myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

पिंटा रोग क्या है?

पिंटा रोग एक पुराना त्वचा विकार है जिसे पहली बार मेक्सिको में 16 वीं शताब्दी में देखा गया था। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने लैटिन अमेरिका के 15 देशों की सूची दी है जहां पिंटा पहले एक स्थानीय रोग था। हालांकि, इस बीमारी के बारे में सूचना उपलब्ध नहीं होने के कारण कितने लोग इससे प्रभावित है यह अभी ज्ञात नहीं है।

(और पढ़ें - त्वचा रोगों से बचने के उपाय)

पिंटा रोग क्यों होता है?

पिंटा रोग अपने भौगोलिक वितरण की दृष्टि से मेक्सिको, मध्य अमेरिका और दक्षिण अमेरिका के मूल निवासियों के बीच सीमित है और यह बहुत अधिक संक्रामक नहीं है। इसके फैलने के लिए शायद कटी-फटी त्वचा के साथ संपर्क की आवश्यकता होती है।

पिंटा रोग के लक्षण क्या हैं?

पिंटा रोग ट्रेपेनेमा कैरेटियम नामक बैक्टीरिया से संक्रमण के कारण होता है। इस बैक्टीरिया के संपर्क में आने के बाद लगभग दो से चार सप्ताह में लक्षण नजर आते हैं। संक्रमण का पहला संकेत त्वचा पर धीरे-धीरे बढ़ने वाला लाल, खुरदरा उभार है। इसे प्राथमिक घाव कहा जाता है। प्राथमिक घाव आमतौर पर उस जगह पर दिखाई देता है जहां बैक्टीरिया त्वचा में प्रवेश करता है, अक्सर हाथों, पैरों या चेहरे पर।

प्राथमिक घाव के चारों ओर  छोटे घाव बनते हैं। इन्हें सैटेलाइट घाव कहा जाता है। संक्रमित क्षेत्र के पास स्थित लिम्फ नोड्स बड़े हो सकते हैं, लेकिन दर्द रहित होते हैं। पिंटा रोग का दूसरा चरण प्राथमिक घाव के चरण के बाद 1 से 12 महीने के बीच होता है।

(और पढ़ें - घाव भरने के तरीके)

पिंटा रोग का इलाज कैसे होता है?

त्वचा रोग विशेषज्ञों और संक्रामक रोग विशेषज्ञों द्वारा पिंटा रोग का परिक्षण किया जा सकता है। घावों की उपस्थिति जांच में मदद करती है।ट्रेपेनेमा कैरेटियम के प्रति एंटीबॉडी के परीक्षण के लिए रोगी की भुजा से खून का नमूना लिया जाता है। ट्रेपेनेमा कैरेटियम बैक्टीरिया को देखने के लिए माइक्रोस्कोप के नीचे घाव के स्क्रैपिंग (खुरचन) की जांच की जाती है।

बेंजाथाइन पेनिसिलिन से पिंटा रोग का इलाज किया जाता है। हालांकि अगर बच्चे को पेनिसिलिन से एलर्जी है, तो वैकल्पिक एंटीबायोटिक्स निर्धारित किए जा सकते हैं। अन्य उपयोगी एंटीबायोटिक्स में टेट्रासाइक्लिन या एरिथ्रोमाइसिन शामिल हैं। इलाज के 24 घंटे के भीतर त्वचा के घाव गैर संक्रामक हो जाते हैं। शुरुआती घाव 6 से 12 महीने के भीतर ठीक हो जाते हैं, लेकिन रंग परिवर्तन के निशान लंबे समय तक बने रहते हैं।

(और पढ़ें - एलर्जी से बचने के उपाय)

  1. पिंटा रोग की दवा - Medicines for Pinta disease in Hindi

पिंटा रोग की दवा - Medicines for Pinta disease in Hindi

पिंटा रोग के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
BenzathineBenzathine 1200000 Iu Injection0
PencomPENCOM 24LAC INJECTION0

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

References

  1. National Organization for Rare Disorders [Internet]; Pinta.
  2. Stamm LV. Pinta. Pinta: Latin America's Forgotten Disease? Am J Trop Med Hyg. 2015 Nov 4;93(5):901-3. PMID: 26304920
  3. National Institutes of Health; [Internet]. U.S. National Library of Medicine. Effects of PINTA 745 in End Stage Renal Disease (ESRD) Patients Who Require Hemodialysis and Have Protein Energy Wasting.
  4. Fohn MJ et al. Specificity of antibodies from patients with pinta for antigens of Treponema pallidum subspecies pallidum. J Infect Dis. 1988 Jan;157(1):32-7. PMID: 3275725
  5. Science Direct (Elsevier) [Internet]; Pinta.
और पढ़ें ...