myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

मूंग बीन्स, मटर और दाल के रूप में एक ही पौधे के परिवार से छोटे और हरे रंग का एक प्रकार है जिसमें प्रोटीन, फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट्स मैंगनीज, पोटेशियम, मैग्नीशियम, तांबे, जस्ता और विटामिन बी का एक उच्च स्रोत पाया जाता है। हालांकि दुनिया के अधिकांश हिस्सों में ये अन्य दालों की तुलना में कम लोकप्रिय है। हजारों सालों से मूंग दाल भारत में पारंपरिक आयुर्वेदिक आहार का एक हिस्सा रही है। प्राचीन भारतीय अभ्यास में मूंग दाल को "सबसे अधिक पोषित खाद्य पदार्थों में से एक माना जाता है" जो लगभग 1,500 बी.सी के बाद से एक पारंपरिक औषधि बन गयी है।

मूंग दाल को हरी दाल भी कहा जाता है। हालांकि, इसे और भी कई नामों से बुलाया जाता है जैसे गोल्डन ग्राम, मूंग बीज। हरी मूंग दाल को एशिया के कई देशो में, यूरोप और अमेरिका में भी विभिन्न उद्देश्यों के रूप में उपयोग किया जाता है। भारत में प्रसिद्ध मुख्य डिश के अलावा हरी मूंग दाल का प्रयोग स्वास्थ्य के लिए भी किया जाता है।

चलिए आपको बताते हैं हरी मूंग दाल से जुडी स्वास्थ्य बातें -

  1. मूंग दाल चेहरे की त्वचा के लिए - Mung beans for skin in hindi
  2. मूंग दाल के लाभ बालों के लिए - Mung dal benefits for hair in Hindi
  3. मूंग की दाल खाने के फायदे बढ़ाए मेटाबॉलिज्म - Mung daal ke fayde se badhe metabolism in Hindi
  4. कोलेस्ट्रॉल के लिए अच्छी है हरी मूंग दाल - Green gram good for cholesterol in Hindi
  5. मूंग दाल से ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करें - Mung beans regulates blood pressure in Hindi
  6. हरी मूंग की दाल आंखों को स्वस्थ रखे - Green gram maintains eye health in Hindi
  7. मूंग दाल के फायदे से हड्डियों को मजबूत बनाएं - Mung dal makes bones strong in Hindi
  8. हरी मुंग की दाल से कम करें मधुमेह - Green gram for diabetes in Hindi
  9. मूंग की दाल गर्भावस्था में फायदेमंद - Benefits of eating green gram during pregnancy

हरी मूंग दाल चेहरे की त्वचा के लिए बहुत लाभकारी है। मूंग दाल खाने से आपके चेहरे पर छुपी झुर्रिया, दाग धब्बे, काले घेरे कम हो जाते हैं। इसके नियमित खानें से आपकी उम्र 30 की बजाये 20 की लगने लगेगी। महिलाओं के लिए एजिंग(बढ़ती उम्र) सबसे बड़ी चिंता का विषय होता है क्यूंकि उन्हें इस उम्र में अपनी त्वचा और बालों का ख़ास ख्याल रखना होता है। अगर आप बढ़ती उम्र में भी जवान दिखना चाहते हैं तो नाश्ते में मूंग दाल खाना शुरू कर दीजिये इससे आपके चेहरे पर चमक बनी रहेगी और आप स्वस्थ भी रहेंगे। (और पढ़ें - अगर वक्त से पहले उम्र बढ़ने के संकेतों को रोकना चाहते हैं तो इन आठ गलतियों को बिलकुल ना करें

मूंग दाल में कौपर पाया जाता है जिससे बालों की जड़ें मजबूत होती हैं। कौपर हमारे शरीर में लोहा, कैल्शियम और मैग्नीशियम की मात्रा को पूरा करता है। मूंग दाल खाने से कौपर की आवश्यक मात्रा पूरी होती है। मूंग दाल से हमारे दिमाग में ऑक्सीजन बिना किसी रुकावट के सही ढंग से पहुँचता है और बालों की जड़ों को मजबूती प्रदान करता है जिससे आपके बाल घने, लम्बे और चमकदार दिखते हैं। मूंग दाल से आप बालों के लिए घर पर पेस्ट भी तैयार कर सकते हैं। (और पढ़ें - रूखे और बेजान बालों का घरेलू इलाज)

कई लोग अपने ख़राब मेटाबोलिज्म की वजह से बदहजमी और जलन की शिकायत करते रहते हैं। मूंग दाल में फाइबर पाया जाता है जिसकी मदद से आपकी पाचन क्रिया अच्छी होती है और मेटाबोलिज्म रेट बढ़ता है। फाइबर आपकी पाचन क्रिया को बदहजमी होने से रोकता है और पेट को सही रखता है। (और पढ़ें - पेट फूलने की समस्या से अगर छुटकारा चाहते हैं तो जरूर करें ये उपाय)

आजकल हृदय रोग बहुत सामान्य हो गया है। खराब जीवनशैली के कारण हृदय से जुडी बीमारियां हर किसी को होने लगी हैं। मूंग दाल से मानव शरीर का मेटाबोलिज्म रेट बढ़ता है, पाचन सम्बंधित परेशानियां भी दूर होती हैं और कोलेस्ट्रॉल को रोकने में भी मदद होती है। मूंग दाल खानें से दिल की धमनियों और कोशिकाओं में जमा कोलेस्ट्रॉल कम होता है और खून का संचार भी अच्छे ढंग से होता है। अपने आहार में मूंग दाल को ज़रूर शामिल करें इससे शरीर में कोलेस्ट्रॉल कभी पैदा नहीं होगा। (और पढ़ें - हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खाएं ये आहार)

यह एक सिद्ध तथ्य है कि मूंग दाल वसा को नियंत्रित और ठीक रखती है। इसके अलावा मूंग दाल में मैग्नीशियम होने से बीपी को नियंत्रित रखने में मदद करती है। यह रक्त में मैग्नीशियम का स्तर भी ठीक रखती है। मैग्नीशियम रक्त का संचार शरीर में पूर्ण तरीके से करता है और हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखता है। (और पढ़ें - हाई बीपी के घरेलू उपचार)

मूंग दाल आँखों के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। मूंग दाल विटामिन से भरपूर होती है जैसे विटामिन सी, विटामिन बी6, विटामिन बी5 आदि। विटामिन सी रेटिना को सही रखता है। मूंग दाल आँखों के स्वास्थ के लिए सबसे अच्छा विकल्प है। (और पढ़ें - आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए क्या खाएं)

मूंग दाल शरीर में कैल्शियम की ज़रुरत को पूरा करती है साथ ही हड्डियों को स्वस्थ रखती है। किसी भी प्रकार के फ्रैक्चर को जल्द से जल्द ठीक करने में हरी मूंग दाल बहुत लाभदायक है। मूंग दाल से कैल्शियम मिलता है जिससे आपकी हड्डियों के निर्माण में किसी भी तरह की रुकावट नहीं होती साथ ही तनाव कम होता है। (और पढ़ें - कैल्शियम युक्त भारतीय आहार)

हरी मुंग की दाल से शरीर में मौजूद शुगर का स्तर सामान्य रहता है। हरी मुंग की दाल खाने से चीनी आसानी से पचने योग्य हो जाती है जिससे वह रक्त में घुलती नहीं है। मुंग की दाल खाने से शरीर में शुगर का स्तर सामान्य रहता है जिससे शुगर (मधुमेह) को रोका जा सकता है। 

प्रत्येक व्यक्ति को पाचन से सम्बंधित परेशानियों का अनुभव होता है और गर्भवती महिलाओं के लिए पाचन क्रियाओं से जुडी परेशानियां तो आम बात हैं। गर्भवती महिलायें कई तरह की दवाइयों को लेती हैं जिस वजह से उन्हें गैस, जलन की शिकायते होने लगती हैं। इसलिए गर्भावस्था में इन सबसे छुटकारा पाने के लिए मूंग दाल का सेवन करना बेहद ही ज़रूरी है। 

(और पढ़ें - गर्भवती महिला के लिए भोजन और गर्भ में लड़का कैसे हो से जुड़े मिथक)

और पढ़ें ...