myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

पेट रोग होना एक आम समस्या है, जो आधुनिक युग के खान-पान के साथ किसी भी व्यक्ति को हो सकता है। इस स्थिति में व्यक्ति का ना तो कुछ खाने और ना पीने का मन करता है। पेट के रोग में दर्दनाक और परेशान करने वाली स्थिति पैदा हो सकती है, जिसके कई कारण होते हैं जैसे गैस्ट्राइटिस (पेट में सूजन), पेट में गैस, गैस्ट्रोपैरीसिस (पाचन में समय लगना) और पेट में अल्सर आदि। इन सभी समस्याओं के शुरुआती लक्षणों को घरेलू उपायों द्वारा ठीक किया जा सकता है।

  1. अदरक है पेट रोग का घरेलू उपचार - Adarak hai pet rog ka gharelu upchar
  2. पुदीना है पेट रोग का इलाज - Pudina hai pet rog ka ilaj
  3. नींबू और बेकिंग सोडा के मिश्रण से करें पेट रोग को दूर - Nimbu aur baking soda ke mishran se karein pet rog ko dur
  4. दालचीनी से करें पेट के रोग का इलाज - Dalchini se karein pet ke rog ka ilaj
  5. लौंग है पेट रोग का घरेलू उपचार - Loung hai pet rog ka gharelu upchar

अदरक पेट के रोगों के खिलाफ एक सामान्य घरेलू नुस्खा है, जो पाचन तंत्र को पाचन क्रिया में भी मदद करता है। अदरक में जिंजरोल्स और शगोयल्स नाम के यौगिक पाए जाते हैं, जो पेट में संकुचन की प्रकिया को बढ़ाते हैं। अदरक में मौजूद केमिकल्स मितली, उलटी और दस्त को कम करने में मदद कर सकते हैं।

आवश्यक सामग्री

  • ½ चम्मच अदरक पाउडर
  • 1 कप पानी

इस्तेमाल का तरीका

  • अदरक को सीधा खाना सबसे लाभदायी होता है
  • इसके अलावा आप चाहें तो अदरक की चाय (जैसे हर्बल टी) भी पी सकते हैं
  • इसके लिए 1 कप पानी के साथ ½ इंच अदरक उबाल लें
  • अब सुबह और शाम इसका सेवन करें

कब इस्तेमाल करें
इस प्रक्रिया को रोजाना 2 बार सुबह और शाम को दोहराएं, जब तक आपके पेट का रोग ठीक न हो जाए।

पुदीना पेट के रोगों के लक्षणों उलटी, मितली और दस्त को कम करके उन्हें ठीक करने में मदद करता है। यह मांसपेशियों और पेट में होने वाली ऐंठन को भी कम करता है और साथ ही दर्द में आराम दिलाता है। पुदीना पेट के रोग के लिए एक बेहतरीन इलाज है।

आवश्यक सामग्री

  • पुदीने के पत्ते
  • 1 कप गर्म पानी

इस्तेमाल का तरीका

  • पुदीने के पत्तों को पीस लें
  • एक कप पानी को उबालकर उसमें पीसे हुए पुदीने के पत्ते डाल दें
  • ठंडा होने पर एक ही बार में इस घोल को पी लें

पुदीने के साथ एक चम्मच इलायची को भी डाला जा सकता है, जिससे इसका प्रभाव और भी बढ़ जाता है।

कब इस्तेमाल करें
पेट के रोग से छुटकारा पाने के लिए इस अद्भुत चाय को दिन में दो बार पिएं।

कुछ अध्ययनों के अनुसार नींबू के रस और बेकिंग सोडा को पानी के साथ मिलाने से पाचन संबंधी कई समस्याएं दूर हो जाती हैं। यह मिश्रण कार्बनिक एसिड पैदा करता है, जो पेट में बनने वाली गैस और अपच को कम करने में मदद करता है।

आवश्यक सामग्री

  • 1 नींबू
  • 1 चम्मच बेकिंग सोडा
  • 1 गिलास पानी

इस्तेमाल का तरीका

  • नींबू का रस निकाल कर एक गिलास पानी में मिला लें
  • अब इसमें बेकिंग सोडा डालें और पी लें

कब इस्तेमाल करें
दिन में सिर्फ एक ही बार इस मिश्रण का उपयोग करें, एक से अधिक बार करने से बेकिंग सोडा दस्त की समस्या भी पैदा कर सकता है। अगर आपको पहले से ही दस्त की शिकायत है, तो इस उपाय को न करें।

दालचीनी में कई एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो पाचन प्रक्रिया में मदद करते हैं और पाचन तंत्र में जलन व किसी प्रकार की क्षति पहुंचने से बचाते हैं। इसमें यूगेनोल, लिनबॉल और केम्फर नाम के यौगिक मौजूद होते हैं, जो गैस, ऐठन, सूजन और डकार जैसी समस्याओं को कम करने में मदद करते हैं।

आवश्यक सामग्री 

  • 1 चम्मच दालचीनी
  • 1 कप गर्म पानी

इस्तेमाल का तरीका

दालचीनी को किसी भी प्रकार के आहार में शामिल किया जा सकता है, लेकिन इसे सादे पानी के साथ लेना अधिक प्रभावी रहता है।

  • उबलते पानी में एक चम्मच दालचीनी मिलाएं
  • अब इस हर्बल टी को गुनगुना होने पर पी लें

कब इस्तेमाल करें
इस उपाय को दिन में 2 से 3 बार करने से पेट रोगों से आराम मिलेगा।

लौंग में ऐसे पदार्थ होते हैं जो पेट में गैस को कम करने में मदद करते हैं, जिससे पेट में दबाव व ऐंठन जैसी समस्याएं होने का खतरा कम हो जाता है। साथ ही लौंग पाचन प्रक्रिया को बढ़ाने और मितली या उल्टी के लक्षणों को कम करने में भी काफी मदद करता है।

आवश्यक सामग्री

  • 1-2 चम्मच लौंग पाउडर
  • 1 चम्मच शहद
  • 1 गिलास गर्म पानी

इस्तेमाल का तरीका

  • पानी को उबलने के लिए रख दें
  • अब इसमें एक चम्मच लौंग मिलाएं और 2 से 3 मिनट उबलने दें
  • इस मिश्रण को एक कप में डाल लें 
  • स्वाद के लिए इसमें एक चम्मच शहद मिला सकते हैं 
  • मिश्रण ठंडा होने के बाद पी लें

कब इस्तेमाल करें
लौंग की चाय का दिन में 1 से 2 बार सेवन फायदेमंद रहता है।

इन सभी उपायों को सही तरीके से अपनाने पर पेट रोग से जुड़ी सभी समस्याओं का इलाज मुमकिन है, लेकिन अगर घरेलू उपाय आजमाने के बाद भी 2 से 3 दिन तक पेट रोग के लक्षण खत्म न हों तो किसी डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए, क्योंकि यह किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
192292 भारत
3783आंध्र प्रदेश
22अरुणाचल प्रदेश
1390असम
33अंडमान निकोबार
3926बिहार
294चंडीगढ़
547छत्तीसगढ़
3दादर नगर हवेली
20834दिल्ली
71गोवा
17200गुजरात
2356हरियाणा
340हिमाचल प्रदेश
2601जम्मू-कश्मीर
659झारखंड
3408कर्नाटक
1326केरल
77लद्दाख
8283मध्य प्रदेश
70013महाराष्ट्र
83मणिपुर
27मेघालय
1मिजोरम
43नगालैंड
2104ओडिशा
74पुदुचेरी
2301पंजाब
8980राजस्थान
1सिक्किम
23495तमिलनाडु
2792तेलंगाना
420त्रिपुरा
958उत्तराखंड
8075उत्तर प्रदेश
5772पश्चिम बंगाल

मैप देखें