बालों में रूसी की समस्या इस मौसम में जितनी आम है, उतना ही कठिन इससे पूरी तरह छुटकारा पाना है। स्कैल्प की त्वचा की मृत परत, जिसे हम रूसी कहते हैं, बालों से जुड़ी कई बड़ी समस्याओं का कारण हो सकती है। यह सूखी त्वचा, तेलयुक्त त्वचा, सिर पर जीवाणुओं और कवक के विकास और अन्य ऐसे कारकों की वजह से हो सकती है। रूसी सिर में अत्यधिक खुजली का कारण भी बनती है।

(और पढ़ें - रूसी का इलाज)

लेकिन रूसी को बालों की नियमित देखभाल के साथ नियंत्रित किया जा सकता है। आप भी कुछ सरल प्राकृतिक घरेलू उपाय की मदद ले सकते हैं। यह सच है कि प्राकृतिक इलाज परिणाम दिखाने में समय लेते हैं, किंतु ये उपचार प्रभावी ढंग से पूरी तरह से समस्या का इलाज कर सकते हैं।

(और पढ़ें - बालों की देखभाल कैसे करें)

तो आइये आपको बताते हैं बालों में रूसी हटाने के घरेलू उपाय -

  1. रूसी का घरेलू नुस्खा है ग्रीन टी
  2. बालों से रूसी खत्म करने का तरीका है तुलसी
  3. बालों से डैंड्रफ हटाने का उपाय है हिना
  4. रूसी को जड़ से खत्म करने का उपाय है सेब
  5. डैंड्रफ का रामबाण इलाज है नीम की पत्तियां
  6. डैंड्रफ से छुटकारा पाने का तरीका है सेब का सिरका
  7. डैंड्रफ की रामबाण दवा है बेकिंग सोडा
  8. रूसी को दूर रखने के लिए सफेद सिरके का करें उपयोग
  9. डैंड्रफ हटाने के घरेलू नुस्खे में करे नींबू का उपयोग
  10. डैंड्रफ का उपाय करें एस्पिरिन से
  11. रूसी हटाने का घरेलू उपाय है मेथी के बीज
  12. डैंड्रफ खत्म करने का तरीका है अंडे
  13. डैंड्रफ दूर करने के घरेलू नुस्खे हैं मुल्तानी मिटटी
  14. डैंड्रफ हटाने का घरेलू नुस्खा है लहसुन
  15. रूसी दूर करने का घरेलू उपाय है अदरक
बालों से रूसी हटाने के घरेलू उपाय के डॉक्टर

सामग्री –

  1. दो ग्रीन टी बैग। (और पढ़ें - ग्रीन टी के लाभ)
  2. एक कप गर्म पानी।

विधि –

  1. सबसे पहले ग्रीन टी को 20 मिनट के लिए पानी में गर्म कर लें और फिर उसे कुछ देर के लिए ठंडा होने को रख दें।
  2. अब इस मिश्रण को सिर की त्वचा पर रूई से लगाएं या फिर इससे बालों को धो लें।
  3. फिर आधे घंटे के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  4. अब बालों को पानी से धो लें।

ग्रीन टी का इस्तेमाल कब तक करें –

सुबह को नहाने से पहले इस उपाय को आजमाएं।

ग्रीन टी को इस्तेमाल करने के फायदे –

ग्रीन टी में मौजूद केटेकिन्स में एंटीफंगल गुण मौजूद होते हैं। इसके पॉलीफेनोल्स जो एक एंटीऑक्सीडेंट है, वो आपके सिर की त्वचा को फिर से स्वस्थ रखने में मदद करता है।

(और पढ़ें - चेहरे से बाल हटाने के घरेलू उपाय)

सामग्री –

  1. तुलसी की कुछ पत्तियां।
  2. दो चम्मच आंवला पाउडर।
  3. दो चम्मच पानी। 

विधि –

  1. सबसे पहले सभी सामग्रियों को एक साथ मिला लें जिससे कि एक मुलायम पेस्ट तैयार हो सके।
  2. अब इस पेस्ट को बारीकी से अपने सिर की त्वचा पर लगाएं और आधे घंटे के लिए फिर इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  3. फिर अपने बालों को ताज़ा पानी से धोएं।

तुलसी का इस्तेमाल कब तक करें –

सुबह को नहाने से पहले इस उपाय को आजमाएं।

तुलसी को इस्तेमाल करने के फायदे –

तुलसी की पत्तियां कई प्राकृतिक सामग्रियों में से एक है जो डैंड्रफ का इलाज करने में मदद करती हे। इसके एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण डैंड्रफ का इलाज करते हैं और सिर की त्वचा की मजबूती को भी सुधारते हैं।

(और पढ़ें - तुलसी के फायदे और नुकसान)

सामग्री –

  1. एक चम्मच हिना।
  2. एक चम्मच आंवला पाउडर।
  3. एक चम्मच टी पाउडर।
  4. एक चम्मच नींबू का जूस।
  5. एक चम्मच बालों का तेल (खासकर नारियल तेल)।

विधि –

  1. सबसे पहले एक कटोरी में सभी सामग्रियों को मिला लें। और तब तक मिलाएं जब तक एक पेस्ट तैयार न हो जाए।
  2. अब इस पेस्ट को सिर की त्वचा पर लगाएं और लगाने के बाद कुछ मिनट तक ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  3. इसके बाद बालों को शैम्पू से धो लें।

हिना का इस्तेमाल कब तक करें –

सुबह में इस उपाय को नहाने से पहले आजमाएं।

हिना को इस्तेमाल करने के फायदे –

हिना की सूखी पत्तियों का इस्तेमाल कई बालों की समस्याओं का इलाज करने के लिए किया जाता है, इसमें डैंड्रफ की समस्या भी शामिल है। हिना के सक्रीय घटक जैसे टानिक (tannic) और गलिक एसिड  लोसन (lawsone) और म्यूसिलेज डैंड्रफ का इलाज करने में बहुत ही एहम भूमिका निभाते हैं।

हिना बालों के केराटिन में बंध जाती है जिसकी मदद से एक सुरक्षात्मक परत बनती है और सिर की त्वचा की इर्रिटेशन से भी आराम मिलता है। ये सिर की त्वचा से तेल को दूर करती है और एक कंडीशनर की तरह काम करती है। हिना डैंड्रफ को दूर करने में भी मदद करती है।

(और पढ़ें - हिना (मेहंदी) के फायदे)

सामग्री –

  1. दो चम्मच सेब का जूस।
  2. दो चम्मच पानी।

विधि –

  1. सबसे पहले दो चम्मच सेब के जूस और पानी को बराबर मात्रा में मिला दें।
  2. फिर इस मिश्रण को अपनी सिर की त्वचा पर लगाएं।
  3. लगाने के बाद 15 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  4. और फिर त्वचा और बालों को अच्छे से शैम्पू से धो लें।

सेब का इस्तेमाल कब तक करें –

इस उपाय को सुबह में नहाने से पहले आजमाएं।

सेब को इस्तेमाल करने के फायदे –

कच्चे सेब में प्रोकायनीदीन (procyanidin) बी 2 होता है। ये प्राकृतिक कंपाउंड बालों को बढ़ाने में मदद करता है। ये तो आप सभी जानते हैं डैंड्रफ की वजह से बाल भी झड़ते हैं तो बालों को झड़ने से रोकने के लिए सेब आपके बालों को स्वस्थ रखने में मदद करेगा।

(और पढ़ें - सेब के फायदे और सेब खाने का सही समय)

सामग्री –

  1. मुट्ठीभर नीम की पत्तियां।

विधि –

  1. नीम की मुट्ठी भर पत्तियों को चार कप में पानी में उबालने को रख दें।
  2. फिर इस घोल को ठंडा करके छान लें।
  3. अब इसका इस्तेमाल बालों को धोने के लिए करें।
  4. इस घोल को ज़्यादतर सिर की त्वचा पर डालें।

नीम की पत्तियों का इस्तेमाल कब तक करें –

इस घोल का प्रयोग हफ्ते में दो या तीन बार, बाल धोने के लिए करें।

नीम की पत्तियों को इस्तेमाल करने के फायदे –

भारतीय बकाइन को नीम के रूप में भी जाना जाता है। इसके एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण रूसी के इलाज में मदद करने के साथ साथ सिर के दाने, सिर में खुजली और बाल गिरने की समस्या की तरह कई अन्य बालों की समस्याओं के लिए भी उपयोगी हैं।

(और पढ़ें - नीम के फायदे)

सामग्री –

  1. सेब का सिरका। (और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे)
  2. पानी।

विधि –

  1. सबसे पहले सेब का सिरका और पानी की बराबर मात्रा एक कटोरे में मिला दें।
  2. अब बालों को रोज़ाना की तरह अच्छे से धोएं फिर इस मिश्रण को अपने बालो पर डालें और डालने के बाद सिर की त्वचा पर मसाज करें।
  3. 15 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ रहने दें और फिर बालों को पानी से धो लें।

सेब के सिरके का इस्तेमाल कब तक करें –

सुबह को नहाते समय इस उपाय को आजमाएं। इस उपाय को आप एक हफ्ते तक रोज़ाना दोहराएं।

सेब के सिरके को इस्तेमाल करने के फायदे –

सेब के सिरके में एसिड सिर की त्वचा का PH स्तर सुधारने में मदद करता है जिसके चलते ख़मीर को रोकने में मदद मिलती है।

सावधानी –

ध्यान रखें ये मिश्रण आपकी आँखों में न जाने पाए। इसके साथ ही कोई भी चोट या खरोच में इसको लगाने से जलन मच सकती है। इस मामले में, प्रभावित क्षेत्र को फिर अच्छे से पानी से धो लें।

(और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के उपाय)

सामग्री –

  1. एक चम्मच बेकिंग सोडा। (और पढ़ें - बेकिंग सोडा के फायदे)

विधि –

  1. सबसे पहले अपने बालों को गीला करें और फिर बेकिंग सोडा को सिर की त्वचा और बालों में रगड़ें।
  2. कुछ मिनट के लिए बेकिंग सोडा को ऐसे ही लगा हुआ रहने दें और फिर पानी से बालों को धो लें।
  3. इसके अलावा आप बेकिंग सोडा को शैम्पू में मिक्स करके बालों को धोने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

बेकिंग सोडा का इस्तेमाल कब तक करें –

सुबह में जब आप नहा रहे हो तब इस उपाय का इस्तेमाल करें। साथ ही इस उपाय को हफ्ते में दो बार दोहराएं।

बेकिंग सोडा को इस्तेमाल करने के फायदे –

बेकिंग सोडा एक ऐसा एक्सफोलिएंट है जो मृत कोशिकाओं को साफ करने में मदद करता है। ये सिर की त्वचा का अत्यधिक तेल दूर करता है (जो की डैंड्रफ होने का दूसरा कारण है)। हालाँकि आपके बाल बेकिंग सोडा के इस्तेमाल से रूखे हो जाएंगे। तो चिंता करने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि दो हफ्तों के अंदर ही आपके सिर की त्वचा प्राकृतिक तेल का उत्पादन करना शुरू कर देगी जिससे रूखापन गायब हो जाएगा। बेकिंग सोडा को कवक को दूर करने के लिए भी जाना जाता है जिसकी वजह से रुसी बढ़ती है।

सावधानी –

ध्यान रहे अपने बालों में बेकिंग सोडा को ज़्यादा समय तक न रहने दें इससे आपके बाल रूखे सो सकते हैं।

(और पढ़ें - बाल बढ़ाने के उपाय और बालों को बढ़ाने का तेल)

सामग्री –

  1. दो कप सिरका।
  2. एक कप पानी।

विधि –

  1. सबसे पहले दो कप सिरका को गर्म कर लें और फिर उसे ठंडा होने के लिए रख दें।
  2. अब उसमे एक से आठ कप पानी मिलाएं।
  3. इस मिश्रण को अच्छे से मिलाने के बाद सिर की त्वचा पर रूई से लगाएं या इस मिश्रण से त्वचा और बालों को धोएं।
  4. फिर इसके बाद सिर की त्वचा पर थोड़ी देर मसाज करें।
  5. अब अपने बालों को शैम्पू से धो लें।
  6. इसके अलावा बालों को शैम्पू से धोने के बाद आप आखिर में एक चम्मच सिरके को एक मग पानी में डालकर बालों को धो सकते हैं।

सफेद सिरका का इस्तेमाल कब तक करें –

सुबह में शैम्पू करने से पहले इस उपाय को आजमाएं। 

सफेद सिरका को इस्तेमाल करने के फायदे –

सिरका कवक और बैक्टीरिया को मारने में मदद करता है। ये सिर की त्वचा को ड्राई बनाता है और रूसी को दूर करता है। सिरके में एसिड गुण सिर की त्वचा की खुजली को कम करते हैं और पपड़ी को भी दूर करते हैं।

सावधानी –

ध्यान रखें सिरका आपके आँखों में न जाने पाए। इससे आपके आँखों में जलन हो सकती है।

(और पढ़ें - डैंड्रफ के लिए शहनाज हुसैन के टिप्स)

सामग्री –

  1. तीन चम्मच नींबू का जूस। (और पढ़ें - नींबू के फायदे)
  2. तीन चम्मच बेकिंग सोडा।
  3. एक कटोरा सेब का सिरका।

विधि –

  1. सबसे पहले एक कटोरी में सभी सामग्रियों को मिला लें और फिर इस पेस्ट को अपनी सिर की त्वचा पर लगाएं।
  2. फिर इसे दस मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ रहने दें और तब तक जब तक सिर की त्वचा में खुजली न महसूस होने लग जाए।
  3. अब अपने बालों को पानी से धो लें।
  4. आप कंडीशनर के रूप में सेब के सिरके का इस्तेमाल कर सकते हैं।

नींबू का इस्तेमाल कब तक करें –

सुबह में नहाने से पहले इस उपाय को आजमाएं।

(और पढ़ें – त्वचा के लिए नींबू के लाभ)

नींबू को इस्तेमाल करने के फायदे –

नींबू कवक को दूर करता है जो कि डैंड्रफ के लिए ज़िम्मेदार होते हैं।

(और पढ़ें - डैंड्रफ के लिए तेल)

सामग्री –

  1. दो एस्पिरिन की गोलियां।

विधि –

  1. सबसे पहले एस्पिरिन की गोलियों को क्रश कर लें और अब इस पाउडर को एक कटोरी में डाल लें।
  2. फिर शैम्पू की कुछ मात्रा को इस पाउडर में मिला दें।
  3. अब इस मिश्रण को अच्छे से मिलाने के बाद इससे बालों को धोएं।
  4. कुछ मिनट तक इस मिश्रण को ऐसे ही लगा हुआ रहने दें और फिर बालों को पानी से धो लें।

एस्पिरिन का इस्तेमाल कब तक करें –

ये उपाय को सुबह नहाते समय आजमाएं।

एस्पिरिन को इस्तेमाल करने के फायदे –

एस्पिरिन में सलीकायलेट्स (salicylates) होता है जो सिर की त्वचा को एक्सफोलिएट करता है और डैंड्रफ का इलाज करता है।

(और पढ़ें - रूखे बालों का घरेलू उपाय)

सामग्री –

  1. एक चम्मच मेथी के बीज। (और पढ़ें - मेथी के फायदे)
  2. दो कप गर्म पानी।

विधि –

  1. सबसे पहले मेथी के बीज को मूसली से पीस लें।
  2. अब दो कप गर्म पानी में इन पिसे हुए बीज को रातभर के लिए सोकने को डाल दें।
  3. इसके बाद सुबह मिश्रण को छाने और फिर इसे बालों को धोने के लिए इस्तेमाल करें।

मेथी के बीज का इस्तेमाल कब तक करें –

इस उपाय को सुबह नहाने से पहले आजमाएं।

मेथी के बीज को इस्तेमाल करने के फायदे –

मेथी के बीज में कई विटामिन और खनिज होते हैं जो रूसी का इलाज करने के लिए बेहद प्रभावी हैं।

(और पढ़ें - तैलीय बालों के घरेलू उपाय और तैलीय बालों के लिए शैम्पू)

सामग्री –

  1. एक या दो अंडे की जर्दी। (और पढ़ें - अंडे के फायदे)

विधि –

  1. सबसे पहले अंडे की जर्दी को एक कटोरी में निकाल लें।
  2. ध्यान रहे अंडे को लगाने के लिए आपके बाल सूखे हो। फिर जर्दी को सिर की त्वचा पर लगाएं।
  3. जब एक बार लगा लें तो अपने बालों को पन्नी से ढक लें और एक घंटे के लिए इसे ऐसे ही रहने दें।
  4. इसके बाद अपने बालों को अच्छे से शैम्पू से धोएं।
  5. अगर अंडे की गंध नहीं जाती है तो आप दुबारा शैम्पू से बाल धो सकते हैं।

अंडे का इस्तेमाल कब तक करें –

सुबह में नहाने से एक घंटा पहले इस उपाय को आजमाएं।

अंडे को इस्तेमाल करने के फायदे –

बायोटिन रूसी का इलाज करने के लिए सबसे अच्छे विटामिन्स में से एक है। अंडे की जर्दी बायोटिन का ही एक अच्छा स्रोत है और ये उपाय इस समस्या के लिए बहुत ही बेहतरीन है। अंडा आपके बालों को कंडीशनिंग भी करता है साथ ही उन्हें स्वस्थ भी बनाता है।

(और पढ़ें - क्षतिग्रस्त बालों के लिए घरेलू नुस्खे)

सामग्री –

  1. एक कप मुल्तानी मिट्टी। (और पढ़ें – मुल्तानी मिट्टी के फायदे)
  2. दो से तीन चम्मच नींबू का जूस।
  3. पानी।

विधि –

  1. सबसे पहले मुल्तानी मिट्टी में कुछ मात्रा में पानी डालें और एक मुलायम पेस्ट तैयार कर लें।
  2. फिर उसमे नींबू का जूस मिलाएं।
  3. इस मिश्रण को अच्छे से चलाने के बाद सिर की त्वचा और बालों में अच्छे से लगाएं।
  4. अब इस मिश्रण को 20 मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  5. फिर इसके बाद बालों को धो लें।

मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल कब तक करें –

नहाने से पहले इस उपाय को आजमाएं।

मुल्तानी मिट्टी के फायदे –

मुल्तानी मिट्टी सिर की त्वचा से तेल, ग्रीस और गंदगी को खींच लेता है जिसकी वजह से डैंड्रफ पनपती है। ये सिर की त्वचा का रक्त परिसंचरण भी सुधारता है। इस तरह से डैंड्रफ की समस्या एकदम खत्म हो जाती है।

(और पढ़ें - घुंघराले और उलझे बालों के घरेलू उपाय)

सामग्री –

  1. लहसुन की कुछ फांकें। (और पढ़ें – लहसुन के गुण)
  2. एक चम्मच शहद

विधि –

  1. सबसे पहले लहसुन की फांकों को पीस लें और फिर पीसी हुई लहसुन को शहद के साथ मिला दें जिससे एक मुलायम पेस्ट तैयार हो सके।
  2. अब इस पेस्ट को अपनी सिर की त्वचा पर लगाएं।
  3. लगाने के बाद कुछ मिनट तक मसाज करें।
  4. इसके बाद इस पेस्ट को 15 मिनट के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  5. अब अपने बालों को हमेशा की तरह शैम्पू से धो लें।

लहसुन का इस्तेमाल कब तक करें –

जब आप नहाने जा रहे हो तब इस उपाय का इस्तेमाल करें।

लहसुन को इस्तेमाल करने के फायदे –

लहसुन में बेहतरीन एंटीफंगल गुण होते हैं जो माइक्रोब्स को खत्म कर देते हैं। माइक्रोब्स की वजह से ही डैंड्रफ बढ़ता है इसलिए लहसुन इसके लिए बेहद प्रभावी उपाय है।

(और पढ़ें - सफेद बालों के घरेलू उपाय)

सामग्री –

  1. कुछ मात्रा में अदरक। (और पढ़ें - अदरक के लाभ)
  2. तीन से चार चम्मच तिल का तेल

विधि –

  1. सबसे पहले अदरक को छील लें और फिर उसे घिस लें।
  2. अब एक कपडा लें और उसमे अदरक को रखके उस कपड़े को निचोड़ें जिससे उसका तेल निकले।
  3. अब अदरक के तेल और तिल के तेल को एक साथ मिला लें।
  4. मिलाने के बाद इस मिश्रण को सिर की त्वचा पर लगाएं और हल्के हल्के फिर मसाज करें।
  5. कुछ देर के लिए मिश्रण को ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।
  6. इसके बाद शैम्पू से बालों को धो लें।

अदरक का इस्तेमाल कब तक करें –

आप इस उपाय को नहाने से पहले आजमाएं।

अदरक को इस्तेमाल करने के फायदे –

अदरक में सूजनरोधी गुण होते हैं और वे गुण बालों को भी बढ़ाने में मदद करते हैं। साथ ही अदरक के उत्तेजित करने वाले गुण जैसे वोलेटाइल तेल डैंड्रफ को दूर रखता है।

(और पढ़ें - दो मुंहे बालों के घरेलू उपाए)

Dr. Raju Singh

Dr. Raju Singh

डर्माटोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Afroz Alam

Dr. Afroz Alam

डर्माटोलॉजी
4 वर्षों का अनुभव

Dr. Pranjal Praveen

Dr. Pranjal Praveen

डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Nihal Yadav

Dr. Nihal Yadav

डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ