myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

अगर किसी मरीज के शरीर में हृदय तक खून पहुंचाने वाली एक या एक से अधिक रक्त वाहिकाएं यानी आर्टरी संकुचित हो जाए तो इस समस्या को ठीक करने के लिए हार्ट बाईपास सर्जरी या कोरोनरी बाईपास सर्जरी की जाती है। इसमें आमतौर पर हृदय में किसी अन्य रक्त वाहिका के हिस्से का इस्तेमाल कर रक्त प्रवाह को फिर से ठीक कर दिया जाता है। यह एक बड़ी सर्जरी मानी जाती है और सर्जरी के बाद मरीज की रिकवरी में काफी समय लगता है जिसमें मरीज को अपनी जीवनशैली में भी काफी बदलाव करने की जरूरत पड़ती है। 

देश के नंबर 1 हार्ट सर्जन्स में से एक और एशियन हार्ट इंस्टिट्यूट के वाइस चेयरमैन डॉ रमाकांत पांडा का सुझाव है कि अगर कोई व्यक्ति स्वस्थ जीवनशैली अपनाए तो बाईपास सर्जरी जैसे बड़े ऑपरेशन के बाद भी उस व्यक्ति की हृदय संबंधी सेहत लंबे समय तक बेहतर बनी रहती है। ऐसे में अगर आपकी या आपके किसी अपने परिवार के सदस्य की बाईपास सर्जरी हुई हो तो डाइट, एक्सरसाइज और हेल्थकेयर में सकारात्मक बदलाव करके आप अपने आगे के जीवन-स्तर को बेहतर बना सकते हैं। बाईपास सर्जरी के बाद आप किस तरह से स्वस्थ जीवन जी सकते हैं इसके लिए हम आपको बता रहे हैं कुछ जरूरी टिप्स के बारे में।

(और पढ़ें : बाईपास सर्जरी और एंजियोप्लास्टी में क्या है अंतर)

1. नियमित रूप से और समय पर दवाइयां लें
डॉ पांडा कहते हैं कि जब किसी व्यक्ति की बाईपास सर्जरी होती है तो उसे कई तरह की दवाइयां प्रिस्क्राइब की जाती हैं और व्यक्ति की परिस्थिति के आधार पर हर मरीज का एक अलग डिटेल प्लान तैयार किया जाता है। आमतौर पर सभी मरीजों को खून का थक्का जमने से रोकने की दवा, बीटा-ब्लॉकर, एसीई निरोधी दवाइयां और नाइट्रेट्स दी जाती हैं। इस बात का पूरा ध्यान रखें कि आप डॉक्टर द्वार बताई गई दवा का सही डोज नियमित रूप से और सही समय पर जरूर लें। अगर किसी नई दवा का सेवन करने पर आपको बेचैनी महसूस होने लगे तो तुरंत अपने डॉक्टर को इस बारे में सूचित करें। हो सकता है कि डॉक्टर आपको कोई और दवा बताएं जो आपको बेहतर तरीके से सूट करे।

2. धूम्रपान की लत छोड़ दें
धूम्रपान करने से आपके हृदय की कार्यप्रणाली पर सीधा असर पड़ता है और इससे शरीर में हृदय से जुड़े गंभीर लक्षण भी नजर आ सकते हैं। लिहाजा बाईपास सर्जरी के बाद आपको धूम्रपान पूरी तरह से छोड़ देना चाहिए। आप चाहें तो अपनी इस लत को छोड़ने के लिए अपने डॉक्टर से बात करके किसी पुर्नवास कार्यक्रम के बारे में जानकारी ले सकते हैं। स्मोकिंग की आदत छुड़वाने के लिए कई तरह की थेरेपी और सपोर्ट ग्रुप भी काम कर रहे हैं जो आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

(और पढ़ें : हृदय के ये 10 लक्षण जिन्हें कभी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए)

3. डॉक्टर की सलाह अनुसार एक्सरसाइज करें
सर्जरी के बाद आपको पूरी तरह से रिकवर होने में भले ही कई महीनों का वक्त लग जाए लेकिन इस दौरान बेहद जरूरी है कि आप ऐक्टिव रहें। आपकी स्थिति की गंभीरता को देखते हुए डॉक्टर आपको हार्ट बाईपास सर्जरी के बाद किस तरह की एक्सरसाइज करनी चाहिए इसका सुझाव देंगे और इस तरह की एक्सरसाइज समय के साथ बढ़ भी सकती है। 

(और पढ़ें : हृदय रोगी एक्सरसाइज से पहले इन बातों पर दें ध्यान)

4. हेल्दी डाइट का सेवन करें
आपके हार्ट हेल्थ को बनाए रखने के लिए स्वस्थ और संतुलित भोजन का सेवन करना बेहद जरूरी है। हृदय के लिए हेल्दी डाइट खाने का उद्देश्य यही है कि आपके शरीर में ब्लड कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम हो और आपका वजन भी ना बढ़े। आमतौर पर इस तरह की हेल्दी डाइट में प्रोसेस्ड और चीनी वाले खाद्य पदार्थ, फैट से भरपूर चीजें, रिच मीट, क्रीम और चीज जैसी चीजों की जगह लीन मीट, सीफूड, फलियां, दालें, सब्जियां और फलों का सेवन करने की सलाह दी जाती है। हो सकता है कि आपके लिए एक डाइटिशियन भी नियुक्त की जाए जो आपको सही डाइट का चुनाव करने और सही मील की प्लानिंग करने में आपकी मदद करे।

(और पढ़ें : हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खाएं ये आहार)

5. अगर कोई बीमारी भी हो तो उसे मैनेज करें
हृदय रोग के साथ अक्सर हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज जैसी कॉमन बीमारियां भी हो जाती हैं। ऐसे में अगर इन बीमारियों को सही तरीके से मैनेज न किया जाए तो कार्डिएक मरीजों की सेहत और बिगड़ सकती है। ऐसे में अगर बाईपास सर्जरी कराने वाले किसी भी व्यक्ति को इनमें से भी कोई भी बीमारी हो तो उन्हें इन बीमारियों की दवा भी नियमित रूप से लेनी चाहिए ताकि ये बीमारियां भी पूरी तरह से कंट्रोल में रहें। साथ ही साथ नियमित रूप से एक्सरसाइज करने और हेल्दी डाइट का सेवन करने से भी डायबिटीज और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखा जा सकता है।

6. तनाव से दूर रहें
हृदय की इतनी बड़ी सर्जरी होना आपके और आपके परिवार के सदस्यों के लिए तनावपूर्ण अनुभव हो सकता है। ऐसे मुश्किल समय में तनाव और अवसाद महसूस करना सामान्य सी बात है। लेकिन अगर आपको बहुत ज्यादा बेचैनी या तनाव महसूस हो रहा हो तो किसी प्रफेशनल से मदद लें। इस समय आपको अपने परिवार के सदस्यों और दोस्तों को जितना हो सके अपने करीब ही रखना चाहिए। अगर किसी व्यक्ति का सपोर्ट सिस्टम मजबूत हो तो उसे बीमारी से उबरने और तनाव के लेवल को कंट्रोल में रखने में बहुत मदद मिलती है।

(और पढ़ें : दिल को स्वस्थ रखने के लिए फायदेमंद हैं ये 5 योगासन)

  1. बाईपास सर्जरी के बाद स्वस्थ जीवन जीने के 6 टिप्स के डॉक्टर
Dr. Dinesh Kumar Mittal

Dr. Dinesh Kumar Mittal

कार्डियोलॉजी

Dr. Vinod Somani

Dr. Vinod Somani

कार्डियोलॉजी

Dr. Vinayak Aggarwal

Dr. Vinayak Aggarwal

कार्डियोलॉजी

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
604643 भारत
2दमन दीव
100अंडमान निकोबार
15252आंध्र प्रदेश
195अरुणाचल प्रदेश
8582असम
10249बिहार
446चंडीगढ़
2940छत्तीसगढ़
215दादरा नगर हवेली
89802दिल्ली
1387गोवा
33232गुजरात
14941हरियाणा
979हिमाचल प्रदेश
7695जम्मू-कश्मीर
2521झारखंड
16514कर्नाटक
4593केरल
990लद्दाख
13861मध्य प्रदेश
180298महाराष्ट्र
1260मणिपुर
52मेघालय
160मिजोरम
459नगालैंड
7316ओडिशा
714पुडुचेरी
5668पंजाब
18312राजस्थान
101सिक्किम
94049तमिलनाडु
17357तेलंगाना
1396त्रिपुरा
2947उत्तराखंड
24056उत्तर प्रदेश
19170पश्चिम बंगाल
6832अवर्गीकृत मामले

मैप देखें