शॉक - Shock in Hindi

Dr. Ayush PandeyMBBS

October 29, 2018

July 13, 2021

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
शॉक
शॉक
कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

शॉक क्या है?

शॉक, शारीरिक और मानसिक दोनों प्रकार की स्थिति हो सकती है। इस लेख में हमने आपको शारीरिक शॉक के बारे में बताया है। अगर आप मानसिक शॉक के बारे में जानना चाहते हैं, तो सदमा वाला लेख पढ़ें।

शॉक लगना एक घातक स्थिति है जो शरीर को पर्याप्त खून न मिल पाने के कारण होती है। इसका मतलब ये है कि शॉक की स्थिति में शरीर की कोशिकाओं और अंगों को उचित या पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन या पोषक तत्व नहीं मिलते, जिसके कारण कई अंगों को नुकसान होने लगता है और वह ठीक से काम नहीं कर पाते। ये स्थिति अचानक से बिगड़ सकती है और इसके लिए तुरंत इलाज की आवश्यकता होती है। पांच में से एक व्यक्ति की इस स्थिति के कारण मौत भी हो सकती है। 

शॉक के लक्षण क्या हैं?

शॉक लगने पर बेहोशी, नब्ज असामान्य होना, शुगर कम होना, दिल की धड़कन अनियमित होना, मुंह सूखना, चक्कर आना, सांस फूलना, पेशाब कम आना, छाती में दर्द और चिंता जैसे कई लक्षण अनुभव होने लगते हैं।

(और पढ़ें - नब्ज कैसे देखते हैं)

शॉक क्यों लगता है?

शरीर में खून की सप्लाई को प्रभावित करने वाले किसी भी कारण से आपको शॉक लग सकता है, जैसे एलर्जी, जलना, बहुत अधिक खून बह जाना, शरीर में जहर चले जाना, हार्ट फेलियर और शरीर में पानी की कमी। ऐसा इसीलिए होता है क्योंकि शरीर को ऊर्जा बनाने के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है और पर्याप्त ऑक्सीजन न मिल पाने के कारण कोशिकाएं मरने लगती हैं, जिससे शरीर के अंगों को नुकसान होता है और व्यक्ति की मौत हो जाती है।

शॉक का इलाज कैसे होता है?

शॉक की स्थिति का जल्द से जल्द इलाज करना बहुत महत्वपूर्ण होता है नहीं तो इससे व्यक्ति की मौत हो सकती है। इसका इलाज शॉक के कारण पर निर्भर करता है, जैसे इन्फेक्शन के कारण लगने वाले शॉक के लिए एंटीबायोटिक दवाएं दी जाती हैं और बहुत अधिक खून बह जाने के कारण लगने वाले शॉक के लिए खून चढ़ाया जाता है।



संदर्भ

  1. National Institute of Mental Health [Internet] Bethesda, MD; Post-Traumatic Stress Disorder. National Institutes of Health; Bethesda, Maryland, United States
  2. American Psychological Association [internet] St. NE, Washington, DC. Trauma.
  3. Jonathan E. Sherin. Post-traumatic stress disorder: the neurobiological impact of psychological trauma. Dialogues Clin Neurosci. 2011 Sep; 13(3): 263–278. PMID: 22034143
  4. National Institute of Mental Health [Internet] Bethesda, MD; Treatments and Therapies. National Institutes of Health; Bethesda, Maryland, United States
  5. Better health channel. Department of Health and Human Services [internet]. State government of Victoria; Shock.

शॉक की दवा - Medicines for Shock in Hindi

शॉक के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹35.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹44.56

20% छूट + 5% कैशबैक


₹65.1

20% छूट + 5% कैशबैक


₹40.73

20% छूट + 5% कैशबैक


₹31.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹46.58

20% छूट + 5% कैशबैक


₹53.2

20% छूट + 5% कैशबैक


₹80.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹37.84

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 10 of 559 entries
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ