेमाल करना शुरू कर दीजिये। क्योंकि सेब का सिरका दुर्गंद और बक्टेरिया को खत्म करता है, इसमें एन्टीबैटीरियल गुण होते हैं जो कठोर केमिकल्स को कम करते हैं। बस आधा कप सेब के सिरके को एक कप पानी के साथ मिलाएं फिर मिश्रण को अच्छे से मिलाने के बाद इसे एक स्प्रे बोतल में डाल दें और बस काम पर लग जाएँ।

सेब के सिरके के प्रयोग से दुर्गन्ध को करें दूर - Seb ke sirke ke prayog se durgandh ko kare door

कमरों, किचन और बाथरूम से आने वाली दुर्गन्ध को सेब का सिरका दूर करता है। सेब के सिरके को इस्तेमाल करने से बेकार बैक्टीरिया खत्म हो जाते हैं और दुर्गन्ध भी चली जाती हैं। दुर्गन्ध को दूर करने के लिए, एक बर्तन में सेब के सिरके को डालें और वहां रख दें जहां से ज़्यादा बदबू आ रही है। सिरके को तब तक रहने दें जब तक की गंध चली न जाए।

सेब के सिरका के लाभ से डैंड्रफ की समस्या होगी कम - Seb ke sirke ke labh se dandruff ki samasya hogi kam

सेब का सिरका बालों में डैंड्रफ की समस्या को झटपट दूरकर देता है। बालों को सेब के सिरके से धोने से डैंड्रफ बिल्कुल चला जाएगा। ये सिर की त्वचा का PH स्तर बदलता है और डैंड्रफ खत्म करता है (इससे बढ़ने वाले कवक में रुकावट आती है, जो कि डैंड्रफ के कई कारणों में से एक है)। साथ ही ये तैलीय, खुजली और इरिटेशन से छुटकारा दिलाता है। एक या दो चम्मच सेब के सिरके को एक ग्लास पानी में मिलाएं और इस मिश्रण से नहाते समय बालों को धोएं।

(और पढ़ें - बालों से रूसी हटाने के घरेलू उपाय)

डैंड्रफ को खत्म करने के लिए सेब के सिरके और पानी दोनों को एक चौथाई मात्रा में मिला लें और फिर इसे स्प्रे वाली बोतल में डाल दें। अब इस मिश्रण को सिर की त्वचा पर लगाएं और कुछ घंटों के लिए इसे ऐसे ही रहने दें। अब बालों को धोलें।

(और पढ़ें - डैंड्रफ खत्म करने के लिए तेल)

सेब साइडर सिरका की मदद से रंगत को सुधारें - Sev ka sirka ka fayde se rangat ko sudhare

सेब का सिरका मुहांसों से लड़ने में बेहद मदद करता है। इसका उपयोग करने से आपकी त्वचा के बैक्टीरया मर जाते हैं और रंगत सुधरने लगती है। इसे एस्ट्रिजेंट की तरह इस्तेमाल करें (इसे पानी के साथ मिलाएं और फिर चेहरे पर लगाएं) या फिर आप इसका दाग- धब्बों के इलाज के लिए भी उपयोग कर सकते हैं। ज़्यादातर स्वास्थ्य जानकार भी सलाह देते हैं कि इसे नहाने के पानी में सेंधा नमक के साथ सेब के सिरके को मिलाकर इस्तेमाल करने से त्वचा की अशुद्धियाँ और विषाक्त सब दूर हो जाती हैं।

(और पढ़ें - मुंहासे (पिम्पल्स) हटाने के घरेलू उपाय)

 

सेब साइडर सिरका के लाभ से मस्से को हटाने में मिलेगी मदद - Get rid of warts with Apple cider vinegar in Hindi

मस्से किसी भी व्यक्ति को हो सकते हैं। लेकिन कोई ऐसा नहीं चाहता है की उसकी त्वचा पर किसी तरह के दाग या मस्से हों। मस्से को हटाने के लिए आप सेब के सिरके का इस्तेमाल करें। इस्तेमाल करने के लिए, सेब के सिरके में रूई डुबोएं और फिर इस रूई को मस्से पर रातभर के लिए लगाकर छोड़ दें।

(और पढ़ें - मस्से हटाने के घरेलू उपाय)

सेब का सिरका रखता है दांतों को सफ़ेद - Apple cider vinegar for teeth whitening in Hindi

अगर आपके दांत पीले हैं और आप उन्हें सफ़ेद करना चाहते हैं तो सेब के सिरके का इस्तेमाल करें। इसे इस्तेमाल करने के बाद आपके दांत एकदम सफ़ेद लगने लगेंगे। आप इसे माउथ वाश की तरह भी इस्तेमाल कर सकते हैं। डेंटिस्ट सलाह देते हैं कि आप सेब के सिरके और पानी का मिश्रण बनाकर कुछ समय तक इसको मुँह में रखें और कुल्ला करें। ऐसा करने से आपके दांतों का पीलापन बिल्कुल चला जाएगा।

(और पढ़ें - दांतों का पीलापन हटाने के लिए उपाय)

सेब का सिरका इसलिए लोकप्रिय है क्योंकि उसके कई फायदे हैं। लेकिन कुछ मामलों में इसका सेवन शरीर के लिए हानिकारक भी हो सकता है। सेब के सिरके का प्रयोग मोटापे और डायबिटीज जैसी बीमारियों को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है लेकिन इसका अधिक इस्‍तेमाल करने से कई खतरनाक समस्यायें भी हो सकती हैं।

सेब के सिरके के नुकसान -

  • सेब के सिरके में एसिड होता है और इसका अधिक उपयोग करने से इसोफोगस, टूथ इनेमल और पेट की समस्यायें भी हो सकती हैं। अगर इसका उपयोग सीधे त्वचा पर किया जाए तो इससे त्वचा में खुजली, जलन और रैशेज हो सकते हैं। इसलिए इसका उपयोग सीधे तौर पर करने के लिए मना किया जाता है और पानी, शहद, जूस, बेकिंग सोडा आदि के साथ करने की सलाह दी जाती है। (और पढ़ें - खुजली दूर करने के घरेलू उपाय)
  • सेब के सिरके में एसिड होने के कारण यह शरीर में मौजूद ब्लड में पोटैशियम के स्तर को कम करता है।
  • सेब के सिरके को सीधा दांतों पर इस्तेमाल करने से दांतों को नुकसान हो सकता है। इसके अलावा इसका सीधा प्रयोग करना दांतों में पीलेपन की समस्या को भी बढ़ाता है। इसमें मौजूद एसिड दांतों की संवेदनशीलता को बढ़ा देता है, जिससे खाने-पीने में समस्या हो सकती है। सेब के सिरके का प्रयोग करने के तुरंत बाद पानी से अच्छी तरह कुल्ला कर लें और उसके बाद अन्य खान-पान का सेवन करें।
  • इसके अलावा सेब के सिरके का अधिक उपयोग करने से यह हड्डियों में मौजूद मिनरल घनत्व (bone mineral density) को भी कम कर देता है। जिन लोगों को हड्डियों से सम्बन्धित कोई बिमारी होती है खास तौर पर- ऑस्टियोपोरोसिस, उन लोगों को सेब के सिरके का सेवन करने की सलाह नहीं दी जाती है।

सेब के सिरके के ज़बरदस्त और अनोखे लाभ सम्बंधित चित्र

और पढ़ें ...

References

  1. Carol S. Johnston, Cindy A. Gaas. Vinegar: Medicinal Uses and Antiglycemic Effect. MedGenMed. 2006; 8(2): 61. PMID: 16926800
  2. Surajit Bhattacharya. Wound healing through the ages. Indian J Plast Surg. 2012 May-Aug; 45(2): 177–179. PMID: 23162212
  3. Darshna Yagnik, Vlad Serafin, and Ajit J. Shah. Antimicrobial activity of apple cider vinegar against Escherichia coli, Staphylococcus aureus and Candida albicans; downregulating cytokine and microbial protein expression. Sci Rep. 2018; 8: 1732. PMID: 29379012
  4. Panayota Mitrou. Vinegar Consumption Increases Insulin-Stimulated Glucose Uptake by the Forearm Muscle in Humans with Type 2 Diabetes. J Diabetes Res. 2015; 2015: 175204. PMID: 26064976
  5. Kondo T, Kishi M, Fushimi T, Ugajin S, Kaga T Vinegar intake reduces body weight, body fat mass, and serum triglyceride levels in obese Japanese subjects.. Biosci Biotechnol Biochem. 2009 Aug;73(8):1837-43. Epub 2009 Aug 7. PMID: 19661687
  6. Wang Y et al. Staphylococcus epidermidis in the human skin microbiome mediates fermentation to inhibit the growth of Propionibacterium acnes: implications of probiotics in acne vulgaris. Appl Microbiol Biotechnol. 2014 Jan;98(1):411-24. PMID: 24265031
  7. Maria Fernanda Reis Gavazzoni Dias et al. The Shampoo pH can Affect the Hair: Myth or Reality?. Int J Trichology. 2014 Jul-Sep; 6(3): 95–99. PMID: 25210332
  8. Kashimura J, Kimura M, Itokawa Y. The effects of isomaltulose, isomalt, and isomaltulose-based oligomers on mineral absorption and retention. Biol Trace Elem Res. 1996 Sep;54(3):239-50. PMID: 8909697