myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

मांसपेशीय दुर्विकास (मस्कुलर डिस्ट्रॉफी) होना क्या है?

मांसपेशीय दुर्विकास या मस्कुलर डिस्ट्रॉफी मांसपेशियों की एक ऐसी बीमारी है, जिसके कारण समय के साथ व्यक्ति की मासपेशियां कमजोर व पतली होने लगती हैं। इस बीमारी में जीन में असामान्य बदलाव के कारण ऐसे प्रोटीन बनने कम हो जाते हैं जो मांसपेशियों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक होते हैं। इसके कारण व्यक्ति के लिए चलना धीरे-धीरे मुश्किल हो जाता है और कई मामलों में मस्कुलर डिस्ट्रॉफी से शरीर के अन्य अंगों में भी समस्याएं होने लगती हैं।

(और पढ़ें - मांसपेशियों की कमजोरी के कारण)

मांसपेशीय दुर्विकास (मस्कुलर डिस्ट्रॉफी) के लक्षण क्या हैं?

मस्कुलर डिस्ट्रॉफी के शुरूआती लक्षण होते हैं डगमगाकर चलना, बार-बार गिरना, मांसपेशियों में दर्द व अकड़न, विकास में देरी, दौड़ने या भागने में दिक्कत, बैठने या खड़े होने में दिक्कत और पंजों पर चलना। समय के साथ ये समस्या बढ़ती जाती है और इससे अन्य लक्षण भी होने लगते हैं, जैसे चल न पाना, गतिविधियां न कर पाना और सांस लेना बहुत मुश्किल होना आदि।

(और पढ़ें - सांस फूलने के उपाय)

मांसपेशीय दुर्विकास (मस्कुलर डिस्ट्रॉफी) क्यों होता है?

मांसपेशियों को खराब होने से रोकने के लिए कई जींस प्रोटीन बनाती हैं और मस्कुलर डिस्ट्रॉफी की समस्या तब होती है जब इनमें से किसी भी एक जींस में कुछ खराबी होती है। मस्कुलर डिस्ट्रॉफी की समस्या कई प्रकार की होती है, लेकिन हर प्रकार का कारण एक ही होता है - उससे संबंधित जींस में खराबी होना। हालांकि, कभी-कभी मां के शरीर में मौजूद अंडों या भ्रूण में अपने आप कोई खराबी आ जाती है और बच्चे को मांसपेशीय दुर्विकास हो जाता है। अभी तक इस बात का पता नहीं लग पाया है कि ये बदलाव या खराबी क्यों होती हैं, लेकिन इस विषय पर अध्ययन चल रहा है।

(और पढ़ें - मांसपेशियों में दर्द के घरेलू उपाय)

मांसपेशीय दुर्विकास (मस्कुलर डिस्ट्रॉफी) का इलाज कैसे होता है?

फिलहाल मस्कुलर डिस्ट्रॉफी का कोई इलाज उपलब्ध नहीं है, लेकिन इससे होने वाली समस्याओं और लक्षणों को कम करने के लिए कुछ उपाय किए जा सकते हैं। इसके लिए अलग-अलग प्रकार की थेरेपी लाभदायक हो सकती हैं, जैसे फिजिकल थेरेपी, ऑक्यूपेशनल थेरेपी, स्पीच थेरेपी आदि। मांपेशियों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए कम तीव्रता वाले कर्टिकॉस्टेरॉइड भी दिए जा सकते हैं। हड्डियों की समस्याओं के लिए कभी-कभी सर्जरी की जाती है ताकि व्यक्ति को रोजमर्रा के कार्य करने में समस्याएं न हों। मस्कुलर डिस्ट्रॉफी के कारण होने वाली दिल की समस्याओं के लिए रोगी को पेसमेकर की आवश्यकता हो सकती है।

(और पढ़ें - मांसपेशियों की कमजोरी दूर करने के उपाय)

  1. मस्कुलर डिस्ट्रॉफी की दवा - Medicines for Muscular Dystrophy in Hindi

मस्कुलर डिस्ट्रॉफी की दवा - Medicines for Muscular Dystrophy in Hindi

मस्कुलर डिस्ट्रॉफी के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Ecozyme ChewEcozyme Chew 100 Mg Tablet258.0
NutrihaleNutrihale 500 Mg Syrup212.0
Oligocare ForteOligocare Forte Tabcap180.0
RenoqueRenoque 180 Mg Capsule690.0
Ultra Co Q10Ultra Co Q10 100 Mg Tablet525.0
Xylox HeavyXylox Heavy 75 Mg Injection31.0
ZoqzymZoqzym 300 Mg Softgel905.0
QuteQute 120 Mg Capsule567.0
Bluray MBluray M Tablet280.0
FerteezFerteez Tablet348.0
Paternia XtPaternia Xt Tablet373.0
Hope MHope M Tablet250.0
Maxoza LMaxoza L Sachet40.0
PanthegelPanthegel 5%W/W Ointment101.0
CcqCcq 100 Mg/50 Mg Tablet169.4
FertilixFertilix 100 Mg/50 Mg Tablet154.0
UbipheneUbiphene 100 Mg/100 Mg Tablet297.0
Clofert MaxClofert Max 25 Mg/60 Mg Kit786.5
RoeletRoelet 50 Mg/50 Mg Tablet195.23
Coqmax BetaCoqmax Beta Capsule89.0
E Ova PlusE Ova Plus 100 Mg Tablet449.0
MaxmoistMaxmoist Eye Drop165.0
UbicarUbicar 30 Mg/500 Mg Tablet348.0
Beplex PlusBeplex Forte Plus Elixir50.53
Cynocal 16Cynocal 16 Tablet57.0
NervijenNervijen Capsule111.0
PolybionPolybion Capsule17.0
Sioneuron ForteSioneuron Forte Tablet10.92

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...