चर्म रोग (त्वचा विकार) - Skin Disorders and Diseases in Hindi

Dr. Ayush PandeyMBBS,PG Diploma

July 11, 2017

September 23, 2021

चर्म रोग
चर्म रोग

चर्म रोग (त्वचा के विकार) क्या होते हैं?

ऐसे विकार या संक्रमण जो मानव त्वचा को प्रभावित करते हैं, उन्हें चर्म रोग कहा जाता है। इनके कई कारण होते हैं।

हालांकि त्वचा को प्रभावित करने वाले अधिकांश रोग त्वचा की परतों में शुरू होते हैं, यह विभिन्न प्रकार के आंतरिक रोगों के निदान में भी मदद करते हैं। यह माना जाता है कि त्वचा से एक व्यक्ति के आंतरिक स्वास्थ्य का पता चलता है।

चर्म रोग (त्वचा विकार) के लक्षणों और गंभीरता में काफी भिन्नताएं हैं। यह अस्थायी या स्थायी होने के साथ ही  दर्द रहित या दर्दयुक्त दोनों ही तरह के हो सकते हैं। कुछ मामलों में यह स्थितिजन्य हो सकते हैं, जबकि अन्य में यह आनुवांशिक भी होते हैं। कुछ त्वचा विकारों की स्थिति बेहद ही सुक्ष्म होती है, और कुछ जीवन के लिए खतरनाक हो सकते हैं।

अधिकांश चर्म रोग सुक्ष्म होते हैं, जबकि अन्य एक अधिक गंभीर समस्या की ओर संकेत करते है। यदि आपको इन में से कोई त्वचा संबंधी समस्या हो तो अपने चिकित्सक से संपर्क करें।

त्वचा विकार के प्रकार - Types of Skin Disorders in Hindi

चार्म रोग के कितने प्रकार होते हैं?

आम त्वचा विकार और संक्रमण में निम्नलिखित को शामिल किया जाता है - 

चर्म रोग (त्वचा विकार) के लक्षण - Skin Disorders Symptoms in Hindi

त्वचा विकार के लक्षण व संकेत क्या होते हैं?

त्वचा विकार के निम्नलिखित लक्षण होते हैं -

  1. लाल या सफेद रंग के उभार।
  2. दर्दनाक या खुजली वाले चकत्ते।
  3. त्वचा का खुरदुरापन।
  4. त्वचा का छिलना।
  5. अल्सर।
  6. खुले घाव या जखम।
  7. सूखी व फटी त्वचा।
  8. त्वचा पर फीके रंग के धब्बे।
  9. थक्के, मस्से या अन्य त्वचा के उभार।
  10. तिल के रंग या आकार में परिवर्तन।
  11. त्वचा का रंग बिगड़ना।
  12. अत्यधिक फ्लशिंग (Flushing - चेहरे, कान, गर्दन और धड़ में गर्मी महसूस होना) होना।

त्वचा के संक्रमण के निम्नलिखित लक्षण होते हैं -

त्वचा के संक्रमण के लक्षण उसके प्रकार पर भिन्न होते हैं। इसके आम लक्षण हैं त्वचा की लाली और चकत्ते। आप अन्य लक्षणों का भी अनुभव कर सकते हैं, जैसे - खुजली, दर्द और कोमलता।

गंभीर संक्रमण के लक्षण निम्नलिखित हैं -

  1. मवाद।
  2. छाले।
  3. त्वचा की मोटाई और टूटना।
  4. फीकी और दर्दनाक त्वचा।

चर्म रोग (त्वचा विकार) के कारण - Skin Disorders Causes & Risk Factors in Hindi

चर्म रोग क्यों होते हैं?

1. त्वचा के विकार (स्किन डिजीज)

त्वचा के विकार के निम्नलिखित कारण होते हैं -

  1. त्वचा के छिद्रों और बालों के रोम में फंसे बैक्टीरिया।
  2. त्वचा पर रहने वाले कवक, परजीवी या सूक्ष्मजीव।
  3. वायरस।
  4. प्रतिरक्षा प्रणाली की कमजोरी।
  5. एलर्जी करने वाले पदार्थों या किसी अन्य व्यक्ति की संक्रमित त्वचा के साथ संपर्क में आना।
  6. अनुवांशिक कारक।
  7. थायरॉयड, प्रतिरक्षा प्रणाली, गुर्दे और अन्य शरीर प्रणालियों को प्रभावित करने वाली बीमारियों से ग्रस्त होना।

2. त्वचा के संक्रमण (स्किन इन्फेक्शन)

त्वचा के संक्रमण के कारण उसके प्रकार पर निर्भर करते हैं।

  1. बैक्टीरिया से हुआ त्वचा का संक्रमण - यह संक्रमण तब होता है जब बैक्टीरिया त्वचा में एक घाव के माध्यम से शरीर में प्रवेश करते हैं, जैसे कि कट या खरोंच।
  2. वायरस से हुआ त्वचा का संक्रमण - सबसे आम वायरस तीन समूहों में से होते हैं - पॉक्सवायरस (Poxvirus), हयूमन पैपिलोमावायरस (Human papillomavirus) और हर्पीस वायरस (Herpes virus)।
  3. फंगल संक्रमण - शरीर के रसायन और जीवन शैली फफूंद संक्रमण के जोखिम को बढ़ा सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप एक खिलाड़ी हैं या यदि आपको बहुत अधिक पसीना आता है, तो आप कई बार एथलीट्स फुट अनुभव कर सकते हैं।
  4. परजीवी त्वचा संक्रमण - त्वचा के नीचे छोटे कीड़े या जीव जो वहीं अंडे देते हैं, त्वचा संक्रमण कर सकते हैं।

चर्म रोग (त्वचा विकार) से बचाव - Prevention of Skin Disorders in Hindi

चर्म रोग से बचने के लिए क्या करें?

त्वचा विकारों और संक्रमण से बचने के लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें -

  1. साबुन और गर्म पानी से अपने हाथों को बार-बार धो लें। (और पढ़ें - स्वच्छता से संबंधित गलत आदतें)
  2. खाने और पीने के बर्तन अन्य लोगों के साथ शेयर न करें।
  3. जिन लोगों को त्वचा का संक्रमण है, उनके साथ सीधे संपर्क से बचें।
  4. सार्वजनिक स्थानों, जैसे जिम उपकरण, को इस्तेमाल करने से पहले साफ करें।
  5. व्यक्तिगत सामान, जैसे कि कंबल, कंघा या स्विमिंग सूट को लोगों के साथ शेयर न करें।
  6. प्रत्येक रात कम से कम सात घंटे सोएं।
  7. खूब पानी पिएँ। (और पढ़ें - आयुर्वेद के अनुसार एक दिन में कितना पानी पीना चाहिए)
  8. अत्यधिक शारीरिक या भावनात्मक तनाव से बचें।
  9. पौष्टिक आहार खाएं।
  10. संक्रामक त्वचा समस्याओं जैसे कि चिकन पॉक्स के लिए टीका लगवाएं।

त्वचा के संक्रमण हल्के से गंभीर तक भिन्न हो सकते हैं। यदि आपको त्वचा की ऐसी समस्या है जो परेशानी पैदा कर रही है, तो अपने चिकित्सक से बात करें।

चर्म रोग (त्वचा विकार) का निदान - Diagnosis of Skin Disorders in Hindi

त्वचा की एलर्जी व विकार और त्वचा को प्रभावित करने वाली अन्य समस्याओं का निदान करने के लिए विभिन्न प्रकार के त्वचा परीक्षण किए जा सकते हैं। कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि और किसी अन्य वृद्धि के बीच अंतर को बताने के लिए भी यह परीक्षण किए जाते हैं।

सबसे आम त्वचा के परीक्षण निनलिखित हैं -

  • पैच टेस्ट
    पैच परीक्षण त्वचा की एलर्जी का पता लगाने में मदद करता है। कुछ एलर्जी करने वाले पदार्थों को चिपकने वाले पैच के साथ त्वचा पर लगाया जाता है और कुछ समय की अवधि के लिए छोड़ दिया जाता है। फिर किसी भी प्रतिक्रिया के लिए त्वचा की जांच की जाती है। (और पढ़ें - एलर्जी की दवा)
     
  • बायोप्सी
    बायोप्सी को त्वचा के कैंसर या सौम्य त्वचा विकारों के निदान के लिए उपयोग किया जाता है। बायोप्सी के दौरान, त्वचा के एक छोटे भाग को हटाया जाता है और विश्लेषण के लिए प्रयोगशाला में ले जाया जाता है। (और पढ़ें - बायोप्सी क्या है)
     
  • कल्चर टेस्ट
    कल्चर एक ऐसा परीक्षण होता है जो संक्रमण करने वाले सूक्ष्मजीव (बैक्टीरिया, कवक या वायरस) को पहचानने के लिए किया जाता है। बैक्टीरिया, कवक या वायरस का पता लगाने के लिए त्वचा, बाल या नाखून का परीक्षण किया जा सकता है।

(और पढ़ें - लैब टेस्ट)

चर्म रोग (त्वचा विकार) का इलाज - Skin Disorders Treatment in Hindi

चर्म रोग का इलाज क्या है?

1. त्वचा विकार (स्किन डिजीज)

कई त्वचा विकार का उपचार उपलब्ध है। कुछ आम उपचार विधियां निम्नलिखित हैं -

  1. एंटीहिस्टेमाइंस (antihistamines)।
  2. औषधीय क्रीम और मलहम।
  3. एंटीबायोटिक दवाएं।
  4. विटामिन या स्टेरॉयड इंजेक्शन।
  5. लेजर थेरेपी।
  6. लक्षित दवाएं (targeted prescription medicines)।

एक तरफ सभी त्वचा के विकार उपचार से ठीक नहीं होते हैं, और दूसरी तरफ, कुछ त्वचा विकार बिना इलाज के ठीक हो जाती हैं।

आप अस्थायी त्वचा विकारों का इलाज निम्नलिखित तरीकों से कर सकते हैं -

  1. अंग्रेजी दवाइयों से (कृपया डॉक्टर की सलाह से ही कोई भी दवा लें)।
  2. केमिस्ट पर मिलने वाले त्वचा उत्पाद।
  3. स्वच्छता रख कर।
  4. कुछ जीवन शैली समायोजन, जैसे आहार परिवर्तन।

2. त्वचा के संक्रमण (स्किन इन्फेक्शन)

स्किन इन्फेक्शन का उपचार उसके कारण और गंभीरता पर निर्भर करता है। कुछ प्रकार के वायरल त्वचा संक्रमण कुछ दिनों या हफ्तों में अपने आप ठीक हो जाते हैं।

  • बैक्टीरिया संक्रमण का उपचार अक्सर एंटीबायोटिक दवाओं को त्वचा पर लगाकर या मौखिक एंटीबायोटिक दवाओं से किया जाता है। अगर बैक्टीरिया पर इन दवाओं का कोई असर नहीं होता है, तो संक्रमण का इलाज करने के लिए अस्पताल में नसों से एंटीबायोटिक दवाएं दी जाती हैं।
     
  • त्वचा के फंगल संक्रमण का इलाज करने के लिए केमिस्ट के पास मिलने वाले एंटिफंगल स्प्रे और क्रीम का उपयोग किया जा सकते। इसके अलावा, आप परजीवी त्वचा संक्रमण का इलाज करने के लिए त्वचा पर औषधीय क्रीम लगा सकते हैं।
     
  • वैकल्पिक उपचार
    त्वचा के संक्रमण के लिए आप निम्नलिखित उपाय भी कर सकते हैं -
  1. खुजली और सूजन को कम करने के लिए दिन में कई बार कोल्ड क्रीम लगाएं। (और पढ़ें - खुजली दूर करने के उपाय)
  2. खुजली कम करने के लिए केमिस्ट पर मिलने वाली एंटीहिस्टामाइन लें।
  3. खुजली और असुविधा को कम करने के लिए क्रीम और मरहम का उपयोग करें।
  4. अपने डॉक्टर से अपने लक्षणों के बारे में बात करें।


संदर्भ

  1. National Institute of Arthritirs and Musculoskeletal and Skin Disease. [Internet]. U.S. Department of Health & Human Services; Skin Diseases.
  2. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Skin Conditions.
  3. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Hives.
  4. Kurban RS,Kurban AK et al. Common skin disorders of aging: diagnosis and treatment.. Geriatrics. 1993 Apr;48(4):30-1, 35-6, 39-42. PMID: 8462882
  5. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Skin Health and Skin Diseases.
  6. Pauline McLoone et al. Honey: A Therapeutic Agent for Disorders of the Skin. Cent Asian J Glob Health. 2016; 5(1): 241. PMID: 29138732

चर्म रोग (त्वचा विकार) के डॉक्टर

Dr. Neha Baig Dr. Neha Baig डर्माटोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव
Dr. Avinash Jhariya Dr. Avinash Jhariya डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव
Dr. R.K . Tripathi Dr. R.K . Tripathi डर्माटोलॉजी
12 वर्षों का अनुभव
Dr. Deepak Kumar Yadav Dr. Deepak Kumar Yadav डर्माटोलॉजी
2 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

चर्म रोग (त्वचा विकार) की दवा - Medicines for Skin Disorders and Diseases in Hindi

चर्म रोग (त्वचा विकार) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

चर्म रोग (त्वचा विकार) की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Skin Disorders and Diseases in Hindi

चर्म रोग (त्वचा विकार) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

चर्म रोग (त्वचा विकार) की जांच का लैब टेस्ट करवाएं

चर्म रोग (त्वचा विकार) के लिए बहुत लैब टेस्ट उपलब्ध हैं। नीचे यहाँ सारे लैब टेस्ट दिए गए हैं:

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ