myUpchar सुरक्षा+ के साथ पुरे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

लार ग्रंथि में पथरी होना क्या है?

सलाइवरी डक्ट स्टोन, आपके मुंह के अंदर लार ग्रंथियों में बनी पथरी होती है। इसे मुँह में पथरी भी कहा जाता है। सलाइवरी ग्लैंड की यह पथरी आपकी लार के प्रवाह को अवरुद्ध कर सकती है। आमतौर पर ये गंभीर नहीं होती हैं और आप उन्हें स्वयं हटाने में सक्षम हो सकते हैं। अधिकांश पथरियां आपकी जीभ के नीचे पाई जाने वाली लार ग्रंथियों में से किसी एक में होती हैं। कभी-कभी पथरी आपको बाहर से दिख जाती हैं, तो कभी-कभी नहीं दिखती हैं।

(और पढ़ें - पथरी में क्या नहीं खाएं)

लार ग्रंथि में पथरी के लक्षण क्या हैं?

लक्षणों में शामिल हैं:

(और पढ़ें - गर्दन के दर्द को दूर करने के उपाय)

ये अधिकांश लक्षण अक्सर खाने-पीने के दौरान पैदा होते हैं।

लार ग्रंथि में पथरी क्यों होती है?

आपकी लार में पाए जाने वाले कुछ पदार्थ, जैसे कैल्शियम फॉस्फेट और कैल्शियम कार्बोनेट, क्रिस्टलीकृत होकर पथरी का निर्माण कर सकते हैं। वे आकार में कुछ मिलीमीटर से दो सेंटीमीटर तक हो सकते हैं। जब ये पथरी आपकी लार ग्रंथि की नलिकाओं को अवरुद्ध करती है तो लार, ग्रंथियों में जमा हो जाती है, जिससे उनमें सूजन आने लगती है।

(और पढ़ें - सूजन कम करने का तरीका)

इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि आखिर पथरी का निर्माण होता ही क्यों है। लेकिन निम्नलिखित कुछ कारक हैं, जिनसे पथरी बनने का जोखिम अधिक हो सकता है:

  • ब्लड प्रेशर की दवाएं और एंटीहिस्टामाइन जैसी दवाओं को लेना, जो आपकी ग्रंथियों द्वारा बनाई जाने वाली लार की मात्रा को कम करती हैं।
  • शरीर में पानी की कमी होना, क्योंकि इससे आपकी लार अधिक गाढ़ी हो जाती है।
  • पर्याप्त भोजन नहीं करना, जिससे लार के उत्पादन में कमी आती है।

(और पढ़ें - bp kam karne ka upay)

लार ग्रंथि में पथरी का इलाज कैसे होता है?

यदि आपको लार ग्रंथि में पथरी के लक्षण महसूस होते हैं तो आपके डॉक्टर पहले पथरी की जांच करेंगे। कभी-कभी एक्स-रे, सीटी स्कैन या अल्ट्रासाउंड जैसे परिक्षण भी किए जा सकते हैं।

छोटी पथरियों के लिए, नींबू या खट्टी कैंडीज़ चूसने से लार के प्रवाह को उत्तेजित करके पथरियों को अपने आप बाहर निकाला जा सकता है। छोटी पथरी के कुछ अन्य मामलों में डॉक्टर पथरी को मालिश या डक्ट से धक्का दे कर बाहर निकाल सकते हैं। बड़ी पथरियों को हटाने के लिए डॉक्टर आमतौर पर मुंह में एक छोटा चीरा लगाते हैं।

(और पढ़ें - पथरी का दर्द क्यों होता है)

लार ग्रंथियों में बार-बार पथरी होने या इनमें ठीक न हो सकने वाली क्षति होने पर सर्जरी से लार ग्रंथि को हटाना आवश्यक हो सकता है। इसके अलावा, यदि लार ग्रंथि की पथरी से संक्रमण हो गया है तो एंटीबायोटिक दवाएं भी दी जाती हैं।

(और पढ़ें - एंटीबायोटिक दवा लेने से पहले रखें इन बातों का ध्यान)

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...