myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

नोट - अगर समस्या गंभीर दर्द या बुखार के साथ बढ़ती है और पांच दिन के अंदर ठीक नहीं होती है, तो अपने डॉक्टर से जरूर बात करें।

(और पढ़ें - बुखार के उपाय)

कान बहना, जिसे ओटोरिया (चिकित्सीय नाम) नाम से भी बुलाया जाता है। इस समस्या में कान से तरल पदार्थ निकलता है। यह परेशानी काफी आम है और इससे लगभग सभी उम्र के लोग प्रभावित होते हैं। ये समस्या शिशुओं और छोटे बच्चों में भी देखी जाती है।

कान का बहना कई स्थितियों का संकेत हो सकता है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि वह तरल पदार्थ किस प्रकार का है। आमतौर पर इसमें कान से वैक्स का रिसाव होता है, जो कि आपके शरीर में स्वाभाविक रूप से बनता है। असामन्य कान का बहना कान के पर्दे के खराब होने, चोट लगने या कान के मध्य क्षेत्र में संक्रमण फैलने से होता है। अन्य कारण जैसे एक्जिमा और कान की नलिका में संक्रमण से भी कान में रिसाव हो सकता है।

(और पढ़ें - एक्जिमा में क्या खाना चाहिए)

अन्य गंभीर कारणों की वजह से आप कान में दर्द और असहजता महसूस कर सकते है। कान बहने के कारण पर उसका इलाज निर्भर करता है। लेकिन, कान के हल्के रिसाव के लिए कुछ आसान घरेलू उपाय भी हैं जो आपकी असहजता और समस्या को कम करने में मदद करेंगे।

(और पढ़ें - कान बहने का कारण)

तो आइये आपको बताते हैं कान बहना रोकने के घरेलू उपाय -

  1. कान बहने का घरेलू उपाय भाप है - Kaan behne ka gharelu upay bhaap hai
  2. कान बहने का घरेलू नुस्खा डिकंजेस्टेन्ट हैं - Kaan behne ka gharelu nuskha decongestants hai
  3. कान का बहना रोकने के लिए कान को एक तरफ झुकाएं - Kaan ka behna rokne ke liye kaan ko ek taraf jhukaye
  4. कान का बहना ड्रायर से रोकें - Kaan ka behna dryer se roke
  5. कान बहना रोकने के लिए ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल करें - Kaan behna rokne ke liye humidifier ka istemal kare
  6. कान बहने की समस्या में इयर ड्राप डालें - Kaan behne ki samasya me ear drop dale

बंद कान और कान के वैक्स को बढ़ने से रोकने के लिए आप घर पर भाप ले सकते हैं। घर में स्टीम ट्रीटमेंट के लिए, सबसे पहले एक कटोरे में गर्म पानी लें और फिर उसमें तौलिय को डुबोएं। अब तौलिए को सिर पर बाँध लें। इससे कानों तक गीली तौलिए का प्रभाव पहुंचेगा। भाप टाशियन ट्यूब (कान के मध्य क्षेत्र का महत्वपूर्ण भाग) को खोलने में मदद करेगी। इस तरह कान का तरल पदार्थ निकलने लगेगा।

(और पढ़ें - बंद कान खोलने का तरीका)

इसके अलावा आप एक कटोरे में गर्म पानी भी भर सकते हैं। फिर सिर को तौलिए से ढ़क लें। इस बात का ध्यान रखें कि कान में भाप जा रही हो। अगर आपको इससे किसी भी तरह की असहजता महसूस होती है तो इस उपाय को फिर न करें।

(और पढ़ें - भाप लेने का तरीका

आप बंद कानों को खोलने के लिए या कानों के वैक्स को साफ करने के लिए डिकंजेस्टेन्ट (Decongestant) का चयन कर सकते हैं। ज्यादा अंदर तक कानों में क्यू टिप (Q-Tip) या अन्य नुकीली वस्तु का इस्तेमाल न करें। अपने कानों में डिकंजेस्टेन्ट की कुछ बूँदें डालें और उसे फिर ऐसे ही छोड़ दें। बूँदें डालने के बाद कान की तरफ अपने सिर को घुमालें, जिससे तरल पदार्थ आसानी से निकल जाए।

(और पढ़ें - कान में इन्फेक्शन का इलाज)

कान से रिसाव को साफ करने के लिए ग्रेविटी सबसे अच्छा ट्रीटमेंट है। ग्रेविटी ट्रीटमेंट करने के लिए, जिस कान से रिसाव होता है उस कान की तरफ अपने सिर को झुका लें। लगातर सिर को एक तरफ झुकाये रखने से आपकी गर्दन में दर्द महसूस हो सकता है, इसलिए लेटकर एक तरफ अपने सिर को झुकाना एक अच्छा विकल्प है। साथ ही, अपने कान के नीचे तौलिये को रख लें जिससे रिसाव पूरा तौलिये पर गिरे।

(और पढ़ें - कान में दर्द के कारण)

कान से तरल पदार्थ को साफ करने के लिए आप ब्लो ड्रायर का इस्तेमाल कर सकते हैं। बस अपने ड्रायर को कम स्तर पर चलाएं और अपने कान से उसे पांच इंच दूर रखें। ड्रायर से निकलती गर्म हवा कान से रिसाव को आसानी से निकालने में मदद करेगी। कान को साफ करने के लिए ध्यानपूर्वक ड्रायर का इस्तेमाल करें। अगर ड्रायर से कान में आपके दर्द होता है या असहजता महसूस होती है तो फिर इस उपाय को करना बंद कर दें।

(और पढ़ें - कान दर्द के घरेलू उपाय)

ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल कान को साफ करने का सबसे अच्छा घरेलू उपाय माना जाता है। शुष्क हवा (Dry air) कई श्वसन संबंधी संक्रमणों को फैलाती है और कान के वैक्स को तरल बनने से रोकती है। सोते समय ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल जरूर करें, जिससे आपके कमरे में भाप बने और वो भाप आपके कान के रिसाव को निकालने में मदद करे। ह्यूमिडिफायर सर्दियों में अच्छा होता है, क्योंकि आपके घर में जो हवा होती है वो बहुत ही शुष्क होती है। आपकी पसंद और सुविधा के अनुसार बाजार और ऑनलाइन कई प्रकार के ह्यूमिडिफायर आपको मिल जाएंगे। 

(और पढ़ें - कान बजने का इलाज)

आप घर में खुद से कान का ड्राप बना सकते हैं। वो ऐसे -

सामग्री -

  1. एक हिस्सा रबिंग अल्कोहल (यह सामग्री आपको ऑनलाइन मिल जाएगी)।
  2. एक हिस्सा सफेद सिरका।
  3. आँखों में डालने वाली आई ड्रॉपर (Eye dropper) की बोतल।

(और पढ़ें - सुनने में परेशानी के घरेलू उपाय)

कैसे बनाएं –

  1. सबसे पहले सभी सामग्रियों को एक साथ मिला लें और फिर ध्यानपूर्वक मिश्रण को आई ड्रॉपर में डालें।
  2. अब जिस कान की तरफ रिसाव होता है उस कान को ऊपर की तरफ करके लेट जाएँ। जिससे ड्राप को डालने में आसानी हो।
  3. अब कान में तीन से पांच बूँद मिश्रण को डाल दें।
  4. ये मिश्रण कान के वैक्स को निकालेगा और संक्रमण को साफ करेगा। इसमें एंटीबैक्टीरियल प्रभाव भी मौजूद होते हैं।

(और पढ़ें - कान के पर्दे फटने का इलाज)

और पढ़ें ...