myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

माइक्रोफ़ाइलेरिया एंटीजन टेस्ट क्या है?

फाइलेरियासिस एक दर्दनाक रोग है जो मरीज को कुरूप बना देने वाला रोग है। इसे दुनिया के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग नाम से जाना जाता है जैसे फाइलेरिएसिस, फिलेरिएसिस और फिलारायसिस आदि। यह धाग की तरह दिखने वाले राउंडवर्म (एक तरह का सूक्ष्म कीड़ा) के द्वारा फैलाया जाता है, जिसे फाइलेरिया, फीलारिया या फिलेरिआए आदि के नामों से जाना जाता है। फिलारिया की कुछ प्रजातियां जो कि यह रोग फैलाती हैं, उनमें  वुकेरेरिया बेन्क्रोफ्टी, ब्रूजिआ मालेयी और ब्रूजिया टिमोरी आते हैं।

आमतौर पर ये रोग माइक्रोफाइलेरिया की उपस्थिति से पहचाना जा सकता है। जब वयस्क फीलारिया वॉर्म्स लिम्फेटिक सिस्टम के अंदर चले जाते हैं, तो इससे कई प्रकार के सूक्ष्म कीड़े (Worms) बनने लगते हैं। 

हालांकि कभी-कभी माइक्रोफ़ाइलेरिया के स्तर कम होते हैं तो लैब टेस्ट में दिखाई नहीं देते ऐसे  मामलों में फीलारिया वॉर्म्स की अनुपस्थिति की पुष्टि करने के लिए माइक्रोफ़ाइलेरिया एंटीजन टेस्ट किया जाता है। 

माइक्रोफ़ाइलेरिया एंटीजन एक प्रोटीन है जो कि संक्रमित व्यक्ति के रक्त में फाइलेरिया वॉर्म्स द्वारा स्त्रावित किया जाता है। इस टेस्ट को दिन के समय में ही करना जरूरी नहीं है, इसे दिन या रात किसी भी समय किया जा सकता है। हालांकि, यह टेस्ट एक सक्रिय संक्रमण की उपस्थिति की पुष्टि नहीं करता है। ऐसा इसलिए यदि आपके शरीर में मृत माइक्रोफाइलेरिया हैं, तो भी आपका शरीर इनके प्रति एंटीजन बना सकता है।

  1. माइक्रोफ़ाइलेरिया एंटीजन टेस्ट क्यों किया जाता है - Microfilaria Antigen Test Kyu Kiya Jata Hai
  2. माइक्रोफ़ाइलेरिया एंटीजन टेस्ट से पहले - Microfilaria Antigen Test Se Pahle
  3. माइक्रोफ़ाइलेरिया एंटीजन टेस्ट के दौरान - Microfilaria Antigen Test Ke Dauran
  4. माइक्रोफ़ाइलेरिया एंटीजन टेस्ट के परिणाम का क्या मतलब है - Microfilaria Antigen Test Ke Parinam Ka Kya Matlab Hai

माइक्रोफ़ाइलेरिया एंटीजन टेस्ट किसलिए किया जाता है?

यदि डॉक्टर को फाइलेरियासिस के लक्षण दिखाई देते हैं तो वह इस टेस्ट को करवाने की सलाह दे सकते हैं।

हालांकि, ऐसा भी संभव है कि बहुत से लोगों में फाइलेरियासिस के कोई भी लक्षण दिखाई न दें।  हालांकि कुछ लोगों में निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैं:

लसिका ग्रंथि की वाहिकाओं में बार-बार सूजन आना, जिससे निम्न लक्षण दिखाई देते हैं:

माइक्रोफ़ाइलेरिया एंटीजन टेस्ट की तैयारी कैसे करें?

इस टेस्ट के लिए किसी भी विशेष तैयारी की जरूरत नहीं होती। हालांकि यदि आप कोई भी दवा या सप्लीमेंट ले रहे हैं तो इसके बारे में डॉक्टर को बताएं।

यदि आपको सुई से डर लगता है तो डॉक्टर को इस बारे में बता दें ताकि टेस्ट के दौरान वे आपको आराम महसूस करवा सकें।

माइक्रोफ़ाइलेरिया एंटीजन टेस्ट कैसे किया जाता है?

यह एक सामान्य ब्लड टेस्ट प्रक्रिया होती है। माइक्रोफ़ाइलेरिया एंटीजन टेस्ट एक ब्लड सैंपल पर किया जाता है जो कि फिंगर प्रिक (उंगली पर सुई लगाकर) या वेन पंक्चर (नस में सुई लगाकर) द्वारा लिया जा सकता है।

टेस्ट के बाद, आपको सुई लगी जगह पर नील भी पड़ सकता है लेकिन इसके बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं होती। यदि आपको लगातार तकलीफ हो रही है तो इसके बारे में डॉक्टर को बताएं।

माइक्रोफ़ाइलेरिया एंटीजन टेस्ट के परिणाम क्या बताते हैं?

सामान्य परिणाम

सामान्य परिणाम को नेगेटिव लिखा जाता है। इसका मतलब है कि आपके शरीर में जीवित व्यस्क वॉर्म मौजूद नहीं हैं। 

असामान्य परिणाम

यदि टेस्ट के परिणाम पॉजिटिव आते हैं तो इसका मतलब है कि आपके ब्लड सैंपल में माइक्रोफ़ाइलेरिया एंटीजन मौजूद हैं। माइक्रोफ़ाइलेरिया के प्रकार की पहचान करने के लिए अन्य टेस्ट किये जा सकते हैं।

और पढ़ें ...

References

  1. World Health Organization [Internet]. Geneva (SUI): World Health Organization; Lymphatic filariasis
  2. Center for Disease Control and Prevention [internet], Atlanta (GA): US Department of Health and Human Services; Lymphatic filariasis
  3. Weil GJ et al., Trends in Parasitology; The ICT Filariasis Test: A rapid format antigen test for diagnosis of bancroftian filariasis. Parasitol Today. 1997. PMID 15275155.
  4. Cédric B. Chesnais et al. Measurement of Circulating Filarial Antigen Levels in Human Blood with a Point-of-Care Test Strip and a Portable Spectrodensitometer. Am J Trop Med Hyg. 2016 Jun 1; 94(6): 1324–1329. PMID: 27114288.
  5. National Organisation of Rare Disorders [Internet]. Danbury, CT, U.S. Filariasis
  6. National Health Service [internet]. UK; Blood Tests
ऐप पर पढ़ें