myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

आलूबुखारा को इंग्लीश में प्लम (plums) के नाम से जाना जाता है। यह बहुत ही स्वादिष्ठ फल है। इसे ताज़ा या फिर सुखाकर भी खाया जाता है। आलूबुखारा के कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। पूरी दुनिया में आलूबुखारा की 2000 से ज़्यादा किस्में पाई जाती हैं। इसके सेवन से हाइ ब्लड प्रेशर, स्ट्रोक रिस्क आदि कम हो जाते हैं और शरीर में आयरन की मात्रा भी बढ़ जाती है। इसके सेवन से पुरुषों का शरीर मजबूत और ताकतवर बनता है। 

(और पढ़ें - स्ट्रोक की दवा)

आलूबुखारा में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व पाया जाता है। इसमें विटामिन C, K, A और ढेर सारा फाइबर मौजूद होता है। इसके साथ-साथ इसमें एंटी ऑक्सीडेंट्स भी होते हैं।

  1. आलूबुखारा के फायदे - Aloo Bukhara Ke Fayde In Hindi
  2. आलूबुखारा के नुकसान - Alu Bukhara Side Effects In Hindi
  3. आलूबुखारा कितनी मात्रा में खाएं - How Many Prunes To Eat Per Day In Hindi
  4. आलूबुखारे के रस के फायदे और नुकसान
  1. आलूबुखारा के फायदे कैंसर में - Plums Good For Cancer In Hindi
  2. आलूबुखारा के लाभ आंखों के लिए - Aloo Bukhara Ke Gun For Heart In Hindi
  3. आलूबुखारा के गुण वजन कम करने में - Benefits Of Plums For Weight Loss In Hindi
  4. सूखा आलूबुखारा के फायदे हड्डियां में - Dried Plums Good For Bones In Hindi
  5. आलूबुखारा फल पाचन क्रिया के लिए - Aloo Bukhara For Constipation In Hindi
  6. आलूबुखारा फ्री रेडिकल्स से बचाए - Plums Uses For Free Radicals In Hindi
  7. सर्दी और जुकाम में खाएं आलूबुखारा - Prunes Good For Colds In Hindi
  8. कोलेस्ट्रॉल पर नियंत्रण करे पल्म फ्रूट - Prunes For Cholesterol In Hindi
  9. आलू बुखारा रक्तचाप को करे नियंत्रित - Plums Good For Blood Pressure In Hindi
  10. आलूबुखारा के स्वास्थ्य लाभ हृदय के लिए - Aloo Bukhara Khane Ke Fayde For Heart In Hindi
  11. आलूबुखारा करे शुगर को नियंत्रित - Plum For Diabetes In Hindi
  12. आलूबुखारा के अन्य फायदे - Other Aloo Bukhara Benefits In Hindi

आलूबुखारा के फायदे कैंसर में - Plums Good For Cancer In Hindi

आलूबुखारा में एंटी ऑक्सीडेंट्स और कई अन्य ऐसे पोषक तत्व मौजूद हैं जिससे शरीर में कैंसर की कोशिकाएं नहीं पनपती हैं। आलूबुखारा में बीटा कैरोटीन मौजूद होता है जो शरीर में होने वाले कैंसर को रोकता है। इसके नियमित सेवन से लंग और मुँह का कैंसर नहीं होता है। 

(और पढ़ें – कैंसर के प्रकार)

आलूबुखारा के लाभ आंखों के लिए - Aloo Bukhara Ke Gun For Heart In Hindi

आलूबुखारा में मौजूद विटामिन ए हमारी आंखों और दृष्टि के लिए अच्छा माना जाता है। इसके सेवन से आँख की श्लेष्मा झिल्ली (mucous membrane) सही और स्वस्थ रहती है। इसमें महत्वपुर्ण पोषक तत्व फाइबर जेक्सनथिन (fiber zeaxanthin) होता है जो आँखो के रेटिना (retina) को मजबूत बनाती है। इसके सेवन से आँखे हानिकारक UV किरणों से बची रहती हैं।

आलूबुखारा के गुण वजन कम करने में - Benefits Of Plums For Weight Loss In Hindi

जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं या डायटिंग पर हैं वह अपना वजन कम करने के लिए आलूबुखारा का सेवन कर सकते हैं। इसके सेवन से फैट भी नहीं बढ़ता है और शरीर का वजन नियंत्रित रहता है। इसमें सुपरऑक्साइड (superoxide) उग्र होता है जिसे ऑक्सीजन रेडिकल के नाम से भी जाना जाता है। इसकी मदद से शरीर की चर्बी को कम किया जा सक्ता है।

(और पढ़ें - वजन कम करने के तरीके)

सूखा आलूबुखारा के फायदे हड्डियां में - Dried Plums Good For Bones In Hindi

आलूबुखारा में विटामिन K पाया जाता है जिससे हमारे शरीर की हड्डियां मजबूत बनती हैं और हम फिट महसूस कर सकते हैं। शोधकर्ताओं ने भी विटामिन K महिलाओं के लिए लाभदायक बताया है जिससे महिलाओं के मीनोपॉज (menopause) पर कोई भी नुकसान नही पहुचता है।

आलूबुखारा फल पाचन क्रिया के लिए - Aloo Bukhara For Constipation In Hindi

आलूबुखारा के नियमित सेवन से पाचन क्रिया ठीक रहती है। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है जिससे पेट की पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है। इसमें सोर्बिटोल (Sorbitol) और आइसटिन (Isatin) होती है जिससे पाचन क्रिया अच्छी तरह काम करता है और हमारा स्वास्थ्य अच्छा रहता है।

आलूबुखारा फ्री रेडिकल्स से बचाए - Plums Uses For Free Radicals In Hindi

आलूबुखारा में एंटी oxidants भरपूर मात्रा में पाया जाता है जिससे हमारा शरीर कई हानिकारक चीज़ो से बच सकता है। इसमें पॉलीफोनिक एंटी ऑक्सीडेंट जैसे लुटेइन (lutein), क्रयपटोसानथीन (cryptoxanthin) और जेक्सनथिन होते हैं जो हानिकारक ऑक्सीजन द्वारा उत्पादित फ्री रेडिकल्स को समाप्त कर देते हैं। इसके सेवन से हमारा शरीर ROS कंपाउंड से बचता है, जिससे कई बीमारियां नहीं होती हैं।

सर्दी और जुकाम में खाएं आलूबुखारा - Prunes Good For Colds In Hindi

आलूबुखारा में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है जो शरीर को स्वस्थ बनाता है और प्रतिरक्षक क्षमता को बढ़ाता है। जिन लोगों को सर्दी और जुकाम की समस्या रहती है वे आलूबुखारा का सेवन करें । इससे विटामिन सी ज़्यादा मात्रा में शरीर को मिलेगा और आपकी इम्युनिटी पावर मजबूत होगी।

कोलेस्ट्रॉल पर नियंत्रण करे पल्म फ्रूट - Prunes For Cholesterol In Hindi

आलूबुखारा में घुलनशील फाइबर (soluble fiber) होता है जो शरीर में बढ़ने वाले कोलेस्ट्रॉल पर नियंत्रण बनाए रखता है। इसके सेवन से आंत भी दुरुस्त रहती है। इससे फैट आसानी से पच जाता है। इसका उपयोग मोटापा घटाने और कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है।

आलू बुखारा रक्तचाप को करे नियंत्रित - Plums Good For Blood Pressure In Hindi

आलूबुखारा में पोटैशियम की मात्रा भी पाई जाती है जिससे हम अपने रक्तचाप को नियंत्रण में कर सकते हैं। एक कप आलूबुखारा में 7% पोटैशियम पाया जाता है।

आलूबुखारा के स्वास्थ्य लाभ हृदय के लिए - Aloo Bukhara Khane Ke Fayde For Heart In Hindi

आलूबुखारा दिल के स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसको खाने से शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल नियंत्रित रहता है जिससे दिल की बीमारी होने का खतरा कम होता है। इसके सेवन से हार्टअटैक या हार्टस्‍ट्रोक्‍स होने का खतरा भी कम हो जाता है। आलुबुखारा में ओमेगा 3 भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो दिल को स्वस्थ बनाता है।

आलूबुखारा करे शुगर को नियंत्रित - Plum For Diabetes In Hindi

आलूबुखारा के सेवन से शरीर में शुगर की मात्रा नहीं बढ़ती है और रक्त में शुगर भी नियंत्रित रहता है। शुगर से ग्रसित मरीज भी इसे आसानी से खा सकते हैं। शरीर में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने के लिए यह सबसे अच्‍छा होता है।

आलूबुखारा के अन्य फायदे - Other Aloo Bukhara Benefits In Hindi

आलूबुखारे के पत्तों को पीसकर पेट पर लेप लगाने से पेट के कीड़े खत्म हो जाते हैं। भोजन से पहले आलूबुखारे का सेवन करने से यह पित्त विकारों का नाश कर देता है। इसके बीजों को बादाम की तरह शुष्क फल (dry fruits ) के रूप में खाने से खट्टी डकार में फायदा होता है। आलूबुखारे के बीज की गिरी का सेवन करने से धीरे-धीरे सोचने की शक्ति बढ़ती है। आलूबुखारे के पत्तों का रस निकालकर २ बूँद नाक में डालने से नकसीर में फायदा होता है। आलू बुखारा में एंटीआक्सीडेंट पाया जाता है। इसके नियमित उपयोग से त्वचा चमकने लगती है। इसमें कई ऐसे कैमिकल मौजूद होते हैं जो हमारे दिमाग को काफी तेज बनाता है।

जिन लोगों को पहले से ही गुर्दे या पित्ताशय की पथरी की समस्या है उन्हें आलूबुखारा का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसमें उच्च ऑक्सलेट (oxalates) होता है जिस गुर्दे या पित्ताशय की पथरी में समस्या हो सकता है। आलूबुखारा का अधिक सेवन पेट की सूजन, गैस और पाचन तंत्र की समस्याओं को जन्म दे सकता है। 

(और पढ़ें – पेट में गैस के घरेलू उपचार

आलूबुखारा शरीर की आवश्यकता के अनुसार खाया जाना चाहिए। आलूबुखारा का सेवन व्यक्ति की उम्र, लिंग और स्वास्थ्य की स्थिति पर निर्भर करता है पर एक सामान्य स्वस्थ व्यक्ति को लगभग 200-250 ग्राम प्रतिदिन सेवन करना चाहिए।

और पढ़ें ...