myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

स्ट्रेप थ्रोट - Strep Throat in Hindi

Dr. Ayush PandeyMBBS

November 21, 2017

November 05, 2020

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
स्ट्रेप थ्रोट
सुनिए कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

स्ट्रेप थ्रोट क्या है?

स्ट्रेप थ्रोट एक प्रकार का जीवाणु संक्रमण है जिसके कारण गले में सूजन और दर्द की स्थिति होती है। अध्ययनों के अनुसार ग्रुप ए स्ट्रेप्टोकोकस बैक्टीरिया इसके मुख्य कारक होते हैं। ज्यादातर मामलों में बच्चों को यह समस्या होती है। हालांकि, इससे किसी भी उम्र के लोग प्रभावित हो सकते हैं। स्ट्रेप थ्रोट का संक्रमण खांसने, छींकने के माध्यम से एक से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है।

विशेषज्ञों के मुताबिक स्ट्रेप्टोकोकस बैक्टीरिया नाक और गले में पाए जाते हैं और यह संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने के कारण फैल सकते हैं। समय पर इलाज करके इसके गंभीर असर को कम किया जा सकता है। यदि स्ट्रेप थ्रोट का इलाज न किया जाए तो यह कई प्रकार की अन्य समस्याओं जैसे किडनी में सूजन या रूमेटिक फीवर का भी कारण बन सकता है। रूमेटाइड फीवर के कारण जोड़ों में दर्द और सूजन की भी समस्याएं हो सकती हैं।

यदि आपको स्ट्रेप थ्रोट की समस्या हो तो इस बारे में डॉक्टर से शीघ्र संपर्क करना चाहिए। ऐसा करके आप परिवार के अन्य सदस्यों को इस संक्रमण से सुरक्षित कर सकते हैं। इस लेख में हम स्ट्रेप थ्रोट के लक्षण, कारण और इसके इलाज के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

स्ट्रेप थ्रोट के लक्षण - Strep Throat symptoms in Hindi

स्ट्रेप थ्रोट की गंभीरता एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न हो सकती है। कुछ लोगों को गले में खराश जैसे हल्के लक्षणों का अनुभव होता है। वहीं कुछ लोगोंं को बुखार और निगलने में कठिनाई जैसे गंभीर लक्षण भी हो सकते हैं। हालांकि, सामान्य रूप से गले में दर्द और खराश के साथ ही संक्रमण की शुरुआत होती है।

ये लक्षण आमतौर पर स्ट्रेप बैक्टीरिया के संपर्क में आने के पांच दिनों के भीतर दिखने शुरू होते हैं। ऐसा भी हो सकता है कि आपको उपरोक्त में से कुछ लक्षणों का अनुभव हो रहा हो लेकिन स्ट्रेप थ्रोट की समस्या न हो। यह किसी अन्य बीमारी या फिर वायरल संक्रमण के कारण हो सकता है। इस स्थिति में डॉक्टर विशेष रूप से स्ट्रेप थ्रोट के लिए परीक्षण कर सकते हैं।

स्ट्रेप थ्रोट का कारण - Strep Throat causes in Hindi

स्ट्रेप थ्रोट स्ट्रेप्टोकोकस पायोजेन्स या ग्रुप ए स्ट्रेप्टोकोकस (जिसे ग्रुप ए स्ट्रेप या जीएएस के नाम से भी जाना जाता है) नामक बैक्टीरिया के कारण होता है। इन बैक्टीरिया के संपर्क में आने के बाद यदि आप आंख, नाक या मुंह को छूते हैं तो स्ट्रेप थ्रोट संक्रमण होने का खतरा रहता है।

संक्रमित व्यक्ति के खांसने और छींकने के अलावा उस व्यक्ति के साथ यदि आप खाना शेयर करते हैं तो भी आपके संक्रमित होने का खतरा रहता है। इसके अलावा यदि किसी वस्तु पर यह बैक्टीरिया मौजूद हों और आप उस वस्तु के छूने के बाद अपनी आंखों, नाक या मुंह को छूते हैं तो भी आपको संक्रमण हो सकता है। स्ट्रेप्टोकोकल बैक्टीरिया अत्यधिक संक्रामक होते हैं। ड्रॉपलेट्स के माध्यम यह आसपास की अन्य वस्तुओं पर पहुंच सकते हैं।

स्ट्रेप थ्रोट की जटिलताएं - Complications of Strep Throat in Hindi

स्ट्रेप थ्रोट खतरनाक नहीं है, लेकिन कुछ लोगों में इससे गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं। आमतौर पर एंटीबायोटिक दवाओं के माध्यम से इसका इलाज किया जाता है। जैसा कि उपरोक्त पंक्तियों में बताया गया है कि स्ट्रेप बैक्टीरिया तेजी से फैल सकते हैं, ऐसे में इससे शरीर के कई अंगोंं के संक्रमित होने का खतरा रहता है।

  • टॉन्सिल
  • साइनस
  • त्वचा
  • रक्त
  • कान का मध्य हिस्सा

इसके अलावा स्ट्रेप संक्रमण से कई प्रकार की इंफ्लामेटरी बीमारियां भी हो सकती हैं। जैसे—

  • स्कार्लेट फीवर : यह एक स्ट्रेप्टोकोकल संक्रमण है जिसमें चकत्ते हो सकते हैं।
  • किडनी में सूजन (पोस्टस्ट्रेप्टोकोकल ग्लोमेरुलोनेफ्राइटिस)
  • रूमेटाइड फीवर : यह एक गंभीर इंफ्लामेशन की स्थिति है जो हृदय, जोड़ों, तंत्रिका तंत्र और त्वचा को प्रभावित कर सकती है

स्ट्रेप थ्रोट का निदान - Diagnosis of Strep Throat in Hindi

स्ट्रेप थ्रोट की समस्या के निदान के लिए डॉक्टर शारीरिक परीक्षण करते हैं। स्ट्रेप थ्रोट के लक्षणों के आधार पर बीमारी की पुष्टि के लिए निम्न परीक्षणों की सलाह दी जा सकती है।

रैपिड एंटीजन टेस्ट : सबसे पहले गले के लार के सैंपल के आधार पर रैपिड एंटीजन टेस्ट किया जाता है। परीक्षण के द्वारा गले में एंटीजन की मौजूदगी के आधार पर स्ट्रेप बैक्टीरिया का पता लगाया जा सकता है। यदि परीक्षण का परिणाम नेगेटिव आता है पर डॉक्टर को अभी भी संदेह है, तो वह थ्रोट कल्चर टेस्ट की सलाह दे सकते हैं।

थ्रोट कल्चर : इस टेस्ट में सैंपल प्राप्त करने के लिए गले और टॉन्सिल के पीछे रगड़ा जाता है। रगड़ने से दर्द नहीं होता है। हालांकि, कुछ लोगों को खांसी जैसा अनुभव हो सकता है। इसके बाद बैक्टीरिया की उपस्थिति का पता लगाने के लिए सैंपल को प्रयोगशाला में भेजा जाता है। इसके परिणाम आने में दो से तीन दिन तक लग सकते हैं।।

स्ट्रेप थ्रोट का इलाज - Treatment of Strep Throat in Hindi

चूंकि स्ट्रेप थ्रोट एक जीवाणु संक्रमण है, इसलिए डॉक्टर इसके इलाज के लिए एंटीबायोटिक दवाओं को प्रयोग में लाते हैं। ये दवाएं बैक्टीरिया और संक्रमण के प्रसार को रोकती हैं। कई प्रकार के एंटीबायोटिक उपलब्ध हैं। संक्रमण को पूरी तरह से ठीक करने के लिए एंटीबायोटिक उपचार के कोर्स को पूरा करना बहुत आवश्यक होता है। आमतौर पर लक्षणों में सुधार होते ही कुछ लोग दवा लेना बंद कर देते हैं, इससे दोबारा संक्रमण होने का खतरा रहता है।

दवाओं के अलावा कुछ उपायों को प्रयोग में लाकर भी समस्या को कम किया जा सकता है।

  • गर्म पानी में एक चौथाई चम्मच नमक मिलाकर उससे गरारे करने से लाभ मिलता है।
  • बुखार उतारने और दर्द कम करने के लिए सामान्य दवाओं को प्रयोग में लाया जा सकता है। हालांकि, बिना डॉक्टरी सलाह के किसी भी दवा का सेवन न करें।
  • चाय और सूप जैसे गर्म तरल पदार्थों को पीने से भी लाभ मिलता है।
  • शरीर को पर्याप्त आराम दें।


संदर्भ

  1. Kalra MG, Higgins KE, Perez ED. Common Questions About Streptococcal Pharyngitis. Am Fam Physician. 2016 Jul 1;94(1):24-31. PMID: 27386721
  2. Center for Disease Control and Prevention [internet], Atlanta (GA): US Department of Health and Human Services; Strep Throat
  3. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Strep throat
  4. National Institute of Allergy and Infectious Diseases [Internet] Maryland, United States; Group A Streptococcal Infections.
  5. healthdirect Australia. Strep throat. Australian government: Department of Health
  6. Better health channel. Department of Health and Human Services [internet]. State government of Victoria; Streptococcal infection - group A

स्ट्रेप थ्रोट की दवा - Medicines for Strep Throat in Hindi

स्ट्रेप थ्रोट के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

स्ट्रेप थ्रोट की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Strep Throat in Hindi

स्ट्रेप थ्रोट के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹56.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹63.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹434.0

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 0 of 3 entries