myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

डैंड्रफ को स्क्रफ (Scruff) या टिरियासिस सिम्प्लेक्स कैपिलिटी (Pityriasis simplex capillitii) के रूप में भी जाना जाता है, लेकिन इसके बारे में बुरी बात यह है कि इसका सही कारण अभी तक ज्ञात नहीं है लेकिन फिर भी बालों में रूसी की शुरुआत होने के कुछ कारण हो सकते हैं जिन पर इस लेख में चर्चा की गयी है। वास्तव में सिर की त्वचा की सबसे ऊपरी पतली परत जब निष्क्रिय हो जाती है तो वह पपड़ी की तरह हटने लगती है जिसे रूसी कहते हैं। रूसी निकलते समय त्वचा पर खुजली होती है और खुजलाने पर वहां की त्वचा कभी कभी लाल हो जाती है।

  1. रूसी (डैंड्रफ) के प्रकार - Types of Dandruff in Hindi
  2. रूसी (डैंड्रफ) के लक्षण - Dandruff Symptoms in Hindi
  3. रूसी (डैंड्रफ) के कारण - Dandruff Causes in Hindi
  4. रूसी (डैंड्रफ) से बचाव - Prevention of Dandruff in Hindi
  5. रूसी (डैंड्रफ) का इलाज - Dandruff Treatment in Hindi
  6. रूसी (डैंड्रफ) के जोखिम और जटिलताएं - Dandruff Risks & Complications in Hindi
  7. रूसी (डैंड्रफ) की दवा - Medicines for Dandruff in Hindi
  8. रूसी (डैंड्रफ) की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Dandruff in Hindi
  9. रूसी (डैंड्रफ) के डॉक्टर

रूसी (डैंड्रफ) के प्रकार - Types of Dandruff in Hindi

रुसी (डैंड्रफ) के कितने प्रकार होते हैं ?

रुसी (डैंड्रफ) के निम्नलिखित प्रकार होते हैं -

रूखी त्वचा संबंधी रूसी
रूखी त्वचा की वजह से होने वाली रूसी इसका सबसे आम प्रकार है। आमतौर पर सर्दियों के दौरान, गर्म पानी से बाल धोने से यह सूखे और परतदार बन जाते हैं।

तेल संबंधित रूसी
रूसी का एक और आम कारण है आपके सिर से निकलने वाले सीबम तेल का संग्रह। अनुचित या अनियमित शैंपू करने की आदतों से अक्सर इस प्रकार का डैंड्रफ होता है। यदि आपके बाल और सिर साफ नहीं हैं, तो सीबम तेल त्वचा की मृत कोशिकाओं और गंदगी के साथ मिलकर खुजली वाली परतें बना सकता है।

फफूंदीय रूसी
मैलेसेज़िया (Malassezia) एक ऐसी फफूंद है जो स्वाभाविक रूप से त्वचा और सिर पर पाई जाती है। आमतौर पर, इस फफूंद की सीमित वृद्धि होती है। लेकिन, सिर पर अत्यधिक तेल इस फफूंद के लिए भोजन के रूप में कार्य करता है, जिससे उसकी वृद्धि अधिक होती है। यह फफूंद एक ओलिक एसिड का उत्पादन करता है जिससे सफेद परतें उत्पन्न होती हैं।

रोग संबंधित रूसी
रोग सम्बन्धी कारणों में सिर से संबंधित संक्रमण शामिल हो सकते हैं। उदाहरण के लिए, सोरायसिस  से त्वचा की कोशिकाओं का अत्यधिक उत्पादन होता है जिससे त्वचा की परतें बनती हैं और वह गंदगी और सीबम तेल के साथ मिलकर रूसी बनाती हैं। इसी तरह, एक्जिमा से भी त्वचा खुजली वाली और परतदार बनती है।

रूसी (डैंड्रफ) के लक्षण - Dandruff Symptoms in Hindi

रूसी (डैंड्रफ) के क्या लक्षण होते हैं ?

अधिकांश किशोरों और वयस्कों के लिए, रूसी के लक्षणों को पहचानना आसान होता है। डैंड्रफ में सफेद, तेलयुक्त धब्बे दिखते हैं जो आपके बालों व कंधों पर मौजूद होते हैं और इसके साथ आपके सिर में खुजली भी हो सकती है। 

सर्दियों के दौरान, डैंड्रफ बढ़ सकता सकता है क्योंकि घर के अंदर की गर्माहट से त्वचा सूखी हो सकती है और यह स्थिति गर्मियों के दौरान सुधर सकती है।

क्रेडल कैप (Cradle cap) नामक डैंड्रफ का एक प्रकार बच्चों को प्रभावित कर सकता है। यह नवजात शिशुओं में सबसे आम है, लेकिन यह बचपन के दौरान किसी भी समय हो सकता है। क्रेडल कैप खतरनाक नहीं होता है और आमतौर पर अपने आप ठीक हो जाता है।

रूसी (डैंड्रफ) के कारण - Dandruff Causes in Hindi

ऐसे कुछ कारक जो बालों में रूसी होने का कारण बन सकते हैं, इस प्रकार हैं:

  1. रूखी त्वचा
    रूखी त्वचा डैंड्रफ का एक प्रमुख कारण है। यदि आपकी त्वचा भी रूखी है तो आपके बालों में भी रूसी होने की सम्भावना बढ़ जाती है और अगर इसका ठीक से इलाज नहीं किया जाता है, तो आपके सिर की रूखी और मृत त्वचा पपड़ी बनकर रूसी के रूप में सामने आती है।
     
  2. यीस्ट के प्रति संवेदनशीलता
    यदि गर्मियों की तुलना में सर्दियों के दौरान रूसी की समस्या अधिक हो रही है तो इस एलर्जी की वजह से यीस्ट युक्त भोजन न खाएं। क्योंकि ये भी त्वचा के रूखे होने का कारण हो सकता है। गर्मियों में कम रूसी होने का कारण शायद गर्मी के मौसम में तेज़ यूवी किरणें हैं। जिस कारण त्वचा रूखी नहीं हो पाती।
     
  3. गंदा सिर
    गंदा सिर, गंदगी और मृत कोशिकाओं का संकेत होती है। यह दो तरीकों से रूसी पैदा कर सकती है। मृत कोशिकाओं की अधिक उपस्थिति के कारण बालों में रूसी की समस्या शुरू होती है। गंदा सिर बहुत से रोगाणुओं को आकर्षित करता है यह यीस्ट और फंगस के विकास का कारण बन सकता है। इस से बचने का एकमात्र तरीका यह है कि आप समय समय पर अपना सिर धोती रहें और अपने स्कैल्प को साफ रखें। क्योंकि इस प्रकार के डैंड्रफ के कारण बाल भी झड़ते हैं। (और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय)
     
  4. सही से कंघी न करना
    बालों को ब्रश करने से निश्चित तौर पर आपके बालों की सफाई हो जाती है। बालों में हर रोज कंघी करनी चाहिए। ऐसा करने से आप अपने सिर से गंदगी, मृत त्वचा आदि की सफाई करती हैं। नियमित रूप से कंघी करने से सिर में गंदगी एकत्रित नहीं होती।
     
  5. सेबोरिक डर्मेटाइटिस
    सेबोरिक डर्मेटाइटिस (Seborrheic dermatitis) त्वचा की ऐसी स्थिति है जिसमें सिर, कान और चेहरे की त्वचा पीली, चिकनी और पपड़ी युक्त बन जाती है। अगर आपकी त्वचा ऑयली है तो आपकी सिर की त्वचा खुजलीदार और दानेदार हो सकती है। ऐसा अत्यधिक तेल उत्पादन के कारण होता है और अत्यधिक तेल आपके सिर पर गंदगी और मृत त्वचा के रुकने का कारण बन सकता है। इसे नियंत्रित करने के सिर को साफ़ रखना ज़रूरी है। जब ज़रूरी हो शैम्पू करें। पुरानी कहावतों के अनुसार न चलें कि जल्दी जल्दी सिर धोने से बाल खराब होते है। आज के समय में गंदगी और प्रदूषण बहुत ज्यादा है। बालों को अनावश्यक नुकसान से बचाने के लिए, हल्के और संतुलित पीएच वाले शैम्पू का उपयोग करें।
     
  6. चर्म रोग
    जब किसी को सोरायसिसएक्जिमा और अन्य त्वचा सम्बन्धी रोग होते हैं तो उन्हें रूसी की समस्या का भी सामना करना पड़ता है। उन्हें बिना समय बर्बाद किये जल्द से जल्द डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
     
  7. लम्बे समय से दवा या हाई स्टेरॉयड का सेवन
    जब कोई दवाओं और स्टेरॉयड का अत्यधिक या काफी दिनों से सेवन करता है, तो वो भी रूसी जैसी गंभीर समस्या का सामना कर सकता है और ऐसी स्थिति का जल्द से जल्द निदान किया जाना चाहिए, अन्यथा ये गंजेपन का कारण बन सकती है। ट्रैक पर वापस लाने के लिए आपको विशेषज्ञ द्वारा दी गई सलाह अनुसार, नियमित जांच और दवाओं का सेवन करना चाहिए।
     
  8. मानसिक तनाव
    इसकी कोई परवाह ही नहीं करता है, या समय की कमी के कारण परवाह नहीं कर पाता है। लेकिन मानसिक तनाव की वजह से भी गंभीर रूसी हो सकती है। तनाव से दूर रहने के लिए कम से कम 8 घंटे की नींद पूरी करें। इससे तनाव कोसों दूर रहता है।
     
  9. आहार
    हर कोई साफ़ और स्वस्थ भोजन की बात करता है लेकिन कोई भी वास्तव में उस पर ध्यान नहीं देता तभी आजकल केएफसी और मैक डी (McDonald's) इतना चलते हैं। लेकिन रूसी के कारण बालों के झड़ने से बचने के लिए ताजी सब्ज़ियों और फलों का सेवन करें। अच्छा आहार सिर की त्वचा को सही बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण होता है।
     
  10. एड्स
    अध्ययनों से पता चलता है कि एचआईवी या एड्स से प्रभावित 10.6% लोग सामान्य तौर पर डैंड्रफ से पीड़ित हो जाते हैं। इस कारण के बारे में आप बहुत कुछ नहीं कर सकते हैं, इसलिए इसका समाधान परिणामों को नियंत्रित करने से ही हो सकता है।

 

रूसी (डैंड्रफ) के जोखिम कारक क्या हैं ?

किसी को भी रूसी हो सकती है, लेकिन कुछ निम्नलिखित कारक इसका जोखिम बढ़ा सकते हैं -

  1. उम्र - रूसी आमतौर पर युवा वयस्कता में शुरू होती है और मध्य आयु तक रहती है। इसका अर्थ यह नहीं है कि अधिक उम्र के वयस्कों को रूसी नहीं हो सकती। कुछ लोगों के लिए, यह समस्या आजीवन रह सकती है।
  2. लिंग - पुरुषों में डैंड्रफ की समस्या अधिक होती है, इसीलिए कुछ शोधकर्ता मानते हैं कि पुरुषों के हार्मोन इसकी एक वजह हो सकते हैं।
  3. बालों और सिर में तेल - मैलेसेज़िया (Malassezia) नमक फफूंद आपके सिर के तेल में बढ़ती है। इसीलिए, बहुत अधिक तेलयुक्त त्वचा और बालों के कारण आपको रूसी हो सकती है।
  4. खुराक - यदि आपके भोजन में जिंक, विटामिन बी या कुछ प्रकार के फैट वाले खाद्य पदार्थों की कमी है, तो आपको रूसी होने की अधिक संभावना हो सकती है।

रूसी (डैंड्रफ) से बचाव - Prevention of Dandruff in Hindi

रूसी (डैंड्रफ) का बचाव कैसे होता है ?

रूसी (डैंड्रफ) से बचने के कुछ उपाय निम्नलिखित हैं -

सिर की सफाई
एकत्रित हुई मृत कोशिकाओं और परतों को हटाने के लिए अपने बालों और सिर को अच्छी तरह से साफ करें। आप अपने बालों को धोने के लिए कटोकोनाज़ोल (Ketoconazole), सेलेनियम सल्फाइड (selenium sulphide) या जिंक (zinc) से युक्त शैम्पू का उपयोग कर सकते हैं। हालांकि, रूसी न होने पर भी इन शैंपू का उपयोग करने से समस्याएं पैदा हो सकती हैं, क्योंकि यह आपके सिर को शुष्क बनाते हैं। सिर की सतह पर मौजूद परतों को हटाने के लिए आपको एक बारीक कंधे से अपने बालों को ब्रश करना होगा। ऐसा करने से रक्त परिसंचरण में भी सुधार आएगा।

मालिश
लिनन के गर्म कपड़े से नारियल या जैतून के तेल के साथ सिर की मालिश करने से रक्त परिसंचरण में सुधार होता है। जब रक्त के संचलन में सुधार होता है, तो रूसी नियंत्रित होती है। इसलिए, बालों में कंघा करने से पहले अपने सिर की नियमित रूप से मालिश करें। यह बालों के विकास के लिए भी लाभदायक होता है।

मौसम के अभाव से बचें
अपने बाल और सिर को मौसम से बचाएं। उदाहरण के लिए, सूरज की किरणें और गर्मी आपके सिर में तेल का उत्पादन बढ़ा सकती हैं, जिससे रूसी की समस्या बढ़ती है। इसलिए, सूरज की किरणों और खराब मौसम के सीधे संपर्क से बचने के लिए, सिर को ढकें।

घरेलू उपचार
रूसी की समस्याओं को नियंत्रित करने और रोकने के लिए कुछ सरल घरेलू उपाय निम्नलिखित हैं -

  1. नारियल के दूध के साथ नींबू का रस मिलाएं और इस मिश्रण को अपने सिर पर लगाकर इसे कम से कम आधे घंटे के लिए छोड़ दें। फिर, सादे पानी से अपने बालों को धो लें।
  2. सिर में सरसों का तेल लगाएं, इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर सिर धो लें। रूसी को हटाने के लिए इसे एक महीने में 3 दिन लगाएं।
  3. यदि आपको सामान्य सर्दी जुकाम या परागज ज्वर (एलर्जिक राइनाइटिस) नहीं हैं, तो आप अपने सिर में दैनिक आधार पर दही लगा सकते हैं ताकि रूसी न हो। (और पढ़ें - स्वास्थ्य के लिए दही के फायदे)
  4. नारियल के दूध में काली मिर्च की एक चुटकी डालें और इसे अपने सिर पर लगाएं। इसे 30 मिनट के लिए छोड़ दें और धो लें।

जीवन शैली में परिवर्तन
तनाव कम करने, संतुलित आहार खाने और शरीर को साफ रखने से आपको रूसी को रोकने में मदद मिल सकती है। यहां तक ​​कि व्यायाम करने से भी आपको तनाव से राहत मिलती है, जिससे रूसी को रोका जा सकता है। इसीलिए, नियमित रूप से कुछ व्यायाम करना जरूरी है जैसे कि चलना, कूदना, या जॉगिंग करना।

(और पढ़ें - व्यायाम के फायदे)

रूसी (डैंड्रफ) का इलाज - Dandruff Treatment in Hindi

रूसी का आप घर पर ही इलाज कर सकते हैं। सबसे पहले तो आप अपने बाल रोज़ ब्रश करना और नियमित रूप से शैंपू करना शुरु करें। सभी एंटीडैंड्रफ शैंपू एक जैसे नहीं होते हैं। कुछ में अलग-अलग तत्व होते हैं, जैसे:

  1. कोल तार
  2. पिरिथियोन ज़िंक (Pyrithione zinc)
  3. सैलिसिसिक एसिड और सल्फर
  4. सैलिसिसिक एसिड
  5. सेलेनियम सल्फाइड
  6. केटोकोनाजोल (Ketoconazole)

सही कारण जानकार, इन सामग्रियों में से एक सामग्री वाले शैम्पू का चयन करें। नियमित शैम्पू के साथ एंटी डैंड्रफ शैम्पू का उपयोग करने से रूसी दूर करने में मदद मिल सकती है।

कुछ शैंपू को सिर में लगाने के बाद लगभग 5 मिनट के लिए छोड़ देना चाहिए, क्योंकि बहुत जल्दी से धोने से उसमें मौजूद घटक सही से काम नहीं कर पाते। एंटीडैंड्रफ शैम्पू का उपयोग करने के दिशानिर्देश बोतल पर लिखे मिल जायेंगे। उसी अनुसार उसका उपयोग करें। एक बार जब रूसी नियंत्रित हो, तब उस डैंड्रफ शैम्पू का उपयोग आप कम बार कर सकते हैं।

यदि आपको बहुत अधिक खुजली या दवाओं का उपयोग करना पड़ रहा है तो डॉक्टर से सलाह लें। वास्तव में जिद्दी रूसी के लिए, आपको चिकित्सकीय शैम्पू या दवा का उपयोग करना पड़ सकता है।

रूसी (डैंड्रफ) के जोखिम और जटिलताएं - Dandruff Risks & Complications in Hindi

रुसी (डैंड्रफ) की क्या जटिलताएं होती हैं ?
 
रूसी में शायद ही कोई जटिलताएं होती हैं और आमतौर पर इसमें डॉक्टर से परामर्श करना आवश्यक नहीं है। हालांकि, कभी-कभी रूसी एक अधिक गंभीर चिकित्सा स्थिति का संकेत हो सकती है।
 
आपको अपने डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए अगर -
  1. आपको संक्रमण के लक्षण दिख रहे हैं, जैसे - लाली, कोमलता या सूजन।
  2. रूसी बहुत गंभीर हो गयी है या घर पर उपचार के बाद भी ठीक नहीं हो रही है।
  3. एक्जिमा, सोरायसिस या किसी अन्य त्वचा की समस्या के लक्षण दिख रहे हैं और सिर में बहुत खुजली हो रही है।
Dr. Deepak Kumar Yadav

Dr. Deepak Kumar Yadav

डर्माटोलॉजी
2 वर्षों का अनुभव

Dr. Garima

Dr. Garima

डर्माटोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Divya Agrawal

Dr. Divya Agrawal

डर्माटोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Sarfaraz Pathan

Dr. Sarfaraz Pathan

डर्माटोलॉजी
6 वर्षों का अनुभव

रूसी (डैंड्रफ) की दवा - Medicines for Dandruff in Hindi

रूसी (डैंड्रफ) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine Name
Polybion खरीदें
Dermizole खरीदें
Fungitop खरीदें
Micogel खरीदें
Miconel खरीदें
Cetrimide खरीदें
Etaze SA खरीदें
Relin Guard खरीदें
Clop MG खरीदें
Bjain Acidum Fluoricum Dilution खरीदें
Halozar S खरीदें
Tripletop खरीदें
Keorash खरीदें
Rexgard खरीदें
Clovate GM खरीदें
Rivizole खरीदें
Cosvate Gm खरीदें
Halobik S खरीदें
Zole खरीदें
Dermac Gm खरीदें
Ketorob C खरीदें
Etan GM खरीदें
Ketorob Z खरीदें
Globet Gm खरीदें

रूसी (डैंड्रफ) की ओटीसी दवा - OTC medicines for Dandruff in Hindi

रूसी (डैंड्रफ) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

OTC Medicine Name
Kairali Herbal Lemon Shampoo खरीदें
Kerala Ayurveda Triphaladi Thailam खरीदें
Arya Vaidya Sala Kottakkal Nilibringadi Tailam खरीदें
Himalaya Anti Dandruff Hair Oil खरीदें
Charak Moha Herbal Shampoo खरीदें
Nagarjuna Chemparathyaadi Keram खरीदें
Himalaya Dryness Defense Protein Shampoo खरीदें
Jiva Papaya Shampoo खरीदें
Planet Ayurveda Radiant Skin Hair Nails Formula खरीदें
Jiva Hair Lep खरीदें
Herbal Hills Keshohills Hair Wash खरीदें
Khadi Green Apple Conditioner Cleanser खरीदें
Khadi Neem Teatree And Basil Hair Oil खरीदें
Vasu Trichup Hair Fall Control Shampoo Regular खरीदें
Pukhraj Aloe Vera Shampoo खरीदें
Herbal Hills Keshohills Kit Ultra खरीदें
Arya Vaidya Sala Kottakkal Pamanthaka Tailam खरीदें
Himalaya Anti Dandruff Shampoo खरीदें
Charak Moha Herbal Anti Dandruff Shampoo खरीदें
Nagarjuna Dandruff Oil खरीदें
Himalaya Gentle Daily Care Protein Conditioner खरीदें
Jiva Thyme and Rosemary Tonic खरीदें
Vasu Shyamla Shampoo खरीदें
Jiva Sattva Hair loss Health Care Pack खरीदें
Herbal Hills Keshohills Oil खरीदें

References

  1. Frederick Manuel, S Ranganathan. A New Postulate on Two Stages of Dandruff: A Clinical Perspective. Int J Trichology. 2011 Jan-Jun; 3(1): 3–6. PMID: 21769228
  2. Open Access Publisher. Dandruff. [Internet]
  3. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Dandruff, Cradle Cap, and Other Scalp Conditions
  4. Luis J. Borda, Tongyu C. Wikramanayake. Seborrheic Dermatitis and Dandruff: A Comprehensive Review. J Clin Investig Dermatol. 2015 Dec; 3(2): 10.13188/2373-1044.1000019. PMID: 27148560
  5. B Satheesha Nayak et al. A Study on Scalp Hair Health and Hair Care Practices among Malaysian Medical Students. Int J Trichology. 2017 Apr-Jun; 9(2): 58–62. PMID: 28839388
  6. B Satheesha Nayak et al. A Study on Scalp Hair Health and Hair Care Practices among Malaysian Medical Students. Int J Trichology. 2017 Apr-Jun; 9(2): 58–62. PMID: 28839388
  7. B Satheesha Nayak et al. A Study on Scalp Hair Health and Hair Care Practices among Malaysian Medical Students. Int J Trichology. 2017 Apr-Jun; 9(2): 58–62. PMID: 28839388
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें