myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

हममें से ज्यादातर लोग अपने दिन की शुरुआत चाय के साथ करते हैं। नींद को दूर भगाने और शरीर में ताजगी भर देने वाले पेय पदार्थों में चाय सबसे पसंदीदा है। क्या आप जानते हैं, इसी चाय में कुछ आसानी से उपलब्ध औषधियों को मिलाकर कई तरह के स्वास्थ्य संबंधी लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं। ऐसी ही एक औषधि है- दालचीनी। चाय में दालचीनी को मिलाकर पीने से आप कई प्रकार के फायदे प्राप्त कर सकते हैं। इसके गुणों को जानने से पहले आइए जानते हैं दालचीनी प्राप्त कैसे की जाती है?

दरअसल दालचीनी का पेड़ होता है, जिसकी छाल को प्रयोग में लाया जाता है। यह छाल सूख जाने के बाद रोलनुमा हो जाते हैं, जिसे आसानी से पहचाना जा सकता है। छाल के इस रोल को गरम पानी में उबालकर या इसके पाउडर को चाय में मिलाकर सेवन किया जा सकता है।

अगर बात दालचीनी की चाय की करें तो इसके सेवन से कई प्रकार के लाभ प्राप्त किए जा सकते हैं। वजन कम करने, हृदय की स्थिति में सुधार, मासिक धर्म में ऐंठन को कम करने के साथ मधुमेह रोगियों में ब्लड शुगर को कम करने में भी यह काफी लाभकारी है।

इस लेख में हम आपको दालचीनी की चाय बनाने की विधि के साथ उसके विज्ञान-आधारित स्वास्थ्य लाभ के बारे में विस्तार से बताएंगे।

  1. दालचीनी की चाय के फायदे - Daalchini ki chai ke kya fayde hain?
  2. दालचीनी की चाय बनाने की विधि - Daalchini ki chai kaise banaye?

दालचीनी का उपयोग पारंपरिक आयुर्वेद और चीनी चिकित्सा में सर्दी और अपच जैसी कई प्रकार की बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है। कई स्वास्थ्य लाभ के अलावा, दालचीनी में स्वाभाविक रूप से मीठा स्वाद होता है। इस चाय के सेवन से विज्ञान आधारित आपको निम्न लाभ प्राप्त होते हैं।

  1. एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है दालचीनी की चाय - Antioxidant se bharpoor hai daalchini
  2. हृदय रोग और ब्लड प्रेशर को कम करती है दालचीनी - Heart disease aur blood pressure me faydemand hai Daalchini
  3. मधुमेह रोगियों के लिए काफी फायदेमंद है दालचीनी का उपयोग - Diabetes kam krti hai daalchini ki chai
  4. दालचीनी का प्रयोग कर घटाएं वजन - Daalchini ka proyog kar Vajan kam krein
  5. एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुणों से भरपूर है दालचीनी की चाय - Antibacterial aur Antifungal guno se bharpoor hai Daalchini
  6. दालचीनी की चाय पीने के अन्य लाभ - Cinnamon tea ke aur kya labh hai?

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है दालचीनी की चाय - Antioxidant se bharpoor hai daalchini

दालचीनी की चाय में बहुत सारे एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो आपको स्वस्थ बनाए रखने में काफी सहायक होते हैं। दालचीनी में विशेष रूप से पॉलीफेनोल एंटीऑक्सिडेंट पाए जाते हैं। एक अध्ययन में 26 मसालों के एंटीऑक्सीडेंट गुणों की तुलना की गई, जिसमें पाया गया कि लौंग और अजवायन की तरह दालचीनी भी कई प्रकार से फायदेमंद है। इसके अलावा, शोध से पता चलता है कि दालचीनी की चाय कुल एंटीऑक्सिडेंट क्षमता (टीएसी) को बढ़ा सकती है। जो आपके शरीर को अंदुरूनी तौर पर शक्तिशाली बनता है।

हृदय रोग और ब्लड प्रेशर को कम करती है दालचीनी - Heart disease aur blood pressure me faydemand hai Daalchini

कई सारे अध्ययनों से पता चलता है कि दालचीनी हृदय को स्वस्थ रखने में काफी लाभकारी हो सकती है। जिन लोगों को ब्लड प्रेशर, ट्राइग्लिसराइड और बैड कोलेस्ट्रॉल की शिकायत है उनके लिए भी यह काफी लाभदायक है। दालचीनी गुड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाने में भी सहायक है, जो रक्त वाहिकाओं से अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल को हटाकर हृदय को स्वस्थ रखने के लिए महत्वपूर्ण है।

दालचीनी के गुणों पर किए गए करीब 10 अध्ययनों की समीक्षाा में पाया गया कि यदि कोई व्यक्ति प्रतिदिन 120 मिलीग्राम यानी करीब 1/10 चम्मच दालचीनी का सेवन करता है तो उपरोक्त लाभों को आसानी से प्राप्त कर सकता है।

हालांकि, यहां मात्रा पर विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होती है। दालचीनी के बहुत अधिक सेवन से लिवर के कार्य प्रभावित हो सकते हैं और रक्तस्राव के जोखिम को बढ़ा सकता है। इसलिए सुनिश्चित करें कि आप संतुलित मात्रा में ही दालचीनी का सेवन करें।

मधुमेह रोगियों के लिए काफी फायदेमंद है दालचीनी का उपयोग - Diabetes kam krti hai daalchini ki chai

दालचीनी में एंटीडायबिटिक गुण मौजूद होते हैं जो ब्लड शुगर को कम करने में काफी फायदेमंद हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि दालचीनी, इंसुलिन के समान कार्य करती है। इंसुलिन एक प्रकार का हार्मोन होता है। यह रक्त में ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करने का काम करता है। इसके अलावा दालचीनी, कार्बोहाइड्रेट के ब्रेक डाउन को धीमा करती है, जिससे भोजन के बाद रक्त में शर्करा का स्तर बढ़ने नहीं पाता है।

अध्ययनों में पाया गया कि इसके नियमत सेवन से टाइप2 डायबिटीज को नियंत्रण में रखा जा सकता है।

दालचीनी का प्रयोग कर घटाएं वजन - Daalchini ka proyog kar Vajan kam krein

वजन कम करने की चाहत रखने वाले लोगों के लिए दालचीनी का प्रयोग अच्छे परिणाम दे सकता है। इस संबंध में कई सारे अध्ययन किए गए हैं, जिनके परिणाम सुखद रहे हैं। एक अध्ययन ​में कुछ लोगों को शामिल किया गया। उन लोगों ने 12 सप्ताह तक प्रतिदिन करीब 10 ग्राम दालचीनी का सेवन किया। परिणामस्वरूप पाया गया कि प्रतिभागियों का इस दौरान करीब 0.7 फीसद फैट मास कम हुआ जबकि उनकी मांसपेशियों में 1.1 फीसद की वृद्धि दर्ज की गई। हालांकि, दालचीनी की यह मात्रा काफी अधिक थी, विशेषज्ञ इस मात्रा में सेवन की सलाह नहीं देते हैं।

अभी इस बारे में और शोध की आवश्यकता है कि क्या वजन को कम करने के लिए कम मात्रा भी प्रभावी हो सकती है?

एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुणों से भरपूर है दालचीनी की चाय - Antibacterial aur Antifungal guno se bharpoor hai Daalchini

दालचीनी में जीवाणुरोधी और एंटिफंगल गुण होते हैं। उदाहरण के लिए, टेस्ट-ट्यूब शोध से पता चलता है कि दालचीनी में पाया जाने वाला मुख्य सक्रिय घटक सिनेमैल्डिहाइड, विभिन्न प्रकार के बैक्टीरिया, कवक, मोल्ड्स को बढ़ने से रोकता है। इनमें स्टैफिलोकोकस, साल्मोनेला और ई.कोलीइ बैक्टीरिया शामिल हैं, जो बीमारी का कारण बन सकते हैं।

इसके अलावा, दालचीनी के जीवाणुरोधी गुण सांस की दुर्गंध और दांतों को होने वाले नुकसान को कम करने में भी सहायक हैं। ऐसे में दालचीनी की चाय आपके स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद हो सकती है।

दालचीनी की चाय पीने के अन्य लाभ - Cinnamon tea ke aur kya labh hai?

एंटीकैंसर गुणों से भरपूर : टेस्ट-ट्यूब शोध में पाया गया है कि दालचीनी का अर्क त्वचा कैंसर सहित कई प्रकार की कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने में मदद कर सकता है।

मुहांसों को कम करती है : टेस्ट-ट्यूब शोध से पता चलता है कि दालचीनी का अर्क उन बैक्टीरिया को खत्म करने में काफी प्रभावी है जो मुंहासे के प्रमुख कारक होते हैं। ऐसे में दैनिक रूप से दालचीनी की चाय के सेवन से मुंहासों से मुक्ति पाई जा सकती है।

एचआईवी से लड़ने में असरकारक : टेस्ट-ट्यूब अध्ययन की रिपोर्ट के मुताबिक दालचीनी का अर्क मनुष्यों में एचआईवी वायरस से लड़ने में मदद कर सकती है। ऐसे में चाय में दालचीनी मिलाकर पीने से एचआईवी के खतरे को कम किया जा सकता है।

मासिक धर्म की समस्याओं को दूर करने में लाभकारी : दालचीनी की चाय मासिक धर्म से जुड़े कई लक्षणों को जैसे प्रीमेन्स्ट्रुअल सिंड्रोम (पीएमएस) और दर्द को कम करती है। एक अध्ययन के दौरान मासिक धर्म चक्र के पहले 3 दिनों में महिलाओं को प्रतिदिन 3 ग्राम दालचीनी या दालचीनी वाली चाय दी गई। इन महिलाओं ने पहले की अपेक्षा मासिक धर्म के दौरान कम दर्द का अनुभव किया।

दालचीनी की चाय बनाने के लिए सबसे पहले आवश्यक सामग्रियों की व्यवस्था कर लें। इसके लिए आपको चाहिए -

  • डेढ़ कप पानी 
  • दालचीनी के टुकड़े या पाउडर
  • चीनी या शहद का प्रयोग वैकल्पिक रूप से किया जा सकता है।

चाय कैसे बनाएं

  • सबसे पहले पानी को हल्की आंच पर रखें और उसमें दालचीनी की छाल या पाउडर मिलाएं।
  • इसे करीब 5 मिनट तक उबालें।
  • अब इसे ऐसे ही कुछ देर के लिए छोड़ दें।
  • इसके बाद स्वाद के लिए चीनी या शहद मिलाकर सेवन करें। चाहें तो बिना चीनी व शहद के भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
अभी 112 डॉक्टर ऑनलाइन हैं ।