myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

एक्स-रे रेडियोलॉजी टेस्ट का एक प्रकार है जिसमें एक्स-रे की किरणें की मदद से शरीर के अंदरूनी अंगो की तसवीरें ली जाती हैं। एक्स-रे से किसी प्रकार का दर्द नहीं होती है, और आम तौर से सही तरीके से एक्स-रे करने से कोई हानि भी नहीं होती है (एक्स-रे से संबंधित जोखिम के बारे में नीचे बताया गया है)। 

तो आइये जानते हैं इसके बारे में -

  1. एक्स रे क्या होता है? - What is X-ray in Hindi?
  2. एक्स रे क्यों किया जाता है - What is the purpose of X-ray in Hindi
  3. एक्स रे से पहले - Before X-ray in Hindi
  4. एक्स रे के दौरान - During X-ray in Hindi
  5. एक्स रे के बाद - After X-ray in Hindi
  6. एक्स रे के क्या जोखिम होते हैं - What are the risks of X-ray in Hindi

एक्स-रे एक आम इमेजिंग टेस्ट है जो दशकों से इस्तेमाल किया जा रहा है। यह आपके शरीर में बिना कोई चीरा लगाए डॉक्टर को आपके शरीर के अंदर की तस्वीरीं निकालने में मदद करता है। इससे उन्हें कई बिमारियों के निदान, निगरानी और इलाज में मदद मिलती है।

विभिन्न प्रकार के एक्स-रे का प्रयोग विभिन्न प्रयोजनों के लिए किया जाता है। उदाहरण के लिए, आपके डॉक्टर आपके स्तनों की जांच करने के लिए मैमोग्राफ की सलाह दे सकते हैं। या वे आपके गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट (gastrointestinal tract) की जांच करने के लिए बैरियम एनीमा के साथ एक्स-रे करवाने के लिए बोल सकते हैं।

आपके डॉक्टर इन परिस्थितियों में एक्स-रे करवाने के लिए कह सकते हैं - 

  1. एक ऐसे क्षेत्र की जांच करने के लिए जहां आप दर्द या बेचैनी का अनुभव कर रहे हैं।
  2. ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) जैसे रोग को मॉनिटर करने के लिए।
  3. यह जांच करने के लिए कि निर्धारित उपचार कितनी अच्छी तरह काम कर रहा है।

इनके अलावा कई अन्य लक्षणों या बिमारियों में भी एक्स-रे की ज़रुरत पद सकती है। उदाहरण के तौर पर - 

एक्स-रे एक साधारण प्रक्रिया है। ज्यादातर मामलों में, आपको एक्स-रे करवाने से पहले कोई विशेष तैयारी करने की आवश्यकता नहीं होती है। आम तौर से बस ये दो सावधानियां बरतने को कहा जा सकता है -

  • एक्स-रे से पहले आपको ढीले, आरामदायक कपड़े पहनने को कहा जा सकता है, जैसे कि हॉस्पिटल।
  • एक्स-रे के लिए ले जाने से पहले, आपके शरीर से गहने या अन्य किसी भी धातु की वस्तु को हटाने के लिए कहा जाएगा।

कुछ मामलों में, आपको एक्स-रे से पहले "कंट्रास्ट डाई" लेने की आवश्यकता हो सकती है। यह एक तरल पदार्थ है जो एक्स-रे से निकाली गयी तस्वीरों की क्वालिटी को बेहतर बनाने में मदद करेगा। इसमें आयोडीन या बेरियम यौगिक शामिल हो सकते हैं। 

एक्स-रे के कारण के आधार पर, कंट्रास्ट डाई अलग-अलग तरीके से दी जा सकती है -

  • एक तरल के माध्यम से जिसे आप निगलते हैं
  • आपके शरीर में इंजेक्शन के द्वारा

यदि आप अपने गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट की जांच के लिए एक्स-रे करवा रहे हैं, तो आपके डॉक्टर आपको टेस्ट से पहले कुछ खाने पीने से मना कर सकते हैं। और कुछ मामलों में, डॉक्टर आपको अपने पेट को साफ करने के लिए दवाएं लेने के लिए भी कह सकते हैं।

एक बार जब आप पूरी तरह से तैयार हो जाएं, तो एक्स-रे तकनीशियन (जिन्हे "रेडियोलॉजिस्ट" कहा जाता है) एक्स-रे के द्वारा चित्र लेंगे। वे आवश्यकता के अनुसार आपको परीक्षण के दौरान कई स्थानों पर लेटने, बैठने या खड़े होने के लिए कह सकते हैं।

एक्स-रे फिल्म या सेंसर वाली विशेष प्लेट के सामने खड़े होने पर ये चित्र ले सकते हैं कुछ मामलों में, नर्स या तकनीशियन आपको एक विशेष प्लेट पर लेटने या बैठने के लिए कह सकते हैं।

जब चित्र लिए जा रहे होते हैं, उस समय आपको हिलने डुलने के लिए मना किया जाता है। जैसे ही आपके रेडियोलॉजिस्ट लिए गए चित्र से संतुष्ट हो जाते हैं तो आपका टेस्ट पूरा हो जाता है।

एक्स-रे से चित्र लिए जाने के बाद, आप अपने नार्मल कपड़े वापस पहन सकते हैं।

आपकी स्थिति के अनुसार आपके डॉक्टर आपको अपने सामान्य कार्य शुरू करने को या और आराम करने को कह सकते हैं। आपके परिणाम आपको उसी दिन या उसके अगले दिन उपलब्ध हो जाएंगे। 

आपके शरीर के चित्र बनाने के लिए एक्स-रे छोटी मात्रा में रेडिएशन का उपयोग करते हैं। रेडिएशन जोखिम का स्तर ज्यादातर वयस्कों के लिए सुरक्षित माना जाता है, लेकिन बढ़ते बच्चो के लिए नहीं। यदि आप गर्भवती हैं या गर्भवती होने की संभावना है, तो एक्स-रे से पहले अपने डॉक्टर को ज़रूर बताएं।

यदि एक दर्दनाक स्थिति का पता लगाने या शरीर की देखभाल करने में सहायता के लिए एक्स-रे किया गया है, जैसे कि टूटी हुई हड्डी, तो आपको टेस्ट के दौरान दर्द या असुविधा का अनुभव हो सकता है। कुछ स्थितियों में, जब तस्वीरें ली जा रही होंगी तब आपको अपने शरीर को ऐसी पोज़िशन में करने को कहा जा सकता है जिनमें आपको दर्द या परेशानी हो।  ऐसा इसलिए ताकि प्रभावित अंग की ठीक से तस्वीर ली जा सके। ऐसी स्थिति में आपके डॉक्टर पहले से दर्द निवारक दवा लेने के लिए कह सकते हैं।

यदि आप अपने एक्स-रे से पहले कंट्रास्ट डाई लेते हैं, तो इसका दुष्प्रभाव हो सकता है। इन दुष्प्रभावों में गले में खराश, खुजलीजी मिचलाना या चक्कर आना शामिल है।

बहुत ही दुर्लभ मामलों में, डाई के कारण गंभीर साइड-इफ़ेक्ट हो सकते हैं, जैसे कि एनाफिलेक्टिक शॉक (तीव्र एलर्जी), ब्लड प्रेशर बहुत हो जाना या हृदय से जुड़ी कोई समस्या। यदि आपको संदेह है कि आपको गंभीर साइड-इफ़ेक्ट हो रही है, तो तुरंत अपने डॉक्टर को बताएं।

और पढ़ें ...

References

  1. Better health channel. Department of Health and Human Services [internet]. State government of Victoria; X-ray examinations
  2. US Food and Drug Administration (FDA) [internet]; Medical X-ray Imaging
  3. University of Rochester Medical Center [Internet]. Rochester (NY): University of Rochester Medical Center; Chest X-Ray
  4. Link TM, Adams JE. Metabolic and endocrine skeletal disease. In: Adam A, Dixon AK, Gillard JH, Schaefer-Prokop CM, eds.Grainger & Allison's Diagnostic Radiology. 6th ed. New York, NY: Elsevier Churchill Livingstone; 2015:chap 50.
  5. Mettler, FA. Skeletal system. In: Mettler FA, ed. Essentials of Radiology. 3rd ed. Philadelphia, PA: Elsevier Saunders; 2014:chap 8.