myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

क्या आप भी गहरे रंग के कपडे पहनने में हिचकिचाते हैं? कि कही डैंड्रफ यानि रूसी की बरसात आपके कपड़ों पर न होने लगे या फिर आपको देखकर लोग रूसी की दूकान न बोलने लगे। कुछ इसी तरह आप डैंड्रफ की वजह से परेशान रहते हैं। लेकिन घबराने की ज़रूरत नहीं है ये समस्या बेहद आम है और अगर आपकी ये समस्या काफी समय से नहीं जा रही है तो इस लेख में दिए गए उपाय आपकी मदद ज़रूर करेंगे।

(और पढ़ें - रूसी का इलाज)

तो आइये आपको बताते हैं रूसी के लिए तेल जिनके इस्तेमाल से डैंड्रफ का प्रभाव बिल्कुल खत्म हो जाएगा और आप फिर से अपनी पसंदीदा कपड़े पहन सकेंगे।

(और पढ़ें - बालों की देखभाल कैसे करें)

 

  1. डैंड्रफ का उपाय है नीम तेल और जैतून का तेल - Neem oil and olive oil for dandruff in Hindi
  2. डैंड्रफ के लिए नारियल के तेल का करें इस्तेमाल - Benefits of coconut oil for hair dandruff in Hindi
  3. डैंड्रफ के लिए घरेलू नुस्खा है टी ट्री तेल - Tea tree oil good for dandruff in Hindi
  4. रूसी से छुटकारा पाने के लिए देवदार तेल है फायदेमंद - Cedarwood oil helps to get rid of dandruff in Hindi
  5. रूसी से छुटकारा पाने का उपाय है जैतून का तेल - Olive oil hair treatment for dandruff in Hindi
  6. डैंड्रफ हटाने का तरीका है अंडे का तेल - Egg oil treats for dandruff in Hindi
  7. डैंड्रफ हटाने में बेबी तेल है लाभकारी - Baby oil cures dandruff in Hindi
  8. डैंड्रफ का घरेलू उपाय है नारियल का तेल और नींबू का जूस - Coconut oil and lemon juice for hair dandruff in Hindi
  9. डैंड्रफ की समस्या में अरंडी के तेल का करें उपयोग - Benefits of castor oil for dandruff in Hindi
  10. रूसी हटाने का घरेलु उपाय है जोजोबा तेल - Jojoba oil good for dandruff in Hindi
  11. रूसी दूर करने के लिए नीम के तेल का करें प्रयोग - Neem oil removes dandruff in Hindi
  12. बालों से रूसी दूर करने का उपाय है लैवेंडर तेल - Lavender oil reduces dandruff in Hindi
  13. रूसी को दूर करने में मछली का तेल पहुचाये लाभ - Fish oil for dandruff in Hindi
  14. बालों से डैंड्रफ हटाने में रोज़मेरी तेल करे मदद - Rosemary essential oil for dandruff in Hindi
  15. बालों से डैंड्रफ साफ़ करने के लिए ओरेगेनो तेल है गुणकारी - Oregano oil benefits for dandruff in Hindi

सामग्री –

  1. कुछ सूखी नीम की पत्तियां।
  2. चार चम्मच जैतून का तेल।

पहली विधि –

  1. सबसे पहले नीम की पत्तियों को मिक्सर में डालें और उनका पाउडर तैयार कर लें।
  2. अब पत्तियों का पाउडर और जैतून के तेल को एक साथ मिला लें।
  3. अब इस पेस्ट को सिर की त्वचा पर लगाएं।
  4. फिर एक घंटे के लिए इस पेस्ट को ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  5. फिर अपने बालों को शैम्पू से धोकर कंडीशनर लगाएं।

दूसरी विधि –

  1. इस उपाय में आपको सिर्फ नीम की पत्तियों की ज़रूरत पड़ेगी।
  2. सबसे पहले नीम की पत्तियों को आधे घंटे के लिए उबाल लें।
  3. अब इन पत्तियों को पीसकर अपनी सिर की त्वचा में लगा लें।
  4. लगाने के बाद इसे आधे घंटे के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें और फिर साफ़ पानी से उसे धो लें।

नीम के तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

नहाने से पहले आप नीम की पत्तियों का पेस्ट सुबह सुबह सिर की त्वचा और बालों में लगाएं। या फिर आप इसे रात में भी इस्तेमाल कर सकते हैं और फिर सुबह शैम्पू से धो सकते हैं।

नीम के तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

नीम की पत्तियों (खासकर उनका जूस) में बेहद प्रभावी एंटीफंगल गुण होते हैं जिसका इस्तेमाल रूसी के इलाज के लिए किया जाता है। इसमें एंटीबैक्टीरियल और सूजनरोधी गुण भी होते हैं।

(और पढ़ें - नीम के उपयोग से रूसी हटाने के तरीके)

सावधानी –

जब आप पेस्ट को लगाएंगे तो सिर की त्वचा में खुजली हो सकती है। ये झनझनाहट आम है और कुछ देर बाद चली भी जाएगी। तो इसलिए आपको चिंता करने की बिल्कुल भी ज़रूरत नहीं है।

(और पढ़ें - नीम के फायदे)

सामग्री –

  1. नारियल का तेल। (और पढ़ें - नारियल तेल के फायदे)

विधि –

  1. अपने बालों को शैम्पू से धोएं और फिर उन्हें अच्छे से सूखने दें। ध्यान रहे शैम्पू के बाद कंडीशनर न लगाएं।
  2. फिर नारियल के तेल को सिर की त्वचा पर लगाएं और फिर कुछ मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  3. फिर अपने बालों को पानी से धो लें।

नारियल के तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

सुबह में नहाने के बाद इस उपाय को दोहराएं। नारियल के तेल का इस्तेमाल हफ्ते में एक बार ज़रूर करें और तब तक करें जब तक डैंड्रफ चली नहीं जाती।

नारियल के तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

नारियल का तेल एपिडर्मिस में गहराई से प्रवेश करता है और बेहतरीन तरीके से काम करता है। इसमें फैटी एसिड भी होता है जिससे रूसी का इलाज करने में मदद मिलती है।

(और पढ़ें - रूसी हटाने के घरेलू उपाय)

सामग्री –

  1. टी ट्री तेल की कुछ बूँदें। (और पढ़ें - टी ट्री ऑयल के फायदे)

विधि –

  1. सबसे पहले एक कप में शैम्पू की कुछ मात्रा ले लें।
  2. अब उसमे टी ट्री तेल की कुछ बूँदें मिलाएं।
  3. अब अच्छे से इस मिश्रण को मिला लें और फिर इसे सिर की त्वचा पर अच्छे से लगाएं।
  4. फिर अपने बालों को पांच मिनट के बाद धो दें।

टी ट्री तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

इस उपाय का इस्तेमाल आप नहाने के दौरान कर सकते हैं। टी ट्री तेल का उपयोग आप रोज़ाना पूरे दिन में एक बार कुछ हफ्ते तक ज़रूर करें।

टी ट्री तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

टी ट्री तेल में प्रभावी सूजनरोधी गुण होते हैं और ये जड़ों में गहराई से प्रवेश करता है। इस तरह से ये रूसी के लिए भी एक बेहतरीन उपाय है। टी ट्री तेल ऑस्ट्रेलिया के पेड़ों से निकाला जाता है साथ ही इसे एंटीफंगल गुणों के लिए भी जाना जाता है। एक रिसर्च के अनुसार जो लोग अपने शैम्पू में पांच प्रतिशत टी ट्री तेल का इस्तेमाल चार हफ्तों के लिए करते हैं उनके बालों का डैंड्रफ 41 प्रतिशत खत्म हो जाता है। जबकि जो लोग सिर्फ शैम्पू का इस्तेमाल करते हैं उनकी रूसी 11 प्रतिशत ही कम होती है। टी ट्री तेल का इस्तेमाल एंटीसेप्टिक की तरह भी इस्तेमाल किया जाता है।

(और पढ़ें - डैंड्रफ के लिए शहनाज हुसैन के टिप्स)

सामग्री –

  1. सात बूँदें देवदार तेल की।
  2. दस बूँदें साइप्रस तेल की।
  3. दस बूँदें जुनिपर तेल की।
  4. 50 मिलीलीटर कोई भी आवश्यक तेल लें।

विधि –

  1. सबसे पहले एक कटोरी में सभी सामग्रियों को मिला लें और फिर सिर की त्वचा में इस मिश्रण को लगाएं।
  2. फिर मिश्रण को एक घंटे के लिए लगा हुआ रहने दें।
  3. अब अपने बालों में शैम्पू लगाएं और फिर शैम्पू वाले बालों को गर्म पानी से धो लें।
  4. इसके बाद, दो कप पानी में तेल की कुछ मात्रा को मिलाएं और फिर इस मिश्रण को बालों के धोने के बाद लगा लें।

देवदार तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

जब नहाने जा रहे हो तब इस उपाय को सुबह में दोहराएं। 

देवदार तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

देवदार तेल में सेबोरीकरोधी (anti-seborrheic) गुण होते हैं जो रूसी का इलाज करते हैं और सिर की त्वचा की सूजन को भी दूर करते हैं।

(और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के उपाय)

सामग्री –

  1. जैतून के तेल की कुछ बूँदें। (और पढ़ें - जैतून के तेल के लाभ)

विधि –

  1. सबसे पहले सिर की त्वचा में जैतून का तेल लगाएं।
  2. धोने से पहले इसे दस मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  3. इसके बाद, आप अपने बालों को सामान्य तरीके से शैम्पू से धोएं।
  4. इसके अलावा, आप सोने से पहले जैतून का तेल भी लगा सकते हैं। फिर अपने बालों को तौलिये से बाँध लें जिससे तेल बालों की जड़ों तक अवशोषित हो जाए। फिर अपने बालों को सुबह में धो लें। 

जैतून का तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

इस उपाय को नहाने से पहले और रात को सोने से पहले दोहराएं।

जैतून का तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

जैतून का तेल रूसी का इलाज दो तरीको से करता है। पहला, जैतून का तेल सिर की त्वचा में रूखे क्षेत्र को मॉइस्चराइज़ करता है और रूसी होने से बचाता है। जैतून के तेल की ज़रा सी मात्रा भी ज़िद्दी डैंड्रफ को भी खत्म करती है। वो आसानी से आपकी त्वचा से निकल जाती है और त्वचा को स्वस्थ बनाने में मदद करती है। दूसरा, जैतून का तेल बहुत ही आसानी से सिर की त्वचा की मोटी परत में भी अवशोषित हो जाता है। इस तरह डैंड्रफ का इलाज बहुत अच्छे से होता है।

सावधानी –

तेल लगाने के बाद अपने तेलिये बालों को धूल मिटटी से बचने के लिए तौलिये से लपेट लें। इसके साथ ही ये भी ध्यान रखें कि जैतून का तेल गुनगुना हो न कि अधिक गर्म।

(और पढ़ें - बाल बढ़ाने के उपाय और बालों को बढ़ाने का तेल)

सामग्री –

  1. अंडे के तेल की कुछ बूँदें।

विधि –

  1. सबसे पहले उँगलियों पर अंडे का तेल लें और फिर उसे सिर की त्वचा पर लगाएं।
  2. लगाने के बाद बालों को रातभर के लिए ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  3. सुबह में बालों को शैम्पू से धो लें।

अंडे के तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

रात को सोने से पहले इस प्रक्रिया को 12 हफ्तों तक हफ्ते में दो या तीन बार दोहराएं।

अंडे के तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

अंडे का तेल ओमेगा-3 फैटी एसिड से समृद्ध होता है जो बालों की रोम को मजबूत करता है। इस तेल में कोलेस्ट्रॉल भी होता है जो डैंड्रफ को खत्म करने में मदद करता है। 

सावधानी –

अपने बालों को हफ्ते में सिर्फ एक बार शैम्पू से धोएं। बार बार शैम्पू से बाल धोने से बालों का प्राकृतिक तेल निकल जाता है और फिर बाल रूखे और बेजान दिखने लगते हैं।

(और पढ़ें - बालों को काला करने के लिए तेल)

सामग्री –

  1. बेबी तेल।

विधि –

  1. सबसे पहले उँगलियों पर बेबी तेल लें।
  2. फिर सिर की त्वचा पर उसे लगाएं।
  3. लगाने के बाद सिर की त्वचा पर मसाज करें और फिर रातभर के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  4. सुबह में बालों को एंटी डैंड्रफ शैम्पू से धो लें।

बेबी तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

इस उपाय को रात में सोने से पहले दोहराएं।

बेबी तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

बेबी तेल में फैट नहीं होता और ये आपके बालों के लिए अच्छा भी है क्योंकि फैट को कवक द्वारा अवशोषित कर लिया जाता है जिससे और भी कई समस्या हो सकती हैं। साथ ही बेबी तेल रूसी को खत्म करने में भी मदद करता है।

(और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के लिए तेल)

सामग्री –

  1. एक चम्मच नींबू का जूस।
  2. पांच चम्मच नारियल का तेल।

विधि –

  1. सबसे पहले एक नींबू के दो हिस्से कर लें।
  2. अब एक हिस्से को पांच चम्मच नारियल के तेल के साथ मिला लें।
  3. फिर इस मिश्रण को अच्छे से मिलाने के बाद सिर की त्वचा पर रगड़ें और फिर आधे घंटे के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  4. इसके बाद बालों को शैम्पू से साफ़ कर लें।

नारियल का तेल और नींबू का जूस का इस्तेमाल कब तक करें –

जब आप नहाने वाले हो तब इस मिश्रण का इस्तेमाल करें।

नारियल का तेल और नींबू का जूस के इस्तेमाल करने के फायदे –

रूसी का सबसे पहला कारण है सिर की त्वचा में PH स्तर का असंतुलित होना। नींबू के जूस में एसिड होता है जो सिर की त्वचा के PH स्तर को संतुलित करने में मदद करता है। इस तरह डैंड्रफ की समस्या भी दूर रहती है। नारियल के तेल के कंडीशनिंग करने के गुण और एंटीबैक्टीरियल गुण बालों को मजबूत करने में मदद करते हैं।

सावधानी –

अगर आपकी सिर की त्वचा पर कोई चोट या छोटा सा कट लग गया है तो ये उपाय उससे निजात दिलाने में मदद करेगा। नींबू का जूस प्राकृतिक रूप में एसिडिक होता है और रूसी को कम करता है। इसके साथ ही बोतल में आने वाला नींबू के जूस से आपको एक अच्छा परिणाम नहीं मिल सकता इससे आपको और हानि पहुंच सकती है।

(और पढ़ें - रूखे बालों के लिए तेल)

सामग्री –

  1. तीन से चार चम्मच अरंडी का तेल। (और पढ़ें - अरंडी के तेल के लाभ)

विधि –

  1. सबसे पहले तेल को गर्म कर लें और फिर इसे अपने सिर की त्वचा और बालों में लगा लें।
  2. अब सिर की त्वचा पर कुछ मिनट तक मसाज करें जिससे कि तेल अच्छे से अवशोषित हो सके।
  3. इस तेल को रातभर के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें और फिर सुबह बालों को धो लें।

अरंडी के तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

इस उपाय को सोने से पहले दोहराएं।

अरंडी के तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

अरंडी के तेल में रिसिनोलिक एसिड और रिसिन होता है जिनमे एंटीबैक्टीरियल के गुण होते हैं। इससे सिर की त्वचा के संक्रमण का इलाज होता है जैसे डैंड्रफ और सेबोरीक डर्मेटाइटिस। अरंडी का तेल एक हुमेक्टैंट भी है और ये सिर की त्वचा और बालों दोनों को मॉइचराइज़ करता है। इस उपाय से आपको डैंड्रफ से छुटकारा मिलेगा साथ ही चमकदार और मुलायम बाल भी देखने को मिलेंगे।

सावधानी –

अगर आपकी सिर की त्वचा संवेदनशील है तो अरंडी के तेल को लगाने से पहले उसे नारियल के तेल या जैतून के तेल के साथ मिला दें।

(और पढ़ें - रूखे बालों का घरेलू उपाय)

सामग्री –

  1. दो से तीन चम्मच जोजोबा तेल। (और पढ़ें - जोजोबा तेल के फायदे)
  2. शावर कैप।

विधि –

  1. सबसे पहले उँगलियों के बीच ज़रा सा तेल लें और फिर उसे अपनी हथेलियों में रगड़ लें। 
  2. अब इस तेल को अपनी सिर की त्वचा पर लगाएं और फिर कुछ मिनट के लिए मसाज करें।
  3. फिर अपने बालों को शावर कैप से 20 मिनट के लिए रगड़ लें।
  4. हमेशा की तरह अपने बालों को धो लें।

जोजोबा तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

इस उपाय को नहाने से पहले दोहराएं।

जोजोबा तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

जोजोबा तेल में विटामिन ई होता है जो सिर की त्वचा के रूखेपन को नमी देने में मदद करता है और उन्हें हाइड्रेटेड रखता है। इसके इस्तेमाल से बालों को बढ़ाने में भी मदद मिलती है।

(और पढ़ें - तैलीय बालों के घरेलू उपाय और तैलीय बालों के लिए शैम्पू)

सामग्री –

  1. एक चम्मच नीम तेल। (और पढ़ें - नीम के तेल के गुण)
  2. एक चम्मच जैतून का तेल।

विधि –

  1. सबसे पहले दोनों तेल को मिला लें और फिर इस मिश्रण को सिर की त्वचा पर लगाएं।
  2. लगाने के बाद 20 मिनट तक इस तेल को बालों में ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  3. फिर बालों को धो लें।

नीम के तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

बालों को धोने से इस उपाय को सुबह और शाम दोहराएं।

नीम के तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

नीम में एंटीमाइक्रोबियल कंपाउंड होता है जिसे निमोनोल कहते हैं जो रूसी का इलाज करने में मदद करता है।

(और पढ़ें - सफेद बालों के घरेलू उपाय)

सामग्री –

  1. दो चम्मच जैतून का तेल या बादाम तेल या फिर नारियल का तेल। 
  2. 10-12 बूँद लैवेंडर तेल। (और पढ़ें - लैवेंडर के तेल के लाभ)

विधि –

  1. सबसे पहले दोनों तेल को मिक्स कर लें।
  2. फिर इस मिश्रण को सिर की त्वचा पर लगाएं।
  3. अब इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें और फिर बालों को आधे घंटे बाद धो लें।

लैवेंडर तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

इस उपाय को नहाने से पहले धोएं।

लैवेंडर तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

लैवेंडर तेल में एंटीफंगल के गुण होते हैं और त्वचा को रूसी से छुटकारा दिलाते हैं।

सावधानी –

डैंड्रफ का इलाज करने से पहले एक बार पैच टेस्ट ज़रूर करें।

(और पढ़ें - दो मुंहे बालों के घरेलू उपाए)

सामग्री –

  1. मछली के तेल का सप्लीमेंट्स। (और पढ़ें - मछली के तेल के फायदे)

विधि –

  1. पूरे दिन में एक या दो मछली के तेल के कैप्सूल्स ज़रूर लें।

मछली का तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

इन कैप्सूल्स को एक बार सुबह लें और एक बार रात में ज़रूर खाएं।

मछली का तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

मछली का तेल शरीर को ओमेगा-3 फैटी एसिड पहुंचाता है। इसके सूजनरोधी गुण रूखी त्वचा का इलाज करने में मदद करते हैं और डैंड्रफ को खत्म करते हैं।

(और पढ़ें - चेहरे से बाल हटाने के घरेलू उपाय)

सामग्री –

  1. दो चम्मच कोई भी एसेंशियल आयल।
  2. चार से पांच बूँद रोज़मेरी तेल। (और पढ़ें - रोजमेरी तेल के फायदे)
  3. गर्म तौलिया।

विधि –

  1. सबसे पहले रोज़मेरी तेल को आवश्यक तेल में मिला दें।
  2. आप आवश्यक तेल में जैतून का तेल, बादाम के तेल या नारियल के तेल को ले सकते हैं।
  3. इस मिश्रण को सिर की त्वचा पर लगाएं और फिर गर्म तौलिया लपेट लें।
  4. जब आपको गर्म महसूस होने लगे तो फिर तौलिया को हटा लें और फिर बालों को धो लें।  

रोज़मेरी तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

इस प्रक्रिया को शाम में दोहराएं जिससे आप गर्म तौलिया की मदद से उसका मज़ा अच्छे से ले सके।

रोज़मेरी तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

रोज़मेरी रूखी और पपड़ीदार वाली सिर की त्वचा के लिए बेहद प्रभावी है और ये रूसी को भी नियंत्रित करता है। इससे सिर की त्वचा तक रक्त परिसंचरण बढ़ता है और बाल भी फिर बढ़ने लगते हैं।

सावधानी –

इस उपाय को डँड्रफ के लिए इस्तेमाल करने से पहले आप अपनी सिर की त्वचा का पैच टेस्ट कर लें।

(और पढ़ें - घुंघराले बालों के घरेलू उपाय)

सामग्री –

  1. तीन से चार बूँद ऑरेगैनो तेल की।
  2. एक चम्मच शैम्पू।

विधि –

  1. शैम्पू की हर चम्मच के साथ ऑरेगैनो तेल की तीन से चार बूँद डालें।
  2. फिर इस मिश्रण से अपने बालों और सिर की त्वचा को धोएं।
  3. कुछ देर तक ऐसे मसाज करें और फिर बालों को धो लें।

ओरेगेनो तेल का इस्तेमाल कब तक करें –

इस उपाय को नहाने के दौरान करें और तब तक दोहराएं जब तक आपका डैंड्रफ पूरी तरह से चला न जाए।

ओरेगेनो तेल के इस्तेमाल करने के फायदे –

ऑरेगैनो में एंटीफंगल के गुण होते हैं जो फंगस को खत्म करने में मदद करते हैं जिनकी वजह से डैंड्रफ होता है।

सावधानी –

इस उपाय को डँड्रफ के लिए इस्तेमाल करने से पहले आप अपनी सिर की त्वचा का पैच टेस्ट ज़रूर करें।

(और पढ़ें - क्षतिग्रस्त बालों के लिए घरेलू नुस्खे)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें