myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

घुटनों में दर्द एक बहुत ही आम समस्या है जो लगातार घर्षण के कारण समय के साथ घुटनों के घिस जाने की वजह से होती है। ये समस्या ज़्यादातर बुजुर्गों और वयस्कों द्वारा महसूस की जाती है। महिलाओं में पुरुषों से अधिक घुटनों में दर्द की परेशानी होती है। 

दर्द घुटनों की हड्डियों के किसी भी क्षेत्र में हो सकता है जैसे फीमर (femur), टिबिया (tibia) और फिबुला (fibula), घुटने की ऊपरी हड्डी, पेटेला (patella) या फिर लिगामेंट और कार्टिलेज आदि। घुटने में दर्द आपको सामान्य से गंभीर हो सकता है।

घुटनों में दर्द कमजोर हड्डी के कारण या उम्र बढ़ने की वजह से भी महसूस हो सकता है। अन्य सामान्य कारण जैसे फ्रैक्चर, लिगामेंट में चोट, मेनिसकस में चोट, गठिया की वजह से घुंटने की हड्डियों का अकड़ जाना और एक जगह से दूसरी जगह खिसक जाना, ल्यूपस और अन्य पुरानी बीमारियों के कारण घुटनों में दर्द हो सकता है। दर्द के अलावा, आपको अन्य लक्षण भी हो सकते हैं जैसे घुटने का अकड़ जाना, सूजन, लालिमा, प्रभावित क्षेत्रों पर सुन्नता और खड़े होने या चलने में तकलीफ महसूस होना। आप आपने रोज़ाना के काम में घुटनों के दर्द को नज़रअंदाज़ न करें। इनका इलाज कुछ आसान और सरल घरेलू उपायों से कर सकते हैं।

(और पढ़ें - जोड़ों में दर्द)

इन घरलू उपायों का इस्तेमाल आप सामान्य या गंभीर दर्द के लिए कर सकते हैं। ये उपाय आपको बढ़ती उम्र की वजह से होने वाले दर्द जैसे गठिया के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर तब भी आपका दर्द सही नहीं होता है तो अपने डॉक्टर को ज़रूर दिखाएं। 

  1. घुटनों के दर्द का उपाय है ठंडे बैग का उपयोग - Cold compress for knee pain in Hindi
  2. घुटनों के दर्द का घरेलू उपाय है सेब का सिरका - Apple cider vinegar benefits for knee pain in Hindi
  3. घुटने के दर्द का उपाय है लाल मिर्च - Cayenne pepper for knee pain in Hindi
  4. घुटनों के दर्द का घरेलू नुस्खा है अदरक - Ginger for knee pain in Hindi
  5. हल्दी है घुटने का दर्द का उपाय - Turmeric for knee pain in Hindi
  6. घुटनों के दर्द के लिए नींबू है उपयोगी - Lemon juice for knee pain in Hindi
  7. सरसों के तेल से करें घुटने दर्द के उपाय - Mustard oil benefits for knee pain in Hindi
  8. घुटने के दर्द के लिए घरेलू उपाय है सेंधा नमक - Epsom salt for knee pain in Hindi
  9. घुटने के दर्द का घरेलू उपाय है मेथी के बीज - Fenugreek seeds for knee pain in Hindi
  10. घुटने के दर्द का घरेलु उपाय है नीलगिरि आयल - Eucalyptus oil for knee pain in Hindi
  11. घुटनों में दर्द के लिए अन्य घरेलू उपाय - Tips for knee pain in Hindi

घुटने में दर्द होते समय ठंडे बैग का इस्तेमाल करें इससे आपकी सूजन और दर्द दूर होंगे। इससे रक्त वाहिकाएं सिकुड़ जाएंगी, प्रभावित क्षेत्रों पर रक्त का प्रवाह कम होगा और इससे सूजन को भी दूर करने में मदद मिलेगी।

ठंडे बैग का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. मुट्ठीभर बर्फ लें और उसे किसी तौलिये या कपडे में लपेटकर रख दें।
  2. 10 से 20 मिनट के लिए प्रभावित क्षेत्रों पर तौलिए या कपडे को लगाएं।
  3. इस प्रक्रिया को पूरे दिन में दो या तीन बार या तब तक करें जब तक दर्द चला न जाएँ।

आप ठंडी सब्ज़ियों के बैग का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

सेब साइडर सिरका भी घुटने के दर्द को कम करने में सहायक होता है। इसके क्षारीय प्रभाव के कारण सेब का सिरका खनिज को उतपन्न करता है और घुटनों के जोड़ों से विषाक्त पदार्थ को खत्म करने में मदद करता है। ये जोड़ों में चिकनाई लाता है जिससे दर्द दूर होता है और गतिशीलता को बढ़ावा मिलता है।

सेब के सिरके को इस्तेमाल करने के तीन तरीके -

पहला तरीका -

  1. दो चम्मच सेब के सिरके को दो कप पानी में मिलाएं।
  2. इस मिश्रण को अच्छे से मिलाने के बाद पी लें।
  3. जब तक दर्द चला नहीं जाता इस मिश्रण को रोज़ाना पियें।

दूसरा तरीका -

  1. दो कप सेब के सिरके को गर्म पानी के बाथ टब या बाल्टी में मिलाएं।
  2. अब इसमें अपने प्रभावित क्षेत्रों को आधे घंटे के लिए डालें रखें।
  3. इस प्रक्रिया को पूरे दिन में एक बार कुछ दिनों तक करते रहें।

तीसरा तरीका -

  1. आप एक एक चम्मच सेब का सिरका और जैतून के तेल को मिला लें।
  2. अब इस मिश्रण को घुटनों पर मसाज की तरह इस्तेमाल करें।
  3. जब तक दर्द नहीं चला जाता इस मिश्रण को पूरे दिन में एक या दो बार ज़रूर करें।

(और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे

लाल मिर्च में कैप्साइसिन मौजूद होता है जो दर्द निवारक की तरह काम करता है। कैप्साइसिन के प्राकृतिक एनाल्जेसिक या दर्द से राहत देने के गुण गर्माहट पैदा करते हैं और घुटनों के दर्द को दूर करते हैं।

लाल मिर्च को इस्तेमाल करने के तीन तरीके

पहला तरीका -

  1. आधे कप गर्म जैतून के तेल में दो चम्मच लाल मिर्च मिलाएं।
  2. अब इस पेस्ट को प्रभावित क्षेत्रों पर एक हफ्ते तक रोज़ाना पूरे दिन में दो बार ज़रूर लगाएं।

दूसरा तरीका -

  1. आप एक चौथाई या एक चम्मच लाल मिर्च को एक कप सेब के सिरके में मिलाएं।
  2. अब एक कपडा लें और उसे इस मिश्रण में भिगोएं और प्रभावित क्षेत्रों पर बीस मिनट तक लगाकर रखें।
  3. सूजन और दर्द को दूर करने के लिए इस मिश्रण को पूरे दिन में दो बार ज़रूर लगाएं।

तीसरा तरीका -

  1. कैप्साइसिन से बना जेल का भी उपयोग कर सकते हैं जिसकी मदद से घुटनों का दूर होगा।

(और पढ़ें - लाल मिर्च के फायदे

अगर आपके घुटनों में दर्द गठिया, मांसपेशियों में तनाव या चोट के कारण होता है तो अदरक का इस्तेमाल दर्द को कम करने के लिए बेहद प्रभावी है। इसमें सूजनरोधी गुण मौजूद होते हैं। अदरक घुटनों की सूजन और दर्द को कम करने में मदद करता है।

अदरक का इस्तेमाल दो तरीकों से करें

पहला तरीका -

  1. ताज़ा अदरक को सबसे पहले काट लें और उसे फिर क्रश कर लें।
  2. अब इन्हें एक कप पानी में क्रश कर लें और दस मिनट के लिए उबलने को रख दें।
  3. अब इस मिश्रण को छान लें और इसमें बराबर मात्रा में शहद और नींबू का जूस मिलाएं।
  4. इस मिश्रण को अच्छे से मिलाने के बाद पी जाएँ।
  5. जब तक दर्द चला नहीं जाता तब तक इस मिश्रण को रोज़ाना दो या तीन कप ज़रूर पियें।

दूसरा तरीका -

  1. जब तक आपका दर्द कम न हो जाये तब तक अदरक के तेल से रोज़ाना दो या तीन बार मसाज ज़रूर करें।

(और पढ़ें - अदरक के फायदे

हल्दी घुटनों के दर्द के लिए बेहद प्रभावी और प्राकृतिक उपाय है। हल्दी में करक्यूमिन मौजूद होता है जिसमे सूजनरोधी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो दर्द को कम करने में मदद करते हैं। हल्दी हीउमाटोइड आर्थराइटिस (rheumatoid arthritis) को कम करता है जो कि घुटने के दर्द का मुख्य कारण है।

हल्दी का इस्तेमाल तीन तरीको से करें

पहला तरीका -

  1. एक कप पानी में एक या आधा चम्मच अदरक और हल्दी को मिलाएं और इसे दस मिनट के लिए इसे ही उबलने को रख दें।
  2. अब इस मिश्रण को छान लें और इसमें हल्दी को मिला लें।
  3. इस मिश्रण को पूरे दिन में दो बार ज़रूर पियें।

दूसरा तरीका -

  1. एक ग्लास दूध में एक चम्मच हल्दी पाउडर मिलाएं।
  2. अब इसे शहद के साथ मिक्स करें और पूरे दिन में एक बार ज़रूर पियें।
  3. इसके अलावा आप 250 से 500 मिलीग्राम हल्दी के कैप्सूल का सेवन करें।
  4. पूरे दिन में इसे तीन बार ज़रूर खाएं।
  5. इन उपायों का इस्तेमाल तब तक करें जब तक दर्द चला नहीं जाता।

(और पढ़ें - हल्दी के फायदे)

नोट - हल्दी रक्त को पतला कर सकता है तो ये उपाय उन लोगों के लिए उपयुक्त नहीं है जो ब्लड थिन्निंग की दवाइयां कहते हैं।

गठिया के कारण होने वाले घुटनों में दर्द के लिए नींबू भी एक बेहद प्रभावी घरेलू उपाय है। नींबू में मौजूद सिट्रिक एसिड यूरिक एसिड क्रिस्टल के लिए एक द्रावक (solvent) की तरह काम करता है जो कि कुछ प्रकार के गठिया का कारण होता है।

नींबू का इस्तेमाल कैसे करें

  1. एक या दो नींबू को छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें।
  2. कॉटन के कपडे में इन टुकड़ों को बाँध लें और तिल के तेल में इसे डुबो लें।
  3. अब इस कपडे को प्रभावित क्षेत्रों पर दस मिनट तक लगाकर रखें।
  4. इस प्रक्रिया को पूरे दिन में दो बार ज़रूर करें तब तक जब तक दर्द चला नहीं जाता।
  5. इसके अलावा सुबह सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में एक नींबू निचोड़कर पीने से आपका दर्द दो हो जाएगा।

(और पढ़ें - नींबू के फायदे

आयुर्वेद के अनुसार, गर्म सरसों के तेल से मसाज करने से सूजन दूर होगी, रक्त रिसंचरण में सुधार होगा दर्द दूर होगा।

सरसों के तेल इस्तेमाल कैसे करें -

  1. दो चम्मच सरसों के तेल को गर्म कर लें।
  2. अब उसमे लहसुन की फांकों को डालें और तब तक गर्म करने जब तक लहसुन भूरा न हो जाये।
  3. अब तेल को छान लें और ठंडा होने के लिए रख दें।
  4. अब इस गुनगुने गर्म तेल से अपने घुटनों पर मसाज करें।
  5. अपने घुटनों को किसी कपड़े से ढक और उसपर गर्म तौलिये का इस्तेमाल करें जिससे गर्माहट बनी रहें।
  6. इस प्रक्रिया को पूरे दिन में दो बार एक या दो हफ्ते तक ज़रूर करें।

(और पढ़ें - सरसों के तेल के फायदे

सेंधा नमक में मैग्नीशियम सल्फेट होता है जो घुटने के दर्द से राहत प्रदान करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। मैग्नीशियम प्राकृतिक तरीकों से मांसपेशियों को आराम पहुंचाने का काम करता है जिससे ऊतकों से अधिक तरल पदार्थों को निकालने में मदद मिलती है। इसकी मदद से सूजन और दर्द से छुटकारा मिलता है।

सेंधा नमक का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. गर्म पानी के टब या बाल्टी में एक या आधा कप सेंधा नमक मिलाएं।
  2. अब अपने घुटनों को गुनगुने पानी में 15 मिनट के लिए डालें रखें।
  3. जब तक आपको आराम नहीं मिल जाता तब तक इस प्रक्रिया को कुछ हफ्तों तक ज़रूर करें।

(और पढ़ें - सेंधा नमक के फायदे और नुकसान)

नोट - ये उपाय उनके लिए नहीं है जिन्हे ह्रदय से सम्बंधित समस्याएं हैं या हाई बीपी और शुगर (डायबिटीज) है।

मेथी के बीज में सूजनरोधी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो घुटने के दर्द से राहत दिलाने में मदद करते हैं। इसके अलावा मेथी के बीज प्राकृतिक रूप से गर्म होते हैं और उन लोगो के लिए बेहद लाभदायक होते हैं जिन्हे गठिये की वजह से घुटनों में दर्द होता है।

मेथी के बीज का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

  1. रातभर एक चम्मच मेथी के बीज को भिगोकर रख दें।
  2. सुबह पानी को निकाल लें और उन बीजों को चबाएं।
  3. इस प्रक्रिया को पूरे दिन में एक या दो हफ्ते तक करें।

दूसरा तरीका -

  1. सबसे पहले मेथी के बीज को भून लें और उसे मिक्सर में मिक्स कर लें और फिर किसी बर्तन में बंद करके रख दें।
  2. अब इस पाउडर का दो चम्मच लें और थोड़ा पानी इसमें मिलाएं।
  3. गाढ़ा पेस्ट तैयार होने के बाद इस पेस्ट को अपने प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं।
  4. आधे घंटे के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें और फिर गुनगुने पानी से धो लें।
  5. इस प्रक्रिया को कुछ हफ्ते तक पूरे दिन में दो बार ज़रूर करें।

(और पढ़ें - मेथी के फायदे

नीलगिरी के तेल में एनाल्जेसिक या दर्द निवारण गुण होते हैं जोघुटनों के दर्द से रहता दिलाने में मदद करते हैं। इस तेल का ठंडा एहसास गठिया के दर्द में आराम पहुंचाएगा। एक रिसर्च के मुताबिक अगर आप इस तेल को सूंघते भी है तब भी घुटनों के दर्द और सूजन से आपको राहत मिलेगी।

नीलगिरी तेल का इस्तेमाल कैसे करें

  1. पांच से सात नीलगिरी तेल और पुदीने की तेल की बूँदें एक साथ मिला लें।
  2. फिर उसमे दो चम्मच जैतून का तेल मिलाएं।
  3. इस मिश्रण को सूरज से दूर रखे और किसी अँधेरे वाली जगह पर ढक कर रख दें।
  4. जब भी आपको घुटनों में दर्द हो तभी इस मिश्रण को अपने प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएँ।
  5. इस तेल से आराम आराम से मसाज करें जिससे तेल त्वचा के अंदर तक पहुंचे।

(और पढ़ें - नीलगिरी तेल के फायदे

इन उपायों के साथ साथ जल्द इसका इलाज करने के लिए आपको निम्नलिखित बातों का भी ध्यान देना है -

  1. शरीर का वजन अगर ज़्यादा है तो उसे कम करने की कोशिश करें।
  2. सही प्रकार के जूते और सैंडल पहनें।
  3. ऊंचे एड़ी वाले जूते न पहनें।
  4. रोज़ाना मैग्नीशियम और ओमेगा -3 का सेवन करें।
  5. 15 मिनट के लिए रोजाना चलें।
  6. व्यायाम करने के लिए किसी प्रोफेशनल की मदद लें।
  7. धूम्रपान न करें इससे आपका इलाज धीमा पड़ सकता है।
  8. हाइड्रेटेड और कार्टिलेज को ठीक रखने के लिए ज़्यादा से ज़्यादा पानी पियें।
  9. अगर घुटने का दर्द एक या दो सप्ताह के बाद भी है, तो अपने डॉक्टर से बात ज़रूर करें।
और पढ़ें ...