पीरियड्स मिस हुए 7 दिन हो गए, समझ नहीं आ रहा कि ये प्रेगनेंसी के लक्षण हैं या पीरियड्स मिस होने के पीछे कोई और वजह है. पीरियड्स के तय समय पर न आने और करीब 7 दिन बीत जाने पर कई महिलाओं के जहन में ये सवाल आता है. जो महिलाएं प्रेगनेंसी का इंतजार कर रही हैं, उनके लिए यह समय बहुत आशा लेकर आता है. ऐसे में इसकी पुष्टि के लिए प्रेगनेंसी टेस्ट कर लेना जरूरी है. वहीं, अगर प्रेगनेंसी टेस्ट नेगेटिव आता है, तो इसके पीछे अनियमित पीरियड्स हो सकते हैं.

आज इस लेख में यही जानने का प्रयास करेंगे कि पीरियड्स मिस होने पर क्या होता है -

(और पढ़ें - पीरियड्स मिस होने से पहले प्रेगनेंसी के लक्षण)

  1. पॉजिटिव प्रेगनेंसी टेस्ट
  2. नेगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट
  3. सारांश
पीरियड्स मिस होने के 7 दिन बाद के डॉक्टर

अगर कोई महिला गर्भवती होने का प्रयास कर रही हो और पीरियड मिस हो जाएं, तो प्रेगनेंसी कंसीव होने की तरफ ध्यान जाना जायज है. ऐसे में प्रेगनेंसी किट से टेस्ट कर लेना जरूरी है. शोध भी कहते हैं कि पीरियड मिस होने के 7 दिन बीत जाने के बाद प्रेगनेंसी टेस्ट का रिजल्ट सटीक आने के चांसेज ज्यादा रहते हैं.

यदि महिला प्रेग्नेंट होती है, तो उसके शरीर को प्रेगनेंसी के हार्मोन यानी ह्यूमन कोरिओनिक गोनाडोट्रोपिन के स्तर को डेवलप करने में 7 से 12 दिन लग सकते हैं. ऐसे में संभव है कि पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद सही रिजल्ट आ जाए.

अगर 7 दिन बाद भी प्रेगनेंसी टेस्ट किट से कुछ स्पष्ट नहीं होता है, तो कुछ दिन और इंतजार करके फिर से टेस्ट करना चाहिए. साथ ही डॉक्टर से मिलकर भी प्रेगनेंसी की पुष्टि करनी चाहिए.

(और पढ़ें - पीरियड्स मिस होने से पहले प्रेगनेंसी टेस्ट कब करें)

अगर पीरियड मिस होने के बाद 7 दिन बीत जाने पर भी प्रेगनेंसी टेस्ट नेगेटिव आता है, तो इसके पीछे निम्न कारण हो सकते हैं -

  • कुछ मामलों में एचसीजी हार्मोन का निर्माण देर से होता है या फिर शुरुआत में इसका स्तर कम होता है, जिस कारण से प्रेगनेंसी टेस्ट नेगेटिव आ सकता है.
  • एक्टोपिक प्रेगनेंसी के चलते भी टेस्ट नेगेटिव आ सकता है. इस अवस्था में निषेचित अंडा यूट्रस में जाने की जगह फैलोपियन ट्यूब के साथ जाकर जुड़ा जाता है. ऐसा होने पर पीरियड तो मिस हो सकते हैं, लेकिन प्रेगनेंसी टेस्ट नेगेटिव आ सकता है.
  • महिला के मासिक धर्म अनियमित होने से भी पीरियड्स देरी से आ सकते हैं और महिला को लगता है कि वो गर्भवती है. ऐसा होने पर एक बार डॉक्टर से चेकअप करवा लेना जरूरी होता है.
  • इसके अलावा, महिला के स्तनपान करवाने, बीमार होने, जरूरत से ज्यादा व्यायाम करने, अधिक ट्रेवल करने या फिर तनाव लेने से भी पीरियड देरी से आ सकते हैं.

(और पढ़ें - पीरियड कितने दिन लेट हो सकता है)

पीरियड मिस होने के 7 दिन बीत जाने के बाद प्रेगनेंसी के चांसेज बढ़ जाते हैं. महिला को प्रेगनेंसी से जुड़े लक्षण भी आ सकते हैं, जिसमें ब्रेस्ट में दर्द व जी मिचलाना आदि शामिल है. हालांकि, यह जरूरी नहीं है कि पीरियड्स के मिस हो जाने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट का रिजल्ट पॉजिटिव ही आए, यह नेगेटिव भी हो सकता है. ऐसा इसीलिए, क्योंकि स्ट्रेस, डाइट या अन्य मेडिकल कंडीशन की वजह से प्रेगनेंसी लेट हो सकती है. यह भी संभव है कि प्रेगनेंसी वाले हार्मोन ठीक से विकसित ही न हुए हों.

(और पढ़ें - पीरियड न आने पर क्या खाएं)

Dr. Hrishikesh D Pai

Dr. Hrishikesh D Pai

प्रसूति एवं स्त्री रोग
39 वर्षों का अनुभव

Dr. Archana Sinha

Dr. Archana Sinha

प्रसूति एवं स्त्री रोग
15 वर्षों का अनुभव

Dr. Rooma Sinha

Dr. Rooma Sinha

प्रसूति एवं स्त्री रोग
25 वर्षों का अनुभव

Dr. Vinutha Arunachalam

Dr. Vinutha Arunachalam

प्रसूति एवं स्त्री रोग
29 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ