myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

त्वचा विकार लक्षण और गंभीरता दोनों में ही काफी पीड़ादायक होता है। चर्म रोग कुछ समय के लिए या लंबे समय के लिए हो सकता है। त्वचा रोग होने के कुछ कारण परिस्थितियों (माहौल, कार्यदशा, खानपान) के अनुसार होते हैं, जबकि कुछ अनुवांशिक होते हैं। वहीं, कुछ त्वचा रोग साधारण होते हैं और कुछ आपकी जान को जोखिम में भी डाल सकते हैं।

चर्म रोग और उसकी गंभीरता को कम करने के लिए आज हम आपके लिए कुछ घरेलू उपाय लेकर आये हैं। इन उपायों के इस्तेमाल से आप चर्म रोग से बचाव कर पाएंगे।

(और पढ़ें - चर्म रोग का इलाज)

तो आइये आपको बताते हैं, चर्म रोग से बचने के घरेलू उपाय –

  1. डर्मेटाइटिस के लिए - Dermatitis ke liye
  2. केरेटोसिस के लिए - Keratosis ke liye
  3. एक्जिमा और सोरायसिस के लिए - Eczema and psoriasis ke liye
  4. मुहांसों के लिए - Muhaso ke liye
  5. बाबा से सीखें विभिन्न चर्म रोगों से कैसे पाएं राहत
  6. स्किन की 5 बड़ी समस्याओं का इकलौता समाधान

त्वचा रोग के उपाय के लिए नारियल का तेल उपयोगी है - Twacha rog ka upay hai coconut oil

नारियल के तेल में एंटीमाइक्रोबियल और मॉइस्चराइजिंग के गुण होते हैं जो डर्मेटाइटिस की समस्या से लड़ने में मदद करते हैं। नारियल तेल कुछ ही हफ्तों में लालिमा और रूखेपन को दूर कर देता है।

(और पढ़ें - स्किन एलर्जी ट्रीटमेंट)

नारियल के तेल का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले नारियल के तेल को गर्म करें।
  2. फिर इस तेल को प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं। जिससे त्वचा मुलायम हो सके।
  3. अच्छा परिणाम पाने के लिए, रोजाना रात को सोने से पहले नारियल के तेल का इस्तेमाल करें।
  4. यह त्वचा के विकार के लिए बहुत ही बेहतरीन उपाय है।

(और पढ़ें - नारियल तेल के फायदे

त्वचा विकार का उपाय करें ओट्स से - Twacha vikar ka upay hai oats

ओट्स से नहाने से त्वचा की इरिटेशन, खुजली और रैशेज का इलाज होता है। इससे आपकी त्वचा मॉइस्चराइज़्ड रहती है।

(और पढ़ें - त्वचा पर चकत्तों के घरेलू उपाय)

ओट्स का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले एक बाथ टब में या नहाने की बाल्टी में गर्म पानी भर लें।
  2. फिर उसमें एक कप ओट्स मिलाएं। (और पढ़ें - ओट्स के लाभ
  3. अब मिश्रण को अच्छे से मिलाने के बाद 15 से 20 मिनट के लिए इस पानी से नहाएं या बाथ टब में बैठ जाएँ।
  4. इस उपाय को रोजाना एक महीने के लिए दोहराएं।

(और पढ़ें - शीतपित्त के उपचार

चर्म रोग से छुटकारा पाने के लिए सेब का सिरका है लाभदायक - Charm rog se chutkara pane ke liye apple vinegar hai upyogi

डर्मेटाइटिस का इलाज करने के लिए सेब का सिरका बहुत ही अच्छी सामग्री है। इससे सूजन और खुजली से आराम मिलता है।

(और पढ़ें - खुजली का घरेलू उपाय)

सेब के सिरके का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले सेब के सिरके को पानी के साथ बराबर मात्रा में मिला लें। (और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे
  2. अब इस मिश्रण में रूई डालें और उस रूई को प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं।
  3. लगाने के बाद आधे घंटे के लिए सेब के सिरके को त्वचा पर ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. फिर त्वचा को गीले कपड़े से पोछें।
  5. अच्छा परिणाम पाने के लिए इस उपाय को कुछ हफ्ते तक जरूर इस्तेमाल करें।

(और पढ़ें - सिर में खुजली के लिए घरेलू उपाय

चर्म रोग का घरेलू नुस्खा है विटामिन ई - Charm rog ka gharelu nuskha hai vitamin E

डर्मेटाइटिस के लिए सबसे अच्छा और आसान उपाय है विटामिन ई का तेल। यह तेल त्वचा को खुजली और सूजन से राहत दिलाती है। इसलिए प्रभावित त्वचा पर विटामिन ई तेल को लगाएं, खासकर रात को सोने से पहले लगाएं। आप विटामिन ई से बना लोशन या क्रीम भी लगा सकते हैं। 

(और पढ़ें - विटामिन इ कैप्सूल्स फोर स्किन)

चर्म रोग के घरेलू उपाय के लिए करें एक्सफोलिएशन - Charm rog ke gharelu upay ke liye kare exfoliation

रोजाना एक्सफोलिएशन (त्वचा को रगड़ना) करने से त्वचा पर गांठ (त्वचा पर अलग-अलग प्रकार के फोड़े या दाने दिखना) कम हो जाती है। यह प्रक्रिया त्वचा की परत से मृत कोशिकाओं को साफ़ करता है। कुछ ही हफ्तों में आपको अपनी त्वचा पर सुधार दिखने लगेगा। एक्सफोलिएशन रोजाना करें, जिससे आपकी त्वचा मुलायम बनी रहे।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए क्रीम)

 

चर्म रोग का उपाय है जैतून का तेल - Charm rog ka desi upay hai olive oil

नमक त्वचा को एक्सफोलिएट यानि साफ करता है, जबकि जैतून का तेल त्वचा को मॉइस्चराइज़ करता है। यह उपाय त्वचा विकार के लिए बहुत ही बेहतरीन है।

(और पढ़ें - फंगल इन्फेक्शन का इलाज)

जैतून के तेल का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले जैतून के तेल की दो चम्मच और तीन चम्मच नमक लें।
  2. अब दोनों सामग्रियों को अच्छे से मिला लें।
  3. फिर इस मिश्रण को त्वचा पर पड़ रहे दानों और उभरती हुई गांठों पर लगाएं।
  4. लगाने के बाद कुछ मिनट तक मसाज करें।
  5. फिर त्वचा को साबुन से धो लें।

(और पढ़ें - जैतून के तेल के लाभ

चर्म रोग के घरेलू उपाय में बेकिंग सोडा है फायेदेमंद - Charm rog ka gharelu upay hai baking soda

बेकिंग सोडा में केमिकल का असर हल्का होता है, जबकि नमक में घिसने का प्रभाव होता है। त्वचा रोग के लिए यह सबसे अच्छा उपाय माना जाता है।

(और पढ़ें - सफेद दाग का इलाज)

बेकिंग सोडा और नमक का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले दोनों सामग्रियों को कुछ मात्रा में पानी में मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  2. अब इस पेस्ट को प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं और लगाने के बाद पांच से दस मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  3. फिर त्वचा को पानी से धो लें।
  4. इस उपाय को हफ्ते में तीन से चार बार दोहराएं।

(और पढ़ें - बेकिंग सोडा के फायदे

त्वचा विकार के लिए दही है गुणकारी - Twacha vikar ke liye dahi hai gunkari

दही में मौजूद लैक्टिक एसिड त्वचा को एक्सफोलिएट करता है। दूध की वसा त्वचा को मॉइस्चराइज़ करती है। चर्म रोग के लिए यह बहुत ही बेहतरीन उपाय माना जाता है।

(और पढ़ें - मॉइस्चराइजर लगाने का तरीका)

दही का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले तीन से चार चम्मच दही लें।
  2. अब इसे प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं और लगाने के बाद त्वचा पर 10 से 15 मिनट के लिए सूखने दें।
  3. सूखने के बाद त्वचा को साबुन से धो लें।

(और पढ़ें - दही के फायदे

हल्दी की मदद से करें त्वचा विकार को ठीक - Haldi ki madad se kare twacha rog ko thik

अध्ययन इस मसाले को कई त्वचा संबंधी समस्याओं, जैसे सोरायसिस का इलाज करने में बहुत ही बेहतरीन उपाय मानते हैं। हल्दी में मौजूद करक्यूमिन में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो त्वचा के फ्री रेडिकल्स को नियंत्रित करते हैं और घाव को भरते हैं।

(और पढ़ें - सोरायसिस के घरेलू उपाय)

हल्दी का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. रोजाना एक चम्मच हल्दी का सेवन जरूर करें। (और पढ़ें - हल्दी के फायदे
  2. इसमें साइट्रस स्वाद होता है जिसे आप चावलों, सब्जियों, पास्ता और अन्य आहार में भी मिलाकर खा सकते हैं।

(और पढ़ें - घाव भरने के उपाय

त्वचा विकार को सही करता है अलसी - Twacha rog se bachne ka tarika hai flaxseed

अलसी में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है जो आपके शरीर में केमिकल के प्रभाव को रोकता है, जिसे आर्कीडोनिक एसिड कहते हैं। 

(और पढ़ें - एक्जिमा के घरेलू उपचार)

अलसी का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. कुछ चम्मच अलसी को मिक्सर में मिक्स कर लें। (और पढ़ें - अलसी के फायदे
  2. मिक्स करने के बाद उसे ओट्स या जूस में मिला सकते हैं।
  3. आप अलसी के तेल को सलाद या सब्जियों को सजाने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़ें - एक्जिमा के लिए योग)

 

चर्म रोग से बचने के उपाय के लिए करें शहद का उपयोग - Charm rog se bachne ke upay ke liye karen honey ka upyog

शहद में एंटीबायोटिक गुण होते हैं, जो मुहांसों को ठीक करने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - मुंहासे हटाने के घरेलू उपाय)

शहद का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले एक चम्मच शहद लें। (और पढ़ें - शहद के फायदे
  2. फिर उसे प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं।
  3. इसके अलावा आप एक या दो कप शहद को एक कप ओट्स के साथ भी मिलाकर त्वचा पर लगा सकते हैं।
  4. त्वचा पर मिश्रण को लगाने के बाद, आधे घंटे के लिए उसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  5. फिर त्वचा को पानी से धो लें।

(और पढ़ें - मुँहासे का इलाज)

 

चर्म रोग दूर करने का उपाय है पुदीना - Charm rog dur karne ka upay hai pudina

पुदीना बंद छिद्रों में मौजूद तेल को साफ़ करता है और त्वचा को चर्म रोग से छुटकारा दिलाता है।

(और पढ़ें - एक्जिमा में क्या खाना चाहिए)

पुदीने का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले दो चम्मच पुदीने की पत्तियों को पीस लें।
  2. फिर इन पत्तियों को दो चम्मच दही और ओट्स (ओट्स का पाउडर बनाने के लिए आप इसे मिक्सर में मिला सकते हैं) के साथ मिलाएं।
  3. अच्छे से मिश्रण को मिलाने के बाद उसे चेहरे पर लगाएं।
  4. लगाने के बाद दस मिनट तक मिश्रण को लगाकर रखें।
  5. फिर त्वचा को पानी से धो लें।

(और पढ़ें - पुदीने के फायदे

और पढ़ें ...