myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

गुड़ को गन्‍ने से तैयार किया जाता है। इसे चीनी का स्‍वस्‍थ विकल्‍प कहा जाता है। वैसे तो चीनी और गुड़ दोनों में ही समान मात्रा में कैलोरी होती है लेकिन गुड़ में शरीर के लिए जरूरी कई तरह के विटामिंस और मिनरल्‍स भी मौजूद होते हैं।

यह सुनहरे भूरे रंग से गहरे भूरे रंग का हो सकता है। कहा जाता है कि गुड़ का रंग जितना ज्‍यादा गहरा होगा उसका फ्लेवर उतना ही ज्‍यादा अच्‍छा होगा। दक्षिण और दक्षिण-पूर्व एशिया के कई देशों में गुड़ का सेवन किया जाता है। नेपाल, बांगलादेश, पाकिस्‍तान और श्रीलंका में स्‍थानीय व्‍यंजनों में गुड़ का बहुत इस्‍तेमाल किया जाता है।

सांभर और रसम के स्‍वाद को बढ़ाने के लिए उसमें एक चुटकी गुड़ डाला जाता है। गुड़ और मूंगफली से बनी चिक्‍की भी बहुत पसंद की जाती है। मिठाई, एल्‍कोहोलिक ड्रिंक, चॉकलेट, कैंडी, टॉनिक, सिरप और केक आदि बनाने में भी गुड़ का इस्‍तेमाल किया जाता है।

विश्‍व स्‍तर पर महाराष्‍ट्र गुड़ का सबसे बड़ा उत्‍पादक है। अमेरिका, एशिया और अफ्रीका में गुड़ का अत्‍यधिक उपयोग किया जाता है। भारत में ईख से बना गुड़ ज्‍यादा पसंद किया जाता है लेकिन ताड़ के रस, खजूर के रस से भी गुड़ तैयार किया जाता है।

गुड़ से सेहत को कई तरह के फायदे मिलते हैं। आयुर्वेदिक और पारंपरिक औषधियों में गुड़ को विशेष स्‍थान दिया गया है। इसमें आयरन प्रचुर मात्रा में होता है जिससे एनीमिया की समस्‍या दूर करने में मदद मिलती है। भोजन के बाद थोड़ा-सा गुड़ खाने से पाचन में सुधार होता है। मिर्च के साथ गुड़ खाने से भूख बढ़ती है।

(और पढ़ें - पाचन क्रिया सुधारने के घरेलू उपाय)

आयुर्वेद के अनुसार रोज़ गुड़ खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है। गुड़ को मुहांसों का इलाज करने और शरीर का तापमान नियंत्रित करने के लिए भी जाना जाता है। खट्टी डकार आने की स्थिति में काले नमक के साथ गुड़ खाने से लाभ होता है।

गुड़ के बारे में तथ्‍य:

  • वानस्‍पतिक नाम: सैकेरम ओफिसिनेरम
  • कुल: पोएसी
  • सामान्‍य नाम: गुड़
  • संस्‍कृत नाम: शर्करा, गुड़
  • भौगोलिक विवरण: ऐसा माना जाता है कि सबसे पहले गुड़ पूर्वी भारत में मिलता है जबकि ये भी कहा जाता है कि भारत में गुड़ को पुर्तगाली लेकर आए थे। विश्‍व स्‍तर पर भारत, नेपाल, बांग्‍लादेश, पाकिस्‍तान और श्रीलंका गुड़ के सबसे बड़े उत्‍पादक हैं।
  • रोचक तथ्‍य: गुड़ को “सुपरफूड स्‍वीटनर” भी कहा जाता है।
  1. गुड़ की तासीर - Gud ki taseer in Hindi
  2. गुड़ के फायदे - Gud ke fayde In Hindi
  3. गुड़ के नुकसान - Gud ke nuksan in Hindi
  4. गुड़ का सेवन वायु प्रदुषण से रखता है सुरक्षित

गुड़ की तासीर गरम होती है इसलिए इसका सेवन सर्दियों में करने की सलाह दी जाती है। आप गुड़ को गर्मियों के मौसम में भी खा सकते हैं लेकिन कम मात्रा में ही इसका सेवन करें। इसका उपयोग गर्मियों में शरीर के तामपान को बराबर रखने के लिए किया जा सकता है। यह सलाह दी जाती है कि रोज इसके एक मध्यम आकार के टुकड़े का सेवन करें, इससे आपके शरीर का तामपान काबू में रहेगा।

(और पढ़ें - सर्दियों में क्या खाएं)

 

  1. गुड़ के फायदे त्वचा के लिए - Gud ka fayda for Skin in Hindi
  2. गुड़ का फायदा हड्डियों के लिए - Gud ka fayda for Bones in Hindi
  3. गुड़ के लाभ पेशाब संबंधित समस्या में - Gud ka fayda for Urinary Tract Infection in Hindi
  4. शारीरिक कमजोरी के लिए गुड़ के लाभ - Gud ka fayda for Boosting Energy in Hindi
  5. हिचकी के लिए गुड़ के फायदे - Gud ka fayda for Hiccups in Hindi
  6. गुड़ के फायदे माइग्रेन और सिरदर्द में - Gud ka fayda for Headache and Migrane in Hindi
  7. गुड़ के लाभ पेट संबंधित समस्या में - Gud ka fayda for Stomach problems in Hind
  8. गुड़ के उपयोग दिमाग के लिए - Gud ka fayda for Brain in Hindi
  9. गुड़ खाने के फायदे जुकाम और पुरानी खांसी के लिए - Gud ka fayda for Cold in Hindi
  10. गुड़ के अस्थमा में फायदे - Gud ka fayda for Asthma in Hindi
  11. गुड़ का उपयोग रक्त की कमी में - Gud ka fayda for Anemia in Hindi
  12. गुड़ का लाभ रक्तचाप के लिए - Gud ka fayda for Blood pressure in Hindi
  13. गुड़ का फायदा दिल की बीमारी में - Gud ka fayda for Heart problems in Hindi
  14. आँखों के लिए गुड़ के फायदे - Gud ka fayda for Eyes in Hindi
  15. गुड़ खाने के अन्य फायदे - Other benefits of Gud

गुड़ के फायदे त्वचा के लिए - Gud ka fayda for Skin in Hindi

महिलाएं अपनी त्वचा का ख्याल सबसे ज्यादा रखती हैं। अगर आप रोजाना गुड़ का सेवन करते हैं, तो यह आपके शरीर से हानिकारक टॉक्सिन को बाहर कर देता है और आपकी त्वचा साफ और स्वस्थ रहता है।

(और पढ़ें - चेहरा साफ करने के उपाय)

यह कई महत्वपूर्ण विटामिन और खनिजों में समृद्ध है। गुड़ त्वचा को पोषण देता है और त्वचा सहित शरीर के हर हिस्से को पोषण प्रदान करने में मदद करता है।

गुड़, मुंह के मुहांसों का इलाज करने में भी मदद करता है। यह त्वचा से संबंधित और भी कई समस्याओं के इलाज और रोकथाम में मदद करता है। यह उम्र बढ़ने के कई संकेत, जैसे की - झुर्रियां, काले धब्बे, इत्यादि की भी रोकथाम करने में मदद करता है।

(और पढ़ें- स्किन केयर टिप्स)

गुड़ का फायदा हड्डियों के लिए - Gud ka fayda for Bones in Hindi

गुड़ में कैल्शियम के साथ फॉस्फोरस भी होता है, जो हड्डियों को मजबूत रखने में मदद करता है। वहीँ चीनी हड्डियों के लिए नुकसानदायक होती है क्योंकि चीनी इतने अधिक तापमान पर बनाई जाती है कि जिसके कारण गन्ने के रस में मौजूद फॉस्फोरस खत्म हो जाता है।

(और पढ़ें - हड्डी को मजबूत करने का तरीका)

यदि आप अक्सर अपने जोड़ों में दर्द महसूस करते हैं, तो गुड़ खाने से आपको राहत मिल सकती है। विशेषज्ञ दर्द को कम करने के लिए अदरक के टुकड़े के साथ गुड़ को खाने की सलाह देते हैं। हर दिन गुड़ के साथ एक गिलास दूध पीना भी हड्डियों को मजबूत करने में मदद कर सकता है और हड्डी की समस्याओं को रोका जा सकता है। 

(और पढ़ें- जोड़ों में दर्द के घरेलू उपाए)

गुड़ के लाभ पेशाब संबंधित समस्या में - Gud ka fayda for Urinary Tract Infection in Hindi

गन्ना एक प्राकृतिक मूत्रवर्धक है और गुड़ भी इसी की तरह काम करता है। यह पेशाब को उत्तेजित करने में मदद करता है और मूत्राशय की सूजन को कम करने में भी सहायता करने के साथ साथ गुड़ पेशाब करने में हो रही कठिनाई को काम करने में मदद करता है। पर यह प्रोस्टेट ग्रंथि अतिवृद्धि (prostate gland hypertrophy) में मदद नहीं कर सकता है। विशेषज्ञ मूत्र संबंधी समस्याओं का इलाज करने के लिए और मूत्र प्रवाह में सुधार लाने के लिए गुड़ के साथ एक गिलास गर्म दूध पीने की सलाह देते हैं।

(और पढ़ें- यूरिनरी इन्फेक्शन के घरेलू उपाए)

शारीरिक कमजोरी के लिए गुड़ के लाभ - Gud ka fayda for Boosting Energy in Hindi

गुड़ हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इसकी सबसे अच्छी बात यह है कि यह सफेद शक्कर के विपरीत है। यह धीरे-धीरे आपके शरीर द्वारा पच जाता है और अवशोषित हो जाता है। इससे शरीर में रक्त शर्करा का स्तर अचानक से ज़्यादा नहीं बढ़ता है। इसका सेवन शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है। शारीरिक कमजोरी में गुड़ के साथ दूध का सेवन करना बहुत ही लाभदायक होता है। गुड़ के साथ दूध का उपयोग दुर्बल शरीर को मजबूत बनाता है। यह शारीरिक कमजोरी को दूर करके शरीर को ऊर्जा प्रदान करने में मदद करता है। अगर आप को दूध के साथ गुड़ नहीं पसंद है तो एक कप पानी में 5 ग्राम गुड़, 10 मिलीलीटर नींबू का रस, 1 ग्राम काला नमक मिला कर सेवन करें। यह शारीरिक कमजोरी और सामान्य दुर्बलता को दूर करने में बहुत लाभदायक है।

(और पढ़ें - कमजोरी दूर करने के घरेलू नुस्खे)

हिचकी के लिए गुड़ के फायदे - Gud ka fayda for Hiccups in Hindi

गुड़ हिचकी के लिए एक अच्छा घरेलु उपाय है, लेकिन यह सूखे अदरक पाउडर के साथ प्रयोग किया जाता है। 3 ग्राम गुड़, 500 मिलीग्राम सूखे अदरक पाउडर को लें। अब गुड़ को पीस कर उसमें अदरक पाउडर के साथ मिश्रण करें। अब गर्म पानी के साथ इस मिश्रण को खाएं। हिचकी से छुटकारा मिल जायगा।

(और पढ़ें - गर्म पानी पीने के फायदे)

 

गुड़ के फायदे माइग्रेन और सिरदर्द में - Gud ka fayda for Headache and Migrane in Hindi

गाय के घी के साथ गुड़ का उपयोग माइग्रेन और सिरदर्द में मदद करता है। आप सोने से पहले और सूर्योदय से पहले सुबह में खाली पेट 5 मिलीलीटर गाय के घी के साथ 10 ग्राम गुड़ एक दिन में दो बार लें। यह माइग्रेन और सिरदर्द से आराम दिलाएगा। यह उपाय आम तौर पर पंजाब भारत में प्रयोग किया जाता है। 

(और पढ़ें – सिर दर्द का देसी इलाज​)

गुड़ के लाभ पेट संबंधित समस्या में - Gud ka fayda for Stomach problems in Hind

गुड़ के फायदों की बात करें तो इसका सबसे बडा फायदा है कि इससे पेट संबंधित समस्या खत्म हो जाती है। अगर आप गैस या एसिडिटी से परेशान हैं तो खाने के बाद थोड़ा गुड़ जरूर खाएं ऐसा करने से गैस या एसिडिटी की समस्या नहीं होती है। गुड़, सेंधा नमक, काला नमक मिलाकर चाटने से खट्टी डकार भी बंद हो जाती है।

(और पढ़ें - एसिडिटी का घरेलू उपाय)

गुड़ के उपयोग दिमाग के लिए - Gud ka fayda for Brain in Hindi

गुड़ का हलवा खाने से दिमाग तेज़ होता है और शरीर से जहरीले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। गुड़ का हलवा सर्दियों में शरीर के तापमान को नियमित रखता है। इसे खाने से याददाश्त कमजोर नही होती है। इसलिए आप अपनी याददाश्त को अच्छा रखना चाहते हैं तो इसका नियमित सेवन कीजिए।

(और पढ़ें - याददाश्त बढ़ाने के उपाय)

गुड़ खाने के फायदे जुकाम और पुरानी खांसी के लिए - Gud ka fayda for Cold in Hindi

गुड़ साधारण सर्दी - खांसी में बहुत ही लाभदायक होता है। आप गुड़ को अदरक और काली मिर्च मिला कर खा सकते हैं। यह सर्दी - खांसी में दवा के रूप में काम करता है। 3 ग्राम गुड़ में 250 मिलीग्राम काली मिर्च, 500 मिलीग्राम सूखा अदरक पाउडर, 1 चम्मच शहद मिला कर खाना खाने के बाद एक दिन में तीन बार इस का सेवन करें। यह पहली खुराक में ही अपना काम दिखाना सुरू करता है। गुड़ पुरानी से पुरानी खांसी में भी लाभदायक है। गुड़ के उपयोग से गला चिकना और मुलायम बनता है। आयुर्वेद के अनुसार गुड़ फेफड़ों में गर्मी पैदा करता है और श्वसन तंत्र तक फैल जाता है।

गुड़ खांसी, दमा और सांस लेने जैसी परेशानी में मदद करता है। अगर किसी को भी सांस की परेशानी है तो वह चीनी के सेवन की जगह गुड़ का सेवन करें। 

(और पढ़ें - खांसी के लिए घरेलू उपाय)

गुड़ के अस्थमा में फायदे - Gud ka fayda for Asthma in Hindi

अस्थमा से बचने के लिए भी गुड़ का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है। गुड़ में ऐसे गुण होते हैं जो शरीर के तापमान को नियंत्रित करते हैं। इसमें एंटी-एलर्जिक विशेषतायें मौजूद होती है। इसमें आयरन भी होता है जो रक्त परिसंचरण और श्वसन प्रणाली में सुधार करता है। जिन लोगों को अस्थमा होता है उनके शरीर में रोग प्रतिरोधक शक्ति कम होती है, गुड़ का सेवन आपकी रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाता है। अगर किसी को बहुत लंबे समय से अस्थमा की परेशानी है तब भी गुड़ का सेवन बहुत लाभदायक होता है।

(और पढ़ें - अस्थमा में परहेज)

गुड़ का उपयोग रक्त की कमी में - Gud ka fayda for Anemia in Hindi

गुड़ में आयरन (iron) और फोलेट (folate) मौजूद होते हैं जो लाल रक्त कोशिकाओं का सामान्य स्तर बनाए रखने में मदद करते हैं और एनीमिया को रोकते हैं। इसका सेवन करना गर्भवती महिलाओं के लिए विशेष रूप से फायदेमंद रहता है। इसके अलावा, गुड़ शरीर को तुरंत ऊर्जा प्रदान करने में भी मदद करता है। अगर आपके शरीर में रक्त की कमी है तो आप प्रतिदिन गुड़ का सेवन कीजिए। इससे आपकी रक्त की कमी दूर होगी और शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की मात्रा बढ़ेगी।

(और पढ़ें- खून की कमी का उपाय)

 

गुड़ का लाभ रक्तचाप के लिए - Gud ka fayda for Blood pressure in Hindi

गुड़ एक ऐसी लाभदयाक औषधि है जो आपके रक्तचाप को नियंत्रण में रखती है। साथ ही जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की बहुत अधिक शिकायत होती है उन्हें इसका सेवन ज़रूर करना चाहिए। गुड़ में पोटेशियम और सोडियम भी शामिल होते हैं, जो शरीर में एसिड के स्तर को सामान्य बनाए रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और यह सुनिश्चित करते हैं कि रक्तचाप का सामान्य स्तर बना रहे।

(और पढ़ें - bp kam karne ke upay)

गुड़ का फायदा दिल की बीमारी में - Gud ka fayda for Heart problems in Hindi

​ दिल की बीमारी से बचने के लिए आपको गुड़ का सेवन करना चाहिए। गुड़ रक्त में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाने में मदद करता है। यह प्रतिरक्षा प्रणाली को भी बढ़ाता है, जो बदले में, विभिन्न प्रकार के रक्त विकारों और बीमारियों को रोकने में मदद करता है। गुड़ का सेवन अच्छा उपचार है जो आपको दिल की बीमारी होने के ख़तरे से बहुत दूर रखता है।

(और पढ़ें - प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत करने के उपाय)

आँखों के लिए गुड़ के फायदे - Gud ka fayda for Eyes in Hindi

अगर आपकी आँखों में कमजोरी है तो आपको रोज़ाना गुड़ का सेवन करना चाहिए। क्योकि यह आँखों की कमजोरी के लिए दवा के रूप में काम करता है। गुड़ का सेवन आपकी आँखों की रोशनी को तीव्रता से बढ़ाता है।

(और पढ़ें – आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए क्या खाएं )

गुड़ खाने के अन्य फायदे - Other benefits of Gud

गुड़ खाने के अन्य फायदें इस प्रकार हैं - 

  • जिन लड़कियों को मासिक धर्म की परेशानी मतलब जिन लड़कियों को मासिक धर्म नियमित रूप से नहीं होता है उन्हें प्रतिदिन तीन बार गुड़ का सेवन करना चाहिए। इस के सेवन से मासिक धर्म की परेशानी में बहुत लाभ मिलता। (और पढ़ें - मासिक धर्म नियमित करने के उपाय)
  • अगर आपको भूख नहीं लगती है या भूख लगने पर भी खाना नहीं अच्छा लगता है ऐसे में आपको गुड़ का सेवन करना चाहिए। इसके लिए आप दिन में कम से कम तीन बार गुड़ का सेवन करें। इससे आप अच्छे तरीके से खाना खाने लगेंगे और आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा।
  • ठंड में कई लोगों को कान का दर्द रहता है जिसके कारण हम बहुत परेशान रहते हैं। ऐसे में गुड़ और घी को पकाकर खाने से कान के दर्द में आपको बहुत फायदा मिलेगा।
  • गुड़ मैग्नीशियम का एक अच्छा स्रोत है। थकान मिटाने के लिए गुड़ का सेवन बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके लिए आप रोज़ाना गुड़ का सेवन कीजिए। इससे आपको बहुत फायदा होगा। अगर आप पर काम का बहुत प्रेशर है और आप इसके कारण परेशान रहते हैं तो आपको 20 ग्राम गुड़ का सेवन प्रतिदिन जरूर करना चाहिए।

गुड़ के नुकसान इस प्रकार हैं - 

गुड़ खाने के फायदे से साथ साथ इसके कई नुकसान भी हैं।

  • गुड़ गर्म होता है। गर्मी के मौसम में गुड़ ज्यादा खा लेने से नाक में से रक्त निकलने लगता है।
  • शुगर के मरीजों को गुड़ का अधिक मात्रा में सेवन करने से शुगर लेवल बढ़ जाता है। (और पढ़ें – क्या मधुमेह में गुड़ का सेवन करना अच्छा है?)
  • गुड़ का अधिक मात्रा में और ज्यादा समय तक लगातार सेवन करने से आप का वज़न बढ़ सकता है। (और पढ़ें - वजन कम करने का डाइट चार्ट)
  • अल्सरेटिव कोलाइटिस में गुड का सेवन नहीं करें।
  • अगर आप के शरीर में सूजन है तो गुड का सेवन नहीं करें। यह आप के शरीर कि सूजन बढ़ा सकता है।

(और पढ़ें - सूजन कम करने का तरीका)

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Divya ArjunarishtaDivya Arjunarishta64
Divya AshwagandharishtaDivya Ashwagandharishta80
Divya AbhyaristhDivya Abhayarishta60
Divya KumaryasavaDivya Kumaryasava60
Divya VidangasavaDivya Vidangasava48
Baidyanath Makardhwaja Bati (Kesar Yukta)Baidyanath Makardhwaja Bati (Ay) 10 Tabs130
Baidyanath Marichyadi BatiBaidyanath Marichyadi Bati Combo Pack Of 3124
Baidyanath BhringrajasavaBaidyanath Bhringrajasava119
Baidyanath DraksharishtaBaidyanath Draksharishta Syrup123
Baidyanath KumariasavaBaidyanath Kumari Asava104
Baidyanath MustakarishtaBaidyanath Mustakarishta102
Baidyanath LodhrasavaBaidyanath Lodhrasava120
Baidyanath Chitrak HaritakiBaidyanath Chitrak Haritaki Combo Pack Of 2110
Divya KutjarishtaDivya Kutjarishta48
Dabur LouhasavaDABUR LAUHASAVA SYRUP 450ML97
और पढ़ें ...

References

  1. United States Department of Agriculture Agricultural Research Service. Full Report (All Nutrients): 45218052, JAGGERY BALL, UNREFINED CANE SUGAR. National Nutrient Database for Standard Reference Legacy Release [Internet]
  2. Resmi.S, Fathima Latheef, R.Vijayaraghavan. Effectiveness of Herbal Extract in Enhancing the Level of HB among Adolescent Girls with Iron Deficiency Anemia at Selected Higher Secondary Schools at Bangalore. International Journal of Health Sciences and Research, Vol.6; Issue: 10; October 2016
  3. Priyanka Shrivastav, Abhay Kumar Verma, Ramanpreet Walia, Rehana Parveen, Arun Kumar Singh. JAGGERY: A REVOLUTION IN THE FIELD OF NATURAL SWEETENERS. ejpmr, 2016,3(3), 198-202
  4. A P Sahu, A K Saxena. Enhanced translocation of particles from lungs by jaggery. Environ Health Perspect. 1994 Oct; 102(Suppl 5): 211–214. PMID: 7882934
  5. Health Harvard Publishing, Updated: April 3, 2019. Harvard Medical School [Internet]. Potassium and sodium out of balance. Harvard University, Cambridge, Massachusetts.
  6. Yogesh Shankar Kumbhar. STUDY ON GUR (JAGGERY) INDUSTRY IN KOLHAPUR. International Research Journal of Engineering and Technology Volume: 03 Issue: 02 | Feb-2016