myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

आज के दौर में कोल्ड ड्रिंक्स हर पार्टी की शान मानी जाती है। पार्टी में कोल्ड ड्रिंक न हो ऐसा हो ही नहीं सकता है। पार्टी के अलावा लोगों द्वारा अपनी प्यास बुझाने के लिए भी कोल्ड ड्रिंक का सहारा लिया जाता है, यही कारण है कि आज लोग पानी की जगह कोल्ड ड्रिंक का इस्तेमाल अधिक करने लगे हैं। कोल्ड ड्रिंक बच्चों और युवाओं के साथ ही अन्य आयु वर्ग के लोगों को भी खूब पसंद आती है।

लेकिन युवाओं और बच्चों के बीच में लोकप्रिय कोल्ड ड्रिंक्स के कई हानिकारक प्रभाव होते हैं। कोल्ड ड्रिंक में किसी भी तरह के पोषक तत्व मौजूद नहीं होते हैं। साथ ही इसमें मौजूद हानिकारक केमिकल से स्वास्थ्य पर कई दुष्प्रभाव पड़ते हैं। कोल्ड ड्रिंक में मौजूद अधिक शुगर और फ्रुक्टोज कॉर्न सिरप डायबिटीज का कारण बनते हैं और हृदय व लीवर को नुकसान पहुंचाते हैं। इसके अलावा पेय पदार्थ को सुरक्षित रखने वाले केमिकल जैसे फोसफोरिक एसिड (Phosphoric acid) हड्डी और किडनी रोग की वजह होते हैं। इसके साथ ही कोल्ड ड्रिंक में सिट्रिक एसिड से दांतों को नुकसान होने का खतरा रहता है।

(और पढ़ें - शराब के साथ एनर्जी ड्रिंक मिलाने के नुकसान)

कोल्ड ड्रिंक से होने वाले दुष्प्रभावों के विषय में पूरी जानकारी देने के लिए आपको इस लेख में कोल्ड ड्रिंक के नुकसान और साइड इफेक्ट के बारे में बताया जा रहा है। साथ ही आपको कोल्ड ड्रिंक पीने से होने वाले नुकसान, कोल्ड ड्रिंक पीने के साइड इफेक्ट और कोल्ड ड्रिंक के दुष्प्रभाव आदि विषयों को भी विस्तार से बताने का प्रयास किया गया है।     

(और पढ़ें - गर्म पानी पीने के फायदे)

  1. कोल्ड ड्रिंक के फायदे - Cold drink ke fayde
  2. कोल्ड ड्रिंक से होने वाले नुकसान - Cold drink se hone vale nuksan
  • कोल्ड ड्रिंक पीने से सेहत को कई नुकसान होते हैं, लेकिन इसका घर के अन्य कामों में इस्तेमाल किया जा सकता है। कोल्ड ड्रिंक के ऐसे ही कुछ फायदों को नीचे बताया गया है।
  • बर्तनों की चिकनाई और ग्रीस को साफ करें। इस उपाय को आजमाने के लिए आपको चिकनाई और ग्रीस वाले बर्तन में कोल्ड ड्रिंक को भरना होगा। इसके बाद इस बर्तन को कुछ समय के लिए गैस पर रख दें। कोल्ड ड्रिंक जब हल्की गर्म हो जाए तो बर्तन को गैस से उतार लें और स्क्रब से साफ करें। इससे बेहद ही आसानी से आपके बर्तनों की चिकनाई और उसमें चिपका हुआ खाना निकल जाता है। (और पढ़ें - हाई ब्लड प्रेशर के लिए ड्रिंक)
  • कार की बैटरी पर लगी जंग को साफ करें। कोल्ड ड्रिंक की मदद से आप अपनी कार की बैटरी को आसानी से साफ कर सकते हैं। इसके लिए आपको थोड़ी सी कोल्ड ड्रिंक को जंग वाले हिस्से में लगाना होगा, इसके बाद कुछ समय के लिए रूके और फिर एक पुराने टूथ ब्रश से जंग को साफ कर लें। इसके बाद बैटरी पर बची हुई कोल्ड ड्रिंक को किसी कपड़े से साफ कर लें। (और पढ़ें - ग्रीन टी पीने के फायदे)
  • घर पर रखी ज्वैलरी और पुराने सिक्कों को साफ कर सकते हैं। 
  • फर्श पर लगे तेल के दाग को साफ करने के लिए कोल्ड ड्रिंक का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

(और पढ़ें - दूध पीने का सही समय क्या है)

कोल्ड ड्रींक से होता है लीवर रोग - Cold drink se hota hai liver rog

कोल्ड ड्रींक में सामान्यतः हाई फ्रुक्टोज कॉर्न सिरप (high fructose corn syrup: HFCS) का इस्तेमाल किया जाता है। हाई फ्रुक्टोज कॉर्न सिरप को कॉर्न स्टार्च से बनाया जाता है। फ्रूक्टोस को पचाने या तोड़ने का कार्य लीवर करता है। अगर आप उच्च मात्रा में फ्रुक्टोज को लेते हैं तो इससे आपको नॉन अल्कोहलिक फैटी लीवर रोग हो सकता है। यह स्थिति हाई कोलेस्ट्रॉल और हाई बीपी से संबंधित होती है। हाई फ्रूक्टोस कॉर्न सिरप अन्य शुगर के मुकाबले सस्ती होती है और अधिकतर कोल्ड ड्रिंक्स में इस्तेमाल की जाती है।

(और पढ़ें - हाई ब्लड प्रेशर में क्या खाएं)  

कोल्ड ड्रींक है त्वचा के लिए नुकसानदायक - Cold drink se tvacha ko hota hai nuksan

रोजाना कोल्ड ड्रींक पीने से त्वचा पर धूम्रपान की तरह ही दुष्प्रभाव होते हैं। कोल्ड ड्रिंक में मौजूद अधिक शुगर के कारण त्वचा पर लालिमा और सूजन आने लगती है। साथ ही इसकी वजह से शरीर में पानी की कमी होने लगती है और इससे झुर्रियां दिखने लगती है। इससे त्वचा समय से पहले बुढ़ी होने लगती है और बेजान हो जाती है। इसके अलावा कोल्ड ड्रिंक पीने से एक्जिमा, शुष्क त्वचा, खुजली, मुंहासे और लालिमा की समस्या बढ़ जाती है।

(और पढ़ें - कील मुंहासे हटाने की क्रीम)

कोल्ड ड्रिंक से होता है कैंसर का खतरा - Cold drink se hota hai cancer ka khatra

कोल्ड ड्रिंक को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए कई केमिकल्स (Preservatives) और आर्टिफिशल फ्लेवर (Artificial flavor) मिलाएं जाते हैं। यह केमिकल कोशिकाओं के बनने की प्रक्रिया को नुकसान पहुंचाते हैं और अंगों में इन्फेक्शन को बढ़ा देते हैं। इसकी वजह से कई अंगों में कैंसर हो जाता है।

इसके साथ ही कई कोल्ड ड्रिंक में ब्राउन कलर के लिए मिलाएं जाने वाला तत्व सेहत के नजरिये से काफी हानिकारक होता है। इसमें ब्राउन रंग के लिए 4-मिथाईलिमिडेजॉल (4-methylimidazole) केमिकल मिलाया जाता है। एक शोध में कुछ चूहों में यह तत्व फेफड़ो, लीवर और थायराइड कैंसर की मुख्य वजह पाया गया है।

(और पढ़ें - थायराइड डाइट चार्ट)

कोल्ड ड्रिंक पीने के साइड इफेक्ट है मोटापा - Cold drink pine ke side effect me shamil hai motapa badhna

अधिक वजन किसी समस्या का कारण नहीं है, लेकिन इसकी वजह से हृदय और प्रतिरक्षा तंत्र पर दबाव पड़ने लगता है। जो बच्चे कोल्ड ड्रिंक को ज्यादा पीते हैं उनको मोटे होने का खतरा अधिक होता है। एक अध्ययन में पाया गया कि रोजाना कम कोल्ड ड्रिंक और सोफ्ट ड्रिंक पीने वाले मोटे बच्चों और किशोरों का वजन तेजी से कम हुआ।

(और पढ़ें - मोटापे का इलाज)

इस पेय पदार्थ में किसी भी तरह के पोषक तत्व मौजूद नहीं होते हैं और इसको बच्चों के आहार में शामिल नहीं करना चाहिए। कोल्ड ड्रिंक्स में मौजूद कैफीन, दूध व अन्य पोषक पोषण तत्वों की जगह लेकर बच्चे की भूख को कम कर देता है।

(और पढ़ें - पोषण की कमी का इलाज)

कई लोगों को लगता है नियमित कोल्ड ड्रिंक पीने के बाद अधिक एक्सरसाइज करने से वह इसके दुष्प्रभाव से बचे रहेंगे। लेकिन ऐसा नहीं है लंबे समय तक कोल्ड ड्रिंक पीने से आपके शरीर में तेजी से कैलोरी का स्तर बढ़ता है और आप मोटे होने लगते हैं। 

(और पढ़ें - वजन कम करने का सही तरीका​

कोल्ड ड्रिंक का दुष्प्रभाव है डायबिटीज - Cold drink pine se hota hai diabetes ka khatra

कोल्ड ड्रिंक में मौजूद शुगर की अधिक मात्रा आपके पेट को बिना भरे रक्त में ग्लूकोज के स्तर को बढ़ाने का काम करती है। इसके परिणामस्वरूप आपका शरीर थकान महसूस करने लगता है। कोल्ड ड्रिंक से होने वाले इस दुष्चक्र से नकरात्मक प्रभाव होते है, जिससे आपको टाइप 2 डायबिटीज की संभावना बढ़ जाती है।

रोजाना एक या एक से अधिक कोल्ड ड्रिंक पीने से महिलाओं में वजन बढ़ने व टाइप 2 डायबिटीज का जोखिम बढ़ जाता है। इसके साथ ही पुरुषों में कोल्ड ड्रिंक के नियमित सेवन से टाइप 2 डायबिटीज व मेटाबोलिक सिंड्रोम का खतरा बढ़ जाता है। 

(और पढ़ें - थकान दूर करने के लिए क्या खाएं)

कोल्ड ड्रिंक का नुकसान है हृदय रोग - Cold drink ke dusprabhav me shamil hai heart disease

कोल्ड ड्रिंक से होने वाले दुष्प्रभावों में हृदय रोगों को भी शामिल किया जाता है। कोल्ड ड्रिंक में मौजूद कैलोरी और कोलेस्ट्रोल हृदय की धमनियों को बंद करने का काम करता है। लंबे समय तक कोल्ड ड्रिंक पीने से धीरे धीरे हृदय की धमनियां पूरी तरह से बंद होने लगती है, जिसकी वजह से हृदय पर दबाव पड़ने लगता है। इस स्थिति में हृदय के कई रोग उत्पन्न होने लगते हैं।

(और पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय)

इतना ही नहीं कोल्ड ड्रिंक से मोटापा, मेटाबॉलिक सिंड्रोम और टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है और ये सभी समस्याएं हृदय रोगों की ओर ही संकेत करती हैं। जब आप अस्वस्थ स्त्रोतों से अधिक शुगर लेते है तो इससे आपके द्वारा पोषण, फाइबर युक्त फल और सब्जियां खाने की संभावना कम हो जाती है। इसकी वजह से आपके शरीर में लिपिड का स्तर असामान्य हो जाता है और यह हृदय समस्याओं का कारण बनता है। अध्ययन से पता चला है कि जो पुरूष नियमित रूप से कोल्ड ड्रिंक पीते हैं उनको अन्य के मुकाबले हार्ट अटैक होने का खतरा 20 प्रतिशत अधिक होता है। 

(और पढ़ें - दिल का दौरा पड़ने पर क्या करें)  

कोल्ड ड्रिंक का साइड इफेक्ट है शारीर में विटामिन की कमी - Cold drink se hoti hai vitamin ki kami

कोल्ड ड्रिंक में फोसफोरिक एसिड और कैफीन मिला होता है। यह दोनों ही पदार्थ मूत्र वर्धक प्रभाव के होते हैं, इसी कारण कोल्ड ड्रिंक पीने के करीब एक घंटे बाद यह तत्व आपके शरीर से पोषक तत्वों और विटामिन्स को बाहर करना शुरू कर देते हैं। अगर आप रोजाना कोल्ड ड्रिंक पीते है तो इससे आपके स्वास्थ्य पर काफी विपरीत प्रभाव पड़ते हैं, और धीरे-धीरे आपको विटामिन की कमी होने लगती हैं।

(और पढ़ें - कॉफी पीने के नुकसान)

और पढ़ें ...