myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

राजमा आम बीन्स की एक किस्म है। इसका वैज्ञानिक नाम फैजियोलस वल्गरिस (Phaseolus vulgaris) है। गुर्दे के आकार और रंग में समानता की वजह से इसका नाम किडनी बीन्स रखा गया है। ये बीन्स हल्के भूरे रंग के होते हैं। इसमें उच्च मात्रा में फोलिक एसिड, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और प्रोटीन जैसे आवश्यक पोषक तत्व होते हैं, जो सभी महत्वपूर्ण हैं और शरीर के संपूर्ण कार्यों में मदद करते हैं। 100 ग्राम राजमा में 24 ग्राम प्रोटीन, ऊर्जा 340 कैलोरी, 56 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 1 ग्राम फैट होता है।

  1. राजमा के फायदे - Rajma ke Fayde in Hindi
  2. राजमा के नुकसान - Rajma ke Nuksan in Hindi
  1. राजमा के फायदे करें कोलेस्ट्रॉल को कम - Kidney Beans Good for Cholesterol in Hindi
  2. राजमा खाने के लाभ हैं मधुमेह के लिए - Rajma Benefits for Diabetes in Hindi
  3. राजमा है प्रोटीन का अच्छा स्रोत - Kidney Beans Good Source of Protein in Hindi
  4. राजमा के गुण करें उच्च रक्तचाप को कम - Kidney Beans Good for High Blood Pressure in Hindi
  5. राजमा के उपयोग से करें वजन कम - Kidney Beans for Weight Loss in Hindi
  6. किडनी बीन्स है कब्ज में लाभकारी - Kidney Beans Help in Constipation in Hindi
  7. राजमा के लाभ रोकें बढ़ती उम्र को - Kidney Beans Benefits for Skin in Hindi
  8. राजमा के औषधीय गुण हैं पेट के लिए उपयोगी - Kidney Beans Good for Stomach in Hindi
  9. किडनी बीन्स बेनिफिट्स करें हृदय की रक्षा - Kidney Beans for Heart Patients in Hindi
  10. राजमा का सेवन दिलाएँ गठिया दर्द से राहत - Kidney Beans Good for Arthritis in Hindi
  11. राजमा है अस्थमा के इलाज में प्रभावी - Rajma ke Fayde for Asthma in Hindi
  12. राजमा खाने के फायदे बनाएँ हड्डियों को मजबूत - Rajma Khane ke Fayde for Bones in Hindi
  13. राजमा के अन्य फायदे - Rajma ke Any Fayde in Hindi

राजमा के फायदे करें कोलेस्ट्रॉल को कम - Kidney Beans Good for Cholesterol in Hindi

राजमा में जटिल कार्बोहाइड्रेट और आहार फाइबर की उच्च सामग्री रक्त में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करती है। घुलनशील आहार फाइबर की उपस्थिति एक जैल की तरह होती है जो कोलेस्ट्रॉल को चारों ओर से घेरे हुए हैं जो शरीर में कोलेस्ट्रॉल के पुर्नअवशोषण को रोकती है। 

(और पढ़ें - सलाद पत्ता के लाभ करें कोलेस्ट्रॉल कम)

राजमा खाने के लाभ हैं मधुमेह के लिए - Rajma Benefits for Diabetes in Hindi

कम ग्लिसेमिक सूचकांक के कारण राजमा मधुमेह के लिए एक स्वस्थ विकल्प है। कम ग्लिसेमिक सूचकांक शरीर के शर्करा स्तर को संतुलित बनाए रखता है। इससे मधुमेह के विकास के जोखिम भी कम हो जाते हैं।

राजमा है प्रोटीन का अच्छा स्रोत - Kidney Beans Good Source of Protein in Hindi

राजमा में उच्च प्रोटीन सामग्री होती है। इतना ही नहीं यह शाकाहारियों के लिए मीट के एक बहुत ही अच्छे विकल्प के रूप में काम कर सकता है। चावल या पूरे गेहूं (whole grain) के पास्ता के साथ सेवन करने पर यह अतिरिक्त कैलोरी को बढ़ाएँ बिना शरीर में प्रोटीन को बढ़ावा देता है।

राजमा के गुण करें उच्च रक्तचाप को कम - Kidney Beans Good for High Blood Pressure in Hindi

राजमा पोटेशियम, मैग्नीशियम, घुलनशील फाइबर और प्रोटीन का अच्छा स्रोत है जो उच्च रक्तचाप को कम करने में मदद करते हैं। एक साथ ये तत्व सामान्य रक्तचाप को बनाए रखने में सहायता करते हैं। पोटेशियम और मैग्नीशियम धमनियों और वाहिकाओं फैलाते हैं और सामान्य रक्त प्रवाह को सुनिश्चित करते हैं। इसके अलावा राजमा में मौजूद मैग्नीशियम माइग्रेन सिरदर्द को रोकने में मदद करता है।

राजमा के उपयोग से करें वजन कम - Kidney Beans for Weight Loss in Hindi

राजमा में बड़ी मात्रा में मौजूद आहार फाइबर आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगने देता है। इसके अलावा, इसमें पाए जाने वाले कम वसा वाले तत्व इसे एक कम कैलोरी वाला भोजन बनाते हैं। इसलिए वजन कम करने वालो के लिए राजमा का सेवन लाभकारी हो सकता है।

(और पढ़ें - मोटापा कम करने के लिए डाइट और वजन कम करने के लिए क्या खाएं)

किडनी बीन्स है कब्ज में लाभकारी - Kidney Beans Help in Constipation in Hindi

अघुलनशील आहार फाइबर मल को नर्म करता है जिससे मल आसानी से पारित हो जाता है। राजमा आँतो के कार्यों को अच्छे से करने के लिए सुनिश्चित करता है और कब्ज से राहत में मदद करता है।

राजमा के लाभ रोकें बढ़ती उम्र को - Kidney Beans Benefits for Skin in Hindi

राजमा में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट मुक्त कणों से छुटकारा दिलाते हैं और कोशिकाओं की उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करते हैं। वे झुर्रियों को कम करने, मुँहासे को ठीक करने, बालों और नाखूनों के स्वास्थ्य में भी मदद करते हैं। 

(और पढ़ें - बढ़ती उम्र को रोकना, युवा और दमकता चेहरा पाना संभव है इन फायदेमंद घरेलू नुस्खों से)

राजमा के औषधीय गुण हैं पेट के लिए उपयोगी - Kidney Beans Good for Stomach in Hindi

जब राजमा सही मात्रा में खाए जाते हैं तो ये पाचन तंत्र को शुद्ध करने, शरीर से विषाक्त पदार्थों को हटाने और कोलन कैंसर के खतरे को कम करने में भी मदद कर सकते हैं। 

(और पढ़ें - सीखें पेट संबंधी विकार से राहत के लिए योग इस वीडियो में)

किडनी बीन्स बेनिफिट्स करें हृदय की रक्षा - Kidney Beans for Heart Patients in Hindi

राजमा में उच्च मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल को मॅनेज करने के लिए कार्य करता है और शरीर को स्ट्रोक, संवहनी रोगों, धमनियों की जमावट, दिल के दौरे जैसे हृदय से जुड़ी बीमारियों से लड़ने में मदद करता है और एक मजबूत हृदय बनाए रखता है।

(और पढ़ें - कटहल का उपयोग रखे ब्लड प्रेशर को नियंत्रित)

राजमा का सेवन दिलाएँ गठिया दर्द से राहत - Kidney Beans Good for Arthritis in Hindi

राजमा में उच्च तांबा सामग्री गठिया के मामले में शरीर में सूजन को कम करती है। कॉपर भी स्नायुबंधन (Ligaments) और जोड़ों (Joints) के लचीलेपन को सुनिश्चित करता है।

राजमा है अस्थमा के इलाज में प्रभावी - Rajma ke Fayde for Asthma in Hindi

राजमा में मौजूद मैग्नीशियम में ब्रोन्कोडायलेटरी (Bronchodilatory) प्रभाव होता है और जो फेफड़ों में बाहर और अंदर स्मूथ वायु मार्ग सुनिश्चित करता है। अध्ययनों से पता चला है कि कम मैग्नीशियम के स्तर से अस्थमा हो सकता है।

राजमा खाने के फायदे बनाएँ हड्डियों को मजबूत - Rajma Khane ke Fayde for Bones in Hindi

राजमा में मौजूद मैंगनीज और कैल्शियम हड्डियों को मजबूत बनाते हैं और ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने में मदद करते हैं। राजमा में पाए जाने वाला फोलेट हड्डी और जोड़ों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है जो हड्डियों के रोगों और फ्रैक्चर के जोखिम को कम करता है।

(और पढ़ें – हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जूस रेसिपी)

राजमा के अन्य फायदे - Rajma ke Any Fayde in Hindi

राजमा विटामिन बी 1 में समृद्ध है, जो स्वस्थ संज्ञानात्मक कार्यों में बहुत योगदान देता है। विटामिन बी1 का पर्याप्त स्तर एसिटाइलकोलाइन (एक महत्वपूर्ण न्यूरोट्रांसमीटर) के संश्लेषण में मदद करता है जो मस्तिष्क के उचित कार्य को सुनिश्चित करता है और एकाग्रता और स्मृति को बढ़ा देता है। यह अल्जाइमर और मनोभ्रंश की प्रगति को धीमा करने में भी फायदेमंद है।

राजमा में मौजूद मैग्नीज शरीर के एंटीऑक्सीडेंट की रक्षा भी करता है ताकि यह सुनिश्चित हो सकें कि शरीर में हानिकारक मुक्त कणों को ठीक से और कुशलता से नष्ट कर दिया गया है। इसलिए राजमा एंटीऑक्सिडेंट समृद्ध खाद्य पदार्थों की श्रेणी में आते हैं।

बहुत सारे खाद्य पदार्थ इन दिनों संरक्षक के साथ भरे हुए हैं, जिसमें सल्फ़ोइट्स होते हैं। उच्च सल्फाइट सामग्री को शरीर के लिए विषाक्त माना जाता है। राजमा सल्फाइट एलर्जी वाले लोगों के लिए भी फायदेमंद होता है क्योंकि इसकी नियमित खपत के बाद एलर्जी के लक्षण तेजी से कम हो जाते हैं।

राजमा में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट मुक्त कण से छुटकारा पाने और हमारे शरीर की कोशिकाओं की सुरक्षा के द्वारा प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करते हैं।

विटामिन बी6 ऊतको के विकास और त्वचा और बालों की मरम्मत में मदद करता है। यह बालों के गिरने को रोकने में भी मदद करता है।

फाइबर की अधिक मात्रा होने के कारण, अधिक मात्रा में राजमा के सेवन से शरीर में ज़रूरत से अधिक फाइबर पहुँच जाता है जिससे आपके पाचन तंत्र में परेशानी हो सकती है।

इसके अलावा राजमा का अधिक सेवन पेट में गैसदस्त, पेट दर्द और आँतों में दर्द का कारण बन सकता है। 

(और पढ़ें –  दस्त का घरेलू इलाज)

एक कप राजमा में 13g आयरन होता है, जबकि हमारे शरीर को डेली 25g से 38g तक आयरन की ज़रूरत होती है। अधिक मात्रा में राजमा का सेवन शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ा देता है जिससे शरीर के अंग डॅमेज हो सकते हैं।

ध्यान रखें राजमा अच्छी तरह से पका हुआ होना चाहिए क्योंकि कच्चे राजमा का सेवन पेट दर्द का कारण बन सकता है।

और पढ़ें ...