myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

प्रोटीन हमारे शरीर के लिए सबसे आवश्यक तत्व है। ये हमारे शरीर में कई प्रकार के कार्यों के लिए मुख्य भूमिका निभाता है। पानी के बाद हमारे शरीर में बहुत अधिक मात्रा में पाए जाने वाला ये दूसरा पोषक तत्व है। त्वचा, रक्त, मांसपेशियों और हड्डियों की कोशिकाओं के विकास के लिए प्रोटीन बहुत ही आवश्यक होता है। तो आज हम आपके लिए लेकर आए हैं, प्रोटीन से संबंधित खाद्य पदार्थ और उनसे होने वाले लाभ। 

(और पढ़ें - प्रोटीन की कमी से होने वाले रोग)

1. चने की दाल

चने की दाल में कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन, आयरन और फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है। इसे बनाना भी बहुत आसान होता है। इसका सेवन किसी भी व्यक्ति के लिए बहुत ही लाभदायक है। चने की दाल का सेवन हमारे पाचन शक्ति को बेहतर बनाता है और चहरे में निखार भी लाता है। 100 ग्राम चने की दाल में 25 ग्राम प्रोटीन की मात्रा होती है। तो आज से ही चने की दाल का तड़का लगाइए और इतने सारे पोषक तत्वो का फ़ायदा उठाइए।

(और पढ़ें - पाचन क्रिया सुधारने के आयुर्वेदिक उपाय)

2. तिल

तिल और गुड़ की लड्डू तो सबने घर में बनता है और सबने इसके स्वाद का मज़ा भी लिया है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि तिल हमारे लिए कई तरह से लाभदायक होता है। तिल में मोनो-सैचुरेटेड फैटी एसिड पाया जाता है, जो शरीर से कैलेस्ट्रोल को कम करता है। इसमें डाइट्री प्रोटीन और एमिनो एसिड होता है, जो बच्चों की हड्डियों के विकास के लिए बेहद ज़रूरी होता है। तिल का तेल त्वचा के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद होता है। 100 ग्राम तिल में 26 ग्राम प्रोटीन की मात्रा होती है।  

3. काबुली चना  

काबुली चना को रात में भिगो कर बनाया जाता है। इसे आलू के साथ भी बनाया जाता है। काबुली चना को अंकुरित अनाज के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। इसमें प्रोटीन और मैगनीज की भरपूर मात्रा पाई जाती है। काबुली चना में 28 प्रतिशत फॉस्फोरस और आयरन होता है, जो किडनी को स्वस्थ रखने में मदद करता है। कबुली चना कैलेस्ट्रोल को भी कम करने में फ़ायदेमंद है। इसके नियमित सेवन से आप एनर्जी से लबालब रहेंगे और चहरे में हमेशा चमक भी बरक़रार रहेगी। 100 ग्राम काबुली चने में 19 ग्राम प्रोटीन की मात्रा होती है। तो आज रात काबुली चना भिगोना न भूलें। 

(और पढ़ें - प्रोटीन युक्त आहार)

4. मूंग की दाल

मूंग का इस्तेमाल मुख्य रूप से दाल के रूप में किया जाता है। इसके अलावा मूंग दाल से पापड़, लड्डू और हलवा बनाया जाता है। मूंग की दाल में प्रोटीन कार्बोहाड्रेट्स और फॉस्फोरस मौजूद होते हैं। इसे अपने आहार में शामिल करके एनिमिया जैसे रोग से बचा जा सकता हैं। बालों के टूटने की समस्या के लिए भी मूंग की दाल लाभदायक है। इसके नियमित सेवन से आप अपना स्टेमिना भी बढ़ता है। 100 ग्राम मूंग की दाल में 25 ग्राम प्रोटीन की मात्रा होती है। 

(और पढ़ें - मूंग दाल खाने के फायदे)

5. मूंगफली

मूंगफली, सफ़र का सबसे अच्छा दोस्त है। ये ट्रेन, बस, और दुकान हर जगह बहुत  आसानी से मिल जाता है। लेकिन ये सफ़र का दोस्त, बहुत ही काम का है। ये प्रोटीन, एंटीऑक्सीडेंड, खनिज और विटामिन से भरपूर होता है। मूंगफली हमारे शरीर को मज़बूत बनाने में बहुत लाभदायक है और साथ ही पाचन क्रिया को भी बेहतर बनाता है। 100 ग्राम मूंगफली में 25 प्रोटीन की मात्रा पाई जाती है। आज से जब भी मौक़ा मिले इस दोस्त को अनाइए। 

(और पढ़ें - मूंगफली के फायदे)

6. सोयाबीन

सोयाबीन प्रोटीन से लबालब होता है। इसमें दूध,अंडे और मांस से भी ज़्यादा मात्रा में प्रोटीन होती है। इसके सेवन से हम कई प्रकार के बिमारियों से बच सकते हैं जैसे एनीमिया, शुगर, उच्च रक्तचाप। सोयाबीन दूध हड्डियों के लिए बेहद लाभदायक है और त्वचा के लिए भी फ़ायदेमंद होता है। 100 ग्राम सोयाबीन में 39 ग्राम प्रोटीन की मात्रा होती है। वे लोग जो शाकाहारी हैं, सोयाबीन के सेवन से अपने शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा कर सकते 

(और पढ़ें - सोयाबीन के फायदे)

7. राजमा

भारत में राजमा एक ख़ास व्यंजन के रूप में प्रयोग किया जाता है। कुछ लोग तो राजमा के बड़े दीवाने होते हैं। दिल्ली में राजमा चावल बहुत ही लोकप्रिय है। लेकिन राजमा खाने के कई लाभ भी हैं। क्योंकि इसमें प्रोटीन के साथ-साथ मैग्नीशियम, कोर्बोहाइड्रेट, फ़ॉस्फ़ोरस, और आयर की भरपूर मात्रा पाई जाती है। ये दिमाग़ को सक्रिय बनाता है और बालों के टूटने की समस्या से भी बचाता है। 100 ग्राम राजमा में 24 ग्राम प्रोटीन होता है। तो अब, जब भी मन करे जी भर के राजमा चावल खाएं। 

(और पढ़ें - राजमा के फायदे)

8. चीज

भारत में ऐसी बहुत कम ही शादियां होती होंगी, जिनमें पनीर न बनता हो। मानो पनीर के बिना शादी पर्टियां अधूरी हैं। पनीर का मज़ा ही अलग है। ये स्वाद और सेहत दोंनो के लिए बेहतर है। पनीर में प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन बी2, बी12 और विटामिन डी मौजूद होते हैं। ये दांतों की समस्या, हड्डियों को मज़बूत बनाने में और तनाव को कम करने में बहुत ही फ़ायदेमंद है। आज से जब भी पर्टियों में पनीर दिखे तो डाइटिंग को भूल जाना और पनीर का मज़ा लेना।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ