myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

पपीता पोषक तत्वों से भरे सबसे अच्छे फलों में से एक है। यह हमारे शरीर को आश्चर्यजनक स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है और साथ ही यह न सिर्फ त्वचा की देखभाल से लेकर कैंसर तक के लिए लाभदायक है बल्कि प्रतिदिन एक चम्मच पपीते का बीज का हमारे शरीर के लिए बेहद लाभदायक होता है।

अधिकांश लोग पपीते के बीज को अलग कर के कूड़े में डाल देते हैं लेकिन आप इसके लाभों के बारे में जान कर ऐसा करना रोक देंगे। ये छोटे बीज वास्तव में खाने योग्य होते हैं और इनका स्वाद भी अच्छा होता है। वास्तव में आप इन्हें काली मिर्च की जगह इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके बीज में फेनोलिक और फ्लैवोनॉइड यौगिकों के साथ-साथ प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम और फास्फोरस पाया जाता है। पपीते के बीज में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीपैरासिटिक और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके क्या क्या स्वास्थ्य लाभ हैं और इसके इस तरह खाया जाता है -

  1. पपीते के बीज के फायदे - Papite ke beej ke fayde in Hindi
  2. पपीता का बीज कितना खाना चाहिए - How much papaya seeds should i eat in Hindi
  3. पपीता का बीज कैसे खाना चाहिए - Papita ke beej kaise khaye in Hindi

पपीते के बीज के फायदे स्वस्थ पाचन के लिए - Papaya seeds for digestive health in Hindi

पपीता के बीज में उच्च मात्रा में पाचन एंजाइम होता है जो प्रोटीन फाइबर को तोड़ने में मदद करता है और प्राकृतिक पाचन प्रक्रिया को सहायता करता है। चूंकि पपीते के बीज में जीवाणुरोधी गुण होते हैं। यह पेट की समस्या से निजात दिलता है। यह ईकोली (E.coli), साल्मोनेला (salmonella) और स्टेफेलोोकोकस संक्रमण (staphylococcus infections) के खिलाफ प्रभावी होते हैं। इसके बीज पेट में रोगज़नक़ों को मारकर भोजन की विषाक्तता (food poisoning) से मुकाबला करने में मदद कर सकते हैं।

इसके अलावा पपीते के बीज स्वस्थ पाचन तंत्र के लिए आंत्र पथ में अम्लीय वातावरण को सामान्य बनाने में मदद करते हैं। आपके पाचन तंत्र को ठीक से काम करने के लिए आपको रोजाना 1 बड़े चम्मच पपीते के बीज का सेवन करना चाहिए।

(और पढ़ें - पाचन क्रिया सुधारने के आयुर्वेदिक उपाय)

पपीते के बीज खाने के फायदे पेट के कीड़ों को मारने में - Papaya seeds kill intestinal parasites in Hindi

पपीते के बीज प्रोटीओलेयटिक एंजाइम्स से समृद्ध होता है जो आंत्र के परजीवी से छुटकारा पाने में मदद करता है। यह एंजाइम शरीर में प्रोटीन को तोड़ने के साथ ही परजीवी और उनके अंडे को नष्ट करने में मदद करता है। द जर्नल ऑफ़ मेडिसिनल फ़ूड में प्रकाशित 2007 के एक अध्ययन में बताया गया है कि हवा में सुखाए गए पपीता के बीज बिना साइड इफेक्ट्स के आंत्र परजीवी को नष्ट करते हैं। पेट से परजीवी संक्रमण को साफ करने के लिए सुबह खाली पेट 3 दिनों तक 1 से 2 चम्मच पपीता के बीज के पाउडर को 1 कप गर्म दूध या पानी में मिलाकर सेवन करें।

पपीता के बीज के गुण कैंसर के लिए - Papaya seeds cure cancer in Hindi

बीज में पाए जाने वाले फेनोलिक और फ्लैवोनॉइड यौगिकों में उच्च एंटीऑक्सीडेंट गुण है जो ट्यूमर कोशिकाओं के विकास को धीमा करने में मदद करते हैं। पपीते के बीज में फ़िऑन्यूट्रियेंट आइसोथियोसाइनेट पाया जाता है जो विशेष रूप से कैंसर को रोकता है। क्योंकि इससे कार्सनोजेन्स की एक्टिवेशन कम हो जाती है और उनकी विषाक्तता बढ़ जाती है।पपीते के बीज स्तन, बृहदान्त्र, फेफड़े, और प्रोस्टेट सहित ट्यूमर कैंसर से लड़ने में मदद करते हैं। 

(और पढ़ें - कैंसर से लड़ने वाले दस बेहतरीन आहार)

पपीता के बीज का उपयोग करे सूजन कम - Papite ke beej ke fayde for Inflammation in Hindi

पपीते के फल के साथ-साथ इसके बीज में भी शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो शरीर को सूजन से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। एंजाइम पपैन और काइमोपपैन गठिया, जोड़ों के दर्द, गाउट और अस्थमा जैसी बिमारियों से जुड़ी सूजन को कम करने में मदद करते हैं। यदि आप गठिया या गाउट के कारण सूजन से पीड़ित हैं तो कम से कम 1 चम्मच पपीते के बीज का रोजाना सेवन करें। 

(और पढ़ें - गठिया रोग का इलाज हैं यह 10 जड़ीबूटियां)

पपीता के बीज से लाभ गुर्दे को करे साफ - Papaya seeds help detoxify the liver in Hindi

पपीते के बीज भी आपके जिगर और गुर्दे से विषाक्त पदार्थ को दूर करने में मदद करते हैं। इसमें मौजूद प्रोटीयोलाइटिक एंजाइम आपके पाचन भार (digestive load) को भी कम करने में मदद करता है। वास्तव में पपीते का बीज लिवर के सिरोसिस को मैनेज करने के लिए लाभकारी माना जाता है। लिवर से विषाक्त पदार्थों को साफ करने के लिए ताजा पपीते के बीज को पीस कर 1 बड़ा चम्मच रस निकाल लें। अब इसमें 10 बूंद ताजे नींबू के रस को मिला लें और iska रोजाना एक या दो बार 1 महीने तक सेवन करें। यह जिगर सिरोसिस को रोकने और उसे ठीक करने में भी मदद कर सकता है। 

(और पढ़ें - लिवर को साफ और स्वस्थ रखने के लिए 10 सर्वोत्तम आहार)

हालांकि पपीते के बीज जीवाणुरोधी गुणों में बहुत समृद्ध हैं, आपको इसका अधिक सेवन नहीं करना चाहिए अन्यथा इससे दस्त की समस्या हो सकती है। आप इसके बीज का प्रतिदिन 1 से 2 चम्मच सेवन कर सकते हैं। दरअसल आपको इसके बीज की पहले छोटी मात्रा लेना शुरू करें फिर धीरे धीरे 2 चमचा तक बढ़ें।

(और पढ़ें –  दस्त का घरेलू उपचार)

नोट: पपीते का बीज प्राकृतिक रूप से गर्भनिरोधक का काम करते हैं। इसलिए यदि आप गर्भधारण करने की योजना बना रही हैं तो इसके सेवन से पूरी तरह बचें। इसके अलावा गर्भवती महिलाएं और लेटेक्स या पपैन (papain) एलर्जी वाले लोग को बीज खाने के साथ-साथ पपीते के फल के सेवन से बचना चाहिए। 

(और पढ़ें - आयुर्वेद के अनुसार बच्चे के जन्म से पूर्व होने वाली माताओं को करना चाहिए इन बातों का पालन)

इसको खाने का सबसे आसान तरीका है की फल के साथ ही इसे खा लें।

आप इसके कच्चे बीज को पपीते से निकाल कर मिक्सर या मूसल का उपयोग करके पिस लें और इसका उपयोग सलाद, सैंडविच या सूप आदि के साथ करें। आप इसे एक हफ्ते के लिए छोटे जार में रख कर फ्रिज में भी रख सकते हैं या लम्बे समय तक इसको उपयोग करने के लिए फ्रीजर में भी स्टोर कर सकते हैं (बस उपयोग करने से पहले इसे फ्रीजर से निकाल कर पिघला लें)।

या फिर आप इसके बीज को धुप में सूखा कर या सूखे बीज को पाउडर बना कर भी उपयोग कर सकते हैं। आप इसके पाउडर को सलाद, स्मूथी और सूप में डाल कर इसका उपयोग कर सकते हैं।

पपीते के बीज के बहुत फायदे हैं|

यह आपको अनेक बीमारियों से बचाते हैं -

  1. जिगर की बीमारी - पपीते के बीज आपके शरीर को डीटॉक्स (गंदगी को दूर) करते हैं| इससे आपके जिगर की सारी बीमारियाँ दूर होती हैं| इसे हर दिन १/२-१ चम्मच लेना चाहिए|
  2. संक्रमण - संक्रमण (Infection) से फैलने वाली बीमारियों में पपीते के बीज बहुत फायदेमंद हैं| यह ऐंटी बॅक्टीरियल है जिसकी वजह से यह संक्रमण को रोकता है|
  3. बुखार - यह एक ऐंटी वायरल है और डेंगूटाइफाइड (आंत्र ज्वर) और बाकी बुखारों को ख़त्म करने में मदद करता है| कृपया ध्यान दें की गंभीर बीमारियों में डॉक्टर से पूछे बिना इनका सेवन हानीकारिक भी हो सकता है| (और पढ़ें - डेंगू के घरेलू उपचार)
  4. कैंसर - पपीते के बीज कैंसर की कोशिकायों की तेजी से बढ़ने से रोकता है| इसके बारे में काफ़ी अनुसंधान भी हुआ है|
  5. बच्चों के पेट में कीड़े - ५ ग्राम पपीते के बीज को ७ दिन तक खाने से सारे पेट के कीड़े मर जाते हैं और पेट बिल्कुल साफ हो जाता है|
  6. गर्भ निरोधक - यह एक गर्भ निरोधक भी है| इसको हर दिन एक चम्मच खाने से गर्भ होने से रोका जा सकता है| (और पढ़ें - आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियों के उपयोग, फायदे और नुकसान)
  7. उच्च रक्तचाप और रक्तवसा (कोलेस्ट्रॉल) - इसका हर दिन सेवन करने से उच्च रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल कम होता है|

पपीते के बीज को इस प्रकार खाएं -

  • पपीते का बीज बहुत कड़वा होता है इसलिए इसे पीस लेना चाहिए।
  • फिर उसे नींबू के रस के साथ खा लें| या फिर सलाद पर उपर से छिड़क कर खा लें।
  • एक दिन में 5 से 8 ग्राम के बीच में इसका सेवन करें।
  • ज़्यादा खाना सेहत के लिए हानीकारिक हो सकता है।

पपीते के और भी कई लाभ हैं, जानने के लिए देखे ये वीडियो -

और पढ़ें ...