ट्रांसेंट ग्लोबल एमनेशिया क्या है?

ट्रांसेंट ग्लोबल एमनेशिया अचानक या अस्थायी रूप से याददाश्त जाने वाली समस्या है, जो मिर्गी या स्ट्रोक से संबंधित नहीं होती। ट्रांसेंट ग्लोबल एमनेशिया के दौरान आप कहा हैं, क्या कर रहे हैं जैसी बातें आसानी से भूल जाते हैं। ऐसे में आप यह भी भूल जाते हैं कि आप कहां हैं और उस जगह पर कैसे आए। इस समस्या में याददाश्त जाने के बाद आप बार-बार एक ही सवाल पूछते रहते हैं, क्योंकि मिलने वाले जवाब को भी आप याद नहीं रख पाते। यह समाया ज्यादातर मध्यम उम्र या अधिक उम्र वाले लोगों को प्रभावित करती है। 

(और पढ़ें - याददाश्त खोने का इलाज​)

ट्रांसेंट ग्लोबल एमनेशिया के लक्षण क्या हैं?

ट्रांसेंट ग्लोबल एमनेशिया से पीड़ित व्यक्ति अचानक लेकिन अस्थायी रूप से नई बातें याद रखने की क्षमता को खो देता है और एमनेशिया के बाद हुई घटना को भी याद नहीं रख पाता। एमनेशिया में पीड़ित व्यक्ति चिंतित हो जाता है और बार-बार एक ही सवाल पूछता रहता है। व्यक्ति समय और जगह को लेकर उलझन में पड़ जाता है, लेकिन आमतौर पर वे अन्य लोगों की पहचान को लेकर सोच में नहीं पड़ता। ट्रांसेंट ग्लोबल एमनेशिया में याददाश्त आमतौर पर 1 से 8 घंटे तक के लिए जाती है, लेकिन कभी-कभी ये आधे घंटे से लेकर एक दिन के लिए भी जा सकती है।

(और पढ़ें - याददाश्त बढ़ाने के घरेलू उपाय)

ट्रांसेंट ग्लोबल एमनेशिया क्यों होता है?

ट्रांसेंट ग्लोबल एमनेशिया का अंतर्निहित कारण अभी पता नहीं चल पाया है, लेकिन ऐसा माना जाता है कि एमनेशिया और माइग्रेन का आपस में कोई संबंध है। हालांकि इन दोनों ही बीमारियों के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। नसों में रक्त ज्यादा भर जाने से या रक्त प्रवाह सही से न होने से भी आपको यह समस्या हो सकती है।

(और पढ़ें - माइग्रेन से छुटकारा पाने के उपाय)

कुछ संभावित कारण हैं जिनकी वजह से यह समस्या हो सकती है, जैसे - एकदम से ठंडे या गर्म पानी में चले जाना, तेज गति वाली शारीरिक गतिविधियां, यौन संबंध, चिकित्सीय प्रक्रिया जैसे एंजियोग्राफी या एंडोस्कोपी आदि। हालांकि, इन घटनाओं के बाद ट्रांसेंट ग्लोबल एमनेशिया होने की संभावना कम है। 

(और पढ़ें - भूलने की बीमारी का उपचार​)

ट्रांसेंट ग्लोबल एमनेशिया का इलाज कैसे होता है?

ट्रांसेंट ग्लोबल एमनेशिया में किसी भी प्रकार के इलाज की जरूरत नहीं है। यह अपने आप ठीक हो जाता है और इसका कोई स्थायी प्रभाव नहीं है।

(और पढ़ें - मानसिक रोग के इलाज)

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...