myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

अगर आप बालों की देखभाल नहीं करते तो कई समस्याएं खड़ी हो जाती हैं और उनमे से एक समस्या है डैंड्रफ, मतलब रूसी। ये सिर की त्वचा में खुश्की और रूखेपन की वजह से दिखती है और फिर ये धीरे धीरे बढ़ने लगती है। सर में रूसी कई वजह से हो जाती है लेकिन उनमे से एक है केमिकल युक्त शैम्पू, जो आपके सिर की त्वचा का प्राकृतिक तेल छीन लेते हैं और उन्हें रूखा बना देते हैं। डैंड्रफ से छुटकारा पाने के लिए आप केमिकल युक्त शैम्पू की जगह घर के बने शैम्पू का इस्तेमाल कर सकते हैं।

घर के बने शैम्पू से आपको डैंड्रफ से छुटकारा मिलेगा साथ ही बाल कुछ ही दिनों में घने और चमकदार लगने लगेंगे। इसके अलावा आप बालों से सम्बंधित और समस्याओं को भी रोक पाएंगे।

तो आइये आपको बताते हैं डैंड्रफ के लिए घर पर कैसे बना सकते हैं शैम्पू –

  1. डैंड्रफ के लिए घर का बना हुआ शिकाकाई शैम्पू - Shikakai homemade shampoo for dandruff in Hindi
  2. डैंड्रफ के लिए घर का बना हुआ शहद का शैम्पू - Homemade honey shampoo good for dandruff in Hindi
  3. रूसी के लिए घर पर बनाएं युक्का रूट शैम्पू - Homemade yucca root shampoo for dandruff in Hindi
  4. रूसी खत्म करने के लिए रसौल क्ले से बना शैम्पू - Homemade rhassoul clay shampoo to remove dandruff in Hindi
  5. बालों की रूसी के लिए खीरा और नींबू का शैम्पू - Homemade cucumber and lime shampoo for dandruff in Hindi
  6. बालों की रूसी हटाने में नारियल के दूध से बना शैम्पू है बेहद प्रभावी - Homemade coconut milk shampoo for dandruff in Hindi
  7. डैंड्रफ के लिए बेकिंग सोडा से बना शैम्पू - Homemade baking soda shampoo for dandruff in Hindi
  8. रूसी के लिए सेब के सिरके से बना शैम्पू - Homemade apple cider vinegar shampoo for dandruff in Hindi
  9. बालों से डैंड्रफ हटाने के लिए नींबू के जूस का शैम्पू - Homemade lemon juice shampoo benefits for dandruff in Hindi
  10. डैंड्रफ को दूर करने का उपाय है टी ट्री तेल से बना घर का शैम्पू - Homemade shampoo of tea tree oil for dandruff in Hindi

शिकाकाई बालों का PH स्तर संतुलित रखने में मदद करता है जिससे सिर की त्वचा स्वस्थ और रूसी मुक्त रहती है। मार्शमैलो रुट में सिर की रूखी त्वचा को आराम देने के गुण मौजूद होते हैं। ये कंडीशनर की तरह काम करता है और बालों को आसानी से सुलझाता है।

इसके अलावा रीठा झड़ते बालों का इलाज करता है। इसमें जड़ों को मजबूत करने के गुण होते हैं जिससे बालों का झड़ना कम हो जाता है।

सामग्री –

  1. 5-6 शिकाकाई की फली। (और पढ़ें - शिकाकाई के फायदे
  2. एक चम्मच मार्शमैलो रुट की (अगर आपके बाल ज़्यादा ड्राई हैं तो आप कुछ मार्शमैलो मिला सकते हैं)।
  3. 1 से 2 रीठा (अगर आपके बाल ड्राई हैं तो एक रीठा लें और अगर तेलिये बाल हैं तो दो लें)।
  4. 4-5 कप पानी।
  5. 3 बूँद लैवेंडर तेल की।

विधि –

आप तीन चरणों की मदद से इन मिश्रण को मिला सकते हैं।

पहला चरण -

  1. 8 से 15 घंटे के लिए सारी जड़ी बूटियों को पानी में भिगोने को रख दें।
  2. इससे जड़ी बूटियां आसानी से मुलायम हो जाती हैं।
  3. ऐसे करने से आपको इन्हे ज़्यादा पकाने की ज़रूरत भी नहीं पड़ेगी और उनके लाभ बरक़रार रहेंगे।

(और पढ़ें - बालों के लिए आंवला, रीठा और शिकाकाई)

दूसरा चरण -

  1. सबसे पहले एक बर्तन लें जिनपर आसानी से दाग हट जाते हैं।
  2. अब उसमे पानी डालें और फिर उनमे सभी जड़ी बूटियों को मिला दें।
  3. फिर कुछ देर उबलते रहने दें।
  4. अब गैस को थोड़ा कम कर दें और फिर 15 से 20 मिनट के लिए मिश्रण में उबाल आने दें।
  5. अगर पानी कम हो जाए तो आप उसमे और पानी डाल सकते हैं।
  6. फिर गैस को बंद कर दें, बर्तन को ढककर रख दें और ठंडा होने का इंतज़ार करें।
  7. अब जड़ी बूटियों को छान लें और फिर उस मिश्रण में आवश्यक तेल को मिलाएं।
  8. आप इस मिश्रण को बोतल में भी डालकर इस्तेमाल कर सकते हैं।

तीसरा चरण -

  1. इन जड़ी बूटियों के अलावा आप अन्य जड़ी बूटियां और आवश्यक तेल भी ले सकते हैं जैसे बिच्छू बूटी, लैवेंडर, कैमोमाइल, आंवला आदि।  

शिकाकाई से बने शैम्पू का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. सबसे पहले बालों को गीला करें।
  2. अब घर पर बनाये इस शैम्पू को अपने बालों और सिर की त्वचा पर अच्छे से लगाएं।
  3. फिर धीरे धीरे सिर की त्वचा पर मसाज करें।
  4. आप ऐसे भी कर सकते हैं - बालों से गिरते हुए शैम्पू को एक मग में इक्खट्ठा कर फिरसे उसे बालों पर डाल सकते हैं। और तब तक इस प्रक्रिया को करें जब तक अच्छे से शैम्पू का इस्तेमाल न हो जाए।
  5. फिर शैम्पू को बालों में 4 से 5 मिनट तक रहने दें।
  6. अब बालों को साफ़ पानी से साफ़ कर लें और प्राकृतिक तरीके से बालों को सूखने दें।

अन्य जानकारी –

  1. शिकाकाई की वजह से बाल बहुत ज़्यादा काले हो जाते हैं तो आप इसकी जगह और अधिक रीठा को मिला सकते हैं।
  2. अगर आपके पास मार्शमैलो रुट नहीं है तो आप इसके बदले में अलसी के बीज या मेथी के बीज का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  3. आप इस शैम्पू को अधिक मात्रा में बनाकर बर्फ की ट्रे में डाल सकते हैं। जिससे ये जम जाए और खराब भी न हो। और आप जब चाहे इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।  

(और पढ़ें - बालों को लंबा करने के घरेलू उपाय)

शहद में प्राकृतिक एंटी फंगल और सूजनरोधी गुण होते हैं, जो सिर की त्वचा को साफ़ रखते हैं और संक्रमण से बचाते हैं। शहद में एसिड सिर की त्वचा का PH स्तर संतुलित रखने में मदद करता है। शहद एक बेहतरीन मॉइस्चराइज़र भी है। ये सिर की त्वचा को हाइड्रेट रखता है और उन्हें कंडीशन भी करता है जिससे बाल कोमल और चमकदार रहते हैं। 

सामग्री –

  1. दो चम्मच शहद (कच्चा शहद अगर इस्तेमाल करेंगे तो बहुत अच्छा रहेगा)। (और पढ़ें - शहद के लाभ)
  2. आधा कप पानी।
  3. एक बूँद पुदीने का तेल (वैकल्पिक)।
  4. दो बूँद रोज़मेरी तेल (वैकल्पिक)।

विधि -

  1. सबसे पहले शहद और पानी को एक कटोरे में मिला लें।
  2. फिर इसे एक एक बोतल में डाल दें।
  3. डालने के बाद धीरे धीरे बोतल को हिलाएं।

शहद कभी खराब नहीं होता लेकिन फिर भी आप इसे फ्रिज में रख सकते हैं।

(और पढ़ें - रूखे बालों का घरेलू उपाय)

शहद से बने शैम्पू का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. सबसे पहले बालों को गीला करें।
  2. फिर शहद से बने शैम्पू को बालों और सिर की त्वचा पर डालें।
  3. डालने के बाद कुछ मिनट तक मसाज करें।
  4. फिर बालों और सिर की त्वचा को अच्छे से पानी से धो लें।
  5. धोने के बाद बालों को प्राकृतिक तरीके से सूखने दें।

अन्य जानकारी –

  1. ध्यान रहे कि बालों के लिए कच्चे शहद का ही इस्तेमाल करें क्योंकि कोई और शहद संसाधित होता है और कच्चे शहद के मुकाबले के गुण उनमे नहीं होते।
  2. आप इस शैम्पू में अन्य सामग्रियां भी मिला सकक्ते हैं जैसे बेन्टोनाइट क्ले, मुल्तानी मिट्टी और एलो वेरा जेल। ये आपके बालों को अच्छे से साफ़ करेंगे और खासकर अगर आपके तेलिये बाल हैं तब तो और ज़्यादा।

(और पढ़ें - रूसी हटाने के घरेलू उपाय)

युक्का रुट सिर की त्वचा को पोषण और आराम देने में मदद करते हैं। और इसके एमोलिएंट गुण बालों को मॉइस्चराइज़ करते हैं जिससे बाल मुलायम और चमकदार दिखने लगते हैं। इसके अलावा इस उपाय में आंवला और मेथी भी मौजूद हैं।

आंवला विटामिन सी से समृद्ध होता है और एक प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट है जो सिर की त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है। आंवला बालों को पोषण देता है जिससे बाल घने और तेज़ी से बढ़ने लगते हैं।

मेथी एक बेहतरीन प्राकृतिक कंडीशनर है। ये बालों को मुलायम और चमकदार रखती है।

सामग्री –

  1. एक चम्मच युक्का रुट पाउडर।
  2. एक चम्मच आंवला पाउडर।
  3. एक चम्मच मेथी पाउडर।
  4. दो बूँद लैवेंडर तेल (वैकल्पिक)।
  5. गर्म पानी पेस्ट बनाने के लिए।

विधि -

ये शैम्पू बनाना बहुत ही आसान है।

  1. सबसे पहले सभी पाउडर को एक कटोरे में मिला लें।
  2. अब धीरे धीरे उसमे गर्म पानी डालें जिससे एक पेस्ट तैयार हो सके।
  3. फिर ठंडा होने के लिए रख दें।
  4. आप इसके बाद इसमें आवश्यक तेल को मिला सकते हैं। 
  5. फिर इस शैम्पू को एक बोतल में कर लें।

(और पढ़ें - घुंघराले बालों को सीधा करने के उपाय)

युक्का रुट से बने शैम्पू का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. सबसे पहले बालों को गीला करें।
  2. फिर थोड़ा शैम्पू लें और उसे बालों और सिर की त्वचा पर लगाएं।
  3. लगाने के बाद थोड़ी देर मसाज करें।
  4. मसाज करने के बाद पांच मिनट के लिए इसे बालों में ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  5. फिर बालों को अच्छे से धो लें।

अन्य जानकारी –

  1. अगर आपके पास युक्का रुट नहीं है तो आप शिकाकाई पाउडर का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  2. आंवला बालों को एकदम काला कर सकता है तो आप इसकी जगह अन्य जड़ी बूटियां इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे कैमोमाइल फूल, लैवेंडर या संतरे के छिलके का पाउडर।

(और पढ़ें - रूसी का इलाज)

ये भूरे रंग का क्ले आपके बालों में चमक वापस लाता है और बालों को चमकदार बनाता है। रसौल क्ले को अशुद्धियाँ बाहर निकालने के लिए जाना जाता है जो बालों और सिर की त्वचा में मौजूद होती है। रसौल क्ले प्राकृतिक खनिजों से समृद्ध होता है जो आपके बालों को मॉइस्चराइज़ करता है, लोच को सुधारता है और उन्हें चमकदार बनाता है। ये सिर की त्वचा की इरिटेशन से भी आराम दिलाता है। 

सामग्री –

  1. एक चम्मच रसौल क्ले।
  2. एक चम्मच एलो वेरा जेल (वैकल्पिक)।
  3. एक चम्मच नींबू का छिलका या संतरे के छिलके का पाउडर (इसे आप वकल्पिक रूप से इस्तेमाल कर सकते हैं। ये अधिक तेल को कम करता है और बालों और सिर की त्वचा में नई ताज़गी भरता है)।
  4. एक से दो चम्मच पानी।

विधि –

  1. सबसे पहले पानी को क्ले में मिलाएं जिससे कि एक पेस्ट तैयार हो सके।
  2. फिर इस शैम्पू को एक बोतल में डाल लें।

(और पढ़ें - तैलीय बालों के घरेलू उपाय)

टिप - अगर आपके बाल रूखे हैं तो इस शैम्पू में आप कुछ बूँद तेल की डाल सकते हैं जैसे बादाम का तेल जिससे कि मिश्रण नमीदार बन जाए।

रसौल क्ले से बने शैम्पू का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. सबसे पहले रसौल क्ले से बने शैम्पू को सिर की त्वचा और बालों में लगाएं।
  2. लगाने के बाद फिर तीन से पांच मिनट तक उसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  3. फिर बालों को पानी से धो लें।

अन्य जानकारी –

  1. आप इस शैम्पू को सुगन्धित पानी से और ज़्यादा प्रभावी बना सकते हैं जैसे गुलाब जल या कैमोमाइल। या फिर अन्य चाय की जड़ी बूटियां जैसे रोज़मेरी, पुदीना या कैमोमाइल।
  2. अगर आप बाल तब भी ढंगसे साफ़ नहीं हुए हैं तो सेब के सिरके या नींबू के जूस का इस्तेमाल का सकते हैं। बस एक चम्मच सेब के सिरके को एक कप पानी में मिलाएं और फिर उस मिश्रण से बालों को धोएं। इससे आपके बाल और भी ज़्यादा चमकदार दिखेंगे।

(और पढ़ें - रूसी हटाने के लिए तेल)

खीरे में बहुत ही बेहतरीन सूजनरोधी और खुजली को दूर करने के गुण होते हैं। खीरा सिर की त्वचा को हाइड्रेट और मॉइस्चराइज़ करता है जिससे त्वचा का रूखापन दूर हो जाता है। और आपके बालों के लिए खीरा एंटीऑक्सीडेंट, खनिज, एमिनो एसिड और अन्य पोषक तत्व देता है। जिससे बालों की रोम में नमी बनी रहती है और उन्हें बढ़ने के लिए बढ़ावा मिलता है। साथ ही नींबू में एसिड होता है जो त्वचा को संक्रमण से दूर रखता है और मृत कोशिकाओं को साफ़ करता है।

सामग्री –

  1. एक कप खीरा। (और पढ़ें - खीरे के फायदे
  2. एक चम्मच नींबू का जूस।

विधि –

  1. सबसे पहले खीरे को घिस लें और फिर उसमे नींबू का जूस मिलाएं जिससे एक मुलायम पेस्ट तैयार हो सक।
  2. फिर इस शैम्पू को एक बोतल में डाल लें।

(और पढ़ें - बालों को काला करने के उपाय)

खीरे से बने शैम्पू का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. सबसे पहले बालों को गीला करें।
  2. फिर थोड़ा सा शैम्पू लें और उसे सिर की त्वचा और बालों में लगा लें।
  3. लगाने के बाद कुछ मिनट तक मसाज करें।
  4. फिर 5 से 15 मिनट तक इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  5. अब बालों को पानी से धो लें।

अन्य जानकारी –

  1. अगर आपके बाल लम्बे या घुंघराले हैं तो खीरे के गूदे की जगह उसके जूस का इस्तेमाल करें।
  2. खीरे का पेस्ट तैयार करने के बाद उसमे नींबू के जूस को निचोड़ लें।
  3. फिर इस मिश्रण को छान लें जिससे कि एक जूस तैयार हो जाए।
  4. इस तरह खीरे का गूदा आपके बालों में नहीं जमेगा और आसानी से आपके बाल धुल जाएंगे।

(और पढ़ें - बालों को लंबा करने के लिए शैम्पू)

नारियल का दूध आपके बालों और सिर की त्वचा को पोषित करता है। इसमें मौजूद बेकिंग सोडा सिर की त्वचा से पपड़ी और डैंड्रफ को साफ़ करता है। रोज़मेरी बालों में सुगंध लाने का काम करता है और टी ट्री तेल में एंटीफंगल गुण होते हैं जो बालों को घना और मजबूत बनाते हैं। मेथी में प्रोटीन और एमिनो एसिड होता है जो बालों को स्वस्थ रखने में मदद करती है। 

(और पढ़ें - बालों को घना करने के घरेलू उपाय)

सामग्री –

  1. एक या दो कप नारियल दूध। (और पढ़ें - नारियल के दूध के लाभ)
  2. एक या दो लिक्विड केस्टाईल साबुन।
  3. एक या दो कप साफ़ पानी।
  4. एक दो चम्मच नारियल का तेल
  5. एक चम्मच सेब का सिरका।
  6. एक चम्मच बेकिंग सोडा।
  7. 20 बूँद रोज़मेरी के तेल की।
  8. 15 बूँद टी ट्री तेल की।
  9. एक चम्मच मेथी के बीज।
  10. शैम्पू की बोतल।

(और पढ़ें - दो मुंहे बालों के उपाए)

विधि –

  1. सबसे पहले एक कटोरा लें।
  2. अब उसमे नारियल का दूध, नारियल का तेल और केस्टाईल साबुन डालें।
  3. अब इस मिश्रण को अच्छे से चला लें।
  4. जब एक बार नारियल का दूध, नारियल का तेल और केस्टाईल साबुन अच्छे से मिक्स हो जाएँ तो फिर उसमे पानी, सेब का सिरका और बेकिंग सोडा मिलाएं।
  5. फिर पूरे मिश्रण को अच्छे से चला लें।
  6. अब उसमे रोज़मेरी और ट्री तेल मिलाएं।
  7. अंत में, मेथी को भी मिला दें और पूरे मिश्रण को खूब अच्छे से मिक्स कर लें।
  8. तो अब इस तैयार हुए शैम्पू को शैम्पू की बोतल में डाल दें।  

नारियल के दूध से बना शैम्पू का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. सबसे पहले बाल गीले करें।
  2. फिर बालों में इस शैम्पू को लगाने से पहले बोतल को हिला लें जिससे सभी सामग्रियां अच्छे से मिल जाएँ।
  3. अब शैम्पू को बालों और सिर की त्वचा पर अच्छे से लगाएं।
  4. लगाने के बाद कुछ देर तक मसाज करें।
  5. फिर इस शैम्पू को 5 से 10 मिनट तक ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  6. इसके बाद बालों को धो लें।

(और पढ़ें - रूखे बालों के लिए शैम्पू)

बेकिंग सोडा बालों की चमक को बनाये रखता है और गंदगी या अत्यधिक तेल को बालों से साफ़ करता है। साथ ही त्वचा की कोशिकाओं का असर भी कम करता है, जिनकी वजह से डैंड्रफ होता है। 

सामग्री –

  1. एक चम्मच बेकिंग सोडा। (और पढ़ें - बेकिंग सोडा के लाभ)
  2. एक कप पानी।
  3. दो से तीन बूँद रोज़मेरी तेल (वैकल्पिक)।

विधि –

  1. सबसे पहले एक चम्मच बेकिंग सोडा को एक कप पानी के साथ मिलाकर उसे अच्छे से मिक्स करें। 
  2. फिर इस शैम्पू को एक बोतल में डाल दें।
  3. अगर आपके पास बोतल नहीं है तो आप सीधा गीले बालों और सिर की त्वचा में बेकिंग सोडा को लगाकर रगड़ सकते हैं।

(और पढ़ें - चेहरे से बाल हटाने के घरेलू उपाय)

बेकिंग सोडा से बने शैम्पू का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. सबसे पहले बालों को गीला करें।
  2. अब इस शैम्पू को सीधा बालों और सिर की त्वचा पर लगाएं।
  3. लगाने के बाद हल्के हल्के मसाज करें।
  4. इसके बाद बालों को पानी से धो लें।

नोट - बेकिंग सोडा के इस्तेमाल से आपके बाल रूखे हो सकते हैं लेकिन कुछ दिन बाद सिर की त्वचा का प्राकृतिक तेल वापस आ जाएगा और आपके बाल मुलायम लगने लगेंगे।

(और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के शैम्पू)

डैंड्रफ की समस्या दूर करने के लिए सेब के सिरके से बना शैम्पू बहुत ही बेहतरीन उपाय है। सेब के सिरके से हफ्ते में एक बार बाल ज़रूर धोएं। ये उपाय बहुत ही आसान है लेकिन इसकी गंध रहती है, तब तक जब तक आप फिरसे बालों को न धो लें। इसलिए आप रात को सोने से पहले इस उपाय को आजमाएं और सुबह को सामान्य ढंग से बालों को धो लें।

सेब का सिरका डैंड्रफ के लिए बहुत ही प्रभावी इलाज है। सिरका मृत कोशिकाओं को दूर कर देता है सिर की त्वचा को आराम पहुंचाता है।

सामग्री –

  1. आधा कप सेब का सिरका। (और पढ़ें - सेब के सिरके के लाभ)
  2. एक कप पानी।

विधि –

  1. सबसे पहले सेब के सिरके को पानी में मिला लें।
  2. आप अपने बालों के अनुसार सेब के सिरके और पानी की मात्रा का चयन कर सकते हैं।

(और पढ़ें - गंजापन दूर करने के घरेलू उपाय)

सेब के सिरके से बने शैम्पू का इस्तेमाल कब तक करें –

  1. सबसे पहले बालों को गीला करें।
  2. फिर इस मिश्रण को अपने बालों और सिर की त्वचा पर लगाएं।
  3. अब तीन से पांच मिनट तक मसाज करें।
  4. इसके बाद बालों को पानी से धो लें।
  5. 8 से 12 घंटे के बाद सामान्य तरीके से बालों को फिर धो लें।
  6. जब तक डैंड्रफ नहीं चली जाती तब तक हफ्ते में दो बार इस उपाय को आजमाएं।
  7. डैंड्रफ के जाने के बाद हफ्ते में सिर्फ एक बार इस उपाय का इस्तेमाल करें।

सेब के सिरके से बने शैम्पू को इस्तेमाल करने का दूसरा तरीका -

  1. आप इस मिश्रण को स्प्रे बोतल में भी डालकर इस्तेमाल कर सकते हैं।
  2. बालों में लगाने के बाद इस मिश्रण को हल्के हल्के हाथ से मसाज करें।
  3. आधे घंटे से दो घंटे तक इस मिश्रण को बालों में ऐसे ही लगा हुआ रहने दें। (बालों को ढकने के लिए आप तौलिया या शावर कैप का इस्तेमाल कर सकते हैं)
  4. फिर बालों को धो लें।

नोट - इस मिश्रण को आँखों में न जाने दें। 

(और पढ़ें - तैलीय बालों के लिए शैम्पू)

सिरके की तरह ही नींबू का जूस भी डैंड्रफ के लिए बहुत ही बेहतरीन ट्रीटमेंट है। इस उपाय को तब तक इस्तेमाल करें जब तक डैंड्रफ ना चला जाये।

सामग्री -

  1. दो चम्मच नींबू का जूस। (और पढ़ें - नींबू के लाभ)
  2. एक कप पानी।

विधि -

  1. इस मिश्रण को अच्छे से मिला लें और फिर इसे एक बोतल में डाल दें।

नींबू से बने शैम्पू का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. इस मिश्रण को सीधा अपने बालों और सिर की त्वचा पर लगाएं।
  2. फिर एक मिनट तक धीरे धीरे मसाज करें।
  3. अब अपने बालों को पानी से धो लें।

(और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय)

टी ट्री तेल डैंड्रफ को खत्म करने के लिए जाना जाता है। साथ ही विटामिन ई बालों को मॉइस्चराइज़ करने में मदद करता है। ये उपाय आपकी डैंड्रफ को हमेशा के लिए खत्म करने में मदद बेहद मदद करेगा।  

सामग्री –

  1. एक चौथाई लिक्विड केस्टाईल साबुन (ये आपको ऑनलाइन उपलब्ध होगा)।
  2. एक चौथाई डिस्टिल्ड वाटर (ये आपको ऑनलाइन उपलब्ध होगा)।
  3. आधा चम्मच विटामिन ई तेल (ये आपको किसी दूकान या ऑनलाइन उपलब्ध होगा)।
  4. एक चम्मच सेब का सिरका।
  5. एक चम्मच वेजिटेबल गिल्सरीन।
  6. दस बूँद टी ट्री तेल की। (और पढ़ें - टी ट्री ऑयल के लाभ)
  7. पांच लौंग तेल
  8. छोटी शैम्पू की बोतल।
  9. मिक्सर।
  10. कीप।
  11. मापने के लिए पिरेक्स कप।

(और पढ़ें - बाल झड़ने के कारण)

विधि –

  1. सबसे पहले ध्यान से लिक्विड केस्टाईल साबुन और डिस्टिल्ड वाटर को ऊपर बताई गयी मात्रा के अनुसार पिरेक्स कप में माप लें।
  2. अब उसमे विटामिन ई तेल, विजिटबल गिल्सरीन और सेब के सिरके को भी माप लें।
  3. फिर सारी सामग्रियों को एक साथ मिला लें।
  4. जब एक बार ये सामग्रियां मिल जाएँ फिर आवश्यक तेलों को मिक्स करें।
  5. अब कीप की मदद से इस शैम्पू को बोतल में डाल दें।
  6. फिर बोतल को बंद कर लें फिर धीरे धीरे बोतल को हिलाएं।
  7. इस बोतल को आप फ्रिज में भी सुरक्षित रख सकते हैं।

टी ट्री तेल से बने शैम्पू का इस्तेमाल कैसे करें –

  1. सबसे पहले बालों को गीला करें अब सीधा शैम्पू को सिर पर डालें।
  2. डालने के बाद दो मिनट तक त्वचा और बालों में मसाज करें।
  3. फिर बालों को गर्म पानी से धोये उसके बाद ठंडे पानी का इस्तेमाल करें।
  4. कंडीशन करने के लिए नारियल के तेल या जोजोबा के तेल को लगा सकते हैं।
  5. डैंड्रफ को दूर करने के लिए ब्रेड और चीज़ को कम करें और दही और प्रोबायोटिक्स कैप्सूल्स का सेवन करें।

(और पढ़ें - बाल बढ़ाने के उपाय)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें